सेक्सी ऑनलाइन फ्रेंड के साथ चुदाई की स्टोरी

मेरा नामे मिस्टी है आंड साइज़ 38-40-36 है. मुझे एक लड़की मिली ऑनलाइन और उससे बात करते हुए पता चला की वो लेज़्बीयन थी. वो दूसरे शहर में पढ़ती थी, आंड हमने प्लान बनाया की छुट्टी में मिलते है. उसका नामे पायल था, आंड साइज़ तो ऐसा था की मिलते ही छोड़ दे कोई लड़का भी और लड़की भी.

हम मिले होटेल में, और उसने एक टाइट ड्रेस पहनी थी. मैने एक टी आंड जीन्स पहनी थी. रूम में पहुँचते ही मैने उसे पीछे से पकड़ा और किस करना स्टार्ट किया. उसकी ड्रेस से उसकी क्लीवेज दिख रही थी. वो देख के मैं पागल हो गयी थी.

मुझसे रुका नही जेया रहा था, बुत शी वाज़ हंग्री आंड टाइयर्ड. फिर मैने खाना ऑर्डर किया, और वो फ्रेश होने जेया रही थी.

मैने बोला: रूको, साथ में फ्रेश होते है.

वो हस्स के चली गयी वॉशरूम में. मैने क्लोद्स निकाले और वॉशरूम में गयी उसके पीछे, और शवर ओं कर दिया. उसे शवर में देख के रुका नही जेया रहा था मुझसे. मैने फिरसे उसको पकड़ा पीछे से, और बूब सहला रही थी. वो भी आहें भर रही थी, और बोल रही थी ‘रुक जाओ ना जानू’.

मैने बोला: नही, आज पूरा दिन मैं नही छ्चोढने वाली तुम्हे एक मिनिट के लिए भी.

फिर मैं उसकी नेक पे किस करने लगी और बीते भी.

पायल: आहह.

मैं: जान अभी तो स्टार्ट किया है.

और ज़ोर से बूब मसल रही थी. फिर सीधा किया उसे और दीवार से सता दिया, और उसके निपल दाँत से खींचने लगी.

पायल: आअहह आहह धीरे करो.

उसकी आवाज़ सुन के मैं पागल हुई जेया रही थी, और ज़ोर से निपल काटने और खींचने लगी. वो भी मेरे बूब पकड़ने लगी. मैने एक हाथ उसकी छूट के दाने पे रखा, और मचल उठी. दाने को ज़ोर से रगड़ा, और फिर छूट में दो उंगली डाल दी मैने.

वो चिल्लाई: आअहह.

क्यूंकी उसकी छूट थोड़ी टाइट थी, और वो बहुत टाइम से चूड़ी नही थी. मैं उसके दूध पीने लगी, और छूट में उंगली करने लगी. थोड़ी देर में वो अकड़ गयी खड़े-खड़े और बोली-

पायल: बस मेरा होने वाला है.

और वो झाड़ गयी उंगली पे ही मेरी.

मैने फिर उसको बोला: चलो बात्ट्च्ब में.

फिर हम बात टब में आए, और गरम पानी भर कर रखा था उसमे, तो शी फेल्ट रिलॅक्स्ड. और मैने उसका पानी हाथ से चाट लिया. फिर बात टब में वो मेरे उपर आई, और उसकी बॉडी रगड़ने लगी मेरी बॉडी से. मेरे निपल्स पे वो उसके निपल्स मसल रही थी. मुझे भी मज़ा आ रहा था. वो छूट को सिसर पोज़ में रग़ाद रही थी.

फिर थोड़ी देर बाद हम बाहर आए, और तब तक मैं गरम हो चुकी थी.

तो मैने कहा: बेबी मुझे शांत करो अब.

फिर बेड पे आ गये हम वैसे ही न्यूड. उसने मेरे हाथ टीए कर दिए.

मैने बोला: बेबी हाथ मत बांधो, साथ में एंजाय करेंगे.

पायल: नही मुझे ऐसे ही छोड़ना है तुम्हे.

मैं: ठीक है.

फिर वो चॉक्लेट सरप लाई, और बूब्स और निपल्स पे लगाया, और पेट तक लगा दिया. उसके बाद वो लीक करके बीते करने लगी बूब्स पे.

मैं: आहह ऑश.

फिर निपल्स पे आई, और लीक के साथ ज़ोर से बीते करने लगी

मैं: रंडी धीरे करो तोड़ा.

