वाइफ को थ्रीसम के लिए मनाया

ही फ्रेंड्स, मेरा नाम शिवम है, और मेरी ये कहानी मेरी वाइफ के फर्स्ट थ्रीसम सेक्स की है. मेरी वाइफ का नाम पूजा है, और वो 25 एअर की एक-दूं गोरी सी लड़की है. उसको देख के किसी भी मर्द का मॅन उसे अपने नीचे लेने का होने लगे. अब मैं कहानी स्टार्ट करता हू

ये बात हमारी शादी के 3 साल बाद की है. मैं और वाइफ यू तो सिर्फ़ एक-दूसरे के साथ सेक्स एंजाय करते थे, और किसी और को एक-दूसरे के बीच नही आने देना चाहते थे. पर एक दिन पॉर्न देखते वक़्त मैने थ्रीसम सेक्स देखा.

उसमे 1 औरत को दो मर्द एक साथ छोड़ रहे थे. मुझे मोविए देख के अछा लगा. मैने और ऐसी ही मोविए देखी, और मुझे इसकी लत लग गयी. मेरा मॅन भी करने लगा की मैं भी पूजा को किसी और के साथ मिल के सॅंडविच बना डू. पर ये तो मेरे मॅन की बात थी. बुत पूजा को ये बात मैं कैसे बोलता समझ नही आ रहा था.

फिर एक दिन मैने डिसाइड किया मैं पूजा से बात करूँगा. मैं रात में घर आया, तो खाना खा कर सीधे रूम में चला गया. फिर थोड़ी देर बाद पूजा रूम में आई, और गाते लॉक करके मेरे पास बैठ गयी. मैने उसे अपने करीब किया, और उससे बोला-

मे: पूजा ई लोवे योउ.

पूजा: क्या हुआ मेरी जान? कुछ सोच मैं डूबे हुए हो. कुछ कहना चाहते हो क्या?

मे: हा बेबी, मैं कुछ बोलना चाहता हू आपसे. पर समझ नही आ रहा, की कैसे काहु. कही तुम्हे बुरा ना लग जाए.

पूजा: आज तक आपकी किसी बात का बुरा माना है जो अब मानूँगी? बोलो ना क्या बात है?

मे: नही छ्चोढो, फिर कभी बोलूँगा.

और उसे अपनी और खींच के किस करने लगा. वो भी किस करने लगी. लगातार हम एक-दूसरे को किस कर रहे थे. मैने उसे किस करते-करते खड़ा किया, और दीवार के सहारे उसे टीका दिया, और उसके नाइट गाउन को उठा कर निकाल दिया. फिर अपनी पंत की ज़िप खोल के लंड बाहर निकाला, और उसके कंधो पर अपने दोनो हाथ रख के उसे नीचे किया.

वो समझ गयी मैं क्या चाहता था. वो घुटनो पे बैठ गयी और मूह खोल के मेरा लंड पूरा अपने मूह में ले लिया. आज वो भी बहुत मूड में थी, क्यूंकी आज बाहर बारिश हो रही थी.

मे: आअहह पूजा, बहुत अछा लग रहा है जान. ई लोवे योउ. और तोड़ा अंदर तक लो प्लीज़.

और वो पूरा लंड गले तक लेके किस करने लगी. मैं इतना ज़्यादा एग्ज़ाइटेड हो गया था की 10 मिनिट में पूजा के मूह में झाड़ गया. वीरया उसके गले से अंदर चला गया. उसकी आँखों से आँसू आने लगे.

थोड़ी देर बाद मैने लंड उसके मूह से निकाला, तो उसने उपर देख के स्माइल की और पूच-

पूजा: कैसा लगा आपको?

मुझे सच में बहुत अछा लगा था, क्यूंकी ओरल सेक्स तो हम हमेशा करते थे. पर वीरया आज पहली बार पिया था पूजा ने मेरा. मैं बहुत खुश था.

पूजा: हा तो मेरी जान, आपका काम तो हो गया. मेरा क्या होगा?

मे: डॉन’त वरी मी लोवे. आपका काम भी भी होगा. आज पूरी रात छोड़ूँगा आपको मैं.

पूजा और मैं बेड पे आके लेट गये, और किस करने लगे. तभी उसने मुझसे डोर हो कर फिर पूछा-

पूजा: बोलोना क्या बोलना चाहते हो?

मुझे समझ नही आ रहा था उसे कैसे बोलू. तभी मुझे आइडिया आया. मैने मोबाइल उठाया, और एक मस्त थ्रीसम सेक्स लगाया, और उससे कहा-

मे: ये देखो पूजा.

और मैं सेक्स मोविए देखने लगे. उसमे एक 20 साल के करीब लड़की दो हटते-काटते लोगों के बीच में थी. दोनो मिल के उसे मस्त छोड़ रहे थे. वो तोड़ा समझ गयी थी मैं क्या कहना चाहता था. पर वो बोली नही.

पूजा: ये सब छ्चोढो, मुझे बताओ क्या बोल रहे थे आप?

मैने कुछ देर सोचा, और हिम्मत करके उसे बोला: जान मैं भी तुम्हे किसी और के साथ मिल के छोड़ना चाहता हू.

ये सुन के पूजा गुस्सा हो गयी.

पूजा: तुम पागल हो गये हो क्या? मैं तुमसे प्यार करती हू, और तुम्हारे अलावा किसी और के बारे में सोच भी नही सकती.

मैने उसे शांत किया, और उसे कहा: इसीलिए मैं आपको नही बोल रहा था. मुझे पता था तुम गुस्सा करोगी.

