वंदना – ऑफीस की सबसे हॉट लड़की

ही ऑल, तीस इस मी फर्स्ट स्टोरी सो प्लीज़ फर्गिव मे फॉर अन्य मिस्टेक.

तो दोस्तो आते है स्टोरी पे मेरा नाम निखिल है आगे 32. मुंबई का रहने वाला हू. मुझे जिम जाना पसंद है आंड इसलिए मे हमेशा फिट रहता हू और मे दिखने मे अक्चा हू आंड एक प्राइवेट कंपनी मे जॉब करता हू.

करीब 6 महीने हुए मैने नया ऑफीस जाय्न किया है जिसमे काफ़ी सनडर लड़किया है जो की मेरे टीम मे है. हमारे ऑफीस का एक डिविषन बंगलोरे मे भी है.

बात है 2 महीने पहले की. जब हमारी ऑफीस ने एक आउटिंग रखी थी 3 दिन क लिए गोआ मे. वाहा पे हुँने ताज होटेल बुक किया था. मुंबई आंड बंगलोरे दोनो जगह की टीम्स आने वाली थी. हम लोग वाहा पे पोहचे और सब से मिलना हुआ.

अब बात आती है इस कहानी की हेरीओने की. नाम है वंदना. शी इस 30 य्र्स ओल्ड आंड गुयज़ क्या बतौ उसके बारे मे. पर्फेक्ट हाइट, फेर, कलर्ड हेर. और उसका आँखो मे काजल लगाना आंड उसकी आखे बोहोट नॉटी थी और पर्फेक्ट टिट्स आंड कातिल गांद थी उसकी. कोई ब मर्द उसको देख क बिना अपना लंड हिलाए नही रह सकती इतनी माल लग रही थी. वो दिखने मे किसी साउत की आक्ट्रेस से कूम नही थी.

वेन ई सॉ हेर शी वाज़ वेरिंग वन ब्लू स्लीव्ले पीस. जिसमे उसका गोरा बदन चमक रहा था और उसकी आखो मे काजल लगा हुआ था न हल्की से पिंक लिपस्टिक. में तो उसे देखता ही रह गया तबी उसने आके हॅंड शेक किया.

उसकी वो खुश्बू ने मुझे ऑलरेडी पागल कर दिया था. उसका हाथ टच होते ही बॉडी मे करेंट सा दौड़ने लगा और मेरा 6.5 इंच का लंड सलामी देने लगा था. मैने जैसे तैसे कंट्रोल किया अपने आप को फिर अपने अपने हम रूम पे गये. तब मैने उसके बारे मे सोच कर मूठ मारी. दोस्तो क्या बतौ क्या फीलिंग थी वो की मेरा पानी जल्दी निकल गया.

फिर हम लोग फ्रेश हुए और सब लोग बीच गेम्स खेलने क लिए इक्कथा हुए हम सब. लड़की ने शॉर्ट्स आंड टशहिर्त पहना आंड मैने एक संडो पहने जिसमे मेरी बॉडी आक्ची दिख रही थी. लड़कियो ने भी शॉर्ट्स आंड टशहिर्त पहना था, सभी लड़किया बोहोट होत्त लग रही थी. लेकिन मेरी नज़र तो सिर्फ़ उसे ही ढूंड रही थी.

मैने उसे आते देखा उसने शॉर्ट पहनी थी जो की बाकी लड़कियो से ज़्यादा ही शॉर्ट थी आंड स्लीव्ले टशहिर्त पहने था. सब का ध्यान उसके ही तरफ था. क्या बतौ यारो उसकी दूध सी सफीड झांगे और उसकी फिगर देख के मेरी तो हालत ही खराब हो रही थी.

मेरा लंड शॉर्ट्स मे खड़ा हो गया था जिसका शेप सॉफ दिख रहा था. मैने टशहिर्त से उसको छुपाना चाहा लेकिन एक लड़की की नज़र पद गयी मेरे लंड पे और उसने एक स्माइल दी.

मुझे समाज नही आ रहा था मे क्या करू. फिर मे भाग के बातरूम गया और मूठ मार के अपने नन्हे शैतान को शांत किया और बाहर आया. सब लोग टीम्स मे खड़े थे फिर मैने वोही टीम जाय्न की जिसमे वंदना थी.

फिर ग़मे स्टार्ट हुई एक ग़मे ऐसी थी जिसमे बीच से पानी भरके लाना था बकेट मे आंड एक पोले मे डालना था. जिसमे एक बॉल रखा हुआ है जो की पानी क प्रेशर से उपर आएगा आंड वो टीम जीत जाएगी.

हुँने एक एक करके पानी भरना स्टार्ट किया. पहले मे बीच की तरफ खड़ा हुआ और पानी भरता आंड पास करता. मैने देखा क वंदना ब आखे खड़ी है आंड मे खुश था के मुझे उसे वो बकेट पास करनी है.

