प्यासी भाभी की चुदाई का मज़ा मिला

मैने पीछे से अपने हाथ उसकी शॉर्ट्स में डाल लिए, और उसकी गांद को दबाने लगा. उसके मोटे-मोटे चूतड़ कमाल के थे. मेरा लंड पूरी तरह खड़ा हो गया था. गरिमा अपनी लेफ्ट थाइ मेरे लंड से घिसा रही थी. मैं गरिमा को उठा के बेडरूम में ले गया. वो बेड पर बैठी थी.

मैं सब कुछ धीरे-धीरे करना चाहता था, लेकिन गरिमा को बहुत जल्दी थी. जैसे वो सेक्स के लिए तड़प रही हो. वो बेड पर बैठी थी, और मैं उसके सामने खड़ा था. गरिमा ने मेरी लोवर और अंडरवेर एक साथ नीचे कर दी, तो झटके से मेरा लंड बाहर आ गया. मेरा लंड खड़ा हो कर 7 इंच का है, पर मोटा बहुत ज़्यादा है.

जैसे ही गरिमा ने लंड देखा, उसने बोला: वाउ यार, इतना मोटा!

गरिमा ने लंड को अपनी मुट्ठी में पकड़ा, तो उसके मुट्ठी बंद नही हो रही थी. वो शॉक्ड थी, की इतना मोटा भी होता है. अब मुझसे भी रहा नही गया. मैने गरिमा का सर अपने लंड पर दबा दिया. उसने लंड मूह में डाल लिया, और धीरे-धीरे चूसने लगी. गरिमा के मूह में लंड ईज़िली जेया नही रहा था.

मैने कहा: यार तुम्हारे दाँत चुभ रहे है, मूह और खोलो.

शी साइड: और कितना खोलू? तुम्हारा लंड ही इतना मोटा है. गरिमा ने लंड के टोपे की जीभ से मसाज शुरू की, और उसने अपने हाथ घुमा कर मेरी गांद पर रख लिए. वो मेरी गांद को दबा कर खुद ही लंड के झटके मार रही थी. मुझे बहुत ज़्यादा मज़ा आ रही था.

अब गरिमा ने एक हाथ से मेरे टटटे भी दबाने शुरू कर दिए. वो बीच-बीच में साँस लेने के लिए लंड मूह से निकाल देती थी. उसने अपनी थूक से लंड सारा गीला कर दिया था. 10 मिनिट चूसने के बाद मैने और गरिमा ने अपने सारे कपड़े उतार दिए.

फिर हम दोनो बेड पर लेट गये और हग करने लगे. मैने गरिमा की टांगे खोल कर छूट देखी तो मैं पागल हो गया. उसकी छूट पर हल्के-हल्के ब्राउन कलर के बाल थे, जिस वजह से उसकी छूट बहुत सेक्सी लग रही थी. मुझे क्लीन शेव्ड छूट ज़्यादा पसंद नही. हेरी छूट मुझे बहुत ज़्यादा पसंद है. गरिमा ने मुझे उसके उपर आने को बोला. मैं उसके बूब्स पर अपनी चेस्ट रख कर लेट गया.

उसने मुझे बहुत ज़ोर से हग कर लिया. फिर उसने अपनी लेग्स मेरी गांद के उपर से लपेट ली. मुझे गरिमा के बूब्स बहुत ज़्यादा फील हो रहे थे. मैने गरिमा के मूह में अपना मूह डाल दिया. गरिमा ने अपनी जीभ मेरे मूह में घुसा दी. अब हम दोनो एक-दूसरे की जीभ चूस रहे थे.

अब मैने नीचे हो कर उसके बूब्स पर अपना मूह रख लिया. गरिमा का लेफ्ट बूब मैं अपने मूह में रख कर चूसने लगा, और रिघ्त को दबाने लगा. उसके बूब्स इतने बड़े थे, की मेरे मूह में नही आ रहे थे. फिर उसके रिघ्त बूब को ज़ोर से चूसा. गरिमा के अंडरआर्म्स की स्मेल मुझे बहुत सिड्यूस कर रही थी. मैने उसकी अंडरआर्म्स लीक करनी शुरू की तो वो और मदहोश हो गयी.

