वीडियो दिखा कर रंडी टीचर चोदी

ही, ई आम फ्रॉम हयदेराबाद सिंध. मैं अपना इंट्रोडक्षन दे डू. मेरा लंड 6 इंच का है, और 2 इंच मोटा है. किसी भी लेडी या लड़की को खुश कर सकता हू मैं. कोई भी लेडी या लड़की इंट्रेस्टेड हो, तो नीचे मैल पर कॉंटॅक्ट लाज़मी करे.

ये मेरी पहली स्टोरी है, तो अगर कोई ग़लती हो गयी हो तो माफ़ कर देना. अब चलते है स्टोरी एंजाय करते है. अब बिना टाइम पास के स्टोरी पर चलते है.

लड़के अपना लंड हाथ में लेके हिलने के लिए तैयार हो जाए, और लड़कियाँ अपनी छूट में उंगली करने के लिए रेडी हो जाए. अब माँ के बारे में बता डू.

हमारी अनॅटमी की माँ हमारी उनी की वाइस प्रिन्सिपल भी थी, और उनका फिगर ऐसा था, की किसी का भी खड़ा हो जाए देख कर. साइज़ उनका 34-36-34 होगा.

अब ये कहानी ऐसे स्टार्ट होती है, की मैं अपनी मकट का टेस्ट देने के एक प्राइवेट उनी में अड्मिशन लेता हू. वाहा पर मुझे अपने अनॅटमी के माँ पर क्रश आ जाता है फर्स्ट क्लास में ही. और मज़े की बात ये थी की उन्होने फर्स्ट क्लास में ही मुझे क्र बना दिया था. उनका नंबर मेरे पास वेरी फर्स्ट दे से था.

सीन ऐसा था, की 14 ऑगस्ट करीब थी. सारी रेस्पॉन्सिबिलिटी मेरे उपर थी, और मुझे माँ को बताना था सब कुछ. ऐसे माँ को बताते मैं माँ के बहुत करीब आ गया था, और इससे मुझे पता चला की माँ की नयी शादी होने के बावजूद भी वो अपने पति से खुश नही थी.

वो मुझे ऐसे पता चला, की जब मैं उनको रिपोर्ट करने गया इवेंट के बारे में, तब उनके ऑफीस से आवाज़े आ रही थी आ आ आ की. मैं ये आवाज़े सुन कर शॉक हो गया, और मैने हल्का सा गाते कॉल के माँ की फिंगरिंग की वीडियो रेकॉर्ड कर ली.

अब मैं मौके की तलाश में था और वो मौका मुझे 14 ऑगस्ट के इवेंट पर मिला. माँ क्या ही क़यामत लग रही थी ग्रीन ड्रेस में. और उनके उभरे हुए बूब्स और मटकती गांद देख के दिल कर रहा था, उधर ही चढ़ जौ माँ पर.

जैसे ही मैने माँ को अकेला देखा, मैने माँ को वीडियो दिखाई. माँ वीडियो देख कर भीख माँगने लगी.

वो बोली: प्लीज़ वीडियो डेलीट कर दो. मेरा करियर तबाह हो जाएगा.

फिर मैने माँ को कहा: अगर आपको आपका पति खुश नही कर सकता, तो आप मुझे एक मौका दीजिए.

तभी माँ जल्दी अग्री कर गयी.

उन्होने बोला: ई आम रेडी.

ये सुनते ही मेरी पंत में उसको तंबू दिखने लगा, और उसको देख कर माँ ने स्माइल दी और बोली-

माँ: मेरे पीछे आओ.

तभी मैं माँ को फॉलो करता-करता उनके ऑफीस में पहुँच गया, और माँ ने डोर लॉक किया.

माँ: एसी चलौ क्या?

फिर उसने मुझे ज़ोर-ज़ोर से किस करना स्टार्ट कर दिया, और उसमे मैं उनका पूरा साथ देने लगा. किस करते-करते हम दोनो ने अपने कपड़े उतार दिए थे. माँ हॉट लग रही थी ब्लॅक ब्रा और पनटी में. कसम से आप इमॅजिन करे.

