अंकल और मम्मी की चुदाई

अंकल अब मम्मी की टॅंगो के बीच आ गया और मम्मी की छूट को सहलाते हुए उसमे उंगली करने लगा.

मम्मी – उुउऊहहस्शह..

अंकल नीचे झुकर मम्मी की छूट पर मूह लगा दिया.

मम्मी – (हँसती हुई) च्िीई गंदे…

और अंकल मम्मी की छूट के दाने को अपनी जीभ से चाटने लगा.

मम्मी – आआअहह श हह करती हुई अपनी कमर यहाँ बहन करने लगी.

रफ़ीक मम्मी की गांद को पकड़ मम्मी की छूट से आ रहा पानी को जीभ से चाटने लगा.

मम्मी – उूुुुउऊहफफफफफफफ़फ़गगगगग रफ़ीक क्या कर रहे हो उूउउ उूुउऊहह..

अब मम्मी अपने सिर के बॅलो को नोचने लगी. मम्मी की ये हालत देखकर रफ़ीक बहुत खुश हो रहा था. फिर रफ़ीक उठकर मम्मी के पेट पर बेत गया. और एक कॉंडम का पॅकेट मम्मी को दे दिया. मम्मी कॉंडम के रेपर को फाड़ कर कॉंडम अंकल के लंड पर पहना दी.

फिर अंकल मम्मी की टॅंगो को छोड़ी कर मम्मी की टॅंगो के बीच बेत गया और अपना लंड मम्मी की छूट के दाने पर रख रगड़ने लगा.

मम्मी- उूुुुुुउऊहसशह..

थोड़ी देर रगड़ने के बाद अंकल तोड़ा ज़ोर देकर लंड का टोपा छूट मे डाल दिए.

मम्मी – आआहह..

अंकल तोड़ा और ज़ोर दिया आंड लंड आधा अंदर चला गया.

मम्मी – आआआहह… करती हुई मम्मी उपर की तरफ सरक गयी.

रफ़ीक मम्मी की गांद को पकड़ फिरसे पोज़ मे आया और एक लंबा धक्का मारा..

मम्मी – आआआआआहह…. मम्मी आँखे बंद कर सिसकारी लेने लगी.

अंकल का लंड मम्मी की छूट को चीरते हुए अंदर चला गे. फिर अंकल मम्मी के उपर लेट गया और मम्मी को चूमते हुए मम्मी के बूब्स दबाने लगा. और धीरे शॉट मरने लगा.

मम्मी – आआहह उूुुुुउउम्म्म्मम उूुउऊहह करने लगी.

अंकल अपने हाथ पलंग पर टीका दिए और अपनी गांद आयेज पीछे कर मम्मी को छोड़ने लगा.

अब मम्मी अंकल की चेस्ट पर हाथ घूमती हुई आअहह उउउहह करने लगी.

मम्मी के बॉल पूरे बिखर गये थे और माथे की बिंदी भी हट गयी थी. अंकल बूब्स को दबाते हुए मम्मी को छोड़ रहा था. मम्मी और अंकल दोनो एक दूसरे को देख स्माइल कर रहे थे. और झानतु अंकल मम्मी को आँख मार रहा था.

धीरे धीरे अंकल स्पीड तेज कर दिया और गप्पगाप मम्मी को छोड़ने लगा. मम्मी आअहह उूुउऊहह उूुुुउऊहहााआहह कर रही थी.

थोड़ी देर छोड़ने के बाद अंकल अपनी तंग सीधी कर लिए और गांद के बाल बेत गया और मम्मी का हाथ पकड़ मम्मी को अपने लंड पर बेता दिया. मम्मी अंकल के गले लग गयी.

अंकल मम्मी को अपनी बाहों मे भर लिया और मम्मी के बॅलो से खेलते हुए मम्मी को बेते बेते छोड़ने लगा. मम्मी के बूब्स अंकल की चेस्ट मे डब गये थे. मम्मी अपनी टाँगे अंकल की कमर पर बाँध ली. और अंकल को चूमने लगी.

अंकल – आहह मेरी जान उूउउम्मह.

मम्मी – आहह आअहह

दोनो हंसते हुए मस्ती करने लगे. अंकल मम्मी को अपनी गोद मे लिए हुए पलंग से नीचे खड़ा हो गया.

मम्मी – ( हँसती हुई) गिरा दोगे…

अंकल – नही गिरने दूँगा मेरी जान… और मम्मी की गांद को दबाते हुए, मम्मी को खड़े खड़े छोड़ने लगा.

उउउहफफफफफफफफफफ्फ़ नज़ारा बिल्कुल पॉर्न वीडियो की तरह लगा रहा था. मई अपने लंड की मूठ मारकर अंडरवेर मे ही पानी निकल दिया. उुउऊहगगगगगगगगगग झानतु अंकल मम्मी गांद को उछाल उछाल कर छोड़े जेया रहा था.

