वीडियो कॉल पर लिया, पूजा की गांद का मज़ा

मैं एक हफ्ते के लिए एक लड़की के साथ बाहर जेया रहा था. हम एक दोस्त की पार्टी पर थे, और हम दोनो ने बहुत पी भी ली थी. फिर मैने नशे में उसको टच करना शुरू कर दिया. उसने भी मुझे स्लुटती लुक देते हुए मेरा हाथ पकड़ा, और उसको अपने बूब पर रख दिया.

मैने उसकी तरफ देखा, तो उसने हा का इशारा किया, और दीं लाइट में मैने उसके बूब को ज़ोर से दबाया. उसने गरम साँस ली, जो मेरे कान और गर्दन के एरिया पर पड़ी. फिर मैने अपना सिर उसके जुवैसी बूब्स में डाल दिया. तभी उसने मेरे कान में फुसफुसाया-

शी: चलो आज रात कुछ तूफ़ानी करते है.

मैने उसकी गर्दन पर किस किया, और उस पर जीभ फिराने लगा. अब वो मज़े में पिघल रही थी. फिर वो मुझे पास के एक कमरे में ले गयी. हम अंदर चले गये, और दरवाज़ा लॉक कर लिया.

फिर मैने उसको दरवाज़े के साथ लगा लिया, और अपनी जीभ से उसकी टेस्टी गर्दन का मज़ा लेने लगा. उसने अपनी टांगे खोल ली, क्यूंकी मेरा सख़्त हुआ लंड उसकी छूट को चू रहा था.

फिर मैने उसको बेड पर धकेल दिया, और उसने अपनी शॉर्ट्स उतार दी. उसने एक स्लीव्ले ब्लॅक टांक टॉप पहनी थी. मैने उसकी टॉप को उसके बदन से अलग कर दिया.

फिर उसने मेरे पेट पर किस किया, और मेरी पंत को उतार दिया. उसके बाद उसने मेरे बॉक्सर्स को घुटनो तक नीचे कर दिया. फिर उसने मेरे लंड को छाता, और मोन करने लगी.

शी: ओह मी गोद! इसमे बहुत मज़ा आ रहा है. ई लोवे इट!

वो मेरे लंड को अपने गले के अंदर तक लेने लगी, और ज़ोर की साँसे लेने लगी. फिर मैने उसकी पनटी उतार दी, और उसकी क्लिट को धीरे-धीरे रब करने लगा. उसने धीरे से मोन किया, और वो मेरे लंड को पागलों की तरह चूस रही थी.

फिर मैने उसको गर्दन से पकड़ा, और बेड पर सीधा लिटा लिया. मैने उसकी टांगे खोली, और उसकी छूट को तब तक छाता, जब तक की छूट अकड़ने नही लगी. फिर वो बोली-

शी: ओह गोद! बहुत मज़ा आ रहा है. और छातो.

मैं उसकी छूट चाट रहा था, और उसकी छूट के पानी से मेरी ठुड्डी गीली हो गयी थी, जिसको मैने धीरे से चाट लिया. फिर वो पीछे टेक लगा कर लेट गयी, और मैं उसकी छूट को अपने लंड से टीज़ कर रहा था. फिर जब मैं लंड अंदर डालने लगा, लेकिन उसने मुझे रोक दिया.

वो घूम गयी, और उसने मुझे दोबारा उसकी छूट रगड़ने को बोला. फिर उसने अपनी गांद उपर की, और अपने सिर को आयेज झुका के पिल्लोस में रख लिया. अब उसकी गांद हवा में टिकी हुई थी, और फिर उसने अपनी गर्दन घुमा कर मेरी तरफ देखा.

शी: मेरी गांद को ज़ोर से छोड़ो, क्यूंकी मुझे ऐसे ही मज़ा आता है. और साथ में मेरी छूट को रागडो, जैसे पहले रग़ाद रहे हो.

मैने ऐसा पहले कभी नही किया था, इसलिए मैं तोड़ा कन्फ्यूज़ था. मेरे देखते-देखते उसने अपने हाथ पर थूका, और अपनी थूक को अपनी गांद के छेड़ पर लगा लिया.

फिर उसने पीछे देखा, और मेरा लंड पकड़ कर अपनी गांद के छेड़ पर सेट किया. उसकी गांद काफ़ी टाइट थी, लेकिन उसमे लंड डाल कर मज़ा बहुत आ रहा था.

वो भी आयेज-पीछे हो कर स्पीड बढ़ा रही थी. फिर मैने उसकी गांद को पकड़ कर धक्के लगाने शुरू किए. मेरा लंड उसकी गांद में पूरा समा गया, और मैं मज़े से आहें भरने लगा.

