शादी-शुदा प्यासी भाभी की चूत फाड़ी

कहानी अब आगे।

काजल की गरम बातें सुन कर मैंने उसकी पेंटी दोनों हाथों से जोर से फाड़ दी। काजल मुझे देख कर डरी। लेकिन अब उसकी क्लीन-शेव्ड काली चूत मेरे सामने थी। उसकी चूत का काला और मुलायम दाना साफ दिखने लगा।

मैंने चूत की पलकों पर हल्के से हाथ रखा, और दाने को सहलाने लगा। इससे काजल की सिसकियां निकल गयी।

काजल: श्ह्ह्ह उह्ह्ह ओह्ह्ह रोहित। क्या एहसास हुआ है मुझे आपके छूने का मैं बता नहीं सकती।

अब मैंने उसकी चूत पर अपनी जुबान रखी और चाटने लगा। काजल मेरे सर को चूत में दबाने लगी। मैं जुबान चूत के चारों तरफ घुमाने लगा। काजल अपने पैरों से मुझे चूत में दबाने लगी। वो आंखें बंद करके बिस्तर पर मचल रही थी।

काजल की गरम सिस्की और चूत का गरम पानी साथ-साथ निकलने लगा। मैं अब चूत के दाने को मुंह में लेके जोर से खींचा, तो उसकी दर्द भारी सिसकियां निकल गई।

काजल: आह्ह मां उम्म्म श्श्श रोहित। बहुत मजा आ रहा है। कृपया रुकना मत। खा जाओ मेरी चूत। निकाल दो इसका सारा रस।

मैं उसकी गरम गीली चूत खूब जोर-जोर से चाटने लगा, और चूत के रस को चाट कर साफ़ करने लगा। काजल की चूत 30 से 35 मिनट तक खूब दबा-दबा के चाटी। इतने समय में वो 2 बार रस छोड़ चुकी थी। उसने अपनी दोनो टांगे दूर करके फैला ली, जिससे चूत खुल गई। मैं उसे और अच्छे से चाटने लगा।

अब मैंने काजल को पलट दिया, जिससे उसकी मुलायम गांड मेरे सामने थी। मैंने अब उसकी गांड को 2 से 4 थप्पड़ मारे और दबा-दबा के चाटने लगा। उसकी फिर से दर्द भरी गरम सिसकियां निकलने लगी।

काजल: आह्ह उह्ह उफ्फ्फ मेरे जालिम पति, बहुत दर्द देते हो आप।

मैं उसकी गांड का काला छेद चाटने लगा। गांड उसकी बहुत टाइट थी। मैंने उससे कहा-

मैं: काजल, तेरी गांड तो बहुत टाइट है। तूने कभी गांड में लंड नहीं लिया क्या?

काजल: नहीं मेरे रोहित बाबू। यहां चूत के लिए लंड मिल नहीं रहा था, गांड में कहा से लेती? लेकिन अब सब आपका है। आपको ही मेरे इस जिस्म का ख्याल रखना है।

मैं: हां साली रंडी। तेरी गांड और चूत का आज भोसड़ा बना दूंगा।

मैं उसकी गांड जोर से दबा के, और चांटे मारते हुए ये बात बोली। तो काजल ने कहा।

काजल: आह्ह ओह्ह्ह बना दो ना। किसने रोका है आपको बेबी।

मैंने काजल की गांड 20 मिनट तक खूब दबा-दबा के चाटी। अब मैं खड़ा हो गया। काजल नंगी बिस्तर पर बैठ गई, और मेरी जीन्स उतरने लगी। मेरे कच्छे में मेरा लंड कड़क हो रहा था। वो उसे देख कर मुस्कुराने लगी और कहने लगी-

काजल: वाह यार। क्या तगड़ा लोड़ा है! देखो कैसे बाहर आने को मचल रहा है।

फिर उसने मेरे कच्छे को जल्दी से निकाल दिया। अब मेरा 7 इंच का लंड उसके सामने था, जिसे वो घूर-घूर के देखने लगी। और फिर से बोली-

काजल: ये तो बहुत मस्त दिख रहा है। आज तो मेरी असली चुदाई होगी। मेरे पति ने जो चुदाई नहीं की, आज ये लंड करेगा। मैं इसी से चुदूंगी अब से।

काजल ने मेरे गरम लंड को पकड़ लिया। उसे वो आगे-पीछे करने लगी। मैंने कहा-

मै: बहन की लोड़ी! साली कुतिया, अब इसे अपने मुंह का स्वाद चखा। चल मुंह खोल रंडी अब।