पूजा: बेबी आप ऐसे वीडियो देख के ये सब सोच रहे हो. मत देखो, फिर ऐसा सोचोगे भी नही.

मैं कहा: ठीक है जान.

और हम दोनो ने एक बार और सेक्स किया, फिर सो गये. पूजा के गुस्से के कारण मैं उसे कुछ बोल नही पा रहा था. पर मेरी तहे दिल से इक्चा थी उसे किसी और के साथ छोड़ू. तभी मुझे पूजा का कॉल आया-

पूजा: बेबी परसो आपका ब’दे है. आपके लिए शर्ट लेने आई हू. कॉन्सा कलर लू?

मैने साद मूड से बोला: गिफ्ट में शर्ट नही चाहिए .

पूजा: तो क्या चाहिए आपको?

मैने भी मौके का फ़ायदा उठाते हुए बोल दिया: वही जो उस दिन कहा था.

पूजा: आप अब भी वही सब सोच रहे हो. अगर मैं हा भी बोल डू तो किसके साथ करोगे. यहा सब जानते है हमे. किसी ने पहचान लिया तो कितनी बदनामी होगी. आपको अंदाज़ा भी है?

मे: वो सब मुझपे छ्चोढ़ दो. बस आप एक बार हा बोल दो.

पूजा कुछ बोले उसके पहले ही मैने बोला: आपको मेरी कसम है जान. माना मत करना प्लीज़. बस एक बार कर लो. फिर अगर आपको अछा नही लगे तो मैं आपको नही बोलूँगा.

पूजा कुछ देर कुछ नही बोली. फिर उसने एक लंबी साँस ली और बोली-

पूजा: ठीक है. अगर आपको यही ब’दे गिफ्ट चाहिए, तो आपकी खुशी के लिए पहली और आखरी बार करेंगे. बस जो भी लड़का हो, उसकी पिक मुझे दिखना पहले. और किसी भी ऐसे-वैसे को मत ले आना. आपके जैसा स्मार्ट होगा तो ही हा करूँगी.

मैं बहुत ज़्यादा खुश हो गया, और लोवे योउ डार्लिंग बोल के कॉल कट किया. अब प्राब्लम विश्वास लायाक लड़के की थी, की उसे कहा ढूंढू. पर आज उपर वाला मेरे सारे सपने पुर करना चाहता था. तभी मेरे पास मेरे पुराने दोस्त लखन का कॉल आया.

मे: हेलो मेरे भाई. आज कैसे याद आ गयी?

तो उसने मुझे बताया-

लखन: भाई उपर वाले की कृपा से मैने कुल्लू में एक होटेल खरीद लिया है. इसकी ओपनिंग में तुझे आना है, और हा, अकेला मत आ जाना. भाभी को भी साथ में लाना. मैने कार्ड तुझे व्हातसपप कर दिया है, और मैं कल थोड़े काम से इंडोरे भी आ रहा हू. तुझसे मिलता हू आके.

मैने उसे कहा: ठीक है भाई.

और कॉल कट कर दी. अगली सुबा 10 बजे डोरबेल बाजी. पूजा खाना बना रही थी. उसने जाके गाते ओपन किया, और देखा सामने एक बहुत हॅंडसम लड़का खड़ा था. उसने अपना ध्यान उससे हटते हुए कहा-

पूजा: हा बोलिए, आप कों?

लखन मेरी शादी के बाद पहली बार मेरे घर आया था. उसे नही पता था मेरी शादी हो गयी थी. तभी मैं आया और मैने लखन को देखा, और खुश हो कर उसे हग किया, और उसे अंदर इन्वाइट किया.

मे: पूजा, ये मेरा फ्रेंड लखन है, और लखन, ये मेरी वाइफ पूजा है.

लखन: सेयेल च्छूपे रुस्तम, तुमने शादी कर ली, और मुझे बताया भी नही. और तुझ जैसे को इतनी ब्यूटिफुल लड़की ने पसंद कैसे कर लिया?

लखन ने मज़ाक करते हुए बोला. पर पूजा शर्मा गयी और बोली-

पूजा: आप लोग बैठो, मैं छाई नाश्ता लेके आती हू.

मे: हा भाई, तू बता तेरी शादी हुई या अब तक दूसरो की बीवी से काम चला रहा है?

लखन: नही भाई, तेरे जैसी किस्मत कहा है. तू ही ढूँढ दे भाभी जैसी, या भाभी की कोई बेहन हो तो.

मैने भी मौका देख कर मज़ाक में बोल दिया: भाभी जैसी क्या, भाभी से करवा डू? वैसे तुझे सोना ही तो है.

ये सुन के वो हासणे लगा और बोला: तू नही बदला, उतना ही मज़किया है सेयेल.

तभी पूजा आई और हम दोनो ने नाश्ता किया. पूजा छाई रख के जाने लगी तो मैने उसे कहा-

मे: तोड़ा बैठो, लखन से बातें करो.

मैं लखन को देखा रहा था. वो पूजा को घूर रहा था, और पूजा भी उसे देख रही थी. पर वो अपने आप को संभालते हुए बात करने लगी. लखन ने सब बताया किस काम से आया था, और आज रात 3 बजे वापस कुल्लू जाएगा ट्रेन से.

लक्षण: भाई अब मैं चलता हू. मुझे बहुत काम निपटने है.

आज लखन के जाते-जाते पूजा ने उसे रात के खाने पे इन्वाइट कर लिया.

यह कहानी भी पड़े  कामुक औरत और चुदक्कड़ मर्द की चुदाई की शुरुआत


error: Content is protected !!