मम्मी – आअहह आअहह उुउऊहह आहह करने लगी.

थोड़ी देर बाद अंकल मम्मी को नीचे उतार दिया. अंकल का लंड चमक रहा था मम्मी की छूट के पानी से. मम्मी खड़ी खड़ी अपनी छूट के पानी को सॉफ करने लगी. फिर अंकल अपने लंड को सॉफ करने लगा. मम्मी अपने बॅलो को सही करने लगी.

अंकल मम्मी को पेग बनाने बोले. मम्मी 🍺🍺 2 पेग बना दी. और 1 पेग अंकल को दे दी और दूसरा पेग खुद लेकर अंकल की गोद मे अंकल के लंड पर बेत गयी. और दोनो चियर्स कर पीने लगे.

मम्मी इतनी बिगड़ सकती है ये मैने नही सोचा था. दोनो पेग मरते मरते हंस हंस कर बाते कर रहे थे. उसके बाद अंकल मम्मी को पलंग पर झुकने लगा.

मुझे दर लगने लगा की अब लवदु अंकल मम्मी की गांद मरेगा. मम्मी अपने हाथ पलंग पर रख घोड़ी बन गयी. अंकल मम्मी की फुल्ली हुई गांद के पीछे आया और अपना लंड मम्मी की छूट पर रगड़ते हुए अंदर दल दिया.

मम्मी – आआआआ आआआआआहह…….

अंकल मम्मी की गांद को मसालते हुए धीरे धीरे लंड आयेज पीछे कर मम्मी को छोड़ने लगा. मम्मी के मोटे मोटे बूब्स लटक रहे थे. अंकल मम्मी को अब फास्ट ढके मारकर छोड़ने लगा.

मम्मी – आआअहह उुउऊहह.

अंकल- आअहह उर्मिला उूउउँह

अंकल मम्मी की गांद पर धीरे धीरे छाते मरने लगा. और गप्पगाप मम्मी को पेलने लगा. अंकल के हर धक्के पर मम्मी आअहहुउूऊहह करने लगती.. अंकल मम्मी की गांद पर थप्पड़ मरने लगा.

मम्मी अंकल को हाथ से रोक रही थी. लेकिन उनकलर थप्पड़ मारे जेया रहा त्स जिससे मम्मी की गांद लाल होने लगी.

अंकल – आअहह बहुत मज़ा आ रहा है तुझे छोड़ने मे आआआअ

मम्मी – आआहहुउऊउऊहहुउऊंम्म ऊओहूऊओ रफिकककक आअहह

अंकल छोड़ते हुए मम्मी के उपर झुक गया और मम्मी के बड़े बूब्स को दबाने लगा और मम्मी की पीठ को अपनी जीभ से चाटने लगा. आआअहप सोच दोस्तो कितना मज़ा आ रहा होगा इश्स छोड़ू अंकल को.

उूुउउँह मुझे तो मम्मी की चुदाई देख बहुत मज़ा आ रहा था. मई अपने लंड को अपने हाथ मे लाकर हिलने लगा. लेकिन थोड़ी देर मे ही मेरे लंड ने फिरसे पानी छ्चोड़ दिया.

आअहह मई अपने आप को बहुत गालिया देने लगा क्यून्न की अंदर वो कुत्ता अंकल मम्मी को पीछे 2 घंटे से छोड़ रहा है लेकिन उसके लंड ने अबतक पानी नही छ्चोड़ा और मई हूँ लंगूर की सिर्फ़ देखते ही मेरा लंड मुरझा गया.

अंकल मम्मी की पीठ को छत रहा था. और गप्पगाप शॉट मार रहा था. रफ़ीक मम्मी के बॅलो को खुला कर दिया और मम्मी के बॅलो को पकड़ते हुए छोड़ने लगा.

ऐसा लग रहा था जैसे की अंकल घोड़ी की सवारी कर रहा है. अंकल मम्मी के बूब्स को दबाते हुए छोड़ रहा था. मम्मी की छूट से पानी आ रहा था जिससे फुचह फुचह की आवाज़ आने लगी. अंकल ज़ोर ज़ोर से छोड़ने लगा.

फिर रुक गया और मम्मी के बूब्स को दबाते हुए मम्मी की पीठ को जीभ से चाटने लगा. मम्मी की हालत देख अंकल को बहुत ख़ुसी हो रही थी. मम्मी लंबी लंबी साँसे लेकर हफने लगी. ऐसा लग रहा था जैसे की मम्मी झाड़ चुकी हो.