फिर मैने माँ की पनटी उतरी, और उनकी क्लीन शेव्ड गुलाबी छूट को चाटने लग गया. अब माँ की आह आह आह सुन कर मैने पनटी उनके मूह में डाल दी. क्यूंकी ये आवाज़े कोई और सुन लेता तो मुश्किल आ सकती थी. अब माँ की छूट ने पानी छ्चोढ़ दिया, और मैं वो सारा पी गया.

अब माँ को छोड़ने की बारी थी. मैने माँ को टेबल पर लिटाया, और उनकी छूट पर अपने लंड को रगड़ने लगा. माँ से अब और इंतेज़ार नही हो रहा था. अब वो बोल रही थी-

माँ: डाल दो अब क्र साहब अंदर, कितना तड़पावगे?

फिर मैं माँ को टेबल पर लिटा के छोड़ने लगा, और माँ के मूह से आ आ की आवाज़े सुन के मज़ा आ रहा था. तब माँ का एक बार हो चुका था. फिर मैने माँ को कॉवगिरल पोज़िशन में किया, और चेर पर बैठ कर छोड़ने लगा.

सामने माँ अपने आप को मिरर में ऐसे तबाद-तोड़ चूड़ते हुए देख कर खुश हो रही थी. और अब मैं उन्हे डॉगी स्टाइल में छोड़ रहा था, और मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था. उनको छोड़ने में बड़ा मज़ा आ रहा था. आप इमॅजिन करे, जिससे पूरी उनी डरती हो, आप उसे छोड़ रहे हो. अब मेरा एक शॉट हो चुका था, और माँ बोल रही थी-

माँ: और ज़ोर से करो क्र साहब. ज़ोर से छोड़ो.

और मैं अब माँ को अलग-अलग पोज़िशन में छोड़ने लगा. अब मेरे 3 शॉट्स हो चुके थे, और माँ 4 बार झाड़ चुकी थी. तभी डोर पर नॉक हुआ, और माँ ने पनटी निकाल के बोला-

माँ: एस.

आयेज से आवाज़ आई: माँ नीचे आ जाए, इवेंट स्टार्ट करना है.

फिर माँ ने बोला: ओक, आती हू.

फिर मैने अपना पानी माँ की छूट के उपर निकाला, और साइड में लेट गया. अब मैं और माँ एक-दूसरे को स्माइल करके देख रहे थे. फिर माँ उठी, और उन्होने अपने कपड़े पहने, और तैयार हुई.

उसके बाद मैं उठा, अपने कपड़े पहने, और माँ ने और मैने सेल्फिे ली. फिर हम दोनो तैयार होके नीचे चले गये. अब मैं और माँ नीचे एक-दूसरे से चिपक कर चल रहे थे, और फंक्षन एंजाय करने लगे. मैं और माँ एक-दूसरे को देख-देख कर हासणे लगे.

चुदाई के बाद माँ सही तरीके से चल नही पा रही थी. वो लंगड़ा कर चल रही थी, क्यूंकी मैने उनको इतना छोड़ा था की वो अब तक चुकी थी. फिर उस इवेंट के बाद मैने माँ को काई बार छोड़ा है, और माँ हमेशा सॅटिस्फाइ हो कर जाती है.

माँ को छोड़ने की वजह से अब मेरी यूनिवर्सिटी में पर्फॉर्मेन्स अची हो गयी थी, और उनी में इज़्ज़त भी बढ़ गयी थी. उमीद करता हू आपको कहानी पसंद आई होगी, और खुद को सॅटिस्फाइ करने की लिए दी गयी मैल पर कॉंटॅक्ट करे.

स्टोरी की फीडबॅक ज़रूर दे, और नेक्स्ट स्टोरी में बतौँगा की मैने अपने गाओं में अपनी तूतिओं की माँ, और उनकी दो बहनो के साथ फोरसम कैसे किया, जिसमे से एक की कुवारि सील तोड़ी थी मैने.

कोई भी आंटी या लड़की चाहे, तो हयद से, या नवबस्ह से बिना दर्र के कॉंटॅक्ट करे. आपकी प्राइवसी का पूरा ध्यान रखा जाएगा, और आपको पुर तरीके से सॅटिस्फाइ किया जाएगा.

यह कहानी भी पड़े  वाइफ की सेक्सी कज़िन को मज़े से चोदा


error: Content is protected !!