रतिकी की चुदाई करके की कॅलरीस बर्न

जिम मे रतिका और मैं वर्काउट कर रहे थे लेकिन मेरा लंड खड़ा हो गया था.

रतिका: नील तुम काफ़ी हॉट लग रहे हो तुम्हारी बॉडी एकदम आठेलेटे की तरहा है.

नील: हन इसे रोज ट्रेन करना पड़ता है और साथ मे प्रॉपर डाइयेट भी चाहिए.

रतिका: इंट्रेस्टिंग… तुम मल्टी-टास्कर हो. ई मीन स्टडी करते हो, अपना फॅमिली बिज़्नेस संभालते हो साथ मे एक खुद की एक जिम और रेस्टोरेंट भी स्टार्ट किया है तुमने. इतना सब कैसे कर लेते हो?

नील: मुझे जिन चीज़ो का शौक रहा है मैने उनमे अपना टाइम इनवेस्ट किया और उसके बाद मुझे आदत लग गयी.

रतिका: ह्म..

रतिका वर्काउट करके पसीने से भीग चुकी थी उसके जिस्म से पसीने की बूंदे नीचे गिर रही थी. उसने पहने हुए कपड़े भी गीले हो चुके थे. वो पानी पी रही थी तब अचानक से पानी बॉटल से बूब्स पर गिरा जिससे उसका टॉप पूरी तरहा से गीला हो गया. वो पानी उसके बूब्स से होकर उसके पेट और नाभि से होते हुए नीचे गिर रहा था. पानी की वजह से वो गीली हो चुकी थी.

रतिका: ऊप्स! ये क्या हो गया… मैं पूरी गीली हो गयी यार..

नील: कोई बात नही.

रतिका: एक तो पसीने से भीग चुकी हूँ उपर से ये पानी भी गिर गया.

फिर वो दूसरी तरफ मूह करके पानी पी रही थी तभी मेरी नज़र उसकी गांद पर पड़ी. पसीने से उसकी लेगैंग्स भी गीली हो चुकी थी जिसकी वजह से मुझे उसकी गांद और चुतताड का शेप सॉफ दिख रहा था. वो देख कर मेरा लंड और पागल हो गया. अब मुझे यकीन हो गया के उसने अंदर ब्रा पनटी नही डाली थी, शायद उसके पास एक्सट्रा नही थी इसलिए उसने पहनी ही नही.

तभी मेरा मूड बन गया और मैं उसके पिच्चे जाकर उसकी कमर मे हाथ डाल के उसे हग किया. वो चुपचाप मुझे देख रही थी.

रतिका (मेरी आँखों मे देखकर): क्या हुआ नील?

नील: तुम्हे पता है तुम्हारी वजह से मैं आज वर्काउट नही कर पा रहा हूँ.

रतिका: क्यू? मैने क्या किया?

नील: वो सब छ्चोड़ो आज मैं तुम्हे एक डिफरेंट वर्काउट बतौँगा करोगी?

रतिका: हन.

नील: अभी हन बोला है तो अब माना नही कर सकती ओके?

रतिका: हन बाबा तुमसे कुछ नया सीखने को मिलेगा मुझे.

नील: आज हम कुछ तोड़ा अलग तरहा से कॅलरीस बर्न करते है.

रतिका: ओके.

नील: मैं जो भी करूँगा तुम्हे सिर्फ़ मेरा साथ देना है.

रतिका: ठीक है.

मैने अपने फोन से होमे थियेटर मे रोमॅंटिक सॉंग्स प्ले कर दिए.

मैने उसके हाथ से पानी की बॉटल ली और उसे पानी पिलाने लगा. वो पानी पी रही थी तभी मैने तोड़ा ज़्यादा ही जल्दी कर दी जिस्मी वजह से वो पानी उसपर गिर गया और इस बार उसके गले से लेकर नीचे तक वो गीली हो गयी.

रतिका: क्या कर रहे हो यार?? पहले ही कपड़े नही है मेरे पास और हो के मुझे नहला रहे हो..

मैने बॉटल को साइड मे रखा और उसे एक कोने मे ले गया.

रतिका: हन बताओ क्या करना है मुझे..

मैने अपने दोनो हाथों से उसकी गर्दन को पड़का और उसे किस करने लगा. ये देखकर रतिका हासणे लगी.

रतिका: ये क्या कर रहे हो तुम?

नील: स्शह मैने जो बोला वो याद रखो और मेरा साथ दो.

