वाकेशन पर गर्लफ्रेंड की सेक्सी बहन को चोदने की कहानी

हेलो दोस्तों मेरा नाम विराज है, और मैं 23 साल का अची फ्ज़िक वाला लड़का हू. ये कहानी मेरी और मेरी गफ़ की बेहन की चुदाई की है, की कैसे मैने उसको अपनी गफ़ से च्छूप के खूब चोदा.

आपका टाइम वेस्ट ना करते हुए मैं सीधा कहानी पर आता हू. ये बात कुछ महीनो पहले की है, जब मेरे कॉलेज के एग्ज़ॅम ख़तम हुए तो मैने अपनी गफ़ से कहा की चलो कही घूमने चलते है. क्यूंकी एग्ज़ॅम्स की वजह से हम काफ़ी टाइम से मिले भी नही थे.

मिलना तो बहाना था. मुझे तो उसको छोड़ कर आना था. मुझे ही पता था मैं कैसे 2 महीने बिना उसे छोड़े रहा था. मेरी गफ़ बहुत सेक्सी माल है. उसे भी मुझसे छुड़वाना बहुत पसंद है. मेरी गफ़ का नाम हीना (बदला हुआ नाम) है. उसकी एक बेहन भी है, जिसका नाम फरीं (बदला हुआ नाम) है.

फरीं हीना से छ्होटी है, और उसका भी एक ब्फ है. तो मैने हीना से कहा चलो बाहर कही घूमने चलते है. हमारा प्लान पहाड़ों में जाने का बना. गर्मी काफ़ी थी उन दीनो, तो हमने पहाड़ों की हवा खाने का सोचा. नेक्स्ट वीक हमे निकलना था घूमने के लिए.

हीना ने मुझसे पूछा की क्या वो फरीं को पूछे साथ चलने के लिए. तो मैने सोचा की कबाब में हड्डी बनेगी, इसलिए मैने हीना को माना कर दिया. लेकिन हीना ने बोला की फरीं अपने बाय्फ्रेंड के साथ चलेगी, तो ले चलते है साथ, क्या प्राब्लम है?

मैने कहा: चलो ऐसा है तो ठीक है, उसको भी बोल दो चलने के लिए.

हमे सनडे को निकलना था. मैं सनडे की सुबा रेडी हो कर कार लेकर उसकी सोसाइटी के बाहर पहुँचा, और हीना को कॉल किया की-

मैं: मैं यहा खड़ा हू काफ़ी देर से, कहा रह गये तुम दोनो?

उसने बोला: अर्रे बस आ गयी. रूको एक मिनिट.

फिर वो सामने से आती हुई दिखाई दी. एक-दूं मस्त बन कर आई थी. साथ में फरीं भी ग़ज़ब लग रही थी. हमने कार में सारा समान रखा. फिर हमने गूगले माप लगाया, और हम चल दिए.

मैने फरीं से पूछा: तुम्हारा बाय्फ्रेंड कहा मिलेगा लोकेशन बताओ?

पर फरीं शांत थी.

तभी हीना बोली: वो नही आएगा, उसकी फरीं से लड़ाई हो रखी है.

मेरा तोड़ा दिमाग़ खराब हुआ. जो लग रहा था वही हुआ. अब हर जगह इसे साथ लेकर घूमना पड़ेगा.

मैने बोला: चलो कोई नही, हम तीनो मज़े करेंगे.

फिर हम पूरा दिन ड्राइव करके लोकेशन पर पहुँच गये. उस दिन हम काफ़ी तक गये थे. हमने एक होटेल में रूम लिया. मैने उन्हे बिना पूछे 2 रूम बुक कर दिए, और हम अपने रूम की तरफ चल दिए.

मैने फरीं से कहा: मैने 2 रूम बुक किए है.

उसने कहा: ओक, मैं अपने रूम में जाती हू.

डिन्नर हम लोगों ने बाहर ही कर लिया था, और अब नींद भी आ रही थी, तो सोने की तैयारी में थे. मैं फ्रेश हो कर आया बेड पे. हीना मूह बना कर बैठी थी.

मैने पूछा: क्या हुआ बेबी, इतना क्या सोच रही हो?

उसने घुस्से में बोला: क्या ज़रूरत थी 2 रूम बुक करने की? वो अकेली उस रूम में क्या करेगी?

मैने बोला: क्या करेगी मतलब, सोएगी.

उसने मुझे बोला: वो यहा भी तो सो सकती थी ना?

मैने बोला: अर्रे मुझे नही पता था यार.

फिर वो बोली: जाओ उसे यहा लेकर आओ, हम तीनो साथ सो जाएँगे इसी बेड पर.

मैं उसे बुलाने गया तो उसने कहा: अर्रे कोई बात नही, मैं सो जौंगी. आप एंजाय करो.

