टाइट प्यासी चूत को फादा मोटे लंड से

हेलो दोस्तों माही आपकी खिदमत में हाज़िर है. वैसे आप मुझे जानते ही होंगे पहली कहानी पढ़ कर. ये अब उसका अगला पार्ट है. आप सब लोगों का दिल से थॅंक योउ मैल के लिए. चलिए आपका टाइम वेस्ट ना करते हुए मैं अपना इंट्रोडक्षन देता हू.

मैं माही हू, और कश्मीर के सृिनगर एरिया में रहता हू. सेक्स के मामले में बात करू, तो गुरु जी हू. बहुत से बभियों और गर्ल्स से मैने सीक्रेट सेक्स किया है, और उनको सॅटिस्फाइ किया है उनकी छूट चाट-चाट के. ई लीके सकिंग छूट आंड 69 पोज़िशन.

अगर किसी भी गर्ल या भाभी को छूट चटवाने का शौंक है, आप मुझसे मैल पे कॉंटॅक्ट कर सकती है. 100% सीक्रेट होगा. अब मैं पिछली कहानी की अगला पार्ट शुरू करता हू.

जैसे मैने आपको लास्ट टाइम बोला की मेरी फ्रेंड कविता (नामे चेंज्ड) जिसकी शादी को कम ही टाइम हुआ था. बुत उसका हज़्बेंड उसमे इंट्रेस्टेड नही था. तब मैने उसके साथ कार में फोरप्ले किया, और छूट सक की. बुत उसके घर से कॉल आने की वजह से ज़्यादा कुछ नही कर सके. उसके घर जाने के बाद नेक्स्ट वीक जनवी ने मुझे कॉल की और बोली-

जनवी: माही आपने लास्ट वीक मेरे को टाइम दिया, मुझे असली सेक्स का मज़ा दिया फर्स्ट टाइम. मैं 3 बार झाड़ गयी. फर्स्ट टाइम किसी ने मेरी छूट छाती है.

मे: क्या हुआ मेरी जान, आपको खुश करना मेरा फ़र्ज़ था. और वो तो खाली ट्राइयल था. पिक्चर तो अभी बाकी है.

जनवी: माही प्लीज़ लास्ट टाइम का अधूरा चॅप्टर कंप्लीट करो. मुझे पूरा सेक्स करना है.

मे: मेरी जान, मैं आपके लिए हमेशा हाज़िर हू.

जनवी: माही कल मेरे घर में कोई नही है. प्लीज़ मेरे घर आओ ना.

मे: डॉन’त वरी जान काल मैं सुबा वाहा आपकी खिदमत में हाज़िर होऊँगा.

नेक्स्ट दे मैने दरवाज़ा खटखटाया. वाहा से जनवी ने दरवाज़ा खोला. वाउ, क्या सेक्सी लग रही थी ब्लॅक सूट में. बड़े-बड़े बूब्स को देखता ही रह गया मैं. उसने नोटीस किया और स्माइल देके बोलने लगी-

जनवी: देखना है खाली, या अंदर भी आओगे?

मैं स्माइल पास करके बोला: जान मुझे देखना भी है, और चूसना भी है. और खाना भी है आज. फिर अंदर जाके मैं डाइरेक्ट बद्रूम में गया.

जनवी: क्या पियोगे, छाई या कॉफी?

मे: मैं मेरी जान आज तो आपका दूध ही पियुंगा.

ये कह कर मैने जनवी को पीछे से पकड़ कर हग किया. उसके मूह से आह आह निकल गयी.

जनवी: आह नॉटी, छाई तो पहले पी लो.

मैं: नही जान, छाई बाद में भी पी सकते है.

ये कह कर मैने उसको धक्का दे कर बेड पे गिरा दिया, और उसको किस करने लगा. किस करते-करते हमारी नॉर्मल किस फ्रेंच किस में बदल गयी. मैं अब उसकी टंग सक कर रहा था. तब मैने एक हाथ से उसका बूब दबाना शुरू किया कपड़े के उपर से, और हम किस करते रहे.

कुछ मिनिट किस्सस के बाद हम अलग हुए, और दोनो हम गरम हो चुके थे. अब मैने उसका उपर का टॉप पहले निकाला, और ट्राउज़र भी निकाल दी. वो अब ब्लॅक ब्रा आंड पनटी में मेरे सामने थी. वाउ क्या खूब लग रही थी गाइस.

योउ कॅन इमॅजिन कश्मीरी गर्ल वो भी सृिनगर की. फुल मिल्की बॉडी, आपल जैसे गाल, जुवैसी लिप्स.