फिर उसने मेरा हाथ पकड़ा, और अपनी छूट पर रख दिया. मैं उसकी छूट को रग़ाद रहा था, और वो ज़ोर की साँसे भरते हुए मेरे लंड पर उछाल रही थी. फिर वो बोली-

शी: आहह… मेरा निकालने वाला है. इसको बाहर निकली, और मुझे बह जाने दो.

मैने लंड बाहर निकाला, और उसकी टांगे और खुली हो गयी. फिर मैने अपना लंड उसकी छूट में डाल दिया. वो ज़ोर की आहें भरने लगी, क्यूंकी मैने उसकी ज़ोरदार चुदाई शुरू कर दी.

शी: आअहह… हा बेबी, ऐसे ही करो आहह.. ऐसे ही करते रहो आहह… बहुत मज़ा आ रहा है आहह आहह आअहह.

उसका जिस्म काँपने लगा, और वो बेड पर गिर गयी. उसके चूतड़ फदाक रहे थे. फिर वो सीधी होके लेट गयी, उसने अपनी टॉप उतारी, और अपनी टांगे खोल कर अपनी छूट को हल्के-हल्के से रगड़ने लगी. वो मेरी तरफ देख रही थी, और अपने होंठ काट रही थी.

फिर उसने अपना मूह खोला, और मेरे लंड को चाट-ते हुए हिलना शुरू किया. वो मुझे बोली-

शी: मेरे जिस्म पर अपना माल गिराव बेबी!

वो ज़ोर-ज़ोर से मेरे लंड को हिलने लगी, और मैने अपना माल उसके उपर गिरा दिया. उसने मेरा माल अपने जिस्म पर माल लिया, और मेरे लंड पर लगे माल को अपनी जीभ से चाट लिया.

फिर हम निकालने वाले थे, लेकिन तभी मैने उसको दोबारा बेड पर खींच लिया, ताकि मैं उसको दोबारा से छोड़ साकु. बहुत ही मज़े भारी रात थी. उसके बाद वो दूसरे शहर चली गयी, और मैं उसकी गांद की चुदाई मिस करने लगा.

एक वही थी, जिसको गांद की चुदाई में मज़ा आता था. उसके बाद मैं काफ़ी औरतों से मिला, जिनको इसमे कोई इंटेरेस्ट नही था. तो मुझे दोबारा कभी चान्स नही मिला.

मैं अपनी लाइफ को मज़ेदार बनाने का कोई ज़रिया ढूँढ ही रहा था, की तभी मुझे ऑनलाइन कॅम सेक्स साइट ‘देल्ही सेक्स छत’ के बारे में पता चला. जब मैने इसमे मिलने वाली लड़कियों की लिस्ट को देखा, तो मैं अपने आप को साइन इन करने से रोक नही पाया.

मैं क्रेडिट्स बाइ करने में 2 मिनिट भी नही लगाए, और उसके बाद मैं एक ऐसी लड़की को ढूँढने लगा जिसके बूब्स रस्स से भरे हो. और फाइनली मुझे ऐसी लड़की मिल ही गयी. उस लड़की का नाम पूजा था, और वो देल्ही से थी.

फिर मैने उसको मेसेज किया आस प्ले के लिए, और उसको भी आइडिया अछा लगा. वो बहुत ही फ्रेंड्ली थी. फिर हमने टाइम सेट किया, और उसने मुझे दिखाया की वो कितनी सेक्सी थी. पूजा ने एक बिकिनी टॉप पहनी थी, और उसके साथ की ही शॉर्ट्स पहनी थी. उसके बूब्स रसीले थे, और निपल्स हार्ड थे.

मैं उसके निपल्स की तरफ घूर्ने लगा, और वो कॅमरा पर अपने निपल्स मसालने लग गयी. मेरी एग्ज़ाइट्मेंट देख कर वो खिखलने लग गयी. फिर वो बोली-

पूजा: अपनी पंत उतारो. मुझे तुम्हारा देखना है.

फिर मैने अपनी पंत उतारी, और उसने अपने बूब्स को पकड़ कर आपस में दबाया. मैने अपना लंड हिलना शुरू कर दिया, और उसने मेरे लिए अपनी बिकिनी उतार कर अपने बूब्स को आज़ाद कर दिया. फिर उसने स्माइल करते हुए अपने निपल्स को पिंच किया, और कॅमरा को किस किया.