हम लोग बोहोट अक्चा जर रहे थे आंड मे भी अक्चा पास कर रहा था. फिर ह्यूम और जोश आया और फास्ट फास्ट करने लगे. इस चक्कर मे जब मे पानी से भरा बकेट पास करता था आंड वो अपने बाहो मे उठती थी यूयेसेस बकेट को तो खेल खेल मे कई बार उसके बूब्स पे मेरे हाथ टच हो गये. जो की उसने इग्नोर किए आंड ग़मे चालू रखा.

लेकिन वो फीलिंग कमाल थी उसके वो सॉफ्ट बूब्स पे हाथ लगना तो मान जैसे मेरा सपना साकार होने जैसा था. फिर जब ग़मे ख़तम होने क बाद वो मुझे लुक दे रही थी आंड स्माइल भी कर रही थी.

मुझे समाज नही आ रहा था मे क्या करू. फिर मे भाग के बातरूम गया और मूठ मार के अपने नन्हे शैतान को शांत किया और बाहर आया. सब लोग टीम्स मे खड़े थे फिर मैने वोही टीम जाय्न की जिसमे वंदना थी.

फिर ग़मे स्टार्ट हुई एक ग़मे ऐसी थी जिसमे बीच से पानी भरके लाना था बकेट मे आंड एक पोले मे डालना था. जिसमे एक बॉल रखा हुआ है जो की पानी क प्रेशर से उपर आएगा आंड वो टीम जीत जाएगी.

हुँने एक एक करके पानी भरना स्टार्ट किया. पहले मे बीच की तरफ खड़ा हुआ और पानी भरता आंड पास करता. मैने देखा क वंदना ब आखे खड़ी है आंड मे खुश था के मुझे उसे वो बकेट पास करनी है.

हम लोग बोहोट अक्चा जर रहे थे आंड मे भी अक्चा पास कर रहा था. फिर ह्यूम और जोश आया और फास्ट फास्ट करने लगे. इस चक्कर मे जब मे पानी से भरा बकेट पास करता था आंड वो अपने बाहो मे उठती थी यूयेसेस बकेट को तो खेल खेल मे कई बार उसके बूब्स पे मेरे हाथ टच हो गये. जो की उसने इग्नोर किए आंड ग़मे चालू रखा.

लेकिन वो फीलिंग कमाल थी उसके वो सॉफ्ट बूब्स पे हाथ लगना तो मान जैसे मेरा सपना साकार होने जैसा था. फिर जब ग़मे ख़तम होने क बाद वो मुझे लुक दे रही थी आंड स्माइल भी कर रही थी.

उस ग़मे के दौरान हमारी दोस्ती आक्ची हो गयी थी.

फिर हम होटेल साथ मे गये छलके आंड बोहोट बातें की. मैने मौका देख क उसे पूच लिया के उसका कोई ब्फ है? तो उसने ना मे सिर हिलाया आंड उसने भी मुझे यही पूछा तो मैने ब माना कर दिया. फिर मैने उसको कॉंप्लिमेंट दिया क वो हमारे ऑफीस किस सबसे सनडर लड़की है. वो शरमाई आंड उसने मुझे ब कहा क तुम ब नॉटी लड़के हो आंड ई एंजाय युवर कंपनी आंड स्माइल देके अपने रूम मे चली गयी.

रात को हमने एक डॅन्स आंड सिंगिंग पार्टी रखी थी जिसमे सब ने बीच थीम पहना हुआ था. वो भी एक वाइट वन पीस मे आई जो की तोड़ा ट्रॅन्स्परेंट था आंड उसकी ब्रा आंड पनटी सॉफ दिख रही थी. मानो दोस्त्ूओ बिना हिलाए ही पानी निकल जाए ऐसी काटी लग रही तू.

सब उसकी गांद को घूर रहे थे जो की काफ़ी सेक्सी लग रही थी. आंड सब लोग गाना गाने लगे. तो हमारी टीम को दूसरी टीम वाले चिढ़ा रहे थे के तुम लोग मे किसी ने पर्फॉर्म नही किया.

तो मैने अक्चा गाता हू तो में आयेज बढ़ा स्टेज पे. आंड गाना गया “गुलाबी आँखे जो तेरी देखी”… जो की मे बार बार उसकी तरफ देख क गेया रहा था आंड शायद वो भी समाज चुकी थी.

फिर हुँने डिन्नर किया और सब अपने हाथ मे बियर की बॉटल लेके इधर उधर हो गये थे अपने अपने दोस्त या पार्ट्नर क साथ. तो मैने देखा की वंदना बीच की तरफ अकेली जेया रही है तो मैं पीछे से गया आंड उसके साथ चलने लगा. उसको अक्चा लगा की मैं उसके साथ आया आंड फिर हुँने इधर उधर की बातें की. मैने काफ़ी हासाया उसको आंड हुमको धीरे धीरे नशा चाड रहा था बियर का.

