तारक मेहता का ऊलटा चश्मा – समानांतर विश्व

गोकुलधाम मे रोज़ की तरह सुबा थी, अब्दुल सबको सुबा का राशन-दूध पानी पोहच्ा रहा था.

पोपातलाल को सेक्स ना मिलने पर फिरने रोए जा रहा था… क्यूकी अब उसे फिर से कॉल गर्ल या हूकुप करना होगा.

महिला मंडल नीचे सब्ज़िया ले रही थी तभी रीता रिपोर्टर सेक्सी सा सम्मर ड्रेस पहें के जेया रही थी.

तभी सबका ध्यान उसके तरफ पड़ा-

महिला मंडल:- ओहू ृितता, ओो, हाए कितनी सुंदर लग रही है.

दया:- आययए ऋितादि, इतनी साज धज के कहा जा रही है (दाता भाभी हेस्ट हुए बोली).

बबिता:- हा हा रीता आज कोंसि डटे है?

रीता:- अरी बबिता वो आज 10त डटे है अर्जुन के साथ आंड प्लान हुक उप का बन रहा है.

अंजलि:- लगता है इश्स बार रीता सेट्ल होने का सोच रही है.

सबने हेस्ट हुए रीता को अलविदा कह दिया. अब हुक उप की बात आई तो बबिता बोल पड़ी-

बबिता:- कितनी अची किस्मत है उसकी.

दया:- क्यू बबिता जी आपको इएर भाई नही छोड़ते है रोज?

बबिता:- दया भाभी आपसे और महिला मंडल से क्या जूथ बोलना.. दरअसल इएर बोहोट अछा है लेकिन उसके पास लंड के नाम पे लुली है. जो खड़ी ही नही होती और खड़ी होती है तो 2 मीं मे झाड़ जाते है इएर और तो और 3 इंच मे क्या मज़ा आएगा.

बबिता निराश हो गयी.

बाद मे कोमल ने बबिता को अपने घर आने के लिए कहा. तो सभी महिला मंडल अब कोमल के घर आ गयी. कोमल ने अपने कपबोर्ड से सेक्स टाय्स निकले और बोला-

कोमल:- क्यू महिला मंडल हो जाए चुदाई आज? वैसे भी घर पे कोई मर्द नही है, क्यू ना आज लेज़्बीयन सेक्स करे?

बबिता :- अवव कोमल डार्लिंग योउ अरे सो स्वीट आंड क्या आइडिया है, पार्ट्नर चूज़ करले क्या?

अंजलि:- पक्का ना, तो मेरे साथ कों करेगा?

माधवी:- अंजलि भाभी आज तो आपकी छूट को मई चातुगी प्लीज़, हर बार दया भाभी को छोड़ने देते हो, कभी हुमारे पास भी आओ.

अंजलि:- ठीक है आज मई आपकी हुई.

कोमल:- बबिता तुमको मेरे साथ चलेगा क्या?

बबिता:- अरी क्यू नही स्वीटहार्ट, आज तो तुमको मई जाम के छोड़ूँगी.

कोमल:- अरी बेबी छोड़ना तो मुझे भी है ना तुमको, सॅटिस्फॅक्षन देना है.

दया और रोशन को अब समाज आ गया की यह लोगो को सॅटिस्फॅक्षन नही मिलता लेकिन उन दोनो के पति तो बेहतरीन चुदाई करते थे.

दया:- रोशन भाभी मुझे तो ज़रूरत नही है सेक्स की, टप्पू के पापा आचे से छोड़ते है मुझे, उनका 7 इंच का है.

रोशन भाभी:- हन रे हन मेरा रोशन भी मुझे छोड़ छोड़ के सॅटिस्फॅक्षन दे देता है.

तो अब यहा 2 स्टोरीस मे कहानी बात देते है.

कोमल आंड बबिता का लेज़्बीयन सेक्स:-

अब सब लोग अपने घर चले गये.

कोमल :- आओ मेरी जान आज तो मई तुम्हारी छूट फाड़ दूँगी!

बबिता:- कोमल डार्लिंग तुम्हारी ही तो है आज मेरी छूट, चाट लो.. खा जाओ..

कोमल अब बबिता के कपड़े उतार दिए बिना किसी देरी के. अब बबिता सिर्फ़ ब्रा पनटी मे होती है तो कोमल उसको किस करने लगती है नेक पे, होत पे, कमर पे और सब जगह किस कर रही होती है. साथ मे अब कोमल ने अपना हाथ बबिता के पनटी मे डाल दिया.

बबिता की छूट थोड़ी गीली हो गयी थी. तो अब उसने बबिता के दाने को सहलाना शुरू कर दिया. बबिता तोड़ा उछालने लगी-

बबिता:- अया कोमल डार्लिंग . मत .

अब बबिता की . बंद हो गयी और . मे . रही थी, अब . कोमल के कपड़े उतार दिए. और कोमल ने और बबिता दोनो ने अब एक दूसरे के ब्रा पनटी निकल दिए और दोनो अभी नंगी . के सामने खड़ी हो गयी.

अब कोमल और बबिता दोनो . मे देख के एक दूसरे की . मे उंगली डाल दी. . मे देख कर अब कोमल बबिता के दाने को रग़ाद रही थी और बबिता भी कोमल को . मे उंगली कर रही थी.

बबिता:- कोमल….. मुझसे तो खड़ा नही हुआ जा रहा . .

