सेक्सी बातों से गरमाई चूत वाली मा की चुदाई स्टोरी

अभी ने मुझे खूब मज़े ले ले कर छोड़ा. मुझे भी छूट मरवा कर बहुत मज़ा आया. हमने प्लान बनवा कर अभी को घर बुला लिया और अंधेरे में अंजन मों बन कर छूट चुडवाई. बेटा बोल-बोल कर चुदाई करवाई ताकि अभी अपनी मों नीता को भी छोड़ने लग जाए.

मुझे तो अभी का लंड लेकर बहुत मज़ा आया. मैं रूम से बाहर आ कर दूसरे रूम में आ गयी. रोहित ने लाइट जलाई.

रोहित: कैसे लगी मों की छूट?

अभी: ऑश भाई, बहुत मस्त माल है ये तो. सच में कभी सोचा भी नही था की इतना मज़ा देगी. ऑश साली के बूब्स कितने मस्त थे. ऑश भाई काश इसको लाइट ओं करके छोड़ता. इसका फेस देख कर छोड़ता तो बहुत मज़ा आता यार.

रोहित: भाई अभी वो आराम करेगी. हो सकता है एक बार और छुड़वा ले. इसका बेटा इसको छोड़ता था. अब वो बाहर रहने लगा है, तो मुझे मिल गयी.

अभी: ऑश मों-मों बोल कर छोड़ी तो मज़ा आया यार. ऐसी मों तो सब को चाहिए. क्या माल है यार. इसकी तो सब चीज़े मस्त लगी मुझे. बूब्स और गांद देख कर तो दिल खुश हो गया.

रोहित: मुझे भी बेटा बोल कर चुड़वति है. तो मुझे तो अब मों को छोड़ने के सपने भी आने लगे है. मों के बूब्स देख कर लंड खड़ा हो जाता है.

अभी: ह्म कुछ भी कहो, मिताली आंटी बहुत मस्त है. मिताली आंटी अगर मिल जाए तो फिर क्या चाहिए. मेरा तो आंटी का नाम लेते ही खड़ा हो गया.

रोहित: मैने काई बार मों को छोड़ने की सोची है. सच में बहुत मज़ा आता होगा मों छोड़ने में. तुमने नीता आंटी को छोड़ने की कभी सोचा है?

अभी: नही यार, बुत मुझे तो आज ही मज़ा आया है. एक बार तो लगा की मैं मों को ही छोड़ रहा था. सच में मों की छूट मिले तब मज़ा आए. यार उसने तो बेटा-बेटा बोल कर मेरा लंड खड़ा कर दिया. अब तो कोई जुगाड़ करना पड़ेगा यार. भाई मुझे तो बस छूट चाहिए.

रोहित: अपनी मों नीता को भी छोड़ लेगा क्या?

अभी: ऑश भाई बस छूट मिल जाए. मों वैसे भी मस्त है. ऑश अब तो तू कोई जुगाड़ कर दे मेरा. नीता हो या मिताली बुरा मत मानना, कोई भी हो चलेगी.

रोहित: वैसे नीता आंटी के बूब्स बहुत मस्त है. कितने बड़े-बड़े है.

अभी: ह्म यार, मों मिल जाए तो हम दोनो छोड़ा करेंगे.

रोहित: ह्म, तेरे पापा तो बाहर ही रहते है. नीता आंटी को घर में छोड़ने वाला कोई नही है.

अभी: ह्म यार, हम छोड़ लेंगे. बस मों एक बार पाट जाए. यार मिताली आंटी को भी कोई नही है छोड़ने वाला. तुम ट्राइ करो कुछ. जो भी चुड गयी दोनो मस्ती करेंगे भाई.

मैं उन दोनो की बात सुन रही थी. अभी को काफ़ी मज़ा आया था. मैने कभी सोचा नही था की शरीफ दिखने वाला अभी ऐसे छोड़ेगा और फिर अपनी मों को छोड़ने के लिए भी राज़ी हो जाएगा.

