अंकल ने आंटी की गांड मरवाई

uncle-ne-aunty-ki-gaand-marwaiवो एक तहवार की शाम थी लेकिन बारिश हो रही थी. मैंने देखा की पड़ोस के अंकल कुछ दिनों से घर के बहार थे. और घर में केवल आंटी ही रह रही थी. मैं उनकी बहुत इज्जत करता था और जब भी मिलती थी प्यार से उन्हें ग्रिट करता था. लेकिन फिर मेरी आँखे उन्के बड़े बूब्स को और मांसल गांड को वो नजरों से देखने लगी थी. उस दिन मैंने सुबह से ही खूब पोर्न देखा था. क्यूंकि मेरे घर पर भी कोई नहीं था.

अचानक मुझे पोर्न देखते हुए आइडिया आया की क्यूँ ना आंटी को चोदा जाए! मैंने अपने हेडफोन को निकाल दिए. और ऊँची वोल्यूम में मैं पोर्न देखने लगा. वैसे वो रात को लाईट बंद करने के लिए घर के बहार आती थी. मैंने अपनी चेर को मेरे डोर के बीचोबिच रखा था ताकि वो मुझे देख सके. और मैं उसके इन्तजार में ही अपने लंड को बहार निकाल के हिला भी रहा था.

और फिर वो थोड़ी देर में बहार आई थी. उसने मुझे देखा की मैं लंड हिला रहा था. मैंने सोरी कहा और दरवाजे को बंद कर दिया. उसने हलकी सी स्माइल दी लेकिन फिर एक्टिंग कर के चहरे को थोडा एंग्री कर लिया. मैं जानता था की अगर उसकी चूत में चुदाई की आग लगी तो वो मेरे डोर के ऊपर  नोक जरुर करेगी!

और सच में ऐसा हुआ भी. उसने नोक किया. मैंने दरवाजा खोला. वो बोली, आज अकेले लगते हो तुम घर पर? मैंने कहा हां आंटी. वो बोली, तेरे अंकल भी नहीं हे और मैं भी अकेली हूँ तो एक काम कर तू मेरे वहा आजा. मैं एकदम एक्साइटेड था आंटी के साथ चलने के लिए और मैं चला भी गया.

आंटी ने एक लम्बा स्कर्ट और टी शर्ट पहनी हुई थी. उसकी गांड क्या हॉट लग रही थी! मैं पीछे उसकी दोनों बम्स को देख के चल रहा था. अंदर जा के उसन मुझे बैठने के लिए कहा तो मैं बैठ गया. कुछ देर के लिए तो हम दोनों में कोई भी बात नहीं हुई.

यह कहानी भी पड़े  दहेज के लिए माँ को ससुर ने पेला

फिर आंटी ने मुझे कहा ये देखो. ये कह के उसने मुझे अपना मोबाइल दिखाया. उसके अंदर उसने मेरे मुठ मारने को रिकोर्ड किया हुआ था. साला मुझे तो शोक लगा. उसने चुपके से वो वीडियो रिकोर्ड कर लिया था.

मैंने कहा आंटी प्लीज इसे डिलीट कर दो. उसने कहा नहीं भाई नहीं करुँगी. मैंने कहा मैं इस वीडियो को डिलीट करवाने के लिए आप जो कहो वो कीमत देने के लिए तैयार हूँ!

आंटी ने हंस के कहा, अच्छा तो मैं जो कहूँगी वो करेगा बिना कोई सवाल पूछे? मैंने कहा हां क्यूँ नहीं. आंटी ने कहा जा दरवाजा बंद कर और मेरे बेडरूम में चल. मैंने ऐसा ही किया. जब मैं बेडरूम में गया तो मेरी गांड फट गई. अंकल वही पर बैठा था बिस्तर के ऊपर. मुझे लगा की अब तो लौड़े लग गए मेरे. लेकिन उसने मुझे कहा की शांत हो जाओ बेटा, अगर हम कहे ऐसा करोगे तो आराम से यहाँ से चले जा सकोगे और किसी को कुछ पता भी नहीं चलेगा.

