सेक्सी मामी के साथ मौज

तो जैसा की आप जानते है मैने मेरी मामी रोशनी को कैसे नशे मे छोड़ा और हमने खूब एंजाय करा. उनका सेक्सी फिगर साइज़ 38-30-40 का है. उनके बूब्स मे लगता है बस अब ढूढ़ आने की ही देरी है. बाइ गोद जितना निचोड़ो कम ही लगता है. उनकी हाइट 5’8″ है एकद्ूम गोरी और लंबे बाल और आगे 37य्र. आप इमॅजिन करो के ऐसी औरत से कोई कैसे डोर रह सकता है.

यूयेसेस दिन के बाद से हम दोनो बस सेक्स के लिए इतने ज़्यादा उतावले रहते थे की एक भी मौके नही जाने देते. मामा भी वापस घर आ गये थे और अब हमारे नया खेल शुरू हो गया था. जब मामा घर पे हो तब हम चुप चुप के बातरूम, किचन या टेरेस पर एक दूसरे के चूस्टे रहते. पकड़े जाने के दर्र से ज़्यादा थ्रिल का एहसास होता.

एक दिन मई ऐसे ही मामी से मिलने चला गया क्यूकी घर मे मई बोहोट बोर हो रहा था. मई उनके घर पोहॉंचा और देखता रह गया. आज मामी एक वाइट निघट्य मे बैठी थी जो के ट्रॅन्स्परेंट थी. उन्होने अंदर अंदर सिर्फ़ ब्लॅक ग-स्ट्रिंग पहनी थी. मामी मुझे देख के सेक्सी स्माइल दी.

मई उनके पास गया. वो खड़ी हुई और हम दोनो स्मूच करने लगे. मई अब मामी को धीवर से लगा कर स्मूच कर रहा था और साथ मे उनकी निघट्य को उपर करके उनकी कमर को नोच रहा था. मामी ने भी अपना हाथ मेरे टशहिर्त के अंदर डाला और मेरी चेस्ट पे फेर रही थी और स्क्रॅच भी कर रही थी.

मामी- तुझे दर्र नही लगता ना कोई हमे पकड़ लेगा तो?

मई- आपको भी कहा दर्र लगता है जो आप मुझे ऐसे कपड़ो मे इन्वाइट कर रही हो.

हम दोनो हासणे लगे. उससी वक़्त मामा का फोन आया मामी के फोन मे. मामी भाग के फोन उठाई पर मैने उन्हे पकड़ लिया. उनको मई पीछे से पकड़ के बूब्स के साथ खेल रहा था.

मामी ने फोन रिसीव किया-

मामा- रोशनी मुझे आने मे देर हो जाएगी. शायद रात के 3-4 बाज जाए तो तुम खाना खा लेना.

ये कह कर मामा ने फोन रख दिया. मैने सब सुन्न लिया था और मई और मामी एक दूसरे को देख के अब और वाइल्ड हो रहे थे. मई उनको उठा के बेडरूम मे ले गया और बेड पे लेता दिया. मैने उनका गाउन निकाला और उनके बूब्स निचोड़ने लगा. एक बूब को मूह मे लेके खेलने लगा. मई बीच बीच मे उनके निपल काट लेता तब मामी सिसक उठती.

ऐसा 5 मीं करने के बाद मामी को जोश आया और उन्होने करवट बॅड्ली और मेरे उपर आ गयी. उन्होने मेरा त-शर्ट उतरा को बिना कुछ बोले मेरी गार्डेन और चेस्ट पे किस्सस और लिकिंग चालू कर दी. मामी बोहोट एक्सपीरियेन्स्ड तरीके से मुझे तुर्न ओं कर रही थी.

वो धीरे धीरे नीचे जाते हुई मेरी कॅप्री भी उतार दी और अंडरवेर के उपर से ही मेरे लंड को चूम रही थी. उन्होने अंडरवेर नीचे करके मेरे सुपरे को चूमा फिर अपनी जीभ से फॉरेस्किन के अंदर जीभ डालके खेलने लगी.

मैने उनके बाल इकट्ठा करके पकड़े. तब मामी मेरी तरफ सेक्सी लुक के साथ पूरा लंड अपने मूह मे लेने लगी. वो सीन इतना सेक्सी लग रहा था. मामी भी बोहोट पेशियेन्स से पूरा 7 इंच तक मूह मे ले रही थी टिल थे बसे ऑफ मी कॉक.

रूम मे मामी की स्लर्प-अहम् की आवाज़े आ रही थी.