काजल ने अपना मुंह खोला, और मेरे काले लंड को मुंह में लेने लगी। उसका मुंह मे लंड आधा ही गया। जिसे वो आंख बंद करके चूसने लगी। काजल पूरे दिल से लंड को चूस रही थी। जिससे मेरे सिस्की निकल गई।

मैं: उम्म्म्म आह्ह मेरी रंडी। क्या मस्त लोड़ा चूसती है तू।

काजल की आंखों में ख़ुशी थी। वो और अच्छे से लंड मुंह में लेने लगी। खूब अच्छे से लंड को अंदर-बाहर कर रही थी। लंड को बाहर निकाल कर, उसे ऊपर से नीचे तक चाटने लगी। एक हाथ से लंड ऊपर किया, जिससे मेरे आंड सामने आ गये।

काजल मेरे अंडों को भी चाटने लगी। मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। क्या चाट रही थी। अब उसने मेरा 1 आंड मुंह में भर लिया और उसे चूसने लगी। ऐसे ही उसने बारी-बारी से 10 मिनट तक, मेरे अंडों को खूब चूसा। चूसने के बाद बोली-

काजल: आपके ये काले जामुन बहुत मजेदार हैं। चूसने में बड़ा मजा आ रहा है। मन कर रहा है कि लंड को मुंह से बाहर ही ना निकालूं।

मैं: तू साली बहुत अच्छा चूसती है। लंड में गरमी आ गई।

काजल ने मेरा लंड 25 मिनट तक खूब चूसा। उसके बाद मैंने उसका मुंह लंड में दबा दिया। क्योंकि अब मेरा रस निकलने वाला था। वो भी समझ गई। उसने भी मेरे लोड़े को मुंह में ही दबा के रखा। मैं जोर से लंड मुंह में देने लगा। जिससे 2 मिनट बाद मेरा गरम रस से उसका मुंह भर गया। मेरी गरम सिस्की निकल गई।

मैं: उह्ह्ह आह्ह्ह साली निकाल दिया सारा रस तूने। अब पूरा निगल जा कुतिया। पी जा इस अमृत को।

वो आंखों से हां बोलते हुए, मेरा सारा रस गटक गयी, और लंड चूस-चूस कर और रस निकालने लगी। काजल ने चाट के लंड को पूरा साफ कर दिया, और एक-एक बूंद वीर्य की पी गई। फिर वो बोली-

काजल: उहह उम्म्म! क्या नमकीन गरम रस है आपका। ये चूत में जायेगा तो मुझे मां बना देगा। मजा आ गया आज। आपने मेरा मुंह बहुत जोर से दबा दिया था। मेरी नाक दर्द करने लगी थी।

मैं: बहनचोद साली। तुझे कैसा लगा मेरा लंड बता?

काजल: आपका ये लंड और काले जामुन बहुत मजेदार लगे। मेरे मुंह की हालत बिगाड़ दी है। गले मे दर्द हो रहा है। तो ये चूत का क्या हाल करेगा।

वो बिस्तर से उठी और मेरे होठों को चूसने लगी। मैं भी उसे खडे-खड़े ही चूसने लगा। एक हाथ से गांड दबाने लगा। वो भी मेरी गांड दबा रही थी। हमारी सिसकियां निकल रही थी। उम्म्म्म उह्ह्ह आह्ह्ह।

मैंने उसे फिर अलग किया और नीचे बिठा के लंड मुंह में दे दिया। काजल ने 10 मिनट तक लंड को चूसा, जिससे लंड पूरा टाइट हो गया। मैंने उसे बिस्तर पर घोड़ी बनने को बोला। तो वो बोली-

काजल: मेरे राजा जी। अपनी इस कुतिया को घोड़ी बना कर पेल दो। मेरी चूत गीली हो रही है।

वो बिस्तर पर घोड़ी बन गई, और मैं नीचे खड़ा था। उसकी टाइट काली चूत मेरे सामने थी। मैंने उसकी गांड दबाते हुए 4 चांटे मारे, जिससे उसकी सिसकी निकल गई। अब मैं लोड़ा चूत के छेद पर रगड़ने लगा, जिससे वो मचल रही थी। काजल का बदन गरम हो रहा था। फिर वो सिसकियां लेते हुए बोली-

काजल: आह्ह मेरे राजा, डाल दो ना। क्यों तड़पा रहे हो। बहुत प्यासी हूं लंड के लिए। फाड़ दो मेरी चूत।

