बड़े लंड वाले बंदे ने भाभी की चूत फाडी

राजवीर और पूजा को अकेला छ्चोढ़ के हम वाहा से एक रूम में आ गये. पूरा रूम कॅमरा से लैस था. पूजा के साथ जो होने वाला था, हम दोनो यहा बैठ के देखने वाले थे. राजवीर ने पूजा को कॉफी ऑर्डर करके दी.

पूजा: थॅंक्स राजवीर जी.

राजवीर: इट’स मी प्लेषर भाभी जी.

पूजा: प्लीज़ भाभी जी मत बोलिए. आप मुझे पूजा बोल सकते है.

राजवीर: हा सही है, जो होने वाला है हम दोनो के बीच, उसके लिए आपको पूजा कह कर बोलना ही ठीक होगा.

पूजा: क्या आपको सब पता है?

राजवीर: हा पूजा, मुझे लखन ने सब बता कर बुलाया है. पर आप चिंता ना करे. अगर आपको मैं पसंद नही आया, तो ई प्रॉमिस योउ आपको टच तक किए बिना चला जौंगा. राजवीर की ये बात पूजा के दिल को चू गयी.

पूजा: नही राजवीर, ऐसी बात नही है. आक्च्युयली आप बहुत ज़्यादा हॅंडसम है. आपको देख कर मैं ना-जाने क्यूँ बहक सी रही हू.

राजवीर: यहा मत बहक जाना, बहुत लोग है (राजवीर मुस्कुराते हुए बोला).

पूजा: नही-नही.

राजवीर: मैने सुना है आप हनिमून स्वीट में रुके है. मुझे नही दिखाएँगी अपना रूम?

पूजा: क्यूँ नही, चलिए देख लीजिए.

राजवीर और पूजा रूम की और चल दिए. रूम में पहुँच के राजवीर को पूजा रूम दिखाने लगी.

पूजा: ये देखिए राजवीर, यहा से पूरी वॅली का व्यू दिखता है, और बहुत कुछ.

पर राजवीर का पूरा ध्यान पूजा की गोरी कमर पे था. पूजा विंडो के पास खड़ी थी. राजवीर ने अचानक पूजा को पीछे से हग कर लिया.

राजवीर: ई आम सॉरी पूजा मैं खुद को रोक नही पा रहा हू. पूजा ने अपने कड़क हुए बदन को ढीला छ्चोढ़ दिया, और आँखे बंद करके बोली.

पूजा: राजवीर जी कर लीजिए आपके मॅन की इक्चा पूरी. मैं भी आपको देख कर खुद को रोकना चाहती हू. पर रोक नही पा रही.

राजवीर ने पूजा को घुमाया, और सर उपर किया, और बोला: अब बोलो मेरी आँखों में आँखें डाल के.

पूजा कुछ नही बोली, और राजवीर को किस करने लगी. राजवीर भी पूजा को ज़ोर-ज़ोर स्मूच करने लगा, और पूजा को फिरसे घुमा के पीछे से ही उसकी नेक पे किस करने लगा. पूजा धीरे-धीरे अपनी सुध-बुध खोती जेया रही थी. उसकी आँखें अब भी बंद थी.

राजवीर ने पूजा की जीन्स का हुक खोला, और एक हाथ से पूजा की गर्दन अपनी और करके लीप-किस करने लगा, और एक हाथ जीन्स में से होते हुए पनटी में पूजा की छूट से खेलने लगा. कुछ ही पल में राजवीर की उंगली ने पूजा की छूट में प्रवेश कर लिया था.

राजवीर: पूजा तुम्हारी छूट कितनी गरम है.

पूजा: मेरी गर्मी कम करना अब आपके हाथ में है.

राजवीर: हाथ से नही, आपकी गर्मी मेरे लंड से बाहर निकलुगा भाभी.

पूजा: श… अब भाभी मत बोला प्लीज़. अपनी बीवी समझ लो मुझे.

राजवीर: ओक, अभी से आप मेरी बीवी है. पर मेरी बीवी से तू करके बोलता हू मैं.