मैं फिर से शुरू हो गया और उसकी गर्दन को यहाँ वहाँ चूमने लगा. उसकी गीली गर्दन पर गिरे हुए पानी को मैं अपने होंठों से पीने लगा. वो अपनी आँखें बंद करके अपने दोनो हाथों को दीवारो पर लगाए खड़ी थी. मैने उसे उस कोने मे इस तरहा दबोच लिया था जैसे कोई ह्यूम पिच्चे से देख रहा होगा तो उसे सिर्फ़ मैं ही दिखूंगा.

फिर मैने अपनी जीभ को उसकी गर्दन पर लगाकर चाटने लगा. उसकी साँसे तेज होने लगी. मैने उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. रतिका मेरा साथ देने लगी और मैं उसके गले को पकड़ कर उसे बुरी तरहा से चूम रहा था.

काफ़ी देर बाद मैने अपनी से उसके चेहरे को चाटना शुरू किया और वो आँखें बंद करके खड़ी हो गयी. ये हरकते उसे भी पसंद आ रही थी. एक वक़्त ऐसा आया जब मैने उसे अपनी लार नहला दिया था.

मैने उसे नोटीस किया तो उसके पैर काप रहे थे. वो बार बार अपने होंठों को काट रही थी. मैने उसके बँधे हुए बालो को खोल दिया और उसकी कमर मे हाथ डाल कर टॉप के उपर से ही बूब्स को चूसने लगा. बूब्स को इस तरहा चूसना के उसका टॉप गीला हो गया.

फिर मैं झट से घुटनो पर बैठा और उसके गीले पेट को अपनी उंगली से सहलाने लगा. वो काफ़ी मचल रही थी. उसका पेट और नाभि बहुत सुंदर लग रहे थे. मैने उसके पेट को चूमना और चाटना शुरू किया. रतिका के मूह से सिसकारियों की आवाज़ आने लगी थी.

रोमॅंटिक सॉंग्स की वजह से हुमारा मूड बहुत जल्दी इस रोमॅन्स मे डूब गया. मैं इतना गरम हो चुका था मैं उसके पेट को काई बार बीते कर रहा था और वो ज़ोर से चिल्ला देती. उसकी वो दर्द भारी आवाज़ मुझे और बेचैन कर रही थी. मैं उसकी गोल नाभि मे अपनी जीभ डाल कर उसे चाटने लगा.

इस हरकत की वजह से वो एकदम से पागल हो गयी. उसके पैरो की पकड़ फीकी पद गयी और वो सामने की तरफ थोड़ी झुकी उसने मेरे बालो को पकड़ा और सहलाने लगी. उसका चिकना पेट मुझे खा जाने का मॅन कर रहा था.

रतिका बिल्कुल एक जलपरी लग रही थी जो मेरे सामने तड़प रही थी. उसे मेरा लंड ही शांत कर सकता था.

रतिका: आहह नील ये क्या कर दिया तुमने उउम्म्म्म मुझे इतना कैसे गरम कर दिया तुमने ऑश मुम्माआआ मैं पागल हो जौंगिइइइ…

नील: आज तुम्हे ये नयी वर्काउट बहुत परेशन करने वाली है.

रतिका: ह करने दो मुझे बहुत मज़ा आ रहा है. तुमने तो मुझे गीला कर दिया नील.

नील: ये मेरा प्यार है तुम्हारे लिईए…

रतिका: तुम्हारा प्यार ऐसा है तो मुझे ये रोज चाहिईए…

उसने मुझे खड़ा किया और मेरे होंठों को चूसने लगी. हम दोनो फिर एक बार एक दूसरे के होंठ चूसने मे डूब गये. उसने अपनी जीभ मेरे मूह मे डाल दी और मैं उसे चूस रहा था. काफ़ी देर होने के बाद मैने पिच्चे से उसका टॉप भी उतार दिया. उसके बूब्स उच्छल कर बाहर आ गये.

मैने उन्हे अपने हाथों मे भर लिया और मसालने लगा, दबाने लगा, प्यार करने लगा. रतिका सिसकारियाँ लेते हुए पागल हो रही थी लेकिन मैं नही रुकने वाला था. उसने अपने हाथों से मेरा टशहिर्त उतार दिया और मुझे हर जगह किस करने लगी. मेरी चेस्ट पर नाख़ून चुभाने लगी. वो काफ़ी वाइल्ड मूड मे लग रही थी.

