साले की बीवी की सील तोड़ी

मजा आ गया Kamukta है यार ज़िंदगी का, क्यों ना आये ! जब नयी नवेली दुल्हन को चोदने का मौक़ा मिल जाये वो भी अपनी नहीं, किसी और की दुल्हन को, है ना मजे की बात? आज कल मैं मलाई मार रहा हु, पता है ना आपको मलाई मारना? टाइट चूत की चुदाई की कहानी, आज कल मैं नई नवेली साले की बीवी की चुदाई कर रहा हु, जैसी की मेरी ही शादी हुई हो. आज मैंने सोचा की ये हसीन सेक्स कहानी आपलोग को भी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे शेयर करूँ. तो हाजिर हु मेरे प्यारे दोस्तों अपनी कहानी लेके. आशा करता हु की आपका लण्ड जरूर खड़ा हो जायेगा इस कहानी को पढ़कर.

मेरा नाम कुशाग्र है, मैं राजस्थान का रहने बाला हु, पर मैं दिल्ली में रहता हु मैं यही पे जॉब करता हु, मेरी उम्र ३० साल की है, और मेरी शादी अभी ३ साल पहले ही हुयी है, ये कहानी मेरे साले की बीवी ख़ुशी की है, मेरा साला रजत का उम्र २४ साल है और उसकी नयी नवेली दुल्हन कशिश २२ साल की है, मेरा साला का पैर ठीक नहीं है वो पोलियो से पीड़ित है, पर खूब पैसा बाला है इस वजह से उसकी शादी हो गयी है, ख़ुशी गरीब घर की लड़की है पर देखने में बड़ी ही सुन्दर है, मैं ही गया था रिश्ता करवाने के लिए, मैंने लड़की बाले को आस्वस्त किया की लड़का काफी अच्छा है, बहुत खुश रखेगा, लड़की मेरे बात चित से काफी इम्प्रेस्सेड हुयी थी.

ख़ुशी में अगर मुझे सबसे बढ़िया लगा था वो खुले दिमाग की है, उसका शरीर की बनावट और रूपरेखा काफी अच्छा है, मैं खुद भी फ़िदा हो गया था उसकी होठ और गाल और बूब्स की बनावट और पतली कमर, और मस्त चूतड़ देख के. पर मैं तो जीजा जी बना बैठा था, आप यू कहिये की कोई भी लड़का जिसको अच्छा लड़की और सेक्सी बम चाहिए तो वो ख़ुशी को देखकर कभी भी शादी से इंकार नहीं कर सकता था.

यह कहानी भी पड़े  Mere Devar Ne Meri Jamake Chudai Ki

शादी हो गयी, सब कुछ अच्छा रहा, पर सुहागरात को सब कुछ ठीक नहीं रहा, मैंने पूछा की ख़ुशी क्या हाल है, रात कैसी कटी, तो बोली जीजाजी ठीक नहीं रहा लगता है वो शर्माते है, इस वजह से ज्यादा कुछ भी नहीं हो सका, मैंने सोचा सही बोल रही है, पर दूसरे दिन और तीसरे दिन भी यही सूना, मैं दिल्ली गया, पर एक सप्ताह तक सेक्स सम्बन्ध नहीं हुआ तो मैं चिंता में पड़ गया, मैंने उन्दोनो को शिमला जाने के लिए कहा हनीमून मानाने के लिए, और होटल भी बुक कर दिया, वो दोनों तय समय पे दिल्ली आ गए, मैंने कहा क्या बात है साले साहब आप मैडम को अभी तक खुश नहीं कर पाये है, तो मेरे साला बोला जीजा जी आज मैं आपसे एक बात करना चाहता हु, मैंने कहा ठीक बताओ क्या बात है.

तब मेरा साला ने सब कुछ बताया बोला जीजा जी, मुझे भी अपनी सुहागरात के दिन ही पता चला की मैं सेक्स नहीं कर सकता, मेरा लिंग खड़ा होते ही स्थिल हो जाता है, मैंने तरय किया पर मुस्किल से १० सेकंड में ही मेरा वीर्य अपने आप निकल जाता है, मैं तो पाने सामान को उसके सामान तक ले भी नहीं जा पा रहा हु, सब कुछ तुरंत हो जाता है . मैं समझ गया की ये बहुत ख़राब हुआ, और मैंने एक लड़की की ज़िंदगी खराब कर दी, मुझे खुद पे ग्लानि होने लगी, मुझे लगा की मैं ही इन दोनों कआ शादी करवाया और आज क्या हो गया है.

फिर मैंने ख़ुशी को बुलाया अकेले में, उस समय मेरा साला भी बाहर चला गया, मेरी वाइफ उस समय अपने मायके गयी थी, मैंने कहा ख़ुशी आज मुझे एक बात पता चला. मैं आपसे माफ़ी मांगता हु, सब मेरी गलती है, मैंने कहा आप स्वतंत्र है, आप जो कहेंगे वही होगा, यहाँ तक की मैं आपको शादी दूसरे जगह करवा दूंगा, पर ख़ुशी रोने लगी और गुस्सा भी करने लगी बोली जीजाजी अब मैं शादी के लिए सोच भी नहीं सकती, आप ने मेरी शादी के बारे में कैसे सोच लिया अब जैसा है वैसा ही ठीक है, मैं इनको भी नहीं छोड़ सकती, आप चिंता नहीं कीजिये यही मेरे भाग्य में लिखा था,

यह कहानी भी पड़े  बॉस ने मेरी मॉं की चुदाई की

वो लोग शिमला जाने का प्लान दिल्ली में कैंसिल कर दिए, बोले की हम दोनों आप के पास ही थोड़े दिन तक रहेंगे, मैं भी सोचा चलो मेरी वाइफ तो अभी १० दिन बाद आएगी तो ठीक है तब तक ये दोनों यही रह लेंगे. ख़ुशी को देखकर मेरी नियत थोड़ी थोड़ी बदलने लगी, मैं ख़ुशी को पसंद करने लगा, और वो भी थोड़ी थोड़ी करीब आने लगी, एक दिन वो कपडे चेंज कर रही थी, मुझे पता नहीं था वो कमरे में है मैं अंदर चला गया, वो बिलकुल नंगी थी, मैं देखा तो देखते ही रह गया, वो भी बस मुस्कुरा दी और अपने कपडे आराम आराम से पहनने लगी, मैं तब तक उसको निहारते रहा जब तक की वो पूरी कपडे नहीं पहन ली, फिर वो करीब आई और बोली क्या बात है, नियत खराब हो गयी है क्या? मैंने कहा गजब की है तुम, भगवान ने गजब बनाया है आपको ख़ुशी, तो ख़ुशी बोली क्या करू ये सब बेकार है, किसी काम का नहीं इससे भोगने बाला कोई नहीं.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!