हमने फिरसे किस्सस और हग्स स्टार्ट किए. अब मैने उसको पीछे साइड से पकड़ा, और बूब्स दबाने लगा ज़ोर-ज़ोर से. जनवी आह आह कर रही थी, और बोल रही थी-

जनवी: माही बहुत मज़ा आ रहा है. मुझे अपना बना लो आज.

ये सुन के मुझे और जोश आ गया, और मैने उसकी ब्रा और पनटी निकली. अब एक हाथ से मैं उसके बूब्स दबा रहा था, और दूसरे हाथ से छूट को मसल रहा था. उसकी आवाज़ और तेज़ होने लगी.

मैने बोला: सबर कर जान.

मैने उसके बूब्स को ज़ोर-ज़ोर से सक करने लगा. वो बर्दाश्त अब नही कर पा रही थी, और उसकी आवाज़ पुर रूम में गूँज रही थी.

मैं कंटिन्यूवस्ली बूब्स सक कर रहा था. उसकी छूट पानी-पानी हो रही थी. मैने उसकी टांगे खोली, और उसकी छूट को मसालने लगा. वाह क्या छूट थी, फुल शेव्ड. और क्या महक आ रही थी उसकी छूट से. मुझसे भी अब रहा नही गया, और मैं उसकी छूट को अपनी जीभ से सक करने लगा.

वो आ आह कर रही थी. इतने में वो मेरे सर के बालों से खेलने लगी, और उसकी बॉडी सुकड़ने लगी. अब वो झाड़ गयी और बोली-

जनवी: वाउ आहह कितना मज़ा आ रहा है. बुत प्लीज़ अब डालो अपना लंड अंदर. अब रहा नही जेया रहा.

मे: मेरी जान सबर तो करो. जान अब आपकी ड्यूटी. मेरा लंड चूसो.

जनवी: नही ची!

मे: तेरे को भी मज़ा आएगा.

फिर जनवी डरते-डरते मेरे लंड को लॉलिपोप की तरह चूसने लगी. अब मैं भी उसके मूह में अपने लंड को अंदर-बाहर करने लगा. उसको भी अब मज़ा आने लगा, और अब वो भी तेज़-तेज़ कर रही थी.

ये सारा सिलसिला तकरीबन 45 मिनिट्स लगातार रहा. अब

मैने जनवी को मिशनरी पोज़िशन में लिटाया, और अपना लंड को उसकी छूट से रगड़ना शुरू किया.

मैं खाली अपना लंड रग़ाद रहा था, जिससे वो और तड़प रही थी. वो गांद को उछाल रही थी.

जनवी: माही मत तड़पाव, अब डालो लंड अंदर.

अब मैने लंड छूट पे सेट किया, और हल्का सा धक्का दिया. उसके मूह से चीख निकली. वाउ यार, क्या छूट थी, बहुत टाइट. तब मैने 2न्ड धक्का दिया, और लंड अंदर चला गया. पहले मैने 5-6 धक्के स्लो-स्लो दिए. जब मुझे लगा अब जनवी को मज़ा आने लगा था, मैने स्पीड बधाई. वाउ क्या फीलिंग थी. वो आह आह कर रही थी.

जनवी: एस माही छोड़ो, ज़ोर से छोड़ो, अया अया मज़ा आ रहा है.

ये सुन के मुझे और जोश आने लगा. मैं भी तेज़-तेज़ करने लगा. रूम में खाप खाप तपा ताप तपा ताप की आवाज़ आ रही थी. जनवी ने मुझे ज़ोर से हग किया, और झाड़ गयी. अब मैने जनवी को डॉगी-स्टाइल में अड्जस्ट किया, और पीछे साइड से लंड छूट में घुसाया आह आहह.

उसके मिल्की बूब्स लटक रहे थे, जिनको मैने पकड़ के रखा था, और ज़ोर-ज़ोर से छोड़ रहा था.

मैने अब जनवी को बोला: जान मैं भी झड़ने वाला हू.

वो बोली: कंटिन्यू करू, और अंदर ही डाल दो. मेरे पास दवाई है.

मैने ज़ोर-ज़ोर से लंड अंदर-बाहर किया, और स्पीड बधाई. फिर कुछ धक्को के बाद मैं उसकी छूट में झाड़ गया. वॉट आ फीलिंग यारो, पूछो मत क्या एक्सपीरियेन्स था, जैसे वर्जिन छूट. तब हम वापस किस्सस करने लगे, और मैं फिरसे उसकी छूट को चाटने लगा. फिर 69 पोज़िशन में आए.

बाकी अगले पार्ट में.

यह कहानी भी पड़े  लंड की भूखी मा थ्रीसम के लिए मानी


error: Content is protected !!