स्टूडेंट की मम्मी के साथ रंगरलियों भारी कहानी

ही रीडर्स, तीस इस समीर. पहले तो आप सब की फीडबॅक मिली पॉज़िटिव उसके लिए थॅंक्स. आज मैं अपनी एक नयी रियल स्टोरी आप लोगों के साथ शेर करने जेया रहा हू.

बात उन दीनो की है, जब मैं कॉलेज में आस आ लेक्चरर जॉब करता था. मेरा एक स्टूडेंट था मुंबई का रहने वाला. उसके पापा सौदी में जॉब पर थे. उसकी मा का नाम नरगिस था

मैं इंजिनियरिंग कॉलेज में होड़ था. पेरेंट्स टीचर्स मीट में मेरी उसके पेरेंट्स से मुलाक़ात हुई. तब मैने नरगिस को देखा, तो देखता ही रह गया. दोस्तों नरगिस किसी हेरोयिन से कम नही थी. हाइट 5’3″, कलर एक-दूं फेर, बालों का कलर सुनेहरा किया हुआ था.

नक़ाब लगाए हुए थी वो. बुत फिगर झलक रही थी उसकी. तब फिगर का अंदाज़न 36-30-36 ऐसा लगा मुझे. उसको मैं देखता ही रह गया. फिर जब उसके हज़्बेंड और वो मुझसे मिलने आए, तो बातों-बातों में पता चला हज़्बेंड सौदी जॉब करते थे, और नेक्स्ट वीक सौदी जेया रहे थे वापस. तभी नरगिस ने एक्सक्यूस किया, और बोली-

नरगिस: सिर एक बात पूछनी थी आप से.

मे: शुवर, बोलिए माँ.

नरगिस: सिर आपका कॉंटॅक्ट नंबर मिलेगा हमे?

मे: शुवर, ले लीजिए, पर काम क्या है?

नरगिस: सिर मेरे हब्बी बाहर रहते है. मुझे बच्चे की रिपोर्ट लेनी रहा करेगी. तो आपको कॉल कर लिया करूँगी. सिर आपको कॉल कर सकती हू ना?

मे: ओक, आप कर सकते हो माँ.

फिर हमने नंबर एक्सचेंज किए. उसका और उसके हब्बी का नंबर लिया मैने. फिर सब नॉर्मल चलता रहा, और उसके हब्बी चले गये सौदी. कुछ 15 दिन के बाद उसका मेसेज आया.

नरगिस: ही सिर, कैसे हो?

मे: ठीक हू माँ. आप बताए कैसे हो?

नरगिस: ठीक हू सिर मैं भी. सोचा आज आप से बच्चे की खबर लेलू.

मे: हा सब ठीक है माँ. बच्चा का प्रोग्रेस अछा है.

नरगिस: चलो अछा है सिर. आपकी बहुत रेस्पेक्ट करता है बच्चा और तारीफ भी बहुत करता है.

मे: थॅंक्स माँ.

नरगिस: सिर एक बात बोलू, बुरा तो नही मनोगे?

मे: बोलिए माँ.

नरगिस: सिर माँ मत बोलिए आप.

मैं शॉक हो गया कुछ देर के लिए ये मेसेज पढ़ कर. मुझे समझ नही आया क्या बोलू.

मे: फिर क्या बोलू माँ?

नरगिस: आप नरगिस बोले मुझे.

मे: ठीक है नरगिस जी.

नरगिस: सिर आप बहुत कम उमर में इस पोस्ट पर पहुँच गये हो. जब मैं यहा से निकली थी, तो होड़ का इमॅजिनेशन कुछ अलग था.

मे: थॅंक्स माँ फॉर थे कॉंप्लिमेंट.

नरगिस: फिरसे माँ?

मे: सॉरी नरगिस जी.

अब मेरी भी थोड़ी हिम्मत खुली, और मैने भी पर्सनल बातें करनी स्टार्ट कर दी.

नरगिस: आप को बच्चे के रिलेटेड कोई भी शिकायत हो तो आप डाइरेक्ट मुझे कॉल कर सकते हो.

मे: ओक नरगिस जी.

नरगिस: सिर्फ़ नरगिस बोलो सिर.

इतना सुन के मैं समझ गया था, की क्या चल रहा था दिमाग़ में उनके.

मे: ओक नरगिस. और बताओ कुछ अपने बारे में.

नरगिस: क्या जानना चाहते हो आप?

मे: आप जो बता दे.

नरगिस: आप जो पूछना चाहते हो पूछो.

मे: आपकी आगे क्या है. आप इतने यंग दिखते हो, फिर भी आपका इतना बड़ा बच्चा?

