अंतर्वसना सेक्स मामी की लड़की

Antarvasna sex mami ki ladki मेरा नाम जिगर है. मैं आहमेदबाद मे रहता हूं. मेरी उमर 23 है. उँचाई 6फीट और आवरेज टाइप की बॉडी. आहमेदबाद मे मेरा पूरा परिवार रहता है. बचपन से ही मैं अपने नानी के घर ज़्यादा रहा. मेरे नाना गुजर चुके है. नानी के घर पर नानी, मामा, मामी, मौसी जिसकी अभी शादी नही हुई और मामा-मामी की एक लौटी लकड़ी पिंकी जो कि मुझसे 1 साल छोटी है रहते है. मैं अक्सर जब भी नानी के घर जाता तो वाहा 1-2दिन के लिए रुक जाया करता था. मेरे मामा पॉलिटीशियन है.

मामी बिल्डर के ऑफीस मे जॉब करती है. मौसी भी जॉब करती है. और पिंकी अभी MBआ कर रही है. ये कहानी आज से 7 साल पहलेकि है जब मैने पिंकी को पहली बार चोदा. उस दिन मैं नानी के घर गया और रात वही ठहर गया. पिंकी रात मे मेरे बाजू मे आकर सो गयी. रात मे करीब 1.30 बजे मैं टाय्लेट के लिए उठा. टाय्लेट जाकर आया और लेट गया. मैने देखा कि पिंकी एक साइड सोई है और उसकी गांद एकदम उभरी हुई है.

वो नज़ारा देख कर मेरे होश उड़ गये. उसने पतली सी चादर ओढ़ रखी थी. मैने धीरे से पिंकी की कमर पर हाथ रख दिया. सब गहरी नींद मे सो रहे थे. और मैं पिंकी की गंद के उपर से हाथ फेरने लग गया. उसकी गांद इतनी सॉफ्ट थी कि पहली टच मे ही मेरा लंड खड़ा होगया. मैने लूस बर्म्यूडा पहना था.

मैने तुरंत अपने उपर चादर ओढ़ ली और बेरमूडे मे हाथ डाल कर अंडरवेर नीचे खींच ली ताकि मेरा लंड बिल्कुल आज़ाद होज़ाये.फिर मैने धीरे धीरे पिंकी के गंद पर हाथ फेरना शुरू किया. पिंकी नींद मे थी. मैने पिंकी के गांद की लाइन पर अपनी उंगली घुमाना शुरू किया मुझसे कंट्रोल नही हो रहा था तो मैं भी एक साइड सो कर अपने लंड को पिंकी के गंद से टच करवाने लगा. फिर पिंकी की गान्द के लाइन पे लंड अड्जस्ट कर कर मैं उपर उपर से धक्के लगाने लगा.

यह कहानी भी पड़े  एक नंबर की माल

और अपने हाथ पिंकी के टशहिर्त के उपर से उसके बूब्स पर ले गया और फिराने लगा. देखते ही देखते मैने उसके बूब्स मसलना शुरू कर दिए. अचानक पिंकी सीधी लेट गयी. मेरा पूरा पोज़िशन बिगड़ गया. कुछ देर शांत रहने के बाद मैने पिंकी के बूब्स मसलना शुरू किए. धीरे धीरे मैने अपने हाथ उसके पेट पर घूमना शुरू किए. फिर मैने हिम्मत बढ़ाते हुए अपने हाथो को पिंकी के पेट के नीचे उसकी चूत पर रख दिया. और धीरे धीरे उसकी नाइटी के उपर से ही उसकी चूत सहलाने लगा.

मेरे ऐसा करने से पिंकी मे भी सेक्स की भावना जाग गयी लेकिन अब भी वो नींद मे ही थी. फिर मैने हिम्मत कर के उसकी नाइटी के अंदर हाथ डाल दिया और उसकी पॅंटी पर से उसकी चूत को रगड़ने लगा. वो अचानक जाग गयी. मैं घबरा गया और हाथ वैसे ही रख कर सोने का नाटक करने लगा. उतने मे मैने महसूस किया के मेरे हाथो को कोई प्रेस कर रहा है पिंकी की चूत पर. मैने आँख खोल कर देखा तो वो पिंकी थी. अपनी आँख बंद कर कर सोने का नाटक कर रही थी तो मैं समझ गया कि मेरा काम हो गया है पिंकी गरम हो चुकी थी. मैने डेरिंग करते हुए पिंकी की पॅंटी के अंदर हाथ डाल दिया. ओह.

क्या सॉफ्ट स्किन लग रही थी. बिल्कुल काले झाँत. मैं उसकी चूत मसलता रहा. अचानक मैने अपनी उंगली उसकी चूत की लाइन पर रगड़ दी वो एकदम से काँप उठी और उसके मूह से आआअहह… आवाज़ आई. मैने धीरे से अपनी उंगली उसकी चूत की दरार मे घुसेड दी. उसके क्लाइटॉरिस मेरी उंगली से टच हुए. और एक अजीब सी चिकनाहट महसूस हुई. मैने ज़्यादा वक़्त ना गवाते हुए अपनी उंगली उसकी चूत के छेद मे डाल दी. बस पिंकी तिलमिला गयी. उसने उसके हाथो से मेरे चेस्ट पर पकड़ लिया.

यह कहानी भी पड़े  ऑफिस की लड़की से जिस्मानी रिश्ता सही या गलत-1

और अपनी कमर ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगी साथ ही सिसकारिया लेने लगी. मैने भी अपनी उंगली आगे पीछे करनी शुरू कर दी. करीब 10 मिनट उंगली आगे पीछे करने के बाद वो अपने पहले ऑर्गॅज़म पर पहुँची और उसकी चूत एकदम से गीली हो गयी. 10मिनट ऐसे ही शांत लेटे रहने के बाद वो झट से उठकर टाय्लेट गयी. जब वो लौटी तो उसके चेहरे पर एक अजीब सी मुस्कान थी. वो बहुत खुश लग रही थी. वो जैसे ही लेटी मैने उसे किस किया और धीरे से उसने मुझे आइ लव यू कहा.

मैने झट से उसके बूब्स पकड़ लिए और ज़ोर ज़ोर से मलने लगा. मैने उसका एक हाथ पकड़ा और मेरे लंड पर रख दिया. उसने मेरे लंड को पकड़ कर दबाना शुरू किया. मैने उसकी पॅंटी मे हाथ डाल दिया और उसकी चूत रगड़ने लगा. जाने अचानक मुझे क्या हुआ. मैने बेड मे घुस कर उसकी चूत के पास अपना मूह ले जाकर उसकी पॅंटी खींच कर उसे किस किया. मेरे किस करते ही उसने अपने हाथ मेरे बालो मे फेरना शुरू किए.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2

error: Content is protected !!