चरम-सुख की शुरुआत की कहानी

फातिमा: उह्ह्ह आह्ह्ह‌ ओह्ह्ह उफ्फ्फ हां बेबी। मेरे राजा ऐसे ही मुझे चाटो चूमों मेरे बदन की आग और बढ़ गई हैं। अब आगे।

फातिमा की नाभि चाटते हुए मैं उसकी सलवार को उतारने लगा और उसकी गोरी मोटी जांघो को सहलाने लगा। उसके मुंह से गरम सिसकियां आने लगी। मैं अब पेट को चाट कर उसकी पेंटी के ऊपर से चूत को चाट रहा था। फातिमा का बदन मचलने लगा बिस्तर पर।

अब मैंने 5 मिनट बाद उसकी पेंटी भी उतार दी। मेरे सामने फातिमा की क्लीन चूत थी। चूत टाइट थी और फूली हुई थी। जो अब तक बहुत गीली हो चुकी थी। मैंने उसकी टांगे दूर की और अपना मुंह चूत के छेद पर रख दिया, और जुबान से चूत के दाने को चाटने लगा। मेरी जुबान के चाटने से फातिमा की जोरदार गरम सिस्की निकलने लगी।

फातिमा: उह्ह्ह श्श्श श्श्श हा ओह्ह्ह उफ्फ्फ। मजा आ रहा है। क्या करते हो तुम यार। मेरी चूत भड़क रही है। और करो खा जाओ मेरी चूत।

मैं अपना मुंह चूत में दबा के पलकों को मुंह में लेके चूसने लगा। और दाने को दांत से काटने लगा। तो फातिमा की सिस्की निकल उठी।

फातिमा: अहह उहह उम्म्म।

मैंने उसकी चूत के दाने को 10 मिनट तक मुंह में लेके बड़े जोर से चूसा, जिससे चूत ने अपना रस छोड़ दिया। फातिमा ने गरम सिस्की लेते हुए मेरा मुंह चूत में दबा दिया, और मैं सारा रस चाटने लगा। चाट-चाट कर सब नमकीन रस साफ कर दिया।

अब मैं बिस्तर से अलग आया, और उसे बिस्तर पर कुतिया बनाया। नंगी फातिमा बिस्तर पर खुले बालों में रंडी की तरह कुतिया बनी हुई थी। उसकी मोटी जांघे पकड़ कर गांड पर 2 चाटे मारे। जिससे उसके मुंह से आहह उहह निकल गया।

मैंने उसकी गांड फैला कर जुबान गांड के छेद पर रखी, और गांड को चाटने लगा। मेरे चाटने से फातिमा के बदन में अलग सी सिहरन फेल गई, और वो सिसकने लगी।

फातिमा: उह्ह्ह श्श्श श्श्श क्या मजा देते हो रे तुम। उफ्फ्फ आह्ह्ह और करो। मैंने ऐसा मजा पहले कभी नहीं लिया। अब तो मैं हर बार तुमसे ही सेक्स करूंगी। तुम उह्ह्ह श्श्श सेक्स मे मास्टर हो।

मेरी गांड आज तक किसी ने भी नहीं चाटी है। तुमने मुझे ये नया सुख दिया है। बहुत अच्छा लग रहा है तुम्हारी जुबान गांड को कुरेद रही है। उह्ह्ह श्श्श श्श्शआहह और करो मेरे राजा। ये गांड अब तुम्हारी है।

मैं उसकी गांड के छेद से जुबान को चूत तक मसलते हुए लाता, जिससे चूत का नमकीन गरम रस मेरे जुबान पर आ जाता। तभी एक-दम से फातिमा की गरम चूत में 1 उंगली घुसा दी, और गांड के छेद को चाटने लगा। उंगली के जाते ही उसके मुंह से अह्ह्ह अह्ह्ह उफ्फ्फ निकल गया। फातिमा की चूत मुलायम और टाइट थी। और वो बहुत समय से चुदी नहीं थी। इसलिए उंगली डालने से उसे दर्द होने लगा। गांड को चाटते हुए मैंने कहा।

मैं: मेरी बुलबुल। अभी तो उंगली डाली है, तू अभी से चिल्ला रही है। फिर लंड कैसे लेगी। लंड जाने पर तो तेरी जान निकल जाएगी।

फातिमा: हा! दर्द तो हो रहा है। लेकिन फिर भी मुझे चुदना है। इसलिए तुम मेरी चुदाई अच्छे से करना। मैं तुम्हें नहीं रोक रही। मेरी चूत के हर कोने को फाड़ देना।

फातिमा: मुझे आज वाइल्ड तरीके से चोदो। जिसमें मेरे बदन तुम्हारे प्यार को हमेशा याद रखे। दमदार चुदाई चाहिए। मेरी चूत गांड फाड़ कर रख दो, और इसमें अपना गरम लावा छोड़ दो।

