कथा प्यासी मा और हवासी बेटे की

हेलो दोस्तों, क्या हाल ही आप सब के? मैं सेक्सी सोनिया एक बार फिर हाज़िर हू अपनी कहानी का नेक्स्ट पार्ट लेके. जिसने भी पिछले पार्ट्स रेड नही किए है, तो प्लीज़ पहले उन्हे रेड कर लेना. ताकि पता चल सके की कहानी में क्या-क्या हो गया है.

लास्ट पार्ट में मैने बताया की कैसे मैं और मेरी बेटी क्लोज़ हुए और हमने सेक्स किया. फिर मैं अपने बेटे के पास गयी रात के 10 बाज गये थे. अब आयेज.

मैं अपने बेटे के रूम में गयी, और वो बेड पर लेता हुआ मोबाइल चला रहा था.

वो मुझे देख के बोला: अर्रे क्या मों, कहा थी इतनी देर तक? मैं तो आपकी वेट करते-करते तक गया था, और अभी आपको ढूँढते हुए आने वाला था रूपाली के रूम में.

सोनिया: अछा हुआ तुम नही आए जान.

राज: ऐसा क्यू मों? कुछ हुआ क्या?

सोनिया: हा बेबी, हुआ तो बहुत कुछ है. मैं तुम्हे बाद में बतौँगी डीटेल में. अभी हमारी शादी है परसो, उसके बारे में बात करनी है, और प्लॅनिंग करनी है की सब कैसे होगा.

राज: ठीक है मों, जो हुआ वो बाद में बता देना. अभी तो मैं इसी बात से खुश हू की हम दोनो पति-पत्नी होने वाले है, और मैं तुम्हारे साथ सुहग्रात मनौँगा.

और इतना बोलते ही उसने मुझे गले लगा लिया, और लीप किस करने लगा. मैं उसे डोर करने लगी. लेकिन वो कहा रुकने वाला था. मैने उससे अपने लिप्स च्चूदवा कर बोला भी-

सोनिया: जान बोला था ना सुहग्रात के बाद.

वो बोला: मुझसे रहा नही जेया रहा मों.

और फिर लीप किस करने लगा. वो मेरे मोटे-मोटे बूब्स दबाने लगा. मुझे भी मज़ा आ रहा था. लेकिन मैं सुहग्रात आचे से मानना चाहती थी, और फुल एंजाय करना चाहती थी. तो उसे रोकना पड़ा और उसे डोर किया और बोली-

सोनिया: प्लीज़ मेरी जान, सुहग्रात पर मैं तुम्हे फुल एंजाय कार्ओौनगी. ये तड़प और बढ़ने दो. अभी मैं भी तो तड़प रही हू मेरी जान, तेरा ये बड़ा लंड लेने के लिए. प्लीज़ मान जाओ. और एक गिफ्ट भी दूँगी तुम्हे जो तुमने सोचा भी नही होगा.

फिर वो मान गया और बोला: छा ठीक है फिर आज रात मुझे मूठ माअर कर ही सोना पादेग.

मैं बोली: अर्रे नही-नही मूठ भी नही मारोगे तुम, तुम्हे मेरी कसम. मैं तुम्हारा सारा माल सुहग्रात के लिए बचना चाहती हू.

वो मान गया, और फिर मैने बोला: सुनो कल तुम मॉर्निंग में 9-10 बजे जेया कर सारा काम कर देना, जैसे होटेल बुकिंग फॉर हनिमून कपल, अपने लिए आचे से कपड़े, और मेरे लिए गिफ्ट, जो तुम्हे अछा लगे, और घर के 2-3 काम है, वो भी कर देना.

दोस्तों घर के 2-3 काम मैने उसे इसलिए बता दिए ताकि उसे सारा दिन बाहर रहना पड़े, और मैं अपनी बेटी के साथ सारा दिन पर्सनल टाइम स्पेंड कर साकु, और अपनी बेटी को खुश करके, फिर मैं फाइनली परसो अपने बेटे के साथ फुल ईव्निंग और फुल नाइट स्पेंड कर साकु.

