स्टोरी रीडर भाभी को मज़े दिए

हेलो फ्रेंड्स, आई एम अमित बॅक अगेन आफ्टर 7 मंथ वित ए न्यू स्टोरी, जैसा की आप जानते है मेरे बारे मे आई एम फ्रॉम जयपुर और मेरी हाइट 5’6” है और लॅंड 6.5” है, बहुत सारे लोग बोलते है की उनका लॅंड 8 इंच है या ज़्यादा बट ये मेरा आक्चुयल साइज़ है आप सब लोगों को अगर मेरी स्टोरी अछी लगे तो आप मुझे मैल कर सकते है मेरी मैल आईडी है “[email protected]” पर मैल कर सकते है, आपकी पहचान गुप्त रहेगी सो अब मैं स्टोरी पर आता हूँ, मैने लास्ट टाइम स्टोरी लिखी उसके मुझे बहुत सारे मेल्स मिले फ़ेसबुक पर काफ़ी सारी गर्ल्स एंड बोय्स की रिक्वेस्ट भी आई और उसके लिए थॅंक्स टू ऑल., उसी टाइम एक लड़की की रिक्वेस्ट मेरे पास आई और उसका नेम मनीषा था (नेम चेंज्ड) वो देल्ही से थी, ये स्टोरी मैं उसकी मर्ज़ी से ही लिख रहा हूँ हमने काफ़ी दीनो तक चॅट की फिर एक दिन हमने एक दूसरे के साथ नंबर शेर किए और हमारी फोन पर बात होने लगी और कुछ दीनो बाद उसने मुझे बताया की वो मॅरीड है,

और उसने मुझे सॉरी बोला की उसने मॅरीड वाली बात पहले नही बताई, सो मैने बोला कोई बात नही तो उसने मुझे बताया की उसके हज़्बेंड काफ़ी बिज़ी रहते है ऑफीस की वजह से इसलिए वो आछे से खुश नही कर पाते उसको और उसने पिछले 2 महीने से सेक्स नही किया था, तो वो बोली की मेरी चुत मे बहुत ही बुरी तरह से आग लगी रहती है और जब भी किसी लड़के को देखती हूँ तो दिल करता है की उसको घर बुला कर उससे चुदवा लून लेकिन इज़्ज़त का डर रहता है, तो इसलिए इस वेबसाइट के थ्रू आपसे कॉंटॅक्ट किया और फिर एक दिन उसने मुझे बोला “मेरे पति बाहर जा रहे है आप आ जाओ और प्लीज़ मुझे खुश कर दो आप जो बोलोंगे मैं आपको वो दे सकती हूँ लेकिन मुझे खुश कर दो” तो मैने बोला की इट्स ओके और हमने सॅटर्डे को मिलने का प्रोग्राम बनाया तो उसके हज़्बेंड उस दिन बाहर टूर पर गये थे और मैं फ्राइडे नाइट को जयपुर से रवाना हो गया उससे मिलने के लिए, मैं पुरानी देल्ही स्टेशन पर पहुँचा और उसको कॉल किया तो उसने बताया की वो स्टेशन के बाहर ही है.

यह कहानी भी पड़े  शादी मे चुदाई इन कानपुर

तो मैं बाहर गया तो वाहा पर एक वाइट संतरो के साथ जबरदस्त भाभी खड़ी थी सारी मे, तो मैने उसको पहचान तो लीया लेकिन मैने कन्फर्म करने के लिए दुबारा कॉल किया उसे तो हमने एक दूसरे को पहचान लिया, सॉरी मैं आपको उसके बारे मे बताना भूल गया वो एक स्लिम और बहुत ही आछे फिगर की मालकिन थी और उसका रंग गोरा था और हाइट कुछ 5.5” होगी और मैं तो उसे देख कर बहुत ही खुश हुआ और मेरा लॅंड वही पर खड़ा हो गया, लेकिन जैसे तैसे करके मैने अपने आप को कंट्रोल किया और उसके पास गया और हमने एक दूसरे को हेलो किया और गाड़ी मे बैठ गये और वाहा से पहले हम एक रेस्टोरेंट मे गये और वाहा पर जाकर हम दोनो ने लंच किया और फिर सीधे घर चले गये, उसका घर बहुत ही अछा था एक दम महल जैसा और घर मे कोई भी नही था और काफ़ी अछी फर्म थी, तो मैं जाकर फ्रेश हुआ और उसके बाद हम बेडरूम मे आ गये और उसने डोर बंद कर दिया और डोर बंद करते ही वो डोर के पास खड़ी थी.

और मुझे ऐसा लगा की कोण हुसान की परी मेरे सामने है, तो उसके पास जाकर उसे बाहों मे भर लिया और ज़ोर ज़ोर से लीप किस करने लगा और किस करते करते मैने उसे गोदी मे उठाया और बेड पर पटक दिया और उसके कपड़े खोलने लगा, कुछ देर बाद वो भी पूरी मूड मे आ गयी और बुरी तरह से मुझे किस करने लगी और वो सारी मे थी तो मैने उसे पहले खड़ा किया और उसकी सारी उतारनी स्टार्ट कर दी, तो अब वो मेरे सामने ब्लाउस और पेटिकोट मे थी तो मैने उसे भी उतार दिया और ब्लाउस और पेटिकोट उतारने के बाद वो ब्रा और पैंटी मे मेरे सामने थी, तो मैं उसे देखता ही रह गया और उसने रेड कलर की ब्रा और पैंटी पहनी थी और अब मुझसे रहा नही गया तो मैने उसे पकड़ा और बेड पर पटक दिया और जल्दी से ब्रा और पैंटी भी उतार दी, उसके गोरे गोरे बूब्स और चुत मेरे सामने थे तो मैने उसके बूब्स चूसना स्टार्ट किया और इससे वो पागल होने लगी और उसने बताया की वो पिछले 2 महीने से चुदि नही है और मुझे ज़ोर ज़ोर से किस करने लगी.

यह कहानी भी पड़े  मेरी प्यारी सुशील भाभी की चुदाई

कुछ देर बाद हम 69 पोज़िशन मे आ गये और वो मेरा लॅंड चूसने लगी एक दम लॉलिपोप की तरह और मैं उसकी चुत और कुछ देर बाद वो और मैं दोनो एक दूसरे के मूह मे ही झड़ गये और कुछ देर बाद मेरा फिर से खड़ा हो गया और मैने उसकी चुत चाटनी स्टार्ट कर दी, वो बुरी तरह से पागल हो गयी थी और बोलने लगी “बस मुझसे सहन नही हो रहा” और मेरे सिर को अपनी चुत मे घुसाने लगी और बोली “प्लीज़ अमित अब डाल दो अब रहा नही जाता” तो मैने भी देर ना करते हुए उसे घोड़ी बनाया और अपना 6.5” का लॅंड पूरा उसकी चुत मे डाल दिया, पहले तो वो थोड़ी चिल्लाई क्योकि उसने काफ़ी दीनो से सेक्स नही किया था लेकिन मैं नही रुका और चोदता रहा उसे और कुछ देर बाद वो भी मेरा साथ देने लगी और हमने करीब आधा घंटा सेक्स किया और फिर दोनो एक साथ झड़ गये और कुछ देर ऐसे ही एक दूसरे के उपर लेटे रहे, उस दिन हमने टोटल 4 बार सेक्स किया और वो काफ़ी खुश थी और अब मुझे जयपुर वापिस जाना था तो मैं शाम को ही निकल गया.

Pages: 1 2

error: Content is protected !!