मैंने उसकी गांड 15 मिनट तक खूब चाटी। उसकी नरम सांवली चूत में जोर-जोर से उंगली करने लगा था। जिससे वो बिस्तर पर गरम सिसकियों के साथ मेरे हाथ पर झड़ गई। मैं चूत के रस चूत मे मुंह दबा कर पीने लगा। फातिमा ने मेरा मुंह चूत मे दबा दिया था। फातिमा ये दूसरी बार मेरे मुंह पर झड़ी थी।

मैंने 15 मिनट में गांड पर 10-15 चांटे भी मारे थे, जिससे उसकी गोरी गांड लाल हो गई थी। मैं पीछे खड़ा होके उसकी मोटी जांघ को चाटने लगा। जांघ चाटने में बहुत मजा आ रहा था। फातिमा के लिए ये एक नया अनुभव था। उसने ये सब पहले कभी नहीं किया था।

फातिमा: रोहित बेबी। आज तक मैंने ऐसा अनुभव पहले कभी नहीं किया। तुम्हारे साथ बहुत मजा आ रहा हैं। काश तुम पहले मिल जाते तो मैं अपने बॉयफ्रेंड से ब्रेकअप कर लेती।

10 मिनट ऐसे ही मैंने उसकी गांड और जांघ चाटी। लगभग मैंने 60 से 70 मिनट तक उसके बदन के एक-एक कोने को खूब अच्छे से चाटा। जिसकी वजह से वो खुद ही वाइल्ड सेक्स करना चाह रही थी। फातिमा को आज चुदाई में हर एक अनुभव करना था। वो पूरा पैसा वसूल करना चाह रही थी।

अब फातिमा बिस्तर से उठी और कहने लगी।

फातिमा: तुमने खूब मजे दिये है। अब मुझे तुम्हारा ये पेंट में खड़ा लंड चाहिए। प्लीज मैं इसे अब खा जाउंगी। जल्दी से बाहर निकालो। मुझसे अब रहा नहीं जा रहा।

मैं: मेरी मुस्लिम जान। ये तेरा काम है। मैं वहा कुर्सी पर बैठ रहा हूं। तूझे नंगी गांड मटकाते हुए लंड चूसने आना है। कुतिया की तरह। समझी साली? चल अब तू कुतिया बन के आ।

फातिमा: ओह हां। आज बहुत मजा आने वाला है। मैं रंडी बनके तुम्हारा लंड मुंह में लूंगी।

उसके बाद मैं वहा कुर्सी पर बैठ गया। मैं अभी जींस में था, और फातिमा पूरी नंगी बिस्तर पर थी। अब फातिमा धीरे-धीरे कुतिया बनके अपनी गांड मटकाते हुए मेरे पास आ रही थी। मुझे देख कर मुस्कुरा रही थी, मेरे पैरों के पास आई। उसकी मोटी गांड देख कर मेरा लंड और फड़फड़ाने लगा।

फातिमा ने अब मेरे होठों पर एक किस किया, और मुझे किस करते हुए मेरे जींस उतारने लगी। जैसे ही जींस उतारी, मैं अपने कच्छे में था। फातिमा मुस्कुरा रही थी। उसकी आंखों में काम वासना का नशा साफ दिख रहा था। मैंने उसे कहा-

मैं: मेरी जान। अब तुझे करना है। जो मन करे वो कर इस लोड़े के साथ।

फातिमा: हम्म्म। आज तुम्हारे लंड को खा जाउंगी। सारा रस निकाल दूंगी।

अब उसने मेरा कच्छा भी निकाल दिया, और मैं उसके सामने नंगा बैठा था। मैंने जींस में से एक सिगरेट निकाली, और जला कर पीने लगा। मैंने अपने पैर फेला दिये,‌ जिससे मेरा 7 इंच का काला लंड उसकी आंखो के सामने था। उसे देख कर फातिमा बोली-

फातिमा: वाह रोहित! क्या गजब का लंड है। बहुत बड़ा है ये तो। मेरी जान निकाल देगा आज। इसी लंड से मेरी चूत और गांड की सील तोड़ दोगे तुम। ये मेरे मुंह मे जाने के लिए देखो केसे उछल रहा है। बदमाश कहीं का! पता नहीं इसने कितनी चूतों की चीखें निकाली होंगी।

मैं: मेरी रानी! इसने बहुत लड़की भाभी और आंटी की चूत गांड का भोसड़ा बनाया है। और आज तेरी बारी है।

फातिमा: मेरी चूत का भोसड़ा बना दो। किसने रोका है तुम्हें। आज जम के चोदना मुझे। मैं बहुत प्यासी हूं।

अब फातिमा ने लंड के टोपे को किस किया और उसे चूमने लगी। फातिमा के चूमने से मेरे मुंह से श्श्श उह निकल गई। मैं सिगरेट पी रहा था। मैंने फातिमा से कहा।

मैं: बेबी ले तू भी एक फूंक मार ले।

फिर फातिमा ने हस्ते हुए सिगरेट मुंह में ली, और उसका धुआ लंड पर छोड़ दिया। मुस्कुराते हुए बोली।

