आंटी XXX मूवी देखती थी मोबाइल में!

दोस्तों मेरा नाम सालिक खान हे और मैं राजस्थान के जयपुर का रहनेवाला हूँ. मेरी अपनी मोबाइल रिपेरिंग और एसेसरी की शॉप हे. दो साल पहले बगल के 2 किलोमीटर तक मेरी अकेली ही मोबाइल शॉप थी इसलिए बहुत सब कस्टमर थे मेरे पास. तब एक आंटी को मैंने चोदा था. उसके मोबाइल में मुझे क्सक्सक्स (XXX) सामग्री मिली थी उसके ऊपर से. तो आइये आप को इस आंटी को चोदने की बात बताऊँ जो अपने मोबाइल में पोर्न देखती थी!

आंटी का नाम जरीना हे और वो 35 साल की हे. उसके पति अब्दुल भाई एक मिकेनिक हे जो सरकारी बसों की डिपो में काम करते हे. जरीना आंटी खुद पेशे से एक नर्स हे और बड़ी ही मादक लगती हे. उसके गोल मटोल बूब्स और सेक्सी गांड बहार को आई हुई हे. उसे देख के मोहल्ले के सभी लौंडो के लंड तो खड़े होते ही थे साथ में बूढ़े अंकल भी उसे देख के अपने झुर्री वाले लंड सहला उठते थे.

एक दिन दोपहर में हॉस्पिटल जाने से पहले आंटी मेरे पास आई. उसने मुझे अपना फोन दिया और बोली, सालिक देखो न ये फोन बार बार रुक जाता हे.

मैंने कहा, कब से हेंग हो रहा हे?

वो बोली, एक हफ्ते से प्रॉब्लम हे.

मैंने कहा: आप यहाँ रख जाओ मैं चेक कर लूँगा.

वो बोली, अभी नहीं हो सकता?

मैंने कहा: नहीं आंटी कुछ अर्जेंट काम आया हे. इसलिए आप एक काम करो. ये हेंडसेट ले जाओ इसमें अपना सिम डाल के.

मैंने एक नोकिया का सिम्पल फोन आंटी को दे दिया और उसका एंड्राइड फोन ले लिया. आंटी चली गई. दोपहर तक तो मेरे पास फुर्सत नहीं थी. फिर खाने के बाद 3 बजे मैं फ्री हुआ तो आंटी का फोन चेक करने लगा. सब से पहले मैं डाउनलोड फोल्डर ही चेक करता हूँ. वहां अक्सर बिना यूज हुई गेम्स और एप्प्स के फोल्डर बने रहते हे जो काफी मेमरी यूज करते हे. कुछ गेम्स के फोल्डर थे जिन्हें मैंने डिलीट किया. और तभी एक फ़ाइल के ऊपर मेरी नजर पड़ी जिसका नाम था, मिशा फक्ड इन हर एस्होल बाय 2 बिग कॉक – क्सक्सक्स क्लिप!

यह कहानी भी पड़े  ऑफिस की जूनियर को होटल में चोदा

जी हां आंटी के मोबाइल में एक पोर्न क्लिप थी! मेरा दिमाग उसी तरफ था. मैंने वो क्लिप खोली तो वो एक लम्बी क्लिप थी जो आंटी ने डाउनलोड की थी शायद. फिर मुझे लगा की हो सकता हे किसी और ने डाउनलोड की हो और आंटी को इसके बारे में पता ना हो. मैंने सोचा की लाओ सब फोल्डर्स चेक करूँ. और फिर चेक करते करते हुए मुझे पता चला की आंटी ने एक फोल्डर अपनी होस्पिटल के नाम से बनाया था और उसके अंदर बहुत सब देसी क्लिप्स डाली थी उसने.

मैं समझ गया की आंटी चुदासी और सेक्सी हे और पोर्न ब्राउज करती हे. मैंने क्रोम की ब्राउज़र हिस्ट्री खोली तो सब पिक्चर साफ़ हो गया. आंटी ने पिछली रात में भी बहुत सब क्सक्सक्स सामग्री देखी थी.

मेरे मन में एक सोच ने जन्म लिया की अगर ये आंटी इतना पोर्न देखती हे फिर लंड लेने में झिझक नहीं होगी उसे. मैंने उसके फोन में से बाकी सब डिलीट कर दिया जो काम का नहीं था. लेकिन पोर्न की एक भी फ़ाइल को मैंने डिलीट नहीं किया. शाम को 6 बजे मैंने आंटी को कॉल किया.

मैं: हल्लो आंटी, आप कहा हो?

आंटी: बस मैं घर ही आ रही हूँ.

मैंने कहा, आप का फोन हो गया हे, मैं दे के जाऊं.

वो बोली: हां हो सके तो दे जाना प्लीज़, अंकल घर पर ना हो तो वेट करना कुछ देर मैं आ ही रही हूँ. तुम्हारी दूकान थोड़ी उलटी पड़ती हे मुझे.

मैं: अच्छा आंटी मैं बाइक ले के आया अभी, वैसे भी दूकान बंद ही कर रहा हूँ मैं. वैसे अंकल कहा हे?

यह कहानी भी पड़े  कॉलेज फ्रेंड से चुदाई की कहानी

आंटी: अरे वो सीएनजी बस आई हे न तो उसका कुछ वर्कशॉप हे. बहार से बड़े मिकेनिक लोग अंकल लोगों को कुक काम दिखाने को आये हे. अभी कुछ देर पहले ही अंकल का कॉल था की शायद रात को लेट होगा उन्हें.

मैंने सोचा वाऊ आज तो उपरवाला भी शायद मेरे साथ में हे. मैं रस्ते से मेडिकल शॉप से कंडोम लेता चला. आंटी के घर के पास बाइक पार्क कर के मैं वही रुका. आंटी कुछ देर में आ गई. वो नीली कुर्ती और निचे ब्लेक सलवार में थी और गले में उसका दुपट्टा बंधा हुआ सा था. उसके बूब्स को देख के मेरे लंड में ताजगी सी आ गई. आंटी आई और बोली, आओ सालिक.

आंटी ने चाबी से दरवाजा खोला और अन्दर बुलाया मुझे.

आंटी का घर छोटा था, दो कमरे वाला. एक हॉल आगे, फिर बिच में बेडरूम में एंड में शायद किचन था. मैं कुर्सी पर बैठा. आंटी ने किचन से मुझे पानी ला के दिया. आंटी ने कहा, क्या प्रॉब्लम थी फोन में, कितने पैसे देने हे तुम्हे?

ऐसी और सेक्सी कहानी पढ़े: आंटी ने रात भर चुदवा के लंड सूजा दिया
मैंने कहा, पैसे कुछ नहीं देने हे आंटी, कुछ चीजें थी बिना काम की वो मैंने डिलीट कर दी.

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!