रोहित: यार मुझे तो नीता आंटी बहुत पसंद है. साली खूब गांद मटका कर चलती है. जब झुकती है तो अपने बूब्स की दरार भी दिखती है. एक बार मिल जाए तो मोटी गांद को खूब छोड़ना है. साली को रंडी बना कर रखेंगे.

अभी: मों को छोड़ने का बहुत जी कर रहा है. तू कुछ कर यार. तू मों को पत्ता कर छोड़. फिर मैं भी छोड़ लूँगा. तू मों पर लाइन मार.

रोहित: नीता मेरे से छुड़वा लेगी तो तुझे तो कोई प्राब्लम नही है ना?

अभी: यार मैं मों को चुड़वते हुए देखना चाहता हू. तू ट्राइ कर अगर मों चुड गयी तो दोनो एक साथ छोड़ेंगे. मिताली आंटी को मैं ट्राइ करूँगा. दोनो की छूट मिल जाए तो बहुत मज़ा आएगा. वैसे भी मिताली आंटी और मों दोनो ही माल है.

रोहित: यार मुझे तो नीता पसंद है.

अभी: कोई बात नही. मुझे भी मिताली पसंद है. दोनो पर ट्राइ मारो, फिर साथ मिल कर छोड़ा करेंगे. तुमको मों छोड़नी है, और मुझे मिताली आंटी को, और फिर अदला-बदली करके छोड़ लेंगे.

मेरा फिरसे मूड बन गया. अभी का लंड तन्ना हुआ था. मैने रोहित को मेसेज किया की लाइट ऑफ करके मुझे रूम में ले आए.

रोहित: अभी तुम रूको, मैं तेरी मों को लाता हू. एक बार और ट्राइ कर ले.

अभी: ले आओ यार. मों की छूट के लिए लंड तड़प रहा है भाई. थॅंक योउ यार, तूने तो सच में बहुत हेल्प की है आज.

रोहित मेरे रूम में आ गया. आते ही मुझे किस किया और बोला-

रोहित: मज़ा आया क्या मों?

मिताली: बहुत मस्त छोड़ता है. नीता के लिए एक-दूं सही है ये. नीता का हब्बी इसका बेटा ही बनेगा. बहुत मज़े लेकर छोड़ता है. तोड़ा धीरे बोलना पद रहा है, कही मेरी आवाज़ ना पहचान ले. खुल कर लाइट ओं हो तो बहुत मस्ती करेगा ये.

रोहित: मुझे भी बहुत मज़ा आया जब तू सेक्सी आवाज़ निकाल रही थी. इसको भी मों पसंद है. चल अभी को मज़ा देने के लिए तैयार हो जेया.

मुझे रोहित ने पकड़ा, और चुप-छाप रूम में ले गया. रोहित ने मुझे छ्चोढा तो अभी ने झट से मुझे पीछे से पकड़ लिया. उसने लंड को मेरी गांद पर रखा, और दोनो बूब्स पकड़ लिए.

मुझे पता चल गया की ये अभी ही था. उसने बूब्स को दबाया और झट से मेरे सामने खड़ा हो गया. उसने मेरा सिर पकड़ा और किस करने लगा. वो मेरे गाल और होंठ चूसने लगा. मुझे मज़ा आने लगा था. उसने एक हाथ से मेरा बूब पकड़ रखा था.अभी: ऑश मों ऑश नीता मों. मुझे तेरी छूट चाहिए. ऑश आअहह चूसने दे मेरी रंडी मों.

मिताली: ऑश तेरे पापा सुन लेंगे. मों को आराम से छोड़ किसी को पता ना चले. ऑश आहह चूस मेरे गाल.

अभी: ऑश मेरी कुटिया आहह ऑश मम्मी किसी को पता नही चलेगा की मों तू बेटे से छुड़वा रही है. बस ऐसे ही छूट छुड़वा, तेरी चिकनी छूट.

मिताली: बहुत आचे से छोड़ी है आज. तेरा लोड्‍ा मेरी छूट के लिए सही है बेटा. बेटा ई लोवे योउ, फक युवर मों.

