सेक्सी भाभी को चरमसुख देने की स्टोरी

हेलो दोस्तों, ई आम किंजल (बॉय) फ्रॉम आमेडबॅड, गुजरात. ई विश आप सब आचे होंगे, और मज़ा कर रहे होंगे. तो पहले में उन सब लोगों का दिल से शुक्रिया करना चाहता हू, जिन्होने मुझे मेल्स की, और उनमे से कुछ कपल्स आंड आंटीस मुझसे मिलना भी चाहती है. सो थॅंक योउ सो मच फॉर युवर लोवे.

मैं आप सब की फॅंटेसी पूरी करने का बेस्ट ट्राइ करूँगा, और ये स्टोरी का दूसरा सूपर एग्ज़ाइटेड पार्ट पढ़ने के बाद हॉट लॅडीस आंड फन लविंग कपल्स मुझे मैल कर सकते है. मेरी मैल ईद लास्ट में दी है. तो अब तक की कहानी पे चलते है.

लास्ट स्टोरी में आपने पढ़ा की कैसे एक फन लविंग कपल ने मुझे मैल किया, और हमने क्यूक्कल्ड फन के लिए अबू जाने का प्लान किया. वाहा रास्ते में हमने कार में क्या-क्या एंजाय किया, अब आगे.

हम करीब 9:30 बजे अबू पहुँच गये. वाहा उसके हज़्बेंड ने ऑलरेडी एक आचे रिज़ॉर्ट में 2 रूम्स बुक करके रखे थे. हम अपने-अपने रूम में गये, और फिर फ्रेश हुए. करीब 11 बजे हम वापस गार्डेन में मिले. उनके बच्चे वाहा खेल रहे थे.

भाभी ने ब्लॅक सारी पहनी थी, और ब्लॅक ब्लाउस. एक-दूं कमाल की लग रही थी. उनका फिगर तो मैने आपको बताया ही था. एक-दूं हुमा करिशी जैसा, और गोरी भी थी. रिज़ॉर्ट में हर आस-पास वाला मर्द एक बार तो उसपे नज़रे फेर के जाता था. और उनकी आँखों से ही पता चलता की अगर उन सब को चान्स मिले तो गंगबांग कर दे अभी इसका.

खैर उन्होने मुझे देखा तो स्माइल पास की. क्यूंकी कार में जब मैने उनकी छूट छाती थी, वो सीन उन्हे याद आ गया होगा. मैं भी उनके इतने करीब चला गया था, की किसी को पता नही चलता की उसका असली हज़्बेंड कों था.

हमे नज़दीक होता देख उसके हज़्बेंड अपने बच्चो को कही और घूमने ले गये, और हम दोनो को स्पेस दे दिया. फिर हम कॅषुयल बातें करते-करते तोड़ा रोमॅंटिक मूड में आ गये.

भाभी: अछा ये तो बताओ तुम करते क्या हो?

मे: वैसे करता तो हू नॉर्मल जॉब. बुत आप जैसी हॉट लॅडीस को बेड में खुश करने का काम ज़्यादा करता हू.

भाभी: अछा जी, कितना एक्सपीरियेन्स है मुझ जैसी हॉट लॅडीस के साथ?

मे: इतना तो है ही की आपकी छूट का सुबा की तरह बिना लंड डाले भी पानी निकाल डू.

भाभी: श अब वो याद करके तड़पाव मत, वरना.

मे: वरना क्या मेरी रानी?

भाभी: वो सीन याद करके अभी भी छूट में हलचल हो रही है.

मे: तो देर किस बात की है? चलो मेरे रूम में.

भाभी: हा अब तो चलना ही पड़ेगा. तुम्हारा प्यार तंबू बन के तुम्हारी पंत में खड़ा है हाहहहा.

फिर हम दोनो मेरे रूम में आ गये. रूम में जाते ही मैने उनको कस्स के बाहों में भर लिया, और हम दोनो बेशुमार किस्सिंग करने लगे. इतनी शिद्दत से डीप किस्सिंग कर रहे थे, की एक-दूसरे के जिस्म के बीच में से हवा भी ना जा पाए.

