पति ने पत्नी को बुड्ढे अंकल के पास भेजा

ही गाइस, मैं आज स्टोरी के नेक्स्ट पार्ट के साथ हाज़िर हुआ हू. लास्ट पार्ट में आपने पढ़ा था की किस तरह से मैने अंजलि को राजा अंकल से चूड़ने के लिए मनाया. अब आयेज-

इतने में अंजलि के मोबाइल पर राजा अंकल का मेसेज आया, “जाग रही हो?”. अंजलि ने मेरी तरफ दखा और बोली-

अंजलि: पता नही अब ये क्या चाहते है.

विकी: तुमको छोड़ना.

अंजलि: मैं रिप्लाइ ही नही करती

मैने अंजलि के हाथ से मोबाइल लिया और राजा अंकल को मेसेज लिख दिया, “जाग रही हू”.

अंकल का मेसेज आया, “और तुम्हारा पति?”

अंजलि ने जब ये मेसेज दखा तो बोली-

अंजलि: बोल दो जाग रहा है.

लेकिन मैने अंकल को रिप्लाइ किया, “सो गये है”.

फिर राजा अंकल का मेसेज आया, “फिर उपर आ जाओ, मिल कर जाम पीते है”.

अंकल के मेसेज दाख कर मैं अंजलि से बोला-

विकी: तैयार हो जाओ आज रात राजा अंकल के साथ सोने के लिए.

अंजलि: तुम मुझको आज उनके साथ छुड़वा कर ही छ्चोढोगे.

मैने अंकल को रिप्लाइ किया, “20 मिनिट तक वो गहरी नींद में जाएँगे फिर अवँगी. एक दफ़ा वो गहरी नींद में सो जाए, तो सुबा 8 बजे मैं ही उनको उठती हू”.

फिर राजा अंकल का रिप्लाइ आया, “ठीक है आ जाओ”.

मेरा मेसेज पढ़ कर अंजलि बोली-

अंजलि: तुमने ये क्यूँ लिखा की 8 बजे मैं उठती हू?

विकी: इसलिए की मैं चाहता हू राजा अंकल आज तुमको अपने साथ सुलाए.

अंजलि: तुम पागल हो. अपनी बीवी को किसी के साथ पूरी रात सुलाना चाहते हो?

फिर मैने अंजलि को अपनी आनिवर्सयरी की नाइट जो निघट्य उसने पहनी थी वो दी.

अंजलि ने हेस्ट हुए निघट्य ली और बोली-

अंजलि: आज तुम मेरी और राजा अंकल की सुहग्रात देखोगे.

फिर अंजलि तैयार हुई. वो निघट्य काफ़ी छ्होटी थी जो सिर्फ़ गांद तक आ रही थी. अंजलि ने निघट्य के नीचे कुछ भी नही पहना था. निघट्य का कपड़ा काफ़ी बारीक था. उसमे अंजलि का सारा जिस्म सॉफ नज़र आ रहा था. अंजलि ने हल्का सा मेकप किया और मुझको हग करके बोली-

अंजलि: सिर्फ़ तुम्हारे लिए आज मैं राजा अंकल के पास.

विकी: राजा अंकल के साथ खूब एंजाय करना.

अंजलि ने मेरी बात सुनी और हस्स कर उपर चली गयी. राजा अंकल सोफे पर बैठे हुए शराब पी रहे थे. अंजलि को इस ड्रेस में आता दाख कर राजा अंकल का लोड्‍ा खड़ा हो गया. उसके चलने की वजह से उसके बूब्स हिल रहे थे, और सॉफ पता चल रहा था की उसने ब्रा नही पहनी हुई थी.

अंजलि जब राजा अंकल के पास पहुँची तो राजा अंकल ने अंजलि को अपनी मोटी टाँग पर बिता लिया. उसको बड़ी शरम भी आई की एक-दूं से राजा अंकल ने उसको अपनी टाँग पर बिता लिया. राजा अंकल ने अपना एक हाथ अंजलि की कमर के इर्द-गिर्द डाला.

अंजलि ने भी अपनी सारी शरम साइड में रख दी, और राजा अंकल के हाथ से शराब का ग्लास पकड़ कर शराब के ग्लास से एक घूँट पीने के बाद ग्लास राजा अंकल के मूह के पास ले गयी.