ताकि मेरी बेटी भी खुश हो जाए, और मुझे और मेरे बेटे को डिस्टर्ब ना करे. और मैं अपनी बेटी को सारी बात सुहग्रात बाद बताना चाहती थी. ताकि उसे और खुशी मिल सके, और अपने बेटे को भी बाद में बताना चाहती थी.

वो मान गया और मैने उसे गुड नाइट बोला और हग किया, और चीक पर एक किस किया. वो भी मुझे टाइट हग कर रहा था, और तड़प तो हम दोनो के अंदर थी ही. लेकिन जैसे-तैसे हम दोनो ने कंट्रोल कर लिया.

फिर मैं अपने रूम में चली गयी, और मेरे दिमाग़ में बहुत कुछ चल रहा था, जैसे कल का सारा दिन मेरी बेटी साथ और फिर परसो की सारी नाइट मेरे बेटे के साथ. वाह, मज़ा आने वाला था.

नेक्स्ट दे मॉर्निंग 8 बजे मैं उठी. पहले रूपाली के रूम पर गयी, और उसे उठाया. वो उठी, और मुझे पहले ज़ोरदार हग किया और लीप किस किया. मैने उसे रोका और बोली-

सोनिया: अर्रे बेटा अभी नही. देख अभी तेरा भाई है घर में. और हा, तूने बोला था ना की पूरा टाइम स्पेंड करना है मेरे साथ. चल देखती हू तू मुझे कितना और किस-किस तरह से प्यार करती है. मैने तेरे भाई को बहुत काम बता दिए है. वो 9 से 10 के बीच में चला जाएगा, और सीधा रात को 10- 11 बजे ही आएगा. तो हमारे पास फुल टाइम होगा.

वो ये सूब सुन के इतना खुश हो गयी, की बेड से उठ गयी और मुझे ज़ोरदार हग करने लग गयी.

वो बोलने लगी: सच मों. यार मज़ा ही आ जाएगा. चलो फिर आज मैं आपको दिखती हू अपना प्यार.

और वो मुझे किस करने लगी. मैने उसे रोका और बोली: बेटा गाते ओपन है. अभी नही, रुक जाओ थोड़ी देर.

और फिर मैं उसे कुश करके अपने बेटे के रूम में गयी उसे उठाने. वाहा वो मुझे देख के खुश हुआ, और हग करके गुड मॉर्निंग बोलने लगा, और उसने भी मुझे लीप किस किया. यार सच बतौ मुझे तो मेरे दोनो बच्चो के साथ मज़ा आता है. जल्दी ही हम तीनो एक साथ होंगे.

फिर मैने उसे भी रोका और बोली: अर्रे बेटा अभी रूपाली है घर में. वो कॉलेज तोड़ा लाते जाएगी, तो उसे भी शक नही होना चाहिए. चल बेटा रेडी हो जेया. तूने भी तो तैयारी करनी है, जल्दी निकल जेया. क्यूंकी तुझे और भी घर के काम है, तो रात हो जाएगी तुझे. सारा इंतेज़ाम करके आना जान.

और फिर मैं सीधा किचन में आ गयी, और थोड़ी देर बाद पहले राज आया, क्यूंकी उसे जाना था. उसने मुझे पीछे से हग किया. मैने भी पतली सी शॉर्ट निघट्य पहनी हुई थी, तो उसका पूरा बदन मुझे फील हुआ. मैने झट से उसे हटाया और बोली-

सोनिया: क्या कर रहे हो तुम? बताया था ना रूपाली है घर पर. मरवाओगे तुम मुझे.

और वो डोर हुआ झट से और सॉरी-सॉरी मेरी जान बोलने लगा.

तो मैने बोला: इट’स ओक बेटा. मुझसे भी नही रहा जेया रहा. लेकिन 1 दिन की बात है. उसके बाद सब ठीक हो जाएगा.