और फिर मुझे कपडे खोलने के लिए कहा गया. वो लोगो न मुझे नंगा खड़ा किया. आंटी ने भी अपने कपडे खोले और वो मेरे पास आ गई. अंकल अब सब कुछ की रिकोर्डिंग ले रहा था अपने फोन में. आंटी को न्यूड देख के मेरा लंड खड़ा होने लगा था और उसे देख के अंकल हंस रहा था.

अंकल ने कहा, तुम मेरी बीवी को चोदना चाहते हो क्या?

मैंने मन ही मन कहा की साले चोदना तो ऐसे चाहता हूँ की उसकी चूत फाड़ दू. लेकीन मैंने कुछ नहीं कहा. अंकल भी नंगा हो गया और बोला, अब हम दोनों को देख हरामी! और अगर लंड को हाथ भी लगाया तो बॉल्स काट के खा जाऊँगा तेरे.

मैं एकदम नर्वस हो चूका था. अंकल ने मोबाइल को खड़ा कर दिया. आंटी जी अब निचे बैठ के अंकल के लंड को मस्त चूसने लगी थी. अंकल ने आंटी को खूब माउथ फक किया और आंटी के मुहं से थूंक निकल पड़ा, आंटी लंड चूसते हुए जोर जोर से मोअन कर रही थी अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह.

यह कहानी भी पड़े  रजिया फंसी गुंडों मैं पार्ट -3

मेरे लंड के छेद से प्रीकम निकल गया था. आंटी की निपल्स एकदम बड़ी थी और कडक भी. अंकल ने उन्हें बच्चा दूध पीता हे वैसे चूसा. और फिर वो आंटी को चोदने लगा एकदम जोर जोर से. पांच मिनिट के अंदर ही उसके लंड का पानी आंटी की चूत में निकल गया. अंकल का पानी छूटा तब वो जोर जोर से चीखने लगा था. आंटी भी एकदम चुदासी ही थी. मेरे लिए कंट्रोल कर पाना मुश्किल हो रहा था.

अब आंटी रेंगती हुई मेरे पास आ गई किसी भूखे कुत्ते के जैसे. अंकल अभी भी रिकोर्ड कर रहा था. आंटी ने मेरे दोनों हाथ को पीछे कर के बाँध दिया. मैं एक शब्द भी नहीं बोला. आंटी ने मेरा 7 इंच का लंड पूरा अपने मुहं में भर लिया. उसने पूरा लंड मुहं में भर के उसे चुसना चालू कर दिया. साथ में वो जोर जोर से साँसे भी ले रही थी. आंटी का कोक सकिंग एकदम सटीक और सेक्सी था जिसकी वजह से मेरी साँसे भी तेज होने लगी थी. मुझे लगा की मेरा पानी निकल जाएगा इस हॉट कोक सकिंग से!

लेकिन तभी आंटी रुक गई और वो खड़ी हुई. उसने मुझे फ्रेंच किस दिया और मुझे धक्का दे के मेरी जीभ को चूसने लगी. वो मेरे मुहं में पूरी जबान को डाल के चूस रही थी.

आंटी ने अब मुझे बिस्तर में फेंका और मुझे लगा की वो अब चुदवा लेगी मेरे से. आंटी मेरे ऊपर आ गई और उसने अपनी चूचियां मेरे लंड से चुदवाई. मैंने उसके निपल्स को चूसा एकदम जोर से. वो अह्ह्ह्ह अह्ह्ह यस याह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह मुहं से निकाल के मोअन करने लगी थी. उसे बूब्स चटवा के बड़ा मजा आ रहा था. अंकल भी ये देख के खुश लग रहा था.

Pages: 1 2

error: Content is protected !!