राजा अंकल ने अपने होंठ खोले तो अंजलि ने ग्लास उनके मूह लगा दिया. दो घूँट शराब पीने के बाद राजा अंकल ने ग्लास डोर किया, और अंजलि के होंठो पर अपने काले होंठ रख कर अंजलि के गुलाबी होंठ चूसने लगे.

अंजलि अब राजा अंकल का पूरा-पूरा साथ दे रही थी. उसने भी ग्लास साइड में कर दिया था, और दोनो हाथो से राजा अंकल का सिर पकड़ लिया.

2 मिनिट्स तक ऐसे ही किस करने के बाद दोनो एक-दूसरे से अलग हुए. अंजलि की साँसे तेज़ चल रही थी. राजा अंकल ने अंजलि का हाथ पकड़ा, और उसको अपने बेडरूम में ले गये.

बेडरूम में जेया कर राजा अंकल ने अंजलि की निघट्य उतार दी. अंजलि अब राजा अंकल के सामने बिल्कुल नंगी थी. उसको बड़ी शरम आ रही थी. अंजलि ने अपने हाथो से अपने बूब्स कवर किए हुए थे.

राजा अंकल ने अपने सारे कपड़े उतार दिए, और वो भी पुर नंगे हो गये. अंकल का जिस्म काफ़ी अजीब था. राजा अंकल का पेट आयेज को निकला हुआ था, पुर जिस्म पर काफ़ी बड़े-बड़े बाल थे, और नेआचे 9 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लोड्‍ा था. अंजलि राजा अंकल का लोड्‍ा देख कर दर्र गयी. राजा अंकल ने अपने हाथ से अपना लोड्‍ा पकड़ा, और अंजलि के पास गयी, और कमर से पकड़ कर बेड पर लिटा दिया.

फिर राजा अंकल ने अंजलि के दोनो हाथ हटाए, जिसकी वजह से अंजलि के बूब्स राजा अंकल के सामने थे. अंकल ने अपने सख़्त हाथो से अंजलि के बूब्स दबाना शुरू कर दिए. उसको बड़ा मज़ा आ रहा था. उसने अपनी आँखें मज़े से बंद कर ली.

राजा अंकल लेफ्ट हॅंड से अंजलि का लेफ्ट बूब दबा रहे थे, और अपनी ज़ुबान को अंजलि के रिघ्त बूब के निपल पर फेर रहे थे. अंजलि मज़े से सिसकियाँ ले रही थे. फिर राजा अंकल अंजलि के रिघ्त बूब को चूसने लग गये, और साथ ही साथ लेफ्ट बूब मसालने लगे. अंजलि ने मज़े से अपनी आँखें बंद की हुई थी.

बूब्स चूस्टे-चूस्टे राजा अंकल ने अंजलि के रिघ्त बूब पर काट दिया. अंजलि को दर्द हुआ, तो उसने हल्की सी चीख मारी. लेकिन राजा अंकल पर उसकी चीख का कोई असर नही हुआ. राजा अंकल बस अब अंजलि के दोनो बूब्स से खेल रहे थे. अंजलि को भी काफ़ी मज़ा आ रहा था. लेकिन जब राजा अंकल उसके बूब्स पर काट-ते तो उसको हल्का सा दर्द होता.

10 मिनिट तक बूब्स से खेलने के बाद राजा अंकल अंजलि के उपर से हटते, तो अंजलि के दोनो बूब्स राजा अंकल की थूक से गीले हो चुके थे. अंजलि के दोनो बूब्स पर राजा अंकल के दांतो के निशान थे. फिर राजा अंकल ने दोबारा से अंजलि को किस करना शुरू कर दिया. 2 मिनिट्स तक किस करने के बाद राजा अंकल ने अंजलि को उठाया, और नीचे ज़मीन पर बिता दिया.

अंजलि ज़मीन पर राजा अंकल की दोनो टाँगो के बीच घुटनो के बाल बैठ गयी. राजा अंकल का काला लोड्‍ा अब अंजलि के मूह के करीब था. अंजलि ने राजा अंकल की तरफ देखा तो उन्होने अंजलि को उसे चूसने का कहा. अंजलि ने आज तक कभी मेरा लोड्‍ा नही चूसा था. मैं जब भी उसको बोलता वो माना कर देती थी. पर इधर अंजलि ने अपने हाथ से राजा अंकल का लोड्‍ा पकड़ा, और उसको सहलाने लगी.