मैने किस्सिंग में ही फटाफट उसकी सारी निकलनी स्टार्ट कर दी. खड़े-खड़े उसकी सारी पूरी निकल गयी. उसने भी मेरी त-शर्ट निकाल दी. अब मैं उपर से न्यूड था, और अब वो ब्लाउस-पेटिकोट में थी. मैने उसको घुमा के पीछे से गले पे लीक करना स्टार्ट कर दिया. वो अपने हाथ पीछे लेके मेरे बालों में घुमा रही थी.

मैं अपनी जीभ से उसके गले को, गालो को, एअर को, बेशुमार चाट रहा था. पूरा गीला कर दिया था, और अपने हाथ ब्लाउस और ब्रा में से होते हुए उसके सॉफ्ट बूब्स पे ले गया. फिर स्लोली-स्लोली सहलाने लगा. वो इतनी सिड्यूस हो चुकी थी, की वो बड़ी ज़ोरो से मोनिंग करने लगी. फिर अपना हाथ मेरी पंत में डाल के मेरे टाइट लंड को पकड़ लिया.

फिर पीछे से ही मैं उसको लीप किस करने लगा. वो भी भरपूर साथ दे रही थी, और जैसा आपको पता है मुझे ब्लाउस फाड़ना कितना पसंद है. मैने लोंग किस्सिंग में उसके ब्लाउस को आचे से पकड़ के ऐसा खींचा, की उसके सारे हुक टूट गये, और वो ब्रा में आ गयी.

जैसे ही ब्रा में उसके बड़े-बड़े 38″ के सॉफ्ट उछलते हुए बूब्स दिखे. मैने उसको घुमाया मेरी तरफ, और ब्लाउस निकाल के फेंक दिया. दूसरे ही पल ब्रा को भी निकाल के फेंक दिया, और उसे बेड में पटक दिया.

अब मैं उसके उपर चढ़ गया, और उसके बड़े दूध को मसल-मसल के पीने लगा. निपल पे इतनी जीभ गोल-गोल घुमाई, की उसकी पनटी तो पूरी गीली हो ही गयी, उसका पेटिकोट भी गीला होने लगा. मैने 25 मिनिट तक उसके सॉफ्ट बूब्स को सहलाया, चूसा, छाता, और लोवे बीते कर-कर के पूरा लाल कर दिया.

वो मेरे इतने रोमॅन्स से बेहद खुश थी. उसकी खुशी उसके चेहरे पे सॉफ झलक रही थी. फिर मैने अपने हाथ से उसका पेटिकोट उठाया, और पनटी निकाल दी. फिर बूब्स चूस्टे-चूस्टे छूट में उंगली करने लगा. अब वो बहुत ही ज़्यादा एग्ज़ाइटेड हो गयी, और बोली-

भाभी: अब बस करो, मार डालोगे क्या तडपा-तडपा के? घुसा दो ना अपना बड़ा लंड मेरे सैयाँ, और ये छूट को अपनी बना लो.

और ये बोल के उसने मेरी पंत और अंडरवेर निकाल दिया. अब मैं उसके बूब्स पे बैठ गया, और अपना लंड उसके मूह में देके मूह छोड़ने लगा. मेरा लंड इतना टाइट हो गया था, की सिर्फ़ आयेज का टोपा और तोड़ा ही पार्ट उसके मूह में जेया रहा था. आधा भी नही ले पा रही थी वो. उसने आयेज से चूस-चूस के आचे से चिकना कर दिया, और फिर कॉंडम पहना के मुझे अपने उपर खीच लिया.

अब वो नीचे थी सिर्फ़ पेटिकोट में, और मैं उसके उपर नंगा था. हम मिशनरी में किस्सिंग करने लगे. उसके बूब्स मसालते हुए उसकी छूट इतना पानी छ्चोढ़ चुकी थी, की मेरा लंड एक ही झटके में पूरा घुस गया. उसकी एक-दूं से साँस आतक गयी क्यूंकी इतना बड़ा उसने पहले लिया नही था.