मम्मी – आअहह आप इतने प्यासे हूऊओ…

अंकल – उउउँह उर्मिला बहुत प्यासा हो चुका हूँ मेरी जान. और अब ये प्यसस सिर्फ़ तुम ही बुझा सकती हूओ…

फिर अंकल ने अपना लंड छूट से निकल लिया. मम्मी मूह के बाल पलंग पर गिर गयी. अंकल अपना लंड सॉफ करने लगा. और मम्मी को सीधा कर मम्मी की छूट को सॉफ करने लगा.

फिर मम्मी की गांद के नीचे 2 तकिया लगाकर. मम्मी की टाँगे छोड़ी कर अपना लंड मम्मी की छूट पर सेट कर दिया. अंकल को अब और बर्दाश्त नही हो रहा था सयद इसीलिए अंकल फटाफट मम्मी की छूट मे लंड पेल दिया.

मम्मी – आआआआआहह.

अंकल मम्मी की जाँघो को उनकी कमर तक मोड़ गप्पगाप छोड़ने लगा.

मम्मी – आआहह आहह आआआआआहह करने लगी.

अंकल- आअहह उर्मिला उउउँह बहुत मज़ा आ रहा है तुझे छोड़ने मे आआआहह.

वो गप्पगाप लंड छूट मे आयेज पीछे करने लगा. मम्मी चुदाई के नशे मे मदहोश होकर पलंग की चादर को तिघत पकड़ने लगी. अंकल पूरा झुक गया था मम्मी पर इसीलिए मम्मी को जाड़ा दर्द होने लगा था इश्स पोज़िशन मे.

मम्मी – आआआआअहह आहह रफिककककककककककक.

ऐसा लग लग रहा था आज से पहले मम्मी को किसी ने इतने जबरदस्त तरीके से नही छोड़ा होगा. मुझे तो लग रहा था की अंकल का कॉंडम मम्मी की छूट मे ही फट जाएगा और अंकल का माल मम्मी के अंदर चला जाएगा. मम्मी और अंकल अब दोनो पसीने पसीने से हो गये. लेकिन अंकल रुकने का नाम ही नही ले रहा था.

तभी मम्मी अंकल को अपनी बाहों मे केड कर ली और अंकल की पीठ पर अपने नाख़ून दबाने लगी. जैसे लग रहा था की मम्मी झाड़ चुकी है.

डोस्नो की ये रासलीला देख किसी का भी पानी च्छुत जाएगा. अंकल मम्मी के बूब्स के निपल को मूह मे डालकर गपगाप छोड़ रहा था.

मम्मी – आ आआआआअ आआहह

फिर अंकल रुक गया और एक ढाका बहुत ज़ोर से मारा.

मम्मी – आआआआअ आआआहह…

और अपना मूह दर्द के मारे यहाँ बहन करने लगी.

अंकल दूसरा धकका भी बहुत ज़ोर से मारा…

मम्मी – आआआआआआआआआआअहह.

अंकल अब तोड़ा हफने लगा और एक तीसरा धक्का भी ज़ोर से मारा तो मम्मी रोने के जैसे सकल बना ली.

मम्मी – उूुुुुुुुुउऊहफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़.

फिर अंकल एक चोथा धक्का ज़ोर से मारा, मम्मी आँख बंद की हुई..

मम्मी – आआआहझहह.

रफ़ीक मम्मी के उपर लेट गया और मम्मी के जिस्म से अपना जिस्म से रगड़ने लगा. मम्मी अंकल को बहुत ताक़त से अपनी बाहों मे केड कर ली. और अंकल के जिस्म पर पागलो की तरह हाथ घूमने लगी.

दोनो को देख ऐसा लग रहा था जैसे दोनो बर्शो की प्यास भुजाए हू..

अंकल – उहफफफफ्फ़ उर्मिला केसा लगा?

मम्मी – उूउउँह मसत्त.

अंकल – उंह इश्स उमरा मे भी तुम्हारे अंदर बहुत गर्मी है. अंकल मम्मी का बूब्स दबाने लगा. मम्मी हँसने लगी…

मम्मी – गर्मी तो आपके अंदर भी बहुत है रफ़ीक. उहफफफफफ्फ़ मेरे सरीर का एक एक अंघ् हिला दिए आप.

वो मम्मी को देखने लगा और मम्मी अंकल को नशीली आँखो से देखी.

अंकल – मज़ा आया?

मम्मी – (स्माइल करती हुई) हाँ बहुत…

फिर अंकल मम्मी के होंठ को चूसने लगा. थोड़ी देर किस करने के बाद अंकल अपना लंड मम्मी की छूट से निकल मम्मी की बगल मे लेट गया.

तो बे कंटिन्यूड…

यह कहानी भी पड़े  चंडीगढ़ की टीचर कविता की चोदा

error: Content is protected !!