अब मैने भी डाकखे लगाना चालू करा. मामी के मूह से अब घु घु आवाज़ आ रही थी. मई बोहोट क्लोज़ था झड़ने के. मामी समझ गयी और उसने मेरी गांद पकड़ के पूरा लंड मूह मे क़ैद कर लिया.

10 मीं के ब्लोवजोब के बाद मेरा पानी उनके मूह मे भर गया. उन्होने बचा हुआ पानी भी छत लिया फिर मामी उठी और बातरूम मे मूह धो कर आई और फिर हम स्मूच करने लगे.

इश्स बार मैने उनकी पनटी निकली और दो उंगली उनकी छूट मे डाली. दोस्तो ये छूट नही भट्टी लग रही थी. मई समझ गया आज मामी की गर्मी ज़्यादा है. मैं एक हाथ से फिंगरिंग चालू रखी और मूह से उनकी फाखो को छत राहा था.

सीन ये था की एक हाथ से मैने उनका हाथ पकड़ा हुआ था और मामी एक हाथ से मेरे बाल खीच रही थी. मई फाख् मे हल्के से दाँत भी लगा रहा था जिससे मामी का सीना चौड़ा होकर बिस्तर से तोड़ा उपर आ जाता.

मामी- अहम् ह्म हन ऐसे ही करते रह निक… अम अम आ…

वो अपनी गांद भी उठा उठा के मुझे और चूसने का इशारा कर रही थी.

मुझे लगा अब मई मैं कोर्स चालू करता हू. मैने दोनो थाइस के नीचे से हाथ लेजके उनके पैर लॉक किया और दोनो हाथ पकड़ लिए और मई अब अपने मूह से पूरी छूट खा रहा था. मामी से अब बर्धस्त करना मुश्किल हो रहा था. उनकी आँखें बंद थी और वो बोहोट छटपटा रही थी

मामी- आ! बस कर! हहह उम्म्म्मम हेयी माआअ मेरे राजा मई गयी!!

ये कहते कहते मामी ने अपना पानी छोड़ दिया. मैने देखा मामी के 34द के बूब्स उनकी सांसो के साथ बोहोट उपर नीचे हो रहे थे और मामी बोहोट खुश लग रही थी और मुझे अपने उपर खीच के स्मूच कर रही थी.

मैने मामी को 5 मीं आराम करने दिया फिर उसने खुद मेरा लॉडा पकड़ कर उससे सहलाने लगी. अब उसने मुझे धक्का दिया और मेरे उपर आके मेरा लंड फिरसे मूह मे लेके उससे खड़ा करने लगी. मेरा लंड भी अब पूरा तैयार था.

मामी ने अपने बाल एक तरफ करे और मेरे उपर बैठ के लंड अंदर लेने लगी. ये आसान कुछ ऐसा था की मामी के बूब्स मेरे मूह के बोहोट करीब थे और वो मामी की आगे पीछे होने के साथ बोहोट हिल भी रहे थे. मैं एक निपल अपने मूह मे लिया. और दूसरे को मसालने लगा. मामी मेरे बालो मे हाथ फेर रही थी.

मामी को भी मज़ा आरहा था, वो बोल रही थी- इन्हे चूस कर और बड़ा कर दे.. पूरा दूध निकल दे इनका बोहोट उछलते है.. आ आ आह ह्म मा..!

अब मैने अपने पैर मोड और नीचे से तेज़ तेज़ शॉट मारने लगा. मामी की आँखें बंद होने लगी. मैने उनके बालों को हल्का से खीच के उनको कर्व किया और पूरी ताक़त से अब शॉट मारने लगा. मई आज मामी को इतना खुश करना चाहता था की उनको जब भी सेक्स करने की इक्चा हो सिर्फ़ मेरा नाम याद आए.

मामी भी अब- आ आहह.. की आवाज़े निकल रही थी और शॉट्स का जवाब कूद के देने की कोशिश कर रही थी.

लघ्हभाग 15 मीं बाद मामी के मूह से बोहोट प्यारी सिसकारी निकली और वो अकड़ गयी. हम दोनो पसीने मे भीग गये थे. एसी चालू होने के बावजूद भी हमे बोहोट गर्मी महसूस हो रही थी.

मई पलटा और अब मिशनरी पोज़िशन मे धीरे धीरे मामी को छोड़ रहा था और स्मूच कर रहा था. मेरे धक्के अब धीरे थे लेकिन मई अपना अपना पूरा लंड अंदर डालता और बाहर निकलता.