और वो बोला: मों इस रूपाली का भी कुछ करो मों.

फिर मैं बोली: अर्रे तू बस मुझपे छ्चोढ़ दे सब कुछ. परसो से सब ठीक हो जाएगा.

और उसको नाश्ता करवा के भेज दिया 9:30 बजे. कुछ पैसे भी दे दिए उसको. उसके बाद मैं वापस किचन में गयी, और काम ख़तम करने लगी. तभी पीछे से मेरी बेटी आ गयी, और उसने मुझे पीछे से हग कर लिया और बोली-

रूपाली: ई लोवे योउ मों, मेरी रानी. आज तो तुम्हे मैं छ्चोधूंगी नही.

मैं बोली: अर्रे-अर्रे बेटा, इतनी जल्दी क्या है? ज़रा देख तो ले तेरा भाई है की नही घर में. ऐसे तो हम पकड़े जाएँगे, और सब ख़तम हो जाएगा.

तो वो बोली: मैने देख लिया है.

ये सुन कर मैं थोड़ी सी दर्र गयी पहले और उससे पूछा-

सोनिया: क्या देखा तूने?

तो वो बोली: भाई अभी-अभी गया है. मैने उसे जाते हुए देखा था. तभी तो तुम्हे आके ऐसे हग किया.

ये सुन कर मैं थोड़ी शांत हुई और बोली: अछा तूने देख लिया. समझदार है तू.

वो बोली: लेकिन मों कुछ करो ना, ऐसे दर्र-दर्र कर नही रह सकती मैं.

फिर उसे भी मैने बोला: परसो तक सूब ठीक हो जाएगा. तू मुझ पर छ्चोढ़ दे सूब कुछ.

फिर वो और खुश हो गयी और मुझे गोद में उठा लिया, और बोली-

रूपाली: मेरी रानी, आज तुम मेरी हो सिर्फ़. आज तुमने मैं ऐसे-ऐसे प्यार करूँगी की तुम्हारा सारा पानी ख़तम कर दूँगी. मैं तुम्हारे एक-एक अंग को प्यार करूँगी.

मैने बोला: अछा-अछा कर लेना. तेरा ही दिन है आज. लेकिन मुझे नीचे तो उतार. मैं गिर जौंगी, तो फिर कैसे करेगी प्यार?

और उसने मुझे झट से नीचे कर दिया, और मेरे करीब आके आँखों-आँखों में देख के और मेरे इयर्स की साइड पर अपने दोनो हाथ रख के बोली.

रूपाली: मैं तुम्हे कुछ नही होने दूँगी मेरी रानी. तुम मेरी जान हो.

और मुझे ज़ोरदार लीप किस किया, और मुझे किचन की स्लॅब पर बिता दिया. फिर मेरी निघट्य जो पहले से शॉर्ट थी, उसे और उपर कर दिया, और पॅशनेट तरीके से किस करने लगी. मैं भी उसका साथ दे रही थी. हम दोनो एक -दूसरे में खो गये थे. मुझे भी मज़ा आ रहा था.

इस पार्ट में इतना ही. नेक्स्ट पार्ट में आपको पता चलेगा मेरे और मेरी बेटी रूपाली के सेक्स के बारे में, और उससे भी मैने नेक्स्ट नाइट के लिए कुछ बहाना लगाया था. वो आपको आने वाले नेक्स्ट पार्ट्स में पता चलेगा.

इसके अलावा यार बहुत सारी फेक ईद से मेल्स आती है. होता लड़का है, और लड़की बन के बात करता है. प्लीज़ यार अगर आपको बात करनी है तो सीधा बोल दो. और हा, जिन फीमेल, गर्ल्स, भाभी और मों को मेरी हेल्प चाहिए. या कुछ बात करनी हो वो मुझे मैल ईद पर टेक्स्ट करे

यह कहानी भी पड़े  अनिता भाभी का भोसड़ा चोदने को मिला


error: Content is protected !!