अभी: उन्ह ऊ क्या बूब्स है साली तेरे. ऑश चूसने दे ऑश आहह निपल चूसा मेरी मों. ऑश बहुत मज़ा आता है निपल चूस कर.

मिताली: तो चूस ले ना गोरे-गोरे बूब्स. आअहह आराम से चूस, खा मत जाना. उउईई मा बेटा सच में जवान हो गया है. ऑश अपनी मों को नंगी करके खेलने लग गया है.

अभी: ऑश मों, जब इतनी मस्त माल हो तो बेटा भी खेलेगा अब तो. मोटी गांद में लोड्‍ा घुसेधने में बहुत मज़ा आता है. ऑश मों, साली बहुत मस्त है तू और तेरे बूब्स ऑश क्या खूब पाल रखे है.

मिताली: ऑश चूस ले राजा, ऑश बूब्स चूस, आअहह मज़ा आ रहा है.

अभी ने एक हाथ से मेरे बूब्स को पकड़ रखा था, और दूसरे हाथ से मेरी गांद दबा रहा था. अभी मेरे बूब्स को पूरा मूह में लेकर चूसने की कोशिश कर रहा था.

बूब्स चूस्टे हुए वो बारी-बारी दोनो बूब्स को खूब मज़े ले ले कर चूस रहा था. कभी निपल चूस्टा तो कभी पूरा बूब ही मूह में ले लेता.

मिताली: ऑश पुर बूब्स मूह में ले रहे हो क्या. ऑश बहुत मज़े ले रहे हो अपनी मों के?

अभी: मेरी मों है, जितना मर्ज़ी चूसू, और मॅन करे उतना छोड़ू. ऑश बहुत मज़े दे रही हो यार मम्मी. मम्मी के बूब्स बहुत यम्मी है. ऑश पहले पता होता तो पहले छोड़नी शुरू कर देता. ऑश पापा ने तेरे बहुत मज़े लिए है.

मिताली: अब तुम ले लो अपनी मों के मज़े. पापा ने तो शादी मज़े लेने के लिए ही की थी.

अभी: ऑश दूसरे की वाइफ बहुत मज़ा देती है. ऑश मों को छोड़ने में बड़ा मज़ा आता है यार. ऑश मुझे भी मेरी मों को पक्का छोड़नी है.

मिताली: ऑश यार आअहह बहुत चूस लिए बूब्स. मों को अब बेटे का लंड चाहिए.

अभी: चल बेड पर लेट जेया. ऑश छूट छोड़नी होगी अब मों की. ऑश तेरी छूट बहुत मस्त है.

अभी ने छूट पर हाथ फेरते हुए कहा.

मिताली: ऑश मदर छोड़ ओह अब मों को पेल थोड़ी देर.

अभी के लंड को पकड़ा और छूट पर रखा. अभी ने शॉट मारने शुरू किए. लंड छूट में जाने लगा.

मिताली: ऑश यार आराम से छोड़ मों की छूट. ऑश बहुत तंन गया है लोड्‍ा तेरा. ऐसा ही लोड्‍ा चाहिए मुझे. बेटा अब अपनी मों को चुदाई का सुख दे दे.

अभी: ऑश मों ऊहह आपकी छूट लेकर बहुत अच्छा फील हो रहा है. आपकी छूट लेकर जो मज़ा आता है, वो किसी चीज़ में नही है. ऑश मों की छूट में बेटे के लंड मज़े ले रहा है. ऑश साली ऊहह तेरी छूट छोड़ने दे कुटिया.

मिताली: ऑश ऊहह यार आहह कितना लंबा है तेरा. हम हाउसवाइफ को ऐसे ही छोड़ने वाला चाहिए. ऑश छूट छुड़वा कर बहुत अछा फील होता है. ऑश तुम पटक कर खूब मज़ा लेते हो.

मुझे अब मज़ा आने लगा. लंड छूट को पेलने लगा. मेरे बूब्स अभी के सीने से लग रहे थे. वो शॉट मारता तो बूब्स दबाने लगता. बूब्स के निपल एक-दूं तंन गये थे.