मैंने अब लंड चूत में घुसाने के लिए एक धक्का मारा। लेकिन चूत ज्यादा टाइट होने से लंड अंदर नहीं गया। मैंने फिर से धक्का मारा, फिर भी नहीं गया। मैंने ऐसे ही 5-6 धक्के दिये, तब जाके चूत में लंड का टोपा गया। उसके बाद बिना रुके एक जोर का धक्का और दिया तो आधा लंड चूत में घुस गया।

काजल की चूत फट गई लंड लेने से। चूत का छोटा सा छेद बड़ा होने लगा, और चूत से खून को बाहर निकालने लगा। चूत में लंड जाते ही काजल की दर्द भरी चीखें निकल गयी। उसकी चीखों से रूम गूंजने लगा।

काजल: आह्ह आह्ह मां श्श्श रोहित। फाड़ दी तुमने मेरी चूत। आह, बहुत दर्द हो रहा है।

मै: चुप-चाप घोड़ी बनी रह साली। ऐसे चूत मारने का मजा ही अलग है। रंडी तेरी चूत का भोसड़ा बना दूंगा। बहुत शौक है तुझे लोड़ा लेने का तो अब दर्द भी सह ले।

मैंने उसकी कमर जोर से पकड़ ली, और एक झटका और दिया। लंड पूरा 7 इंच चूत में घुस गया। चूत ने लंड को अन्दर से जकड़ लिया। आज काजल की सील असली में टूटी थी। इसलिए उसकी चूत से गरम खून निकल रहा था। काजल की आंखे बाहर आने को थी। उसकी आंखों से आंसू और मुंह से जोरदार सिसकियां निकल रही थी।

काजल: मार दिया रोहित आपने तो। आह उह मां बचाओ। प्लीज़ रुक जाओ थोड़ा। वरना मैं मर जाउंगी। ऐसा लंड कभी नहीं लिया है। पहली बार इतना बड़ा लंड लिया है।

मैं अब उसकी गांड पकड़ कर, धीरे-धीरे धक्के देने लगा। उसकी गरम चीखने की आवाज़ आ रही थी। 5 मिनट बाद मेरा लंड चूत मे एडजस्ट हो गया। काजल की हालत ख़राब हो रही थी। उसके आंसू रुक नहीं रहे थे। मुझे उसके आंसू देख कर और जोश आने लगा। तो अब मैं उसके बाल पकड़ कर जोर-जोर से चूत में लंड अंदर-बाहर करने लगा। इससे उसकी चीखें और जोर की हो गई।

काजल: आह्ह आह्ह मां मर गयी। उह्ह उफ्फ्फ, धीरे-धीरे आह्ह्ह ओह्ह्ह, मां मां मां। प्लीज़, आराम से करो ना। रुक जाओ थोड़ा तो। मेरी चूत फट गई है। रोहित, प्लीज आह्ह उफ्फ्फ आह्ह ओह्ह्ह।

काजल की चीख और सिसकियां मुझमें जोश भर रही थी। इसलिए मैंने और जोर-जोर के झटके चूत में दिए। उसके बाल पकड़ कर उसका मुंह उठाया, और उसके गालों को मुंह में लेके चबाने लगा। गाल पर दांतों के निशान छप गए। आज काजल की मां चुद गई थी। मैं उसकी चूत में लंड दबाते हुए बोला-

मैं: हां और चिल्ला साली रंडी। तेरी मां चोद दूंगा आज। बहन की लोड़ी बहुत टाइट माल बन के घूम रही है। ये ले और तेज कुतिया।

मैं उसकी चूत पर धक्के पे धक्के दिये जा रहा था। वो बिस्तर पर कुतिया बनी मेरे हर धक्के को अपने आंसू और चीखें निकाल कर सह रही थी। 15 मिनट बाद उसकी चूत ने लावा छोड़ दिया।

कहानी अब अगले भाग मे मिलेगी। कहीं जाना मत। यहां बहुत सी भाभी, लड़की, हाउसवाइफ, विधवा महिला, आंटी है, जो अपनी लाइफ में सेक्स और ख़ुशी चाहती है। लेकिन‌ उनके पति और समाज का डर रहता है। आप मुझसे सुरक्षित सेक्स और रिलेशनशिप का मजा ले सकते हैं। आप मुझे [email protected] पर मैसेज भेजें।

आपको पूरी बोरिंग लाइफ को मैं खुशियों से भर दूंगा। और आपको एक अच्छे कॉलबॉय का पूरा सपोर्ट मिलेगा। आप एक बार मुझसे बात करके जरूर ट्राई करें। आपको रियल सेक्स चाहिए तो मेल करें।

धन्यवाद।

यह कहानी भी पड़े  नई चुदक्कड़ दुनिया में प्रवेश करने की सेक्सी कहानी


error: Content is protected !!