और एक आँख मारी. मैने उसे बताया-

मैं: यार तेरी बेहन एंजाय के मूड में नही है. वो तो मुझे कक्चा खा जाएगी. तुम चलो साथ, हम तीनो साथ सोएंगे.

फरीं बोली: साथ?

और एक स्माइल दी. फिर वो आयेज-आयेज, और मैं उसके पीछे-पीछे चलने लगा उसकी गांद देखते हुए. हम फर्स्ट रूम में गये.

हीना बोली: आजा तू मेरे पास सोजा, और विराज ही सोएगा उसी रूम में अकेले.

फरीं हासणे लगी.

मैने बोला: दोनो बहने लेज़्बीयन तो नही हो?

फरीं फिर हासणे लगी.

तभी हीना बोली: तुम जाओ सो जाओ और हमे भी सोने दो.

और बेड पर लेट गयी.

मैने फरीं से कहा: तुम गाते बंद कर लो. मैं जेया रहा हू सोने.

फिर गाते बंद करते टाइम उसने पूछा: नींद तो आ जाएगी आपको?

मैने कहा: आ कर चेक कर लेना.

उसने स्माइल दी और गाते बंद कर लिया. मैं साँझ गया था की ग़मे शुरू होने वाली थी. मैं भी अपने रूम में जेया कर सो गया. करीब रात के 1 एक बजे मेरे गाते पर कुछ आवाज़ हुई. मेरी नींद खुली, और मैं चौंक गया.

मैने पूछा: कों है बे?

वो बोली: फरीं हू बे.

मैने गाते खोला. वो बहुत ही सेक्सी नाइट ड्रेस में आई थी.

उसने पूछा: क्यूँ, सोए नही अभी तक?

मैने कहा: कहा यार, मॅन नही लग रहा. नींद भी नही आ रही.

उसने बताया: हीना तो घोड़े बेच कर सो गयी.

मैने बोला: यार कैसी बेहन है तुम्हारी? मेरा बिल्कुल ख़याल नही रखती.

तभी वो बोली: मैं हू ना ख़याल रखने के लिए.

मेरी आँखें खुली की खुली रह गयी. उसने अपनी नाइटड्रेस मेरे सामने ही निकाल के बेड की साइड वाली चेर पर फेंक दी.

मैने कहा: अर्रे फरीं क्या कर रही हो?

उसने मुझे कहा: क्यूँ मैं अची नही लगती तुम्हे?

मैने कहा: तुम तो अपनी बेहन से भी ज़्यादा हॉट हो.

उसने जेया कर रूम का गाते बंद किया, और बेड पे आ गयी. मुझे भी साइड में बैठने का इशारा किया. मैं उसके साइड में जेया कर बीथ गया.

उसने पूछा: सच में मैं हीना से ज़्यादा हॉट हू?

फरीं एक 20 साल की लड़की है, जिसका फिगर 30-28-32 है.

मैने कहा: ह्म, बहुत.

और वो शर्मा गयी. फिर मैने उसकी कमर पर हाथ रखा, तो वो काँप गयी, जैसे किसी ने पहली बार उसे च्छुआ हो.

मैने पूछा: क्या हुआ?

उसने कहा: करेंट लगा तुम्हारे छूने से.

मैने कहा: क्यूँ तुम्हारा बाय्फ्रेंड नही छूटा.

उसने बताया: वो बहुत शरमाता है. अभी तक किस तक नही हुई हमारी.

ये सुन कर मुझे यकीन नही हुआ.

मैने पूछा: मतलब कुछ नही हुआ तुम्हारे बीच?

वो बोली: नही, कुछ भी नही.

ये सुन कर मेरी खुशी का तो ठिकाना ही नही था. एक-दूं कुवारि छूट आज मुझे मिलने वाली थी. मैने फरीं की आँखों में देखा, और पूछा-

मैं: कभी किस की है?

वो शर्मा के बोली: नही यार, किसी ने नही की.

मैने बोला: मैं करू?

तो वो और शर्मा गयी. फिर मैने उसकी कमर से पकड़ कर उसे अपनी तरफ खीचा, और उसके होंठो पर अपने होंठ रख दिए. वो एक-दूं से कसमसा गयी. मैं बहुत आराम से (पॅशनेट) किस कर रहा था.

फिर वो भी मेरा साथ देने लगी. अब हमारे होंठ एक-दूसरे को खा जाने के लिए लड़ाई करने लगे. मैं अपने होंठो से उसके होंठो को चूस्टा, और चूमता. वो भी मेरा पूरा साथ देती. हम दोनो खो गये एक-दूसरे में.

फिर मैने एक हाथ उसके बूब्स पर रखा, और धीरे-धीरे हल्के हाथो से दबाने लगा. इतने में ही उसकी सिसकियाँ निकालने लगी.