अभी: ऑश ऐसे ही नीचे लेट कर मरवती रहो मों. ऑश बहुत मज़ा आ रहा है. ऑश पूरी छूट मज़ा दे रही है. तेरी मोटी गांद भी छोड़नी है.

मिताली: ऑश छूट तो छोड़ बेटा ऑश मज़ा आ रहा है.

वो मुझे काफ़ी देर तक छोड़ता रहा. मैं एक बार झाड़ गयी, बुत वो नही झाड़ा. उसने मेरी टाँग पकड़ी, और मुझे घोड़ी बना लिया. मुझे पता चल गया की डॉगी बना कर छोड़ेगा तो उसको मज़ा आएगा. अभी ने मुझे झुका लिया, और कमर पकड़ कर शॉट मारने लगा.

मिताली: ऑश बेटा ऊहह चढ़ जेया अपनी घोड़ी पर. ऑश मों को लोड्‍ा चाहिए. ऑश मेरे घोड़े ऑश घोड़ी पर कूद यार.

अभी: ऑश बहुत मज़ा आ रहा है श यार ऊहह मों ऊहह मेरी घोड़ी. ओह घोड़ी की छूट ऑश कितनी मस्त है.

मिताली: ओह घोड़े ऑश बेटा मों को मज़ा आ रहा है.

अभी ज़ोर से शॉट मारने लगा. मेरे बूब्स काफ़ी हिल रहे थे. हिलते हुए बूब्स से मुझे मज़ा आने लगा. चुदाई से मुझे मज़ा और नींद आने लगी. लंड का नशा हो गया था.

मिताली: ऑश मेरे बूब्स यार. ओह यार बेटे ऑश बेटे का लंड आहह मॅर गयी यार, हाए मेरी छूट ऊहह मेरे बूब्स.

अभी ने मेरे बूब्स पकड़ लिए. वो बूब्स और एक कंधा पकड़ कर छोड़ने लगा.

अभी: बहुत बूब्स हिल रहे है तेरे. ऑश बड़ा मज़े ले रही है तू बेटे से मरवा कर. ऑश बूब्स बड़े मस्ती में झूम रहे है.

मिताली: ऑश कब तक मज़ा आएगा यार. मों को अब ज़्यादा ना तड़पाव बेटा.

अभी: मों ऊहह रुक जेया थोड़ी देर. ओह यार मज़ा आने वाला है. थोड़ी देर और मरवा ले छूट. ऑश तेरे बूब्स भी बहुत मज़ा दे रहे है.

मिताली: ओह यार आअहह बेटा ऊहह यार मों चूड़ने वाली है. ऑश फटाफट छोड़ मों की छूट मोतेरचोड़.

अभी मेरे खूब मज़े ले रहा था. कुछ देर बाद अभी ने अपना पानी मेरी छूट में छ्चोढ़ दिया. मुझे भी बहुत मज़ा आया. वो पीछे से ही शॉट मार रहा था.

छोड़ने के बाद वो मेरे उपर ही पीछे से झुक गया. उसने मेरे दोनो बूब्स पकड़ रखे थे. थोड़ी देर तक पीछे लेता रहा. फिर मैं बेड पर लेती तो मुझे उल्टी करके मेरी गांद पर लंड रखा और लेट गया.

मुझे अभी से छुड़वा कर बहुत मज़ा आया. उसने मुझे सीधा किया और लिप्स चूज़. मुझे पता चल गया की अब नीता की छूट की खैर नही थी. नीता को बेटे अभी का लंड मिल गया तो उसको भी कही बाहर छूट मरवाने के लिए नही जाना होगा.

जो भी अपने घर में मों, भाभी आंटी, बेहन, बुआ और अपनी बहू को छोड़ते है, वो मेसेज कर सकते हो. बहुत सारी मों अपने बेटे से छुड़वाने लगी है. घर में अब कोई भी प्यासी नही है. आप सब को थॅंक्स. मितालिसिंघ609@गमाल.कॉम पर अपना फीडबॅक भेज सकते हो.

यह कहानी भी पड़े  मा बेटे ने हाइवे पर करी चुदाई

error: Content is protected !!