मैने धीमी गति में लंड हिलाया, क्यूंकी मैं उसको पागल होते हुए देखना चाहता था. फिर पूजा ने तोड़ा आयिल लिया, अपने बूब्स पर लगाया, और उनको ज़ोर से दबाते हुए आहह भारी. फिर वो बोली-

पूजा: मुझे अपने आप को चूना बहुत पसंद है. लेकिन तुम्हे पता है, की मुझे इससे भी ज़्यादा क्या पसंद है?

मे: क्या पसंद है?

पूजा: की जब मैं अपने आप को टच करू, तो कोई मुझे देखे.

मे: सच में?

पूजा: हा, क्या तुम बता सकते हो, की मैं कितनी गरम हुई पड़ी हू?

मे: फक! हा.

पूजा: चलो मैं दिखती हू.

फिर देल्ही की उस लड़की ने कॅमरा पकड़ा, और नीचे अपनी छूट पर ले गयी. उसकी शॉर्ट्स गीली हो चुकी थी. फिर उसने अपनी शॉर्ट्स उतार दी, और अपनी ऑरेंज, लेसी पनटी को भी साइड कर दिया. अब मैं उसकी गीली छूट का नज़ारा देख पा रहा था.

फिर उसने अपनी दो उंगलियाँ अपनी छूट के अंदर डाली, और मैं अपने लंड को ज़ोर से हिलने लगा. फिर उसने कॅमरा पीछे सेट कर दिया, और अपनी छूट में फिंगरिंग करते हुए मोन करने लग गयी.

मैने तेज़ी से लंड हिलना शुरू कर दिया, और वो अपनी टांगे खोल कर पीछे होके बैठ गयी.

पूजा: तुम्हे पसंद है मेरा ऐसे अपने आप को छोड़ना?

मे: फक एस! ( ज़ोर से लंड हिलाते हुए)

पूजा: मैं जानती हू, की तुम्हे और भी ज़्यादा क्या पसंद आएगा.

फिर उसने अपने कॅम के साथ एक छूटा माइक कनेक्ट किया, और अपनी छूट के पास ले गयी. उसकी फिंगरिंग से पच-पच की मधुर आवाज़ आने लगी, और मैं पागलों की तरह अपने लंड को हिलता रहा.

फिर उसने कॅमरा की तरफ देखते हुए अपना दूसरा हाथ अपने मूह में डाल लिया, और उसको अपनी थूक से गीला करने लगी.

पूजा: ज़ोर से करो बेबी! मैं तुम्हारी मेरे लिए चाहत बढ़ाना चाहती हू.

जब उसने अपनी थूक से गीली उंगली अपनी गांद में डाली, तो मेरी लंड हिलने की स्पीड तेज़ हो गयी. छाप-छाप की आवाज़ और तेज़ हो गयी, क्यूंकी उसने अपने दोनो छेड़ो को फुल स्पीड पर छोड़ना शुरू कर दिया. फिर वो बोली-

पूजा: आह.. मेरा निकालने वाला है बेबी! मेरे साथ निकाल दो तुम भी. आहह.. मुझ पर अपना माल गिराव मेरी जान आहह.

फिर मेरे लंड ने माल की पिचकारी छ्चोढ़ दी. फक! वो औरत कमाल की थी. पूजा का काम अभी भी चल रहा था.

छाप-छाप की आवाज़ पुर ज़ोर पर थी, और पूजा ने मोन करते हुए अपनी आँखें बंद कर ली थी. फिर वो अपनी गांद भी थोड़ी उपर उठा कर हिलाने लगी, और अपने चरम पर पहुँच कर संतुष्ट होके वापस बैठ गयी.

उसकी छूट के माल की बूंदे उसमे से निकलती हुई नज़र आ रही थी. फिर उसने मेरी तरफ देख कर स्माइल की, और छूट पर से माल सॉफ किया. फिर वो बोली-

पूजा: वाउ! मज़ा आ गया यार.

मे: हा बिल्कुल! मैं जल्दी ही ये दोबारा करना चाहूँगा.

पूजा: जब दिल चाहे आ जाना (किस देते हुए).

मैं अभी भी देल्ही सेक्स छत की पूजा के साथ मज़े करता हू, जब भी दिल चाहे. मैने और भी बहुत सी लड़कियों के साथ मज़ा किया है. कितनी खूबसूरत दुनिया है जिसमे हम रहते है. सिर्फ़ मेरी बातों पर मत जाना, वाहा जाके साइट चेक ज़रूर करना.

पूजा की प्रोफाइल पर पहुँचने के लिए यहा क्लिक करे.

यह कहानी भी पड़े  चोदो और सरको-1

error: Content is protected !!