नरगिस: 3 बच्चे है मेरे. आपके स्टूडेंट से छ्होटे 2 है.

मे: वॉट!

नरगिस: हा मैं 3 बच्चो की मा हू. मेरी शादी 18 साल की उमर में हो गयी थी, और 19 साल में मैं मा बन गयी थी.

मे: मीन्स अभी आपकी आगे 38 ही है.

नरगिस: हा सिर.

मे: सो आप मुझसे 10 साल ही बड़े हो बस.

नरगिस: हा अगर आप 28 के हो तो.

मे: इसमे कोई शक लगता है आपको?

नरगिस: नही, आप की पर्सनॅलिटी बहुत डॅशिंग है, और आपका आटिट्यूड बहुत पसंद आया मुझे.

मे: थॅंक्स, रखना पड़ता है आटिट्यूड उतना कॉलेज में.

नरगिस: लगा मुझे, की होड़ हो तो ऐसा.

मे: थॅंक्स, आपके बच्चे क्या करते है?

नरगिस: 2 नंबर वाला 10त में है, और एक 3 साल का है.

मे: अछा है, गुड. हब्बी कब आएँगे अब?

नरगिस: अब वो 2 साल बाद आएँगे.

मे: आप किसके साथ रहते हो, सिर्फ़ बच्चो के साथ?

नरगिस: हा पास में माइका है. वो लोग आते-जाते रहते है.

मे: ठीक है माँ. बाइ, गुड नाइट.

नरगिस: सब के बारे में जान लिया, मेरे बारे में नही जानना?

सुन कर मुझे शॉक लग गया, और मैं बेड पर लेता था उठ कर बैठ गया.

मे: मैने तो आपको सही से देखा ही नही अभी तक. तो क्या पूचु आपके बारे में?

नरगिस: तो अभी देख लो, उसमे क्या है.

मे: ठीक है, पिक सेंड करो आपकी.

नरगिस: कितनी चाहिए?

मे: जितनी आप कर दो.

नरगिस: कैसे चाहिए?

मे: मीन्स? समझा नही मैं.

नरगिस: ओक, सेंड करती हू पिक्स.

फिर उसने करीब 30 पिक्स सेंड कर दी उसकी विदाउट नक़ाब, जो घर में ली थी. मैं सारी पिक्स देखता ही रह गया. बहुत ही खूबसूरत थी, और फिगर भी ज़बरदस्त, जो कुछ नक़ाब में नही दिखा था. बूब्स इतने टाइट थे, की देख कर ही दबाने को जी चाहा.

मे: नरगिस जी, आप तो बहुत खूबसूरत हो. आपके हब्बी तो बहुत लकी है.

नरगिस: हा, बुत मैं अनलकी हू. इतनी खूबसूरती का क्या फ़ायदा सिर?

मे: सिर मत बोलो, समीर बोलो.

नरगिस: ओक समीर. इतनी खूबसूरत हो कर भी अकेले ही रहना है अब दो साल.

मे: मैं हू ना नरगिस. हमे अपना अछा दोस्त ही समझो.

नरगिस: अछा जी. फिर अब तुम्हारी पिक्स माँगनी पड़ेंगी क्या मुझे?

मे: अभी सेंड करता हू नरगिस.

मैने मेरी 10-15 पिक्स शेर कर दी.

नरगिस: समीर बॉडी तो बड़ी डॅशिंग बना रखी है तुमने. मेरे बच्चे को भी ले जाओ जिम.

मे: ओक नरगिस, पक्का लेके जौंगा.

नरगिस: एबेस है या नही है?

मैने उसको फिर विदाउट शर्ट एक पिक शेर कर दी.

नरगिस: ऑम्ग! बहुत ज़बरदस्त बॉडी बना कर रखे हो समीर.

मे: थॅंक्स नरगिस. मुझे तो विदाउट शर्ट देख लिया, अब मैं क्या देखु?

नरगिस: क्या देखना चाहते हो बोलो?

मे: वही जो तुमने देखा है.

अगले ही मिनिट में उसने अपनी एक ब्रा में पिक सेंड कर दी.

मे: ऑम्ग! इतने टाइट बूब्स. नरगिस सच में 3 बच्चे? ई लीके योउ नरगिस्म

नरगिस:ई नो समीर योउ लीके मे.

मे: आपको कैसे पता चला?

नरगिस: एक नज़र में समझ गयी थी मीटिंग में, तट योउ लीके मे. लोवे योउ समीर.

मे: वॉट?

नरगिस: ई रियली लीके योउ समीर.