वो चिल्लाने लगी: बाहर निकालो, बाहर निकालो.
मैं उसको किस्सिंग करता रहा, और बूब्स को सहलाता रहा.

थोड़ी देर में उसको कंफर्टबल लगा तो वो गांद उठा-उठा के छुड़वाने लगी, और मैं भी घपा-घाप छोड़ने लगा. करीब 10 मिनिट उस पोज़िशन में छोड़ा मैने उसको.

मैने जोश में उसकी गांद और बूब्स को इतने छमात मारे, की मेरी उंगलियों के निशान उसपे पद गये. उसकी छूट का रस्स नीचे फ्लोर पे गिर रहा था. अब मेरा भी निकालने वाला था, तो मैने उसकी कमर को और कस्स के पकड़ा और ज़ोरो से छोड़ने लगा.

करीब और 10 मिनिट की खड़े-खड़े घामाशाण चुदाई के बाद हम दोनो का पानी निकल गया, और बेड पे गिर गये. वो उल्टी लेती थी, और मैं उसके उपर. हम दोनो ऐसे 15-20 मिनिट तक पड़े रहे. मैं उसकी बॅक को चूमता रहा.

फिर उसने बोला: मैं अपने हज़्बेंड को आज जी भर के थॅंक योउ कहना चाहती हू, की उसने तुम्हे मेरे लिए बुलाया. ई लीके योउ सो मच मेरी जान.

फिर हम दोनो उठे, और बातरूम में नहाने गये. वाहा मैने उसकी गांद मारी. करीब 45 मिनिट तक हमने बातरूम सेक्स किया, और बाहर आके फिर उसने अपने हज़्बेंड को फोन किया कपड़े दे जाने को मेरे रूम में थोड़ी देर में. उसका हज़्बेंड अकेला आया. वो नंगी मेरी बाहों में थी. तो ये देख के उसका हज़्बेंड बोला-

हज़्बेंड: कैसा लगा मेरी जान, मेरे दोस्त के साथ?

वाइफ: इतना अछा एक्सपीरियेन्स लाइफ में कभी नही हुआ. स्टॅमिना भी अछा है इसका.

हज़्बेंड: तो करो मज़े. 2 दिन ये तुम्हारी ही बीवी है. ऐसा समाज के करना जो भी करना है.

फिर वो कपड़े देके चला गया. हमने लंच किया और 3 घंटे सो गये. फिर शाम को घूमने बाहर गये. वाहा भी उसकी कमर में हाथ डाल के मैं ऐसे घूम रहा था, जैसे वो मेरी ही बीवी हो. फिर नाइट में एक बार में जाके वोड्का लिया, और फुल नाइट उसके हज़्बेंड के सामने 4 बार छोड़ा.

मैं उसके उपर ही नंगा पूरी रात सोया, बाहों में लेके. दूसरे दिन हम लाते उठे मॉर्निंग. फिर ब्रेकफास्ट किया, और सेम अगले दिन की तरह किया.

2 दिन में मैने उसको 8 बार छोड़ा. जब भी लंड खड़ा हो छोड़ना स्टार्ट. वो भी बहुत हॉर्नी लेडी थी, तो मज़ा आ गया. फिर उस नाइट में हम वापस आने को निकल गये. उसके हज़्बेंड ने मुझे उसकी वाइफ को इतना अछा एक्सपीरियेन्स देने के लिए 20,000 भी दिए. बुत मैने नही लिए क्यूंकी मुझे सिर्फ़ अनसॅटिस्फाइड हाउसवाइफ आंड फन लविंग कपल्स को उनकी फॅंटेसी फुलफिल करने में ज़्यादा किक मिलता है. फिर भी उन्होने ज़िद करके 15000 तो दिए ही दिए, और वो मुझे वापस आमेडबॅड छ्चोढ़ के अपने घर चले गये.

तो दोस्तों कैसी लगी मेरी स्टोरी? मुझे अपना प्यार भेजना. मेरी मैल ईद है-

यह कहानी भी पड़े  नेहा की जवानी लंड की दीवानी


error: Content is protected !!