प्रोफेसर शर्मा ने वर्जिन पुसी खोली

professor-ne-virgin-choot-kholiहलो दोस्तों मेरा नाम अनन्या हे और मैं हिंदी पोर्न स्टोरीस के ऊपर काफी दिनों से सेक्स की कहानियाँ पढ़ रही हूँ. और फिर मैंने अपने सेक्स के अनुभव को भी आप लोगो से शेयर करने का सोचा. आप भी पढ़े और अपने लंड को खड़ा करे और चूत में ऊँगली करे!

चलिए मेरे फिगर से ही स्टार्ट करते हे. मेरा फिगर 34D-30-36 का हे. कलर घेहूँआ हे और मैं एक लम्बी लड़की हूँ.

मैं अपनी पढ़ाई के लिए पूना में आई हुई थी. यहाँ आने से पहले में एक सीधी और वर्जिन लड़की ही थी. 10वी की एग्जाम पास करने के बाद मैं पढ़ाई के लिए यहाँ आई थी. मेरे पापा ने मम्मी को डिवोर्स दिया था और अलिमनी में भारी भरकम रकम दी थी इसलिए पैसे तो बहुत हे हम लोगों के पास. मैं जिस रूम में रहती थी वो कुल 3 लड़कियों के बिच शेयरिंग में था.

कोलेज की लाइफ नए दोस्तों के साथ स्टार्ट हुई. पूना जिसने देखा हे उसे पता हे की यहाँ की नाईट लाइफ कितनी मस्त हे. मैं रात को अपने दोस्तों के साथ पब में और खाने पिने के लिए घुमती थी. खाना पीना, वगेरह कभी कभी लेट नाईट तक चलता था इसमें कोलेज की अटेंडेंस के ऊपर असर दिखने लगी. और फिर कोलेज के अन्दर एक नोटिस लगी कम अटेंडेंस वालों की जिसके अन्दर मैंने टॉप में जगह बनाई थी.

मेरे क्लास टीचर मिस्टर शर्मा मेरे ऊपर बहुत गुस्से हुए थे. और उन्होंने मुझे कहा की मुझे मेरी मोम को कॉल करना ही पड़ेगा और उन्हें बात करवानी पड़ेगी. उन्होंने कहा की आगे क्या करना हे वो मैं तुम्हारी मदर के साथ ही डिसकस करूँगा.

मैं (रोते हुए): सर आई एम रियली सोरी, प्लीज मेरी गलती के लिए आप मेरी मोम को कॉल मत कीजिये.

यह कहानी भी पड़े  डिवोर्सड आंटी ने लंड चूसा मेरा

सर गुस्से में बोले: पार्टी करो, फेसबुक के ऊपर इवेंट बना के सब को बुलाओ और फिर इन्स्टाग्राम के ऊपर उसके पिक्स डालो. और तुम्हारे तो मार्क्स भी बहुत कम हे वैसे. अगर तुम्हारे मार्क्स होते ठीकठाक तो मैं शायद तुम्हारी कुछ मदद भी कर देता. अब मैं तुम्हारी मोम को बुला के तुम्हे कुछ दिन घर पर ही बिठाता हूँ!

मैं (रोते हुए): सर प्लीज़ माफ़ कर दीजिये ना, आगे से ऐसी गलती नहीं करुँगी. मुझे मदद कीजिये सर प्लीज़.

सर: वैसे एक रास्ता हे इसमें से निकलने का.

मैं (बिना कुछ सोचे): हां मुझे मंजूर हे सर, आप जितने कहो उतने असाइनमेंट लिख दूंगी मैं.

सर: असाइनमेंट तो सिर्फ फोर्मलिटी होते हे डियर, तुम्हे तो अपनी गलतियों के लिए प्रायश्चित करना पड़ेगा.

मैं: सर आप को पैसे चाहिए, बताइए ना कितने?

सर ने कहा, रिया तुम्हारी दोस्त हे न?

रिया सच में मेरी दोस्त हे और मेरे सर्कल की ही हे. उसका फिगर32C-28-34 हे.

मैं: हां सर, क्यूँ?

सर: उसको पूछ लेना की मुझे क्या चाहिए, वो बता देगी.

मैं: ठीक हे सर.

मैं वहां से ख़ुशी ख़ुशी निकल गई और मैं शाम को रिया को मिली.

मैं: रिया यार तेरे को कुछ पूछना था?

रिया: हां बोल ना.

मैं: सर ने मुझे कहा की रिया को पूछ लेना की जिनकी कम अटेंडेंस हे उसकी पनिशमेंट रिया को पूछ लेना? तो क्या पनिशमेंट करते हे सर?

रिया: बेन्चोद, क्या उसने सच में ऐसे कहा तुझे?

मैं: हां यार, लेकिन तू इतना चौंक क्यूँ रही हे?

रिया: उसने कुछ और तो नहीं कहा था?

यह कहानी भी पड़े  Bhabhi Ki Saheli Puja Ki Rasili Gand

मैं: नहीं और कुछ नहीं कहा.

रिया: यार मैं कुछ नहीं कहूँगी. एक काम कर कल शाम को कोलेज के बाद उन्के केबिन में जा के एक सिम्पल टास्क कर ले.

और उसने ये कह के मुझे आँख मारी.

मैं: ओह ओके, ठीक हे चल.

फिर दुसरे दिन शाम को मैंने सर का केबिन नोक किया.

मैं: में आई कम इन सर?

सर (ख़ुशी से): ओह यस कम इन. डोर को लोक कर देना प्लीज़.

मैंने अन्दर घुस के डोर को लोक किया.

सर: तो रिया ने तुम्हे बताया?

मैं: हां सर उसने बोला मुझे इवनिंग में आप की केबिन में टास्क करना पड़ेगा.

सर: ठीक हे फिर यहाँ आओ और वो ऊपर से बुक्स पकडाओ मुझे.

मैं: ओके सर.

मैं ऊपर से बुक्स को ले रही थी. शेल्फ थोड़ी ऊँची थी और सर पीछे से मेरी टमी और कमर को देख रहे थे. और फिर सर ने एकदम से मुझे कमर से पकड़ लिया. मैं घबरा गई की ये क्या होर रहा हे!

मैं: सर आप क्या कर रहे हो ये?

मैं ये थोड़े गुस्से से कहा था.

सर ने मुझे एक तमाचा मारा और बोले, साली कुतिया किसके ऊपर गुस्सा करती हे.

सर के मुहं से ऐसे शब्दों को सुन के मुझे बड़ा अजीब सा लगा. सर ने मुझे टेबल की तरफ धकेल दिया और मैं और भी डर गई. उन्होंने मुझे कमर से पकड़ लिया और मैं उन्के एकदम करीब था. उन्होंने मुझे कमर से पकड़ लिया और मेरे एकदम करीब आके कहा की तुम्हे पता हे की रिया के मार्क्स इतने अच्छे क्यूँ हे और उसकी कम अटेंडेंस के बावजूद भी उसके माँ बाप को कोई शिकायत नहीं की गई थी.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!