सुप्रिया भाभी की चुदाई

हेलो फ्रेंड्स देसी कहानी पढ़ने वालो को मेरा नमस्कार. मैं शिव एक बार फिर हाज़िर हू अपनी दूसरी हिन्दी सेक्स भाभी की चुदाई कहानी के साथ. मेरी पहली कहानी अपने पहेली मौसी की चुदाई जिसे आपने बहोत प्यार दिया.

तो दोस्तो मेरा शरीर एक दम फिट है. मैं जिम जाता हू और मेरे मसल्स बिल्ट हुआ है मेरी हाइट भी 5.8इंच है. लड़किया मुझे देख बहोत अट्रैक्ट होती है. मेरा लंड भी 6इंच का है.

तो दोस्तो ज़्यादा बोर ना करते हुए

मैं सीधा कहानी पर आता हू. जैसा की आप जानते है की कॉलेज के एग्ज़ॅम्स ख़तम हुआ है और मैं घर पर ही रहता हू.

तो हमारे घर के पास ही एक भईया है जिनका नाम अंकु है और भईया की शादी हुए अभी 6 मंथ्स ही हुए थे की उनकी जॉब छूट गई.

और वो काफ़ी डिप्रेशन मे रहने लग गये. भाभी यानी की उनकी पत्नी उसका नाम है सिल्की बंसल वो देखने मे बहोत खूबसूरत है. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

सच मानो तो मोहल्ले के सब लड़के उसे बुरी नज़र से देखते है.

भाभी के साथ मैं काफ़ी क्लोज़ था ब्कोज़ भईया के घर आना जाना लगा रहता था.

भाभी का फिगर था 36-32-38 जो मुझे पता लगा. भाभी की हाइट मेरे से कम थी. एक दिन ऐसे ही भाभी के साथ मेरी व्हातसपप पर बात चल रही थी हसी मज़ाक वाली तो मैने भाभी को पूछ लिया की मोम मूवी देखने चले तो उन्होने बोला की तू अपनी जीएफ को लेजा. मैने बताया की मेरी कोई जीएफ नही है. फिर भाभी को मैने बोला की आप ही ढूड़ दो तो भाभी ने इस बात को हसी मज़ाक मे टाल दिया.

यह कहानी भी पड़े  मेरी माँ की चुदाई दो लंडों से होती देखी

फिर एक दिन ऐसे ही हमारे घर के साथ पार्क है वाहा पर भाभी भईया को कुछ बोल रही थी. बट भईया ने उस बात को इम्पोर्टेन्स नही दी.

मैने भाभी के लिए वो काम कर दिया. भाभी खुश हो गई. भाभी एक एडवोकेट है और हाइ कोर्ट मे काम करती है.

एक दिन मैं भाभी को कोर्ट लेने गया

फिर भाभी को मैं सेक्टर 15 चंडीगढ़ के पिज़्ज़ा हट ले गया भाभी खुश हो गई

फिर मैने भाभी से पूछा की आप भईया के साथ खुश हो. तो वो रोने लग गई. उसने मुझे बताया की अंकु बहोत डिप्रेस्ड रहेता है. और मेरे मे इंटेरेस्ट नही लेता.

फिर मैने भाभी को कहा की आप सेक्स नही करते भईया के साथ तो भाभी एक दम शॉक हो गई.

फिर मैने भाभी को बताया की भाभी मैं आपको लाइक करता हू एंड ऑल डैट की मैं आपके साथ वो सब कुछ करूँगा जो एक कपल के बीच होता है.

भाभी ने बोला की ये सब ग़लत है

मैं तुम्हे आपने भाई जैसा मानती हू.

पर मैं कहा मानता था.

आप तो जानते हो मैने तो अपनी पिंकी मौसी को नही बक्शा उसे भी चोद चोद कर अपनी रंडी बना लिया.

फिर मेरे ज़िद्द करने पर मैं भाभी को सूखना लेक ले गया बैकसाइड पर. शाम के टाइम वाहा बहोत कम लोग होते है तो मैने मौके का फ़ायदा उठा कर भाभी को किस कर दिया और उसके निप्पल दबा दिया. जिस पर भाभी ने मुझे 2 से 3 थप्पड़ मारे. फिर मैने भाभी को ज़बरदस्ती पकड़ कर उसके दोनो बूब्स को खिचा और भाभी की चीख निकल गई. और भाभी रोने लग पड़ी.

यह कहानी भी पड़े  बस वाली भाभी की हॉट चुदाई कहानी

भाभी ने उस दिन स्लीवलेशस सूट डाल रखा था उस मे उसकी अंडरआर्म्स बहोत सुंदर लग रहे थे उनकी बगल मे थोड़े बाल भी थे. मैने उन्हे देखा फिर मैं भाभी को ज़ोर ज़ोर से स्मूच किया भाभी ने रेसिस्ट करना बंद कर दिया.

अब मेरे और भाभी के बीच एक लवर्स वाला संबंध बन गया

जब भी मैं उनके घर जाता किसी ना किसी बहाने तो भाभी की चुचि दबा देता क्यू की अंकु जॉब की तलाश मे कही ना कही रोज जाता रहता. भाभी के घर पर अंकल आंटी के इलावा कोई नही होता था.

अंकल भी प्राइवेट हॉब करते थे आंटी ज़्यादा तार बीमार ही रहती थी तो हर दूसरे दिन डॉक्टर के पास जाया करती थी. . . और भाभी घर पर ही होती थी. क्यू की कोर्ट मे अब उनकी प्रैक्टिस ख़तम हो गई थी फिर भाभी घर पर ही रहती थी.

एक दिन घर पर कोई नही था तो मैं उनके घर गया तो भाभी को आवाज़ लगाई तो वो बोली की बैठो दो मिंट मैं बाथरूम मे हू.

मेरे मन मे लालच आया की क्यू ना भाभी को नहाते हुए देखा जाए भाभी का बाथरूम उनके ड्रॉयिंग रूम के सामने है तो मैं मौका देख कर उन्हे देखने लग गया. ओएमजी भाभी क्या लग रही थी. एक दम माल बड़े बड़े दूध जो एक दम वाइट कलर के और उनके उप्पर ब्लैक कलर के निप्पल पोइन्टेड. भाभी के लंबे बाल गोल गोल उनकी गांड एक दम मस्त लग रही थी.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!