वो बोली: यार मुझे आज तक कभी इतना अछा फील नही हुआ. तोड़ा और ज़ोर से दब्ाओ, मैं आज रात तुम्हारी ही हू.

ये सुन कर मुझमे और जोश आ गया. मैने तोड़ा ज़ोर से उसके बूब्स को दबाना शुरू कर दिया. जैसे-जैसे मैं उसके बूब्स दबाता, उसकी सिसकियाँ निकलती, और वो बहुत गरम हो गयी थी. फिर मैने उसे बेड पर लिटाया, और उसकी ब्रा खोल दी. अब उसके गोरे-गोरे बूब्स मेरे सामने थे. मुझसे रहा नही जेया रहा था.

मैने बोला: फरीं तुम्हारे बूब्स तो हीना से भी ज़्यादा खूबसूरत है.

वो बोली: ये भी तो तुम्हारे ही है.

फिर मैं उसके बूब्स को अपने हाथो से दबाता, और मूह से चूस्टा. वो बस आहें भारती आअहह आहह करती. उसके दोनो बूब्स को मैने बहुत चूसा, और पुर लाल कर दिए. उसकी आँखों में भी ठंडक थी जैसे वो भी चाहती थी की कोई उसके बूब्स को चूस-चूस के लाल कर दे.

मैने फाटाक से उसकी पनटी उतरी, और उसकी छूट पर हाथ घूमने लगा. उसे मानो करेंट लग रहा था. मैं जब भी हाथ फेरता, वो काँपने लगती. उसकी छूट पर हल्के-हल्के बाल थे.

वो बोली: यार मैने शेव नही की.

मैने बोला: कोई बात नही, मुझे ऐसे ही पसंद है.

उसने स्माइल दी. मैने उसकी आँखों में देखते हुए अपना मूह उसकी छूट पर रख दिया, और अपनी गरम साँसे उसकी छूट पर छ्चोढने लगा. उसकी आँखें उपर जाने लगी, और वो पागल सी होने लगी. मैने अपनी जीभ निकली, और एक बार उसकी छूट को छाता. उसकी छूट बहुत गीली हो चुकी थी, बहुत ज़्यादा गीली. मैने अपनी जीभ उसकी छूट में घूमना शुरू कर दिया.

उसने अपने दोनो हाथ मेरे सर पर रखे, और मेरे बालों में हाथ घूमने लगी, और मेरा मूह अपनी छूट में दबाने लगी, और सिसकियाँ लेने लगी.

फरीं: आहह विराज कितना मज़ा आ रहा है. तुम बहुत आचे हो यार, मुझे पहले पता होता तुम्हे अपना बाय्फ्रेंड बना लेती.

मैने बोला: तो बना लो, मैं तुम्हारा ही हू मेरी जान.

फरीं: हीना को तो नही बोलॉगे ना? वो मुझे मार डालेगी.

मे: नही बोलूँगा, ये बात हम दोनो के बीच रहेगी बस.

फिर मैं उसकी छूट को चाटने लगा. आचे से अपनी जीभ उसकी छूट के अंदर घुसने लगा. वो भी मज़ा लेते हुए अपनी गांद आयेज-पीछे करने लगी, और मेरे सर को अपनी छूट में दबाने लगी.

फिर वो बोली: यार अब मत तड़पाव, मैं मॅर जौंगी. जो करना है जल्दी करो प्लीज़.

मैने अपनी पंत उतरी, अपना लंड बाहर निकाला. वो उठी और मुझे बेड पर लिटा दिया.

उसने बोला: मेरी बारी.

और एक स्माइल दी. वो अब मेरे लंड पे किस करने लगी. मैने अपनी आँखें बंद कर ली, और उसके होंठ अपने लंड पर फील कर रहा था. वो बहुत मस्त तरीके से लंड पर किस कर रही थी. फिर अपनी जीभ मेरे लंड के टोपे पे घूमने लगी.

मैने उससे पूछा: इतना सब तुमने कहा सीखा?

वो बोली: वीडियोस में देखा है.

हीना ने भी कभी इतनी अची ब्लोवजोब नही दी. जितनी अची फरीं दे रही थी. धीरे-धीरे उसने मेरा पूरा लंड अपने मूह में ले लिया. मेरा लंड ऑलमोस्ट 6″ का हो चुका था. वो लंड अपने गले तक लेने लगी, और अपना सारा थूक मेरे लंड पर डाल दिए, और उसे आचे से चूसने लगी.

उसने बहुत टाइट से मेरा लंड पकड़ रखा था, जैसे उसे उखाड़ देगी, और बहुत हार्ड तरीके से चूस रही थी. मेरा लंड अब किसी लोहे की रोड की तरह सख़्त हो गया था.

वो बोली: अब ये रेडी है मेरी छूट में जाने के लिए.