रतिका की बॉडी की तरहा उसके निपल्स भी ब्राउन थे मैने उन्हे होंठों मे पकड़ा और चूसने लगा. वो मुझे सहलाते हुए जोश दिला रही थी. उसने एक हाथ से मेरी शॉर्ट्स उतार दी और मुझे नंगा कर दिया. वो झट से घुटनो पर बैठी और लंड को पकड़ के हिलने लगी.

रतिका: आज मुझे पता चला ये इतना लंबा और मोटा कैसे है… जब तुम इतने बोल्ड हो सकते हो तो तुम्हारा लंड भी वैसा ही होगा ना..

मेरी आँखों मे देखते हुए उसने मेरे बॉल्स को चूसना शुरू किया. मेरी आँखें अपने आप बंद हुई और मैं उसके बालो को सहलाने लगा.

नील: यअहह बेबी यअहह तुम बहुत अकचे से चूस रही हू आहज उम्म्म मेरी जान चूसो इन्हे आहह यअहह सालो से तुम्हे देख रहा हूँ और तुम्हे छोड़ने का नशा मेरे दिमाग़ मे बढ़ता ही जेया रहा है रतिका.

रतिका ने फिर लंड को अपने मूह मे लिया और उसे चूसने लगी. मुझे परेशन करने लिए वो लंड हल्के से काट भी लेती थी. ऐसा मेरे साथ किसी ने नही किया. एक मीठे दर्द का एहसास हुआ मुझे. वो अपनी जीभ के साथ लंड से खेल रही थी. मेरा लंड उसके गले मे उतार चुका था.

वो अपनी गर्दन को आयेज पिच्चे करके लंड चूस रही थी. लंड से प्री कम काफ़ी ज़्यादा निकल रहा था. रतिका इतना अकचे से लंड चूस रही थी जैसे मुझे लग रहा था एक पल के लिए मेरे जान मेरे लंड मे आ गयी हो. मैं एकदम जन्नत मे था. मेरे पैर काप रहे थे और लग रहा था के मेरे जिस्म की सारी तकड़ कही चली गयी हो.

रतिका: नील मेरे मूह मे झड़ना मुझे इसे पीना है.

नील: हन.

रतिका से ग्रीन सिग्नल मिल गया था इसलिए मैने उसके बालो को पकड़ा और धक्के लगाने लगा. मेरी हार्टबीट तेज हो गयी थी. मैं एकदम अपने चरमसुख का मज़ा ले रहा था.

कुछ देर बाद मेरे लंड से एक जोरदार कमरस की पिचकारी निकली जिसने रतिका का मूह भर दिया. इतना ज़्यादा कमरस निकला के उसने वो पीने के बाद भी निकल रहा था. बहुत सारा कमरस उसके बूब्स गिर गया और इस तरहा से मैने उसे अपने कम से नहला दिया. वो मुझे देखकर हासणे लगी थी.

रतिका: नील क्या हो गया है तुम्हे? इतना ज़्यादा कम कैसे निकला?

नील (हफ्ते हुए): पता नही य्र… जिम सेक्स मेरी बहुत स्ट्रॉंग फॅंटेसी है इसलिए शायद.

रतिका: ओह बुत ये एक्सपीरियेन्स बहुत मजेदार था. तुम बैठो मैं अभी फ्रेश होकर आती हूँ.

रतिका कुछ देर बाद फ्रेश होकर आ गयी और मैं नीचे ज़मीन पर लेता हुआ था. मेरा लंड अब शांत हो चुका था लेकिन मैं नही. मेरे अंदर अभी भी रतिका को छोड़ने की तमन्ना थी.

रतिका: आज काफ़ी आक्ची वर्काउट हो गयी. चलो अब चलते है.

नील (उसका हाथ पकड़ के): नही… मुझे तुम्हे छोड़ना है.

रतिका: अरे लेकिन…

नील: प्लीज़ रुक जाओ… तुम्हे इन्न कपड़ो मे देखकर मैं बहुत गरम हो गया और आज मुझे मत रोको बस दिल खोल कर तुम्हे छोड़ने दो

रतिका: ओक ओक. नही जौंगी… कर लेना अपनी फॅंटेसी पूरी.

वो मेरे पास बैठकर मुझे देख के हास रही थी.

रतिका: कुछ दिन बाद मेरी एंगेज्मेंट है और मैं यहाँ अपने बेस्टीए से दिन रात छुड़वा रही हूँ.

नील: तो क्या हुआ? तुम मेरी नही हो?

रतिका: ई’म टोटली युवर्ज़ ओके! तुम मुझे ना ऐसी वाली चुदाई की आदत लगा रहे हो. देख लेना शादी के बाद अगर मेरा पति मुझे ऐसे नही छोड़ेगा ना तो तुम बहुत मार खाओगे.