मे: ई लीके योउ टू नरगिस.

नरगिस: कॉल मे, समीर.

मे: ओक नरगिस, ई विल कॉल योउ.

फिर हमने कॉल पर बात की, वाय्स सेक्स किया. बहुत एंजाय किए, और वीडियो कॉल पर सेक्स हुआ. बात ऐसे ही 2-3 दिन चली. अब हमे मिलने का प्रोग्राम बनाना था. उनको मुंबई से बाहर माइके के लोग जाने नही देते थे. वो कॉलेज भी आती थी, तो कोई भाई आता था उनके साथ.

फिर मैने एक प्लान बनाया. उनके माइके में किसी के यहा कुछ फंक्षन था. सब वाहा जमा होने वाले थे, और सब का जाना भी ज़रूरी था. मैने और नरगिस ने प्लान बनाया की उसी दिन मिलेंगे.

अब प्राब्लम ये था, की उनको कैसे बूलौँगा मैं. तो मैने फिर से एक पेरेंट्स टीचर मीट का सर्क्युलर निकाला उसी दिन का, और सब को बोल दिया कंपल्सरी पेरेंट्स को आना है. नरगिस ने उसके दाद को राज़ी कर लिया मुंबई से अकेले आने के लिए. उसके दाद भी रेडी हो गये, और एक पहचान के ट्रॅवेल्ज़ पर उसका टिकेट बुक कर दिया.

नरगिस ने मुझे सब बताया तो मैने सब प्लान कर लिया, की कैसे क्या करना था. एक बात आपको बताना भूल गया, की नरगिस का बेटा मैने रूम पार्ट्नर बना लिया था, क्यूंकी मैं बॅचलर था. और नरगिस के बोलने पर उसको मैने अपने साथ ही रख लिया था रूम पर.

जिस दिन नरगिस आने वाली थी, मैं सुबा तैयार हो कर कॉलेज गया. मैने उसके बच्चे को कॉलेज में देखा, की वो आया था की नही, और वो आया हुआ था.

करीब 11 बजे नरगिस आ गयी. मेरा रूम मेरे कॉलेज से करीब था बहुत. मैने नरगिस को कॉलेज के गाते से तोड़ा पीछे ही रुकने को कहा. और मैं बिके लेके वाहा पहुँच गया

नरगिस वाहा रोड की साइड में खड़ी थी. मैने उसको बिताया बिके पर, और बिके अपने रूम की तरफ लेके चला गया. नरगिस नक़ाब में थी, और मुझसे चिपक के बैठ गयी.

मैने कहा: डोर हो कर बैठो, कॉलेज करीब ही है.

फिर 5 मिनिट में रूम पर पहुँच गया मैं. पहले मैने नरगिस को रूम में भेजा. फिर मैं आस-पास देख कर रूम के अंदर चला गया, और डोर लॉक कर दिया. अंदर घुसते ही मैने नरगिस को बाहों में ले लिया, और हम दोनो एक-दूसरे को किस करने लगे.

Mईन उसके होंठो को अपने होंठो में लेके चूसने लगा, और बहुत जल्दी मैं हाथो से उसके बूब्स दबाने लगा. उसने मुझे हटाया और बोली-

नरगिस: सबर रखो.

और बेडरूम की तरफ चली गयी.

फिर उसने मुझे बोला: पानी लेके आओ पीने का.

मैं पानी लेके गया बेडरूम में, और उसने पानी पिया. फिर चॉक्लेट और शर्ट गिफ्ट की उसने मुझे. बेडरूम में बेड नही था, नीचे ही गद्दा डाल कर सोता था मैं.

वो उसके बेटे के गद्दे पर थी, और मैं मेरे गद्दे पर. मैने उसका हाथ पकड़ा, और खींच कर अपने गद्दे पर ले आया. अब हम दोनो किस करने लगे.

मैं उसके होंठो को अपने होंठो में लेके किस करने लगा. वो भी मेरा साथ दे रही थी.

नरगिस: समीर किस मे लीके तट ओन्ली.

मे: एस नरगिस.

मैं उसके लोवर लीप को चूस रहा था उम्म्म उम्मा. वो मेरी टंग को चूस रही थी. फिर किस करते-करते मैने उसको बेड पर लिटा दिया. हम दोनो एक ही करवट में थे, और किस कर रहे थे. वो बहुत गरम हो गयी थी और उसने मेरे उपर आ कर मेरी शर्ट निकाल दी. और वो मुझे पागलों की तरह किस किए जेया रही थी.

