रिया और अर्पिता के साथ चुदाई की बाते

हेलो फ्रेंड्स वेलकम बॅक तो अनदर पार्ट ऑफ मस्ती से मजबूरी तक. ई होप की आप लोगों को कहानी अची लग रही है. पिछले पार्ट में मैने टीया को छोड़ा था और टीया वापस जाने के बाद अर्पिता का म्स्ग आया था. तो चलिए कहानी पे आते हैं.

अर्पिता’स म्स्ग: हो गयी रंडी की चुदाई?

मे: तुझे कैसे पता?

अर्पिता: मुझे सब पता चल जाता है.

मे: बकवास बंद कर और बता.

अर्पिता: आरे गाड़ी देखी थी मैने उसकी तेरे घर के सामने.

वेसए हम सब दोस्तों का घर आस पास ही है.

मे: ऑश.. और सुन तू उसे रंडी मत बुलाया कर. मुझे अछा नई लगता.

अर्पिता: क्यूँ तू तो बुलाता है.

मे: में सिर्फ़ चुदाई के टाइम बुलाता हूँ और वो भी मुझे बुलाती है.

अर्पिता: कहाँ है तू अभी?

मे: घर मे क्यूँ?

अर्पिता: मे आती हूँ रुक.

मे: ठीक है.

तो 1 ह्र के बाद अर्पिता आके पौहनची.

अर्पिता: क्या कर रहा है?

मे: रिया को लेकर क्यूँ आई है?

अर्पिता: ऐसे ही मार्केट गये थे और चले आए.

मे: ठीक है अंदर आजा.

और हम लोग मेरे रूम में चले गये उपर.

मे: कुछ लेगी? छाई पानी?

रिया: कुछ नई. हम जूस पीके आए हैं अभी अभी.

अर्पिता: और बता केसी रही चुदाई?

मे तो स्चोकक मे आ गया. की रिया के सामने केसी बात कर रही है यह. तो में रिया की तरफ देखा और अर्पिता को गुस्से से देखने लगा.

रिया: भाई मुझे सब पता है अभी अभी टीया यहाँ से गयी है.

मे: (शरमाते हुए) अरे वो तो ऐसे ही घूमने आई थी.

रिया: सुन ज़्यादा नाटक मत कर मुझे सब बता दिया है अर्पिता ने.

मे: क्या?

रिया: गोआ वाली बात.

अर्पिता: हन तो इसमे क्या है? वो कोई पराई है क्या?

मे: अरे तू पागल है क्या? हुँने डिसाइड किया थी की किसिको भी नहीं बताएगी तू.

अर्पिता: हन पर रिया के जान ने से क्या फराक पड़ता है?

मे: बहें मानता हूँ में उसे.

रिया: कोई बात नई भाई. हम पहले दोस्त है. और उस दिन अजय और में भी तो चुदाई कर रहे थे और तुमने सुना भी. इसमे क्या है.

मे: फिर भी अजीब लगता है ना.

रिया: छोड़ वो सब. अर्पिता बता रही थी की तुम लोग काफ़ी डर्टी सेक्स करते हो?

मे: अरे ऐसा कुछ नई.

अर्पिता: ऐसा क्या कुछ नई. मैने बताया ना यह उसे रंडी बुलाता है और वो उसे ना जाने क्या?

रिया: क्या बोलती है वो तुझे?

मे: छोड़ ना इन सब बातों को..

रिया: बता ना [प्लीज़. तुझे मेरी कसम.

मे: कुछ भी गली देकर बुलाती है. बहेनचोड़ मदारचोड़ भड़वा एट्सेटरा एट्सेटरा.

रिया: और तुझे अछा लगता है?

मे: देख सेक्स मे जितना तू खुल के अपने आप को इन्वॉल्व करेगी उतान ही मज़ा आएगा.

अर्पिता: हम दोनो की लॉड लगे पड़े है.

मे: मतलब?