फातिमा: मेरे राजा! अब आया ना मजा। कितने रोमांटिक लड़के हो तुम। बहुत मजा आ रहा है तुम्हारे साथ। प्लीज अब तुम मेरे पास बार-बार आते रहना। मुझे तुम्हारा साथ चाहिए। मैंने अपनी लाईफ मे कभी ऐसा अनुभव नहीं किया।

मैं: मेरी रानी। तू जब भी कहेगी मैं तेरे पास आ जाऊंगा।

अब फातिमा ने अपना मुंह खोला, और लंड को मुंह में भर लिया। फातिमा धीरे से अपना मुंह ऊपर-नीचे करने लगी। उसके मुंह में लंड 4 से 5 इंच ही जा रहा था। फातिमा भी पूरे दिल से मुझे देखते हुए लंड टाइट तरीके से चूसने लगी।

उसने अपने दोनों हाथ मेरी छाती पर रखे, और मुझे एक हाथ से खुद ही सिगरेट पिलाने लगी। दोस्तों इस लम्हे को इमेजिन करो। कितना मस्त मजा आ रहा था। वो लंड को पूरा लेने लगी।

फातिमा के मुंह में लंड अच्छे से जा रहा था। मैंने अब सिगरेट उससे ले ली, और वो एक हाथ से मेरे बॉल्स को मसलते हुए लंड को दबा के चूसने लगी। वो जब लंड चूस रही थी, तो उसके लंबे बाल मेरे पेट की तरफ आ गए, और उसकी गांड मुझे दिखने लगी। मैं झुक के उसकी गांड मसलने लगा। फातिमा अब सिसकियों के साथ लंड चूसने लगी।

फातिमा: उम्म्म उम्म्म उह्ह्ह। बेबी क्या मस्त लंड के मालिक हो तुम। कसम से चूसने में मजा आ रहा है।

मैं: जितना मन हो उतना चूस ले। मेरी जान तेरा ही है।

फातिमा लंड को पूरा गले तक ले जाती। मैं उसका मुंह लंड में दबा देता। जिससे उसके आंसू निकलने लगे। लेकिन वो अंदर से लंड पर जुबान घुमा रही थी। फातिमा के मुंह से जैसे ही मैंने लंड निकाला, वो सांस लेने लगी और बोली-

फातिमा: जान निकाल देते हो तुम तो। मेरा मुंह दर्द होने लगा है।

मैं: मेरे जान! अभी जान निकली कहा है। अभी तो बहुत कुछ बाकी है।

मैंने जोर से उसके स्तन मसल कर दबा दिये। जिससे उसकी चीख निकल गई। मैं हसने लगा।

फातिमा: आहह उहह! बहुत जालिम मर्द हो तुम। लेकिन मुझे लंड चूसना है। मुझे अच्छा मजा आ रहा है। बहुत बड़ा है आपका लंड।

अब मैंने उसे कुर्सी पर बिठाया, और मैं खड़ा होके फातिमा के मुंह की चुदाई करने लगा। लगातार 10 मिनट तक उसके मुंह में लंड अंदर-बाहर करने लगा। जिससे अब मेरा लंड झड़ने वाला था। तो मैं लंड 1 इंच बाहर निकालता, और एक झटके में पूरा गले तक घुसा देता।

जिससे फातिमा के मुंह से उम्म्म उहह निकलने लगता है। अब मैं झड़ने वाला था। तो एक दम से लंड उसको गले तक रोक दिया, और लंड ने अपनी जोर की पिचकारी उसे मुंह में छोड़ दी। मेरे वीर्य को फातिमा ने पूरा चूस लिया। उसने एक भी बूंद बाहर नहीं आने दी।

मैं उसके मुंह में 5 मिनट तक लंड दबाये रखा। मेरी आंखे नशे में बंद हो गई। वो भी आंखे बंद करके लंड पर जुबान घुमा के चाट रही थी।

अब मैंने लंड बाहर निकाला, तो मेरी और देख कर मुस्कुराते हुए लंड को चाटने लगी। चाट-चाट के उसने लंड को साफ कर दिया और बोली।

फातिमा: वाह बेबी! तुम्हारा वीर्य बहुत मजबूत है। ये चूत में गया तो मुझे प्रेग्नेंट कर देगा। प्लीज़ इसे मेरे मुंह में ही निकालना। मुझे प्रेग्नेंट नहीं होना है।

फिर हम दोनों एक-दूसरे को देख कर चूमते हुए हसने लगे।

अभी कहानी बाकी है मेरे सेक्सी दोस्तों। अगले भाग का इंतजार करें।

किसी को फातिमा की तरह अपनी बोरिंग और दुखी लाइफ को मजेदार और खुशनुमा बनाना है। तो मुझे मैसेज करें। आपका पूरा साथ दूंगा। और किसी को कुछ पता भी नहीं चलेगा। आप मुझे [email protected] पर मैसेज करें।

धन्यवाद।

यह कहानी भी पड़े  भाभी ने मुझे चोदा


error: Content is protected !!