उसके बाद हम बैठ गये आंड वो मेरे कंधे पे सिर रख कर बात कर रही थी. तो मैने उसे फिर से एक कॉंप्लिमेंट दिया क अगर मेरा बस चले तो मे हमेशा उसके साथ ऐसे ही बात करना चाहूँगा. आंड ऐसा कहते ही मैने उसके हाथ मे हाथ दे दिया.

वो कुछ नही बोली और मेरा एक हाथ उसके हाथ मे था. फिर मैने बात करते करते एक हाथ उसकी कमा पे रख दिया और धीरे धीरे सहलाता रहा उसके हाथ आंड उसकी कमर.

उसका कोई रिक्षन नही था लेकिन एक बात बतौ दोस्तू.. मेरी हालत खराब हो रही थी, जिसको छ्चोड़ने के सपने देख रहा था वो आज मेरी बाहों मे है. उसकी वो पतली कमर आंड मखमली हाथ हो मे सहला रहा था मुझे पागल कर रहे थे आंड वो मेरी लाइफ का सबसे अक्चा पल था.

फिर अचानक उसने सिर उपर किया और मेरी तरफ देखा.. क्या बतौ यारूव ये मोमेंट एकद्ूम हार्ट अटॅक वाला था. मेरी धड़कन तेज़ हो गयी आंड सासे ज़ोर ज़ोर से चलने लगी. उसका वो आखो मे देखना मुझे पागल किए जेया रहा था.

मैने मौका देख के हल्के से उसके फेस के करीब जाना चाहा. उसने अभी ब कोई रिक्षन नही दिया और वो मुझे घूरे ही जेया रही थी.. फिर में एकद्ूम करीब चला गया उसके होतों के. उसकी सासे फील कर रहा था. हम दोनो एक दूसरे मे इतना खो गये थे की क्या बतौ. वो मोमेंट हमेशे क लिए थम जाए!

मैने धीरे से अपने होंठ उसकी मखमली होंठ पे रखे.. ऊओहूऊओ य्ाआरर क्या बतौ मैने अपने होठों से उसके होत छू लिए और उसकी सासें फील कर रहा था. फिर धीरे उसने भी अपने होंठ मेरे होंठ से लागाय. मानो मे झूम ही उठा..

यूयेसेस वक़्त मेरे आंदार मानो अजीब से फीलिंग थी क मैं बता ही नही सकता.

फिर हुँने एक बोहोट रोमॅंटिक आंड स्लो किस किया जो की कूम से कूम 5 मीं लंबा चला.. उसकी वो लिपस्टिक का टेस्ट आंड उसके कोमल होंठ की फीलिंग और उसके वो मुहह का टेस्ट सब एक साथ मिल रहा था…. आअहहाअ मज़्ज़ा ही आ गया था. फिर उसको कॉल आया ऑफीस मेट्स का वापस रूम पे बुलाने को और हमारी किस टूट गयी.

हम बीच से उठे आंड मैने ऐसे ही उसको अपने करीब खीचा उसकी कमर मे हाथ डाल के होटेल तक गये उसने भी मुझे नही रोका. बल्कि मुझे देख क स्माइल दी. फिर उसके रूम क पास आके उसने मुझे गुड नाइट हग दिया जो की मे काफ़ी सर्प्राइज़्ड था..

पर वो जो उसके बूब्स की फीलिंग मेरी चेस्ट पे आंड उसके गाल मेरे गाल से टच होना और उसकी बॉडी की गर्मी मेरे शारीर से मिलना.. उफफफ्फ़… दोस्तू क्या बतौ मेरे बॉडी मे करेंट सा दौड़ने लगा था. मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.. फिर हम दोनो अपने रूम पे गये. पर इस से ये पता चल गया की मुझे ग्रीन सिग्नल मिल चुका है.

दोस्तो अगले पार्ट मे जानिए की कैसे मैने सेक्सीयेस्ट लेडी ऑफ मी लाइफ वंदना को छोड़ा आंड उसके साथ और भी डिफरेंट पॅटर्न आंड पोज़िशन्स मे काफ़ी मज़े किया आंड कैसे उसे हमेशा के लिए अपने लंड का दीवाना बनाया.

तो दोस्तो प्लीज़ अपना कॉमेंट कीजिए आंड बताइए मेरी पहले स्टोरी कैसी लगी. आंड आपके कॉमेंट आने क बोहोट जल्द ही अपना दूसरा पार्ट लिखूंगा आंड शेर करूँगा.

मुंबई मे किसी लड़की या आंटी को मुझसे मिलना हो फोरप्ले या छुदाई (ई आम आ गुड ओरल सेक्स लवर) क लिए प्लीज़ अपना म्स्ग ड्रॉप कीजिए पे. ये रिलेशन्षिप सीक्रेट रहेगा हमेशा ये मेरा प्रॉमिस है आपसे. सो प्लीज़ दोस्तो एमाइल करना ना भूलें.

यह कहानी भी पड़े  ऑफिस टूर पर काफ़ी मजा आया चुत चुदवा कर

error: Content is protected !!