अर्पिता: मैने बताया था ना राहुल के बारे में. तो अजय भी ऐसा ही है, सिर्फ़ चुदाई. लंड निकाला और पेल दिया छूट में.

मे: तुम लोग ये सब डिसकस करती हो?

रिया: हन इसमे क्या है? लड़कियों में ये सब चलता है. तुम लड़के नई करते क्या?

मे: बिल्कुल भी नई. पॉर्न के बारे मे ज़रूर बात करते है लेकिन अपनी बंदी और सेक्स लाइफ के बारे मे नहीं.

रिया: सीरियस्ली?

मे: हन. और टीया भी तो क़िस्सी से कुछ शेर नहीं करती.

रिया: अछा. तेरे लंड के स्किन पे एक तिल है ना?

मे:(स्चोकेड) तुझे कैसे पता?

रिया: और कहाँ से, तेरी होने वाली पत्नी से.

मे: वो कभी नही बताई होगी.

रिया: और फिर क्या मैने तेरा लंड देखा है?

मे: क्या बोली वो?

रिया: पहले तो शर्मा रही थी, फिर जब हम सब शेर करने लगे तो उसने भी बताया.

मे: क्या बताया?

रिया: की अभिनश के लंड के उपर एक तिल है और काफ़ी क्यूट लगता है उसकी बजा से.

मे: (शरमाते हुए) हे भगवान. और मैने क्या सोचा था इस लड़की के बारे में.

मोने: अरे ऐसा कुछ नहीं है. लड़कियों की ग्रूप में ये सब बातें होती रहती है.

फिर में तोड़ा स्नॅक्स लेके आया. और हम सब बैठ के कषब्ोक्ष पर ग़मे खेलने लगे. मैने फिर मार्क किया की ये दोनो बीच बीच में कुछ फूस फूसा रही थी. 3 या 4 बार होने के बाद मैने पूछ क्या बात है?

अर्पिता: कुछ नई.

रिया: शर्मा क्यूँ रही है बोल दे.

मे: हन बोल दे क्या बात है? आब तो सब कुछ जानती भी हो मेरे बारे मे.

अर्पिता: हम दोनो एक बार तेरी और टीया की चुदाई देखना छाते है.

मे: क्या? पागल हो गई है क्या?

रिया: अरे इसमे हर्ज़ ही क्या है? ह्यूम बस देखना है की तुम लोग कैसे करते हो. ताकि हम भी इंप्लिमेंट करे अपने लाइफ में

मे: इसके लिए पॉर्न है. मुझे देखने की ज़रूरत नहीं.और दुबारा एसी बात मॅट करना मेरे से.

अर्पिता: सॉरी यार ग़लत मत समझ. हम तुझे हर्ट करना नहीं छाते. ऐसे ही बोल दिया था छिड़ने के लिए

रिया: ( मुझे पीछे से हग करते हुए) हन भाई सिर्फ़ मज़ाक कर रहे थे. ह्यूम नहीं पता तू इतनी सी बात पे इतना भड़क जाएगा.

मे: तुम बात ही एसी कर रही थी.

रिया: सॉरी भाई दुबारा नहीं होगी.

अर्पिता: अछा कुछ टिप्स तो डेडॉ हुमारे सेक्स गुरु?

हम सब हासणे लगे.

मे: टिप्स मुझे क्या पता?

रिया : अरे वोही सब की कैसे हम भी स्टार्ट करे फोर प्ले. और गलियाँ एट्सेटरा एट्सेटरा.

अर्पिता: और हन वो सेक्स टॉक वाली भी. क्यूँ की अभी तो शादी भी नई हुई तो ज़्यादा टाइम तो सेक्स टॉक में ही जाएगा ना.

मे: हन तो सुरू करो किसने माना किया है.दोनो एक साथ: उन दोनो को तो कोई आइडिया भी नहीं है कैसे करते हैं.

मे: तुम्हे तो पता है ना?

दोनो: हन तोड़ा तोड़ा.