मेरा लंड उसकी छूट के साथ रग़ाद रहा था. अब मैने गरिमा को 69 की पोज़िशन में आने को बोला. वो मेरे मूह पर अपनी छूट रख कर लेट गयी, और मेरा लंड चूसने लगी. क्या बतौ यार उसकी छूट से जो खुश्बू आ रही थी. अब गरिमा ने ज़ोर-ज़ोर से मेरा लंड चूसना शुरू किया. मैने भी उसकी छूट को खोल कर अंदर जीभ घुसा दी. उसकी छूट के स्पर्म और स्वेट की स्मेल मुझे पागल कर रही थी. मैने गरिमा की गांद को पकड़ कर अपने मूह पर दबा दिया.

उसकी छूट के अंदर तक मैने जीभ घुसा दी. गरिमा ने अपनी टाँगो के बीच फिर मूह फ़ससा लिया, और ज़ोर-ज़ोर से छूट मेरे मूह पर घिसने लगी. मैं छूट से जीभ निकाल कर उसकी गांद चाटने लगा. उसकी गांद को अपनी थूक से भर दिया. फिर अपनी उंगली उसकी गांद में डाल दी. गरिमा को तोड़ा दर्द हुआ, तो उसने मेरा लंड पर काट दिया.

लेकिन इस दर्द में भी हम दोनो को मज़ा आ रहा था. मैने गरिमा को बोला की मेरा निकालने वाला था, पर उसने लंड चूसना चालू रखा. फिर एक-दूं से मेरा सारा स्पर्म गरिमा के मूह में ही निकल गया. लेकिन तब भी उसने लंड चूसना बंद नही किया. उसने सारा स्पर्म अपने मूह में भर लिया.

इधर गरिमा की छूट ने भी पानी छ्चोढ़ दिया. उसका सारा स्पर्म मेरे मूह में भर गया. अब गरिमा उठी, और मेरे उपर आ कर लेट गयी. अब मुझे पता था क्या होने वाला था. गरिमा ने अपने मूह मेरे मूह में डाल दिया. फिर हमने एक-दूसरे के मूह में स्पर्म स्वाप किया. फिर कभी वो मेरे मूह में सारा स्पर्म डाल देती, कभी मैं उसके मूह में.

एंड में गरिमा सारा स्पर्म निगल गयी, और जो मेरे मूह में था, वो मैं पी गया. उसके चेहरे पर मैने पहली बार स्माइल देखी. हम दोनो ने कपड़े पहने, और बॅकयार्ड में जेया कर फिरसे स्मोकिंग की. हम कुछ देर वाहा पर ही खड़े रहे, और मैने उसको पीछे से हग कर लिया, और अपना लंड उसकी गांद पर घिसने लगा.

गरिमा ने कहा उसको डर्टी सेक्स बहुत पसंद है. उसकी फॅंटेसी पहली बार पूरी हुई थी मेरे साथ. मैने कहा अभी तो डर्टी हम हुए ही कहा है, और उसको मैने आँख मार दी. गरिमा ने बोला उसको वॉशरूम जाना था मूट करने के लिए. मैने कहा चल तुझे नयी जगह दिखता हू मूतने के लिए.

फिर मैं उसको बातरूम में ले गया जहा पर बात टब लगा हुआ था. गरिमा नॉटी स्माइल देने लगी, क्यूंकी वो मेरा इशारा समझ चुकी थी. हम फिरसे दोनो नंगे हो गये.

अब मैं बात टब में लेट गया, और गरिमा को अपनी चेस्ट पर बैठने को कहा. गरिमा मेरी चेस्ट पर बैठ गयी, और मेरा सिर पकड़ कर अपनी छूट के साथ लगा लिया.

उसकी छूट से मूट की गरम-गरम तेज़ धार निकली, जो सीधा मेरे मूह पर पड़ी. मैने अपना मूह खोल लिया. गरिमा ने अपनी छूट मेरे मूह में घुसा दी और मूतने लगी. उसका मूट मेरे सारे मूह और चेस्ट पर गिर रहा था. अब मेरी बारी थी. गरिमा घुटनो के बाल बैठ गयी, और मैं उसके सामने खड़ा हो गया. उसने मेरा लंड पकड़ा और मैं उसके मूह पर मूतना शुरू कर दिया.