पूजा: आपका जो मॅन हो बोल लीजिए पति देव जी.

राजवीर: ओह मेरी जान.

और इतना बोलते हुए पूजा को अपने घुटनो पर बिता दिया, और बोला-

राजवीर: ले कर अपने पति की सेवा.

पूजा जानती थी उसे क्या करना था. उसने राजवीर की ज़िप खोली, और लंड बाहर निकाला. लंड देख के पूजा के मूह से हाए, श मी गुड! निकल गया.

राजवीर: क्या हुआ?

पूजा: कुछ नही, आज जान जाने वाली है मेरी.

राजवीर हस्स दिया.

राजवीर: बहुत मज़ा कार्ओौनगा मेरी जान. तेरे पति और देवर ने जो नही दिया, वो मज़ा दूँगा तुझे.

सुनते ही पूजा ने सपाक से लंड मूह में ले लिया. पूजा मस्ती में लंड चूस रही थी. 10 मिनिट ऐसे ही चूसने के बाद राजवीर ने पूजा को खड़ा किया, और पूजा का टॉप निकाल दिया. पूजा ने टॉप के अंदर ब्रा नही पहनी थी. उसके बूब्स देख राजवीर पागल सा हो गया था. एक-दूं गोरे और टाइट बूब्स थे पूजा के.

राजवीर ज़ोर-ज़ोर से बूब्स चूसने लगा, और एक हाथ से जीन्स नीचे करने लगा. पर जीन्स टाइट थी.

पूजा बोली: रूको.

और झट से अपनी जीन्स और पनटी निकाल के फेंक दी. राजवीर को बेड पे धक्का देके लिटा दिया, और फिरसे लंड चूसने लगी. वो पूरी पागल हो गयी थी, सब भूल गयी थी, की वो कों थी.

राजवीर: आहह, सक इट बेबी. तोड़ा डीप तक चूस.

बोलते-बोलते पूजा को अचानक उपर खींच लिया, और किस करने लगा. पूजा पूरी मस्त हो चुकी थी.

पूजा: राजवीर, प्लीज़ फक मे.

राजवीर ने तुरंत पूजा को नीचे लिया, और उसकी छूट में लंड डालने लगा.

पूजा: जान आचे से सेट करके एक बार में पूरा डाल देना.

राजवीर ने अपना लंड छूट पे अची तरह सेट किया, और पूजा के लिप्स को आचे से लॉक करके पूरी पवर से धक्का दिया. पूरा लंड छूट फाड़ता हुआ अंदर जड़ तक घुस गया. पूजा की आँखों से आँसू निकल गये. इसका मतलब राजवीर के लंड से पूजा को बहुत तकलीफ़ हुई.

अब हो भी क्यूँ नही? लोहे के जैसा सख़्त और 3 इंच मोटा और 9 इंच लंबा राजपूताना लंड था राजवीर का. पूजा राजवीर के लिप्स नही छ्चोढ़ रही थी. राजवीर ने पूजा को रोका, और अपने सारे कपड़े जल्दी से रिमूव किए, और फिर हुआ दो नंगे प्यासे बदनो का मिलन.

राजवीर के नीचे पूजा मानो गायब सी हो गयी थी. पूजा ने राजवीर की पीठ को अपने दोनो हाथो से टाइट पकड़ के हग कर रखा था, और पावं पुर उपर कर लिए.

पूजा: अब छोड़ो और दिखाओ अपनी राजपूताना पवर.

राजवीर: सोच ले, रंडी बना दूँगा छोड़-छोड़ के. चीखती-चिल्लती रहेगी.

पूजा: यही चाहती हू. प्लीज़ निकलवा दो मेरी चीखें.

और उसने आँखें बंद कर ली, मानो जैसे पूरा सुख लेना चाहती हो. राजवीर ने धक्के लगाने शुरू किए. शुरू में आधा लंड अंदर-बाहर कर रहा था. 10 मिनिट में पूजा का पानी निकल गया. उसकी पकड़ ढीली हुई तो राजवीर बोला-

राजवीर: फिरसे टाइट पकड़ छिनाल. अब तुझे दिखता हू पवर.