रिया: तू बता तूने कैसे सुरू किया था?

मे: मैने तो बस टीया से पूछा था. और उसने बोला ठीक है ट्राइ करते हैं. और अछा लगने लगा तो हम कंटिन्यू करने लगे.

अर्पिता: शुरू कैसे हुआ?

मे: एक रात को मैने बोला की ई आम फीलिंग हॉर्नी कॅन वी टॉक? फिर ढेरे धीरे मैने बोला की कैसे अगर वो मेरे पास होती तो में क्या क्या करता. तो वो भी तोड़ा तोड़ा तुर्न ओं होने लगी. पहले 3 या 4 बार तो उसने कुछ नहीं कहा फिर 2 मंत्स बाद वो भी पार्टिसिपेट करने लगी.

मे: और एक बात मेरा मान ना है चुदाई के टाइम जितना ज़्यादा बेशरम हो सकते उतना ही एंजाय कर सकते हो.

रिया: और गलियाँ?

मे: वो तो ऐसे ही पेल ते टाइम एक बार मुहँ से निकल गया था. तो उसे अछा लगा. और वो ही देने लगी. मुझे भी अछा लगा.

मैने उन्हे गांद मरवाने के बारे में नहीं बताया. और बहुत सारे किकी स्टफ्स जो हम करते थे चुदाई टाइम मे. अओ बाकी टाइम भी.

अर्पिता: अछा… रिया आज में ट्राइ करूँगी तू करेगी?

रिया: अगर उसका मूड होगा तो.

मे: लड़की हो कर अगर लड़के का मूड नहीं बना सकती तो क्या फ़ायदा?

रिया: अछा जी. टीया कैसे बनती है तेरा मूड?

मे: नंगी वीडियो या पिक्चर्स भेज के, या गंदी म्स्ग कर के. और तुम्हारे पास तो..

अर्पिता: क्या?

रिया: क्या हुमारे पास?

मे: इतना अची गांद है. उसे करो.

रिया: शरम नहीं आती बहें की गांद देखते हुए?

मे: और बहें जो भाई के लंड के बारे में बोलती है तो ठीक है?

अर्पिता: मुझे पता था तेरी नज़र मेरी गांद पर थी.

मे: ऐसा कुछ नहीं बस ऐसे ही नज़र में आगे था.

रिया: किस दिन हुआ ये सब?

अर्पिता: गोआ में बीच वेल दिन.

रिया: अछा तो तुझे अर्पिता की गांद अची लगी है?

मे: नहीं, मतलब लगती है बुत.. कुछ नहीं…

रिया: अछा बता हम सब मे से किसकी गांद सबसे अची लगती है?

मे: सब मतलब?

रिया: में, अर्पिता, टीया, रानी, सीखा, मामली, सनी(शृुख की गफ़)?

मे: सबकी अची है.

अर्पिता: किसी एक तो ज़्यादा अची लगती होगी ना?

मे:ऐसा कभी सोचा नहीं.

रिया: अछा चल सबको 10 में से नंबर दे दे.

मे: टीया-8,अर्पिता-9,तेरी-9,रानी-8,रियंका-8,मामली-10,सनी-8.

रिया: आराधना (मामली’स गुड नामे) की गांद में ऐसा क्या है जो हम मे नहीं है?

अर्पिता: सोना हागती है क्या?

मे: अरे कुछ नहीं मे तो ऐसे ही नंबर दे रहा था.

रिया: एक बार मामली को देखना पड़ेगा ठीक से.

मे : चलो ठीक है अब तुम लोग जाओ मुझे बहुत सारे कम है.

रिया आंड अर्पिता: ओके बाइ.

और वो लोग फिर चले गये. तो में रेस्ट किया और ईव्निंग में दोस्तों से मिला और रात को आके सो गया.

आयेज की कहानी बाद नेक्स्ट पार्ट में.

यह कहानी भी पड़े  पुणे की पोश आंटी को चोदा

error: Content is protected !!