पहले तो वो मूह इधर-उधर करने लगी, फिर एक-दूं से लंड मूह में ले लिया. मेरा मूट उसके मूह से निकल कर उसके बूब्स पर गिर रहा था. हमने खड़े हो कर एक-दूसरे को हग किया, और वही शवर में दोनो एक साथ नहाए.

नहा कर हम फिरसे बेडरूम में आ गये. मेरा लंड दोबारा से स्टील रोड की तरह खड़ा हो गया था. बेड पर जाते ही मैने गरिमा की गांद के नीचे पिल्लो रख दिया. अब उसकी टांगे खोल कर अपने लंड को उसकी छूट पर सेट कर दिया. गरिमा बोली वो पुर एक साल बाद सेक्स कर रही थी. मैने धीरे-धीरे लंड छूट में घुसना शुरू कर दिया.

जैसे ही लंड का टोपा उसकी छूट में घुसा, गरिमा ने अपने नाइल्स मेरी पीठ पर गाढ दिए, और उसकी जैसे साँस रुक गयी हो.

वो बोली: यार इतना मोटा लंड, मुझे बहुत पाईं हो रहा है, प्लीज़ धीरे-धीरे करना.

मैं 2-3 मिनिट उसकी छूट के उपर-उपर करता रहा. फिर जब वो तोड़ा नॉर्मल हुई, तब लंड को ज़ोर से छूट पर दबा दिया. मेरा आधे से ज़्यादा लंड अंदर घुस गया. गरिमा ने ज़ोर से चीखा, और मेरे शोल्डर पर बीते करने लगी. मैने फिरसे ज़ोर से धक्का डेट हुए सारा लंड छूट में घुसा दिया. वो तड़पने लगी, और कहने लगी-

गरिमा: प्लीज़ बाहर निकालो, बहुत दर्द हो रहा है.

मैने उसके होंठ अपने होंठो में ले लिए, और ऐसे ही उस पर लेता रहा. गरिमा की ब्रीदिंग तेज़ हो रही थी. जब 5 मिनिट बाद वो तोड़ा नॉर्मल हुई, तो खुद ही नीचे से अपनी गांद को हिलाने लगी. अब मैं भी धीरे-धीरे उसकी छूट में धक्के लगाने लगा. अब उसे बहुत मज़ा आने लगा था. वो भी ज़ोर-ज़ोर से बोल रही फक मे हार्ड, प्लीज़ फक मे हार्ड संग्राम.

मैने अपने धक्को की स्पीड बढ़ा दी. मेरे टटटे उसकी गांद के साथ ज़ोर-ज़ोर से टकरा रहे थे. पुर कमरे में ज़ोर-ज़ोर से ठप-ठप की आवाज़ गूँज रही थी. फिर मैने गरिमा को पोज़िशन बदलने को कहा. अब मैं लेट गया, और गरिमा मेरे लंड पर बैठ गयी. उपर बैठते हुए लंड उसकी छूट में ऐसे घुस रहा था, मानो जैसे मोटा अजगर साँप अपनी बिल में जेया रहा हो.

गरिमा सारा लंड अंदर घुसा कर मेरे उपर आ कर लेट गयी. उसने मुझे किस करते हुआ बोला-

गरिमा: ई वॉंट वन प्रॉमिस फ्रॉम योउ.

ई साइड: हा बोलो.

गरिमा ने कहा: कॅन वी बे सीक्रेट सेक्स बडीस प्लीज़? मुझे कोई ऐसा ही बंदा चाहिए था जो बस मुझे सॅटिस्फाइ करे, लोवे वग़ैरा के चक्कर में ना पड़े.

उसने बोला की वो कभी भी मेरी मॅरीड लाइफ खराब नही करेगी. मैने कहा: मेरी सिर्फ़ एक शर्त है. कभी भी तेरे साथ बाहर घूमने वग़ैरा या लंच डिन्नर पर नही जेया सकता. हम सिर्फ़ और सिर्फ़ सेक्स करने के लिए ही मिलेंगे.

वो हस्स पड़ी और बोली: यार मुझे तो चाहिए ही बिल्कुल सीक्रेट.

