अंकल ने बहन को चोद के उसे आईफोन दिया

सब से पहले Antarvasna तो मैं आप लोगों को अपनी फेमली के बारे में बताना चाहता हूँ. मेरे घर में मैं मेरी माँ और तिन बहने हे. और मेरी तीनो की तीनो बहने एकदम सेक्सी और हॉट हे. अब मैं अपने अंकल के बारे में बताऊँ. ये अंकल हमारे पडोसी हे और वो एकदम पावरफुल हे और हरामी टाइप के भी. उनकी नजर हर औरत के ऊपर ऐसे घुमती हे की बस उसे चोदा जाए कैसे भी कर के.

मेरा एक दोस्त हे जिसकी इस हरामी अंकल के साथ अच्छी बनती हे. और मेरे इस दोस्त ने ही अंकल के बारे में मुझे सब बताया हुआ हे. मेरा ये दोस्त पैसे के लिए अपनी काफी गर्लफ्रेंड क अंकल के साथ सुला चूका हे. और मेरे इस दोस्त ने ही मुझे बताया की कैसे इस अंकल ने मेरी बहन को भी चोदा हे. मेरे दोस्त ने बोला की मेरी बहन को परेशान कर के अंकल ने उसे अपने वश में किया था.

ये बात तब की की हे जस मेरी बहन गयारवी में थी और अक्सर जब वो स्कुल में में जाती थी. कभी कभी उसे स्कुल के लिए लेट हो जाए तो मेरे घरवाले इस अंकल को बोलते थे उसकी कार में बहन को स्कुल तक ड्राप करने के लिए. अंकल की नजर मेरी बहन के ऊपर थी क्यूंकि वो बहुत ही सेक्सी थी और स्कर्ट में तो उसकी टाँगे और जांघे एकदम ही सेक्सी और बहतरीन लगती थी.

और फिर एक दिन जब बहन को स्कुल में ड्राप करने जा रहा था तो अंकल ने गाडी चलाते हुए उसकी जांघ के ऊपर अपना हाथ रख दिया. मेरी बहन ने उसे हटा दिया और अंकल ने मेरी बहन को प्रोपोस कर दिया. लेकिन मेरी बहन रंडी नहीं थी इसलिए उसने मना कर दिया.

यह कहानी भी पड़े  किरायेदार की बीवी को कुतिया बनाकर जम के पेला

लेकिन अंकल तो एक नम्बर का हरामी था. वो ऐसे मेरी बहन को छोड़ने के मूड में नहीं था. अब वो स्कुल के छूटने के टाइम पर डेली बहार आता था और मेरी बहन को लुभाता था. ये अंकल मेरी बहन के लिए महंगी महंगी गिफ्ट्स और मोबाइल ले के आता था और अपने पैसे का शो ऑफ करता था. मैंने भी एक दो बार देखा की अंकल मेरी बहन को सता रहा था. लेकिन उसकी साले की पहचान सब जगह थी इसलिए मैंने पंगा नहीं लिया उसके साथ.

एक दिन मेरी ऑफिस की लिव थी और मैं घर पर ही था. मेरी बहन का हाल्फ डे था स्कुल में और वो स्कुल से आ गई. उसके पीछे पीछे ये अंकल भी आ गया. अंकल को मैंने बहार हॉल में ही उलझा दिया और उसके साथ बातें करने लगा. लेकिन तभी मेरी ऑफिस की मेम का कॉल आया किसी काम की फ़ाइल के लिए और मुझे बहार निकलना पड़ा. मैं वापस आया कॉल ख़तम कर के तो देखा की वो अंकल मेरी बहन के रूम में झाँक रहा था. मैं बहुत ही सरप्राइज हुआ.

फिर एक दिन ये अंकल मेरी बहन की स्कुल के बहार आ गया और उसको बोला की चल कार में बैठ जा. सिस्टर न मना किया तो अंकल ने कहा आज बैठ जा फिर मत बैठना हो तो कभी नहीं कहूँगा तुझे बैठने के लिए. मेरी बहन बैठ गई और अंकल गाडी को सिटी के बहार एक वीरान जगह पर ले गया. मेरी बहन एकदम डरी हुई थी. अंकल ने उसे कहा देख तू चाहती हे ना की मैं तेरा पीछा छोड़ दूँ? मेरी बहन ने कहा हां आप मेरे से उम्र में बहुत बड़े हो. तो अंकल ने कहा बस एक बार अपने कपडे खोल के मुझे अपने बूब्स दिखा दे और टच कर लेने दे. और मुझे एक किस दे दे उसके बाद में मैं तुझे कभी परेशान नहीं करूँगा. बस इतना कर लेने दे तो मैं नहीं परेशान करूँगा. वरना मैं तेरे पापा को बोल दूंगा की तू स्कुल के एक लड़के के साथ सेट हे.

यह कहानी भी पड़े  भाभी ने भाभीचोद बनाया

शायद मेरी बहन भी इस परेशानी से छूटना चाहती थी तो उसने कहा की ठीक हे लेकिन आप पहले प्रोमिस करो की परेशान नहीं करोगे आगे से. अंकल ने कहा प्रोमिस.

अब ये सुन के मेरी बहन ने अपनी शर्ट को ऊपर कर दी और अपनी ब्रा की हुक खोल दी. इस बूढ़े अंकल के सामने उसके 34 साइज़ के बूब्स थे जिसे देख के अंकल की आँखों में हवस और वहश आ गई. अंकल ने अपनी सिट को पीछे की और वो मेरी बहन के बूब्स को मसलने लगा. मेरी बहन के मुहं से भी अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह म्मम्मम्म की सिसकियाँ निकल पड़ी.

अंकल ने बहन के दोनों बूब्स को पकडे और वो उसे चूसने लगा. मेरी बहन भी गरम हो ताहि थी. और उसके मुहं से भी अब आवाजें कुछ तेज ही निकल रही थी. इस ठरकी अंकल ने अब देरी न करते हुए उसकी कच्छी में हाथ डाला और वो उसकी जवान चूत के ऊपर अपने हाथ को फेरने लगा. मेरी बहन की वर्जिन चूत के ऊपर पहली बार मर्दाना टच हुआ था इसलिए वो एकदम से उछल ही पड़ी.

Pages: 1 2

error: Content is protected !!