कभी वो मेरी गर्दन पर किस कर रही थी, कभी मेरे शोल्डर पर किस कर रही थी, कभी चेस्ट को दाँत से काट रही थी.

नरगिस: समीर उम्माहह क्या बॉडी है यार तुम्हारी.

मे: नरगिस बहुत ज़्यादा प्यासी हो तुम, रिलॅक्स करो.

नरगिस: बहुत प्यासी हू समीर. ई लीके थे जिम बॉडी. तुम्हे देखा तब ही चूड़ने का मॅन बना लिया था तुझसे. बहुत हॉट है तू.

मे (किस करते हुए उसके शोल्डर पर): नरगिस तुम भी बहुत हॉट हो. ई लीके युवर बॉडी. योउ अरे टू सेक्सी.

नरगिस अब किस करते-करते मेरी बेल्ली पर चली गयी और बहुत हार्ड किस करने लगी. मैं सातवे आसमान पर पहुँच चुका था. समझ नही आ रहा था की क्या करू. उसने मेरी पंत की बेल्ट को हाथ लगाया. मैने उसका हाथ रोका और उसको पकड़ कर नीचे कर दिया और मैं उसके उपर आ गया.

अब मैने उसको लीप किस करने लगा. उसके दोनो हाथो को मैं मेरे हाथो में जाकड़ कर किस कर रहा था. उसकी टंग को मेरे मूह में लेके चूस रहा था. वो काँप रही थी पूरा.

नरगिस: वाउ समीर योउ अरे आ गुड सकर. सक इट समीर, योउ अरे टू गुड इन बेड.

नरगिस अभी भी नक़ाब में ही थी. अब मैने उसका नक़ाब उतरा. नीचे वो रेड कलर की सारी पहन कर आई हुई थी. उसको रेड कलर की सारी में देख कर डांग रहा गया मैं.

नक़ाब उतरते ही मैं फिरसे उसके होंठो पर टूट पड़ा, और किस करने लगा. वो भी मेरा साथ दे रही थी. उसकी साँसे बहुत तेज़ थी.

अब मैने उसके शहोल्दर को किस करना स्टार्ट किया. उसने मेरे हाथो से अपना हाथ च्चूदवया, और मेरी बॅक पर अपने नाख़ून नाइल करने लगी. मुझे बहुत ही गुड फील हुआ. अब मैं जितनी फोर्स से उसको किस करता, वो उतना ही नाइल को बॅक में नाइल करती.

मुझे बहुत ही अछा फील हो रहा था. अब मैं उसके र्लोबस को किस करने लगा. जैसे ही मैने उसके एअर लोबस को किस किया, वो काँप उठी, और उसने भी मेरे र्लोबस को किस किया.

मैं उसके कानो से खेलने लगा. जैसे-जैसे ज़ुबान कान में चलता, वैसे-वैसे वो हॉट होते जेया रही थी.

नरगिस: समीर योउ अरे टू एक्सपीरियेन्स्ड. कहा सीखा है ये सब?

मे: बस वीडियोस से.

नरगिस: योउ अरे टू गुड समीर, कंटिन्यू.

अब मैने दूसरे शोल्डर पर किस करना स्टार्ट किया. वो भी मेरे शोल्डर पर किस कर रही थी. अचानक से उसने मेरा एक हाथ अपने हाथ में लिया, और उसके बूब्स पर रख दिया ब्लाउस के उपर से ही.

अब उसके बूब पर मेरा हाथ और मेरे हाथ पर उसका हाथ था. अब वो अपने हाथो को दबाने लगी बूब्स पर. मैं समझ गया, और मैं अब उसके बूब्स को दबाने लगा, और उसको नेक पर इस बार किस करने लगा.

मैं ज़ुबान को कभी उपर से नीचे, तो कभी नीचे से उपर ले जेया रहा था. और वो अपने हाथो को और ज़ोर-ज़ोर से दबा रही थी.

नरगिस: समीर प्लीज़, प्रेस इट हार्डर. मेरे ब्लाउस को ओपन करो समीर, और दब्ाओ.

मे: ओक नरगिस.

मैने उसके ब्लाउस का बटन खोला, और निकाल दिया. वो अंदर भी रेड ब्रा पहने हुए थी. मैं ब्रा के उपर से ही उसको सक करने लगा.

इसके आयेज क्या हुआ, वो आपको अगले पार्ट में पता चलेगा. दोस्तों स्टोरी कैसी लगी ज़रूर कॉमेंट करना मेरी एमाइल ईद पर.

यह कहानी भी पड़े  बड़े भाई ने चड्डी उतारी-1


error: Content is protected !!