फिर वो मुझे ज़ोर-ज़ोर से छोड़ने लगी. उसके दोनो माममे ज़ोर-ज़ोर से हिल रहे थे. मैने उसके बूब्स पकड़ लिए. वो ज़ोर-ज़ोर से लंड को अंदर-बाहर कर रही थी. एक बार फिरसे उसने मेरे मूह में अपना मूह डाला, और मेरे मूह में थूक भर दिया. मैने उसका थूक अपने थूक में मिक्स करके दोबारा से उसके मूह में भर दिया.

गरिमा ने सारा थूक मेरी चेस्ट पर गिरा दिया, और अपने हाथो से पूरी चेस्ट पर घिसा दिया. हम दोनो का नसीब देखो, दोनो को ही डर्टी सेक्स पसंद था, और किस्मत ने हम दोनो को मिला दिया. गरिमा 10 मिनिट तक ऐसे ही मेरे उपर धक्के मार्टी रही. फिर एक-दूं से मेरा लंड उसने शक़ूईज़ कर लिया अपनी छूट में. गरिमा की छूट ने पानी छ्चोढ़ दिया, और उसकी साँस फूलने लगी. वो अब 2 मिनिट के लिए मेरे उपर लेट गयी.

अब मैने गरिमा को पकड़ कर बेड पर घोड़ी बनाया, और पीछे से लंड उसकी छूट में डालने लगा. मैने देखा उसकी छूट पूरी तरह से खुल गयी थी. मैने एक झटके में सारा लंड अंदर घुसा दिया, और उसकी तबाद-तोड़ चुदाई शुरू कर दी. मैं ज़ोर-ज़ोर से उसकी छूट को पीछे से छोड़ रहा था.

गरिमा साइड से क्लॉज़ेट में लगे हुए मिरर से अपनी चुदाई देख रही थी. मैने गरिमा की गांद पकड़ ली, और ज़ोर-ज़ोर आए छोड़ने लगा. उसके मोटे-मोटे चूतड़ मेरे थाइ पर ज़ोर-ज़ोर से ठप-ठप करते हुए लग रहे थे. गरिमा एक बार फिरसे झाड़ गयी थी. 10-12 मिनिट के धक्को को बाद मेरा निकालने को हुआ तो गरिमा से पूछा क्या करू.

गरिमा ने कहा बाहर मत निकालना. मैने अपनी स्पीड और बढ़ा दी, फिर एक-दूं से मेरे लंड से स्पर्म की तेज़ धार सीधे उसकी छूट में गिरी. 15-20 सेकेंड तक मेरा लंड उसके छूट में स्पर्म छ्चोढता रहा. मैने अपना लंड बाहर नही निकाला, और ऐसे ही उसके उपर लेट गया. गरिमा की मोटी गांद मेरे थाइस से चिपकी हुई थी. कुछ देर बाद हम दोनो थोड़ी किस्सस और हग्स के बाद सो गये.

सुबह 5 बजे मेरे आँख खुली, क्यूंकी मुझे काम के लिए निकलना था. गरिमा भी मेरे साथ उठ गयी थी. हमने एक बार फिरसे ज़बरदस्त सेक्स किया. गरिमा और मैने अपने फोन नंबर एक्सचेंज कर लिए. दोबारा मिलने का वादा कर मैं वाहा से निकल गया. अब हमारे इस सीक्रेट सेक्स रिलेशन्षिप को 2 साल से ज़्यादा हो गये है.

इन दो सालों में मैं गरिमा को 50 से ज़्यादा बार छोड़ चुका हू. गरिमा ने मुझे अपनी 2 फ्रेंड्स से भी मिलवाया. वो दोनो भी सिंगल मदर थी. उन दोनो को कैसे छोड़ा और कैसे हमने ग्रूप सेक्स किया, वो मैं आप लोगों की फीडबॅक के बाद लिखूंगा.

सिंगल मदर्स की नीड्स भी तो होती है, लेकिन सोसाइटी के दर्र से उन्हे चुपके सेक्स रिलेशन्षिप बनाना पड़ता है. अगर ब्रिज़्बेन से कोई सिंगल मदर मेरी स्टोरी पढ़ रही है, और वो सीक्रेट सेक्स बडी बनना चाहती है, तो मुझे एमाइल कर सकती है.

यह कहानी भी पड़े  मस्त मारवाड़ी भाभी की चुदाई


error: Content is protected !!