नील: फिर तो और अक्चा है… शादी बाद भी मेरे पास आ जाना. तुम्हारी सेवा करने मे मुझे मज़ा आएगा.

रतिका: अक्चा जी. मेरे दोनो पैरो को अपने कंधो पर रख के धक्के लगते हुए मेरी सेवा करोगे तुम?

नील: वो सिर्फ़ एक पोज़िशन है… ट्रस्ट मे मैं तुम्हे 77 पोज़िशन्स मे छोड़ूँगा.

मेरी बात सुनकर वो डांग रह गयी. उसके मूह से कुछ भी नही निकला और वो इमॅजिन करने लगी.

नील: क्या सोच रही हो?

रतिका: सोच रही हूँ के तुम मुझे 77 पोज़िशन्स मे छोड़ोगे तब मैं कैसी दिखूँगी.

नील: एक काम करेंगे हम हुमारे मोमेंट्स को शूट करेंगे.

रतिका: हॅट पागल.

हम दोनो हासणे लगे.

रतिका: नील सच बताना अगर शादी के बाद मैने कहा के मुझे तुमसे छुड़वाना है तो क्या तुम मुझे छोड़ोगे?

नील: हन बिल्कुल… नाउ योउ’रे मिने डार्लिंग.

रतिका: और मेरे पति का क्या करोगे?

नील: वो मेरी ऑफीस मे ही काम करता है. तुम्हारी शादी के बाद उसे प्रमोशन दे दूँगा. उसकी ज़िम्मेदारी बढ़ेगी और उसे बाहर के टूर्स पर भेज दूँगा. वो बाहर चला जाएगा और मेरे लंड की सवारी करोगी

रतिका: क्या? सच मे वो तुम्हारी ऑफीस मे काम करता है?

नील: अरे हन… तुमने फोटो दिखाई तभी मैने उसे पहचान लिया था. देखना जब मैं तुम्हारी एंगेज्मेंट पर अवँगा तब वो मुझे कितनी रेस्पेक्ट देता है

रतिका: ओह मी गोद!!

नील: काफ़ी अक्चा लड़का है… बहुत अक्चा काम करता है. लड़कियों के मामलो मे भी सही है. उसका कोई अफेर नही था.

रतिका: अक्चा. और तुम इतने अकचे लड़के की बीवी को यहाँ दिन रात छोड़ रहे हो?

मैने उसे खीच कर अपने उपर लिटा दिया.

नील: मैं उसकी बीवी को नही अपनी बेस्टीए को छोड़ रहा हूँ. और तुम्हे ज़िंदगी भर छोड़ता रहूँगा अगर तुम ऐसी ही रही तो.

रतिका: मतलब?

नील: मतलब मुझे बोल्ड और हॉर्नी लड़कियाँ पसंद है. तुम बिल्कुल वैसी हो. ज़िंदगी भर ऐसी ही रही तो तुम्हे छोड़ता रहूँगा.

रतिका: ह्म इसका मतलब हम फ्रेंड वित बेनिफिट्स करेंगे.

नील: हन.

उसने मुस्कुराते हुए मुझे किस करना शुरू किया. काफ़ी देर बाद हम अलग हुए.

रतिका: नील मेरी एक फॅंटेसी है और वो मुझे पूरी करनी है.

नील: हन बताओ ना?

रतिका: मैने बहुत सारी पोर्नस देखी है जिसमे लड़के उनकी पार्ट्नर की गांद मरते है. मुझे वो फील करना है.

नील: आक्च्युयली मैं अभी तुम्हे वही करने को बोलने वाला था. मोस्ट्ली लड़कियाँ माना करती है इसलिए मैं हन ना कर रहा था तुमसे पूछने के लिए.

रतिका: रियली? बुत ई रियली वाना ट्राइ तीस.

दोस्तो आपको रतिका की कहानी कैसी लगी मुझे ज़रूर बताना. आप सब के लिए मैने फिर से कहानियाँ लिखना शुरू किया है इसलिए मुझे आप से फीडबॅक चाहिए. प्लीज़ मुझे मैल करके ज़रूर बताना. आपकी कोई स्ट्रॉंग फॅंटेसी हो जिसपर मैं स्टोरी लिखू ऐसा लगे तो मुझे आप मैल करके बता देना. ई’ल्ल ट्राइ मी बेस्ट.

यह कहानी भी पड़े  शादी के बाद कोमल मुझसे चुदी

error: Content is protected !!