पायल: रंडी कुटिया तूने ही बोला शांत होना है. ऐसे ही होगा वाइल्ड सेक्स.

फिर उसने एक छमात मारा आस पे.

मैं: आहह कुटिया, हाथ खोल बताती हू.

पायल: जान अभी हाथ नही खुलेंगे. पूरा छोड़ने के बाद हाथ खोलूँगी. तब तक एंजाय कर सिर्फ़.

फिर वो और ज़ोर से बीते और किस करने लगी बूब्स पे. वो उपर आई, और लिप्स पे किस किया, और बीते किया. फिर नीचे आई, और नेक और कॉलरबोन पे बीते किया.

मैं: आहह जान.

फिरसे वो बूब को मसालने और काटने लगी. और फिर नीचे आके पेट पे किस किया और बीते किया. नेवेल में जीभ डाल के छोड़ने लगी, और मैं मचलने लगी. फिर वो छूट पे आके बोली-

पायल: साली तेरी छूट तो मस्त और फूली हुई है.

फिर एक छाँटा मारा छूट पे और छूट का दाना मूह में लिया, और उसे चाटने लगी. उसके बाद वो उठी, और फ्रिड्ज से आइस क्यूब लाई, और एक स्ट्रॅप-ओं डिल्डो लेके आई.

मैं: आइस क्यूब क्यूँ लाई हो तुम?

पायल: जान मज़ा आएगा रूको तुम. आइस क्यूब तुम्हारी छूट में जाएगा और मैं टंग से पुश करूँगी अंदर. और तुम डबल मज़ा लॉगी इससे.

मैं: नही यार दर्द होगा.

पायल: लेट’स ट्राइ ना बेबी, मज़ा आएगा तुम्हे.

मैं: ओक.

फिर उसने एक आइस क्यूब उठाया, और छूट के होल पे रखा, और टंग से पुश करने लगी. मुझे मज़ा आने लगा, और लगा की मैं जन्नत की सैर कर रही थी. क्यूब अंदर गया, और टंग से ज़ोर से अंदर-बाहर करने लगी वो. क्यूब पिघल गया गर्मी से, सो उसने दो क्यूब लिए इस बार, और अंदर डाल दिए. फिर वो और ज़ोर से टंग फक करने लगी.

मैं: आहह ऑश फक!

आइस का पानी बाहर आ रहा था छूट से मेरे पानी के साथ, और उसने पूरा चाट लिया पानी, और सॉफ किया. मैं झाड़ गयी, और सारा पानी उसने पिया और बोली-

पायल: रंडी तेरा पानी टेस्टी था.

फिर उसने स्ट्रॅप-ओं डिल्डो वेर किया और बोली: जान अब रेडी हो असली चुदाई के लिए?

मैं हैरान थी, उस डिल्डो का साइज़ बड़ा था.

मैं: हा बेबी डाल दो, और फाड़ दो छूट मेरी.

फिर उसने एक ही झटके में अंदर डाल दिया, और मैं चीखी, क्यूंकी बहुत सालों से चूड़ी नही थी, तो दर्द हुआ. वो मेरे उपर आई, और किस करते हुए बूब दबाए, तो तोड़ा रिलॅक्स लगा.

उसके बाद वो ज़ोर-ज़ोर से झटके मार रही थी, और 10 मिनिट्स तक झटके मारे. अब मैं झाड़ गयी थी और वो भी तक गयी थी, तो मेरे बाजू में लेट गयी.

मैं: हाथ तो खोल दो बेबी.

पायल: मज़ा आया जान?

मैं: हा बेबी कुछ न्यू था ये. बहुत मज़ा आया.

पायल: अभी पूरा दिन है. कुछ और भी है जो ट्राइ करेंगे.

उसने मेरे हाथ खोल दिए, और खाना आ गया हमारा. उसने कपड़े में एक निघट्य पहनी, और खाना लेने चली गयी.

नेक्स्ट स्टोरी में बतौँगी की कैसे एक वेटर को थ्रीसम के लिए मनाया, और उसके साथ क्या-क्या किया. बने रहिए मेरे साथ आंड वेट फॉर नेक्स्ट स्टोरी. प्लीज़ कॉमेंट ओं थे स्टोरी की कैसी लगी.

यह कहानी भी पड़े  पजी में रहने वाली लड़की के साथ दोस्ती और चुदाई की कहानी


error: Content is protected !!