. खड़े हो कर एक दूसरी की . छोड़ रहे थे, कोमल भी अब . करने लगी-

कोमल:- बबिता…. रंडी….. मुझे आज छोड़ने दे…..

बबिता की छूट थोड़ी गीली हो गयी थी. तो अब उसने बबिता के दाने को सहलाना शुरू कर दिया. बबिता तोड़ा उछालने लगी-

बबिता:- अया कोमल डार्लिंग तड़पाव मत उम्म्म्म

अब बबिता की आखे बंद हो गयी और मदहोशी मे खो रही थी, अब उसने कोमल के कपड़े उतार दिए. और कोमल ने और बबिता दोनो ने अब एक दूसरे के ब्रा पनटी निकल दिए और दोनो अभी नंगी मिरर के सामने खड़ी हो गयी.

अब कोमल और बबिता दोनो मिरर मे देख के एक दूसरे की फुददी मे उंगली डाल दी. मिरर मे देख कर अब कोमल बबिता के दाने को रग़ाद रही थी और बबिता भी कोमल को फुददी मे उंगली कर रही थी.

बबिता:- कोमल….आअहह मुझसे तो खड़ा नही हुआ जा रहा उम्म्म्म आआआआः

दोनो खड़े हो कर एक दूसरी की फुददी छोड़ रहे थे, कोमल भी अब मोन करने लगी-

कोमल:- बबिता…आआआः रंडी….अयाया मुझे आज छोड़ने दे….आअहह

बबिता:- आआहह तू भी तो छोड़े जा रही है मुझे आचे से तो मई क्यू नही छोड़ू….आहह ओह…..उम्म्म्मम

अब दोनो ज़ोर ज़ोर से साँसे ले रही थी. और अब बबिता को कोमल मे उठा के बेड पे लैयता दिया और खुद सीधा उसकी छूट पर मूह मार दिया.

बबिता:- उम्म्म कोमल….अम्म्म्म

अब कोमल उसके दाने को छाते जेया रही थी और अब उसकी छूट मे से पानी आने लगा. कोमल उसका पानी पीते हुए 3 उंगली सीधा उसकी छूट मे घुसा दी और ज़ोर ज़ोर से छोड़ने लगी.

बबिता:- आअहह…बाबयययी….आअहह….ओह….फक श नो….फक फुक्कक… तुम्हारी उंगलिया तो इएर की लुली से ज़्यादा काम कर रही है….आहह मॅर गयी ऑश कोमल रंडी आज फाड़ दे!!

ऐसे कहते हुए वो झाड़ गयी और अब कोमल ने कपबोर्ड मे से 2 मूह वाला डिल्डो निकाला-

बबिता:- अरे कोमल मुझे इतना काफ़ी है, आज मेने बोहोट छुड़वा लिया, रोज़ तो इएर सिर्फ़ 2 मीं करता है.

कोमल:- अरे नही मेरी जान अभी तो बाकी है देखती जाओ…

और कोमल ने अब वो मुड़ा हुआ 2 मूह वाला डिल्डो को एक साइड बबिता की छूट मे डाल दिया और एक साइड को खुद की छूट मे डाल दिया.

बबिता:- आआआआः छूट फाड़ दी ओह नू फक आहह

उसकी आखो से पानी आ गया क्यूकी इएर का तो छोटा है लेकिन ये डिल्डो काफ़ी बड़ा था.

अब कोमल ने ढेरे ढेरे अपनी साइड से अंदर बाहर करना शुरू किया तो बबिता भी अब अंदर बाहर करना शुरू कर दिया. रूम मे अब पच पच करके आवाज़ गूँज रही थी, चुदाई आचे से चल रही थी.

कोमल आंड बबिता:- आआअहह…पच पच्छ पच….टप्प्पा ताप टप्पताप….ओह….फक…..फुक्ककक…मेरी छूट आहह….मई मॅर गयी..

दोनो मोन कर रही थी और ज़ोर ज़ोर से छोड़ रही थी अपने आप को. ढेरे ढेरे दोनो ने अपनी पोज़िशन चेंज करी और डिल्डो को पूरा सीधा कर दिया.

अब दोनो घोड़ी बन के पीछे से दोनो ने अपनी छूट मे डिल्डो डाला और ढेरे ढेरे छोड़ने लगी.

बबिता:- आहह…अम्म्म्म…श…. ह फक….आअहह कोमल आहह ई लोवे तीस ऑश मॅर गयी…..उम्म्म्ममम फक

कोमल:- आअहह..ऑश मज़ा आया….फक ऑश उम्म्म्मममम

और अब दोनो ने पूरा डिल्डो अंदर कर रहे थे तो दोनो की गांद एक दूसरे से टकरा रही थी. अब रूम मे ठप्प ठप्प्प थाआप्प और पच्छ पच्छ पचह की आवाज़े आ रही थी.

ऐसे अया उहह ऑश मोन करते करते दोनो झाड़ गयी और डिल्डो निकाल के नहाने चले गयी. वाहा भी दोनो मे नहाते टाइम एक दूसरे की फुददी के साथ खेला और ओरल सेक्स किया जाम के.

बबिता अपने घर चली गयी और कोमल भी अपने घर मे काम करने लगी.

तो दोस्तों मुझे बताइए की यह कहानी कैसी लगी, क्या मेरा यह प्रयास सफल रहा? और क्या मुझे लेज़्बीयन पार्ट 2 निकालना चाहिए? प्लीज़ कॉमेंट करके बताइए.

यह कहानी भी पड़े  सुहागरात पर बीवी की मस्त चुदाई

error: Content is protected !!