मामी को भी इसमे मज़ा आने लगा और वो कहने लगी- बदमाश तेरा मॅन नही भरा ना. कितनी बार मेरा पानी निकलेगा.

ये सुनके मैं एक ज़ोरदार झटका दिया जिससे मामी की आ निकल गयी.

मैने कहा- आज तो मूड है की पानी. दूध सब निकल के पी जौ… और मैने अपने शॉट तेज़ कर दिए.

मैने उनके दोनो हाथ उनके सिर के उपर पकड़ लिए और उनके गले को चाटने लगा. जिससे मामी और मदहोश हो रही थी और एक बार और झाड़ गयी.

10 मीं ऐसे छोड़ने के बाद मई थकने लगा. मामी समझ गयी और फिर उठ कर मेरे लंड को धीरे धीरे अपने मूह मे लेके ब्लोवजोब देने लगी. मुझे बोहोट मज़ा आ रहा था.

मैने फिर मामी को घोड़ी बनाया और पीछे से उनकी छूट मे लंड डाल दिया. मई उनकी कमर पकड़ के शॉट मार रहा था और मामी बोल रही थी- इतना मज़ा सिर्फ़ तू ही देता है मुझे. डॉगी स्टाइल इस मी फेव.. और ज़ोर्से करते रह. ये बोलके वो अपनी गांद खुद आयेज पीछे करने लगी.

मैने भी पूरा साथ दिया और अब उसकी गांद मे छाते मार के लाल करने लगा. एक हाथ से उसके बाल खीच के उससे तोड़ा उठाया और उसके गाल चूमने लगा.

वो भी एंजाय कर रही थी और मुझे और ज़ोर्से छोड़ने के लिए उत्तेजित कर रही थी- हन ऐसे ही पूरी गांद लाल कर दे… तेरे मामा को भी दिखना चाहिए की ऐसा भी कोई आदमी है जो मुझे पूरा सॅटिस्फाइ करता है… आआहह हन हन… मुझे तेरा पानी अपनी छूट मे चाहिए. बहेनचोड़ और ज़ोर से छोड़ आहन उम्म्म्म…

मैने पहली बार मामी के मूह से गली सुनी. मुझे भी जोश आया और मैने अब उनके दोनो हाथ पकड़े और उनको सीधा करके बिस्तर के किनारे लगा के तेज़ शॉट मारने लगा. एक हाथ से मैने उसका गला पकड़ा और दूसरे को उसके मुलायम पेट पे गाड़ दिया. इतने मे मामी फिर झाड़ गयी.

मामी अब दबी आवाज़ से चिल्ला रही थी और धीरे मेरे कान मे बोल रही थी- उउंम्म निक ऐसेही करते रह… पूरा पानी मेरी छूट मे डालना आआहहह…

मई- रोशनी अब नही रहा जाता आआहह…

मैने उसका गला छोड़ा और अब बाल खीचते ऊए पूरा पानी उसके छूट मे भर दिया. इश्स चुदाई के बाद मई भी तक गया था और रोशनी भी. उसकी छूट से मेरा पानी बेड पे गिर रहा था जिससे रोशनी अपनी छूट मे उंगली डाल के चटब रही थी.

मई अब उसके उपर ही तक के लेट गया वो भी मुझे जाकड़ के किस कर रही थी.

रोशनी- ऐसे छोड़ेगा तो या तो तेरी होने वाली बीवी पहले दिन ही भाग जाएगी या तो पूरी ज़िंदगी तेरी सेवा करेगी.. और वो हसके फिर मेरे माथे पे किस करी.

मैने बोला- जब तक तुम्हारे जैसे कोई मुझे खुश नही करेगा तब तक तो अब तुम्हे मुझे झेलना पड़ेगा. और मैने फिर उसका निपल काट दिया.

हम दोनो ऐसे ही बात करते करते सो गयी. शाम को 4 घंटे बाद नींद खुली तब मैने मामी जो भी जगाया जो मेरा लंड पकड़ के सोई हुई थी. हम दोनो उठे फिर उसने मुझे एक बार और ब्लोवजोब दिया और खाना खिलाया.

हम दोनो रात 12 बजे तक एंजाय करे फिर मई गेस्ट रूम मे सोने चला गया क्यूकी अब मामा कभी भी आ सकते थे.

इसके बाद क्या हुआ ये स्टोरी जानने के लिए अपना फीडबॅक ज़रूर देना.

यह कहानी भी पड़े  देवरो के बाद अब पति ने लिए मेरे मज़े

error: Content is protected !!