मैने उससे कहा: आओ फिर झूला झूलता हू.

वो बोली: मतलब?

मैने कहा: मेरे उपर आओ. उसने कहा: नही तुम मेरे उपर आओ.

फिर हम मिशनरी पोज़िशन में आए. मैं उसके उपर था. मैने उसकी गांद के नीचे के पिल्लो रख दिया, जिससे उसकी गांद थोड़ी उपर हो गयी.

फिर मैने उसके पैरों को खोला, और बीच में आ गया. उसके बाद अपने लंड को उसकी छूट पर रखा, और धीरे-धीरे पुश करने लगा. बहुत ट्राइ करने पर भी नही जेया रहा था. फिर मैने अपने बाग से लूब्रिकॅंट निकाला, उसे अपने लंड में लगाया, और उसकी छूट पे और एक ज़ोर का धक्का मारा.

इस बार मेरा आधा लंड उसकी कुवारि छूट में उतार गया. वो बहुत ज़ोर से चिल्ला पड़ी. मैने जल्दी से उसका मूह बंद किया. उसके आँसू निकल गये. मैने उसकी आइज़ पर किस किया, और उसके लिप्स पर किस करने लगा. मैं उसकी चीन पर किस करता रहा. फिर जब वो शांत हुई, मैने फिर धीरे-धीरे धक्के मारना शुरू किया.मैं अपना आधा लंड ही अंदर-बाहर करने लगा.

फिर मैने उससे कहा: तुम रिलॅक्स हो जाओ. अब दर्द नही होगा. जो होना था हो गया मेरी जान. अब तुम सिर्फ़ मज़ा लॉगी.

मेरी बात सुन कर वो थोड़ी रिलॅक्स हुई, और अपनी टाइट छूट को तोड़ा ढीला छ्चोढा. अब मेरा लंड तोड़ा और अंदर जाने लगा. मैं इसी तरह धीरे-धीरे लंड अंदर-बाहर करने लगा. वो भी अया आअहह करने लगी. उसकी छूट बहुत टाइट थी.

उसने पूछा: तुमने कॉंडम तो पहना है ना?

मैने ब्टाया: अभी नही पहना, लेकिन पहन लूँगा. तुम चिंता मत करो.

वो बोली: बेटा कुछ हुआ ना. फिर मुझसे करनी पड़ेगी शादी, हीना से नही.

मैने बोला: रूको पहन ही लेता हू.

फिर वो हासणे लगी. मैने कॉंडम निकाला, और लंड पर चढ़ा लिया. दोबारा लूब्रिकॅंट लगाया, और फिरसे धक्के मारने लगा. मैने फिर एक और ज़ोर का झटका मारा. अब मेरा पूरा 6 इंच का लंड उसकी छूट में घुस चुका था. अबकी बार वो ज़्यादा ज़ोर से नही चिल्लाई. अब मैने धक्को की स्पीड बढ़ा दी. हमारी आँखें एक-दूसरे की आँखों को देख रही थी.

उसकी आँखें मुझे ज़ोर-ज़ोर से धक्के मारने के लिए बोल रही थी. मैने अपनी स्पीड और बधाई, और वो झड़ने वाली थी. उसने मेरी कमर कस्स के पकड़ ली, और बोली-

फरीं: ज़ोर से करो विराज, रुकना मत प्लीज़. करो, करो.

मैं भी ज़ोर-ज़ोर से उसकी छूट छोड़ने लगा. उसकी छूट से अब फॅक फॅक की आवाज़े आने लगी. फिर एक-दूं से वो झाड़ गयी, और काँपने लगी. मेरा अभी हुआ नही था. मैने 5 मिनिट और उसे छोड़ा, और मैं भी झाड़ गया. फिर मैने कॉंडम निकाल के डस्टबिन में फेंका, और उसे किस करने लगा. उसने मुझे बहुत पॅशनेट किस किया.

फरीं बोली: मुझे नही पता था तुम इतना मज़ा दोगे. मुझे तुमसे तो प्यार हो गया यार.

मैने कहा: तुम्हे रोज़ प्यार करूँगा, अगर तुम चाहो तो.

उसने कहा: ह्म, जब भी मौका मिलेगा हम करेंगे.

और फिर फरीं दूसरे रूम में चली गयी. फिर मैं भी सो गया. थोड़ी देर में सुबा होने वाली थी. हमने आयेज भी बहुत बार सेक्स किया. वो जानने के लिए कॉमेंट्स में बताए क्या आप 2न्ड पार्ट पढ़ना चाहेंगे?

थॅंक्स दोस्तों आपका, मेरी स्टोरी पढ़ने के लिए.

यह कहानी भी पड़े  मेरी पड़ोस वाली भाभी की जमकर चुदाई


error: Content is protected !!