और ज़ोर-ज़ोर से पूरा लंड पूजा की छूट में अंदर-बाहर करने लगा. शुरू में पूजा आ श आ कर रही थी. पर 15 मिनिट ऐसे छोड़ने के बाद राजवीर ने स्पीड और बधाई, और पूजा की आअहह हूउ चीखों में बदल गयी. पूजा का दूसरी बार भी पानी निकल गया था.

वो राजवीर से बोली: प्लीज़ तोड़ा रुक जाओ.

पर राजवीर कहा रुकने वाला था. वो छोड़ता रहा, और पूजा प्लीज़ रुक जाओ बोल रही थी. पूजा पूरी हिल गयी थी, और ज़ोर से रोने लगी.

पूजा: आहह मा, प्लीज़ राजवीर.

राजवीर: थोड़ी देर और रोल मेरी जान.

और राजवीर अपनी पूरी ताक़त से धक्के मार रहा था. पुर 50 मिनिट हो गये थे. अब राजवीर ने पूजा के लिप्स को ज़ोर से लॉक किया, और बहुत ज़्यादा स्पीड में धक्के देते हुए पूरा वीरया पूजा की छूट में भर दिया. फिर अपना पूरा वज़न पूजा के बदन पे देते हुए गिर गया. पूजा सिसक-सिसक के रो रही थी.

राजवीर उठा, और वॉशरूम चला गया. हमने बेड पे देखा तो बेड पे खून ही खून था. मैं घबरा गया, और रूम की तरफ जाने लगा. लखन ने मेरा हाथ पकड़ा और रोक लिया.

लखन: मत जेया शिवम, कुछ नही हुआ. बस आज सही माइने में पूजा की चुदाई हुई है. उसे तोड़ा आराम करने दे.

मैने स्क्रीन पे देखा राजवीर वॉशरूम से बाहर आया, और बोला: देख ऐसे छोड़ता हू मेरी बीवी को मैं.

पूजा उठी और बेड की तरफ देखा. पूरा खून से लाल था. फिर पूजा रोटी हुई बोली-

पूजा: राजवीर मैने तुम्हे कितना बोला रुकने को. आप रुके क्यूँ नही?

राजवीर: रुका क्यूँ नही ये छ्चोढ़. ये बता तेरी छूट की गर्मी शांत हुई या नही?

पूजा ने फील किया उसको आज सेक्स का असली मज़ा आया था.

पूजा: आपकी कितनी वाइव्स है?

राजवीर: 3 वाइव्स है मेरी. हम राजपूत है, 4-5 भी रख सकते है.

पूजा: क्या सब को ऐसे बेरेहमी से छोड़ते हो?

राजवीर: हा मेरी जान, पहली बार में बेरहम बनना पड़ता है. बाद में तो उन्हे ही मज़ा आता है ना.

पूजा: राजवीर यहा आओ.

राजवीर पूजा के पास गया.

पूजा ने राजवीर को हग किया, और बोली-

पूजा: थॅंक योउ. मुझे तुम्हारा ये तरीका पसंद आया. दर्द हुआ, पर बहुत अछा लगा.

राजवीर: अछा पूजा मैं चलता हू. अब रात का बता देना अगर अछा लगा हो तो, और ग्रूप में जाय्न कर लेना मुझ ग़रीब को.

पूजा: अछा अब आपको पर्मिशन की ज़रूरत है क्या? चुप-छाप बिना बुलाए 11 बजे तक आ ही जाना.

राजवीर: ओक मेरी जान, लोवे योउ. बाइ.

और कपड़े पहन कर राजवीर बाहर आ गया. पूजा ऐसे ही न्यूड बेड पे सो गयी. आयेज की स्टोरी नेक्स्ट पार्ट में.

यह कहानी भी पड़े  सुहाग रात में चूत और गांद फाड़ने की कहानी


error: Content is protected !!