फिर अंजलि अपना मूह राजा अंकल के लोड के पास ले कर गयी, और अपनी ज़ुबान को राजा अंकल के लोड पर फेरने लगी. 1 मिनिट के बाद अंजलि ने अपना मूह खोला, और राजा अंकल का लोड्‍ा चूसने लगी.

5 मिनिट तक लोड्‍ा चूसने के बाद राजा अंकल ने अंजलि को उठाया, तो अंजलि के मूह से थूक निकल रही थी, जिसकी वजह से अंजलि के बूब्स गीले हो चुके थे. राजा अंकल का लोड्‍ा अंजलि की थूक से गीला हो चुका था.

राजा अंकल ने अंजलि को बेड पर लिटाया और उसकी टांगे उठाई जिसकी वजह से अंजलि की छूट राजा अंकल के सामने आ गयी. अंकल ने अंजलि की छूट पर थोड़ी सी थूक लगाई, और अपने लोड को अंजलि की छूट पर फेरने लगे. अंजलि को बड़ा मज़ा आ रहा था. उसने अपनी आँखें बंद की हुई थी. अचानक से राजा अंकल ने अपना लोड को अंजलि की छूट पर रख कर धक्का दिया, जिसकी वजह से राजा अंकल का लोड्‍ा अंजलि की छूट फाड़ता हुआ अंदर दाखिल हो गया.

अंजलि दर्द से चीख पड़ी, लेकिन राजा अंकल को बड़ा मज़ा आया इतनी टाइट छूट में लोड्‍ा डाल कर. अंजलि उनको माना कर रही थी, पर राजा अंकल आहिस्ता-आहिस्ता अंजलि की छूट में अपना लोड्‍ा अंदर-बाहर कर रहे थे. 2 मिनिट के बाद अंजलि को भी मज़ा आने लगा. अब वो भी सिसकियाँ ले रही थी. उसको सिसकियाँ लेता देख कर राजा अंकल ने अपने धक्को की स्पीड बढ़ा दी. अब पुर कमरे में तुप-तुप की आवाज़े गूँज रही थी.

10 मिनिट्स के बाद राजा अंकल पीछे हटते और अंजलि की छूट से अपना लोड्‍ा निकाल लिया. राजा अंकल का लोड्‍ा पूरा गीला था. अंजलि ने सवालिया नज़रो से राजा अंकल को देखा की वो क्या करना चाहते थे. राजा अंकल बेड पर लेट गये, और अंजलि को अपने उपर बैठने को कहा. अंजलि राजा अंकल के लोड पर बैठ गयी.

फिर अंकल नीचे से हल्के-हेक ढके मार रहे थे, लेकिन अंजलि को मज़ा नही आ रहा था. अंजलि ने राजा अंकल के सीने पर दोनो हाथ रखे, और ज़ोर-ज़ोर से राजा अंकल के लोड पर उछालने लगी. राजा अंकल अंजलि को देख रहे थे. ज़ोर-ज़ोर से उछालने की वजह से अंजलि के बूब्स ज़ोर-ज़ोर से हिल रहे थे.

10 मिनिट्स के बाद राजा अंकल ने अंजलि की कमर को ज़ोर से पकड़ा, और अपनी तरफ खींच लिया. फिर वो अंजलि के मूह को चूमने लगे, और अपना पानी अंजलि की छूट में छ्चोढ़ दिया. दोनो की साँसे तेज़ चल रही थी. अंजलि राजा अंकल के उपर से उतार कर साइड में लेट गयी.

5 मिनिट तक दोनो ऐसे ही लेते रहे. फिर अंजलि उठ कर वॉशरूम चली गयी, और 5 मिनिट के बाद नहा कर बाहर आई तो अपनी निघट्य पहनने लगी. लेकिन राजा अंकल ने माना कर दिया और वॉशरूम चले गये. 5 मिनिट बाद राजा अंकल वॉशरूम से बाहर आए, और अंजलि का हाथ पकड़ कर बेड पर अपने साथ लिटा लिया. अंजलि राजा अंकल की बाहों में जेया कर बोली-

अंजलि: मुझको जाने दो, नीचे मेरा हज़्बेंड और मेरा बच्चा सो रहे है.

राजा अंकल: तेरा पति तो 8 बजे उठेगा. तब तक तू मेरी बाहों में सो.

अंजलि राजा अंकल की बात सुन कर हासणे लगी और राजा अंकल उसके गाल चूमने लगे. तो बे कंटिन्यूड…

आपको मेरी स्टोरी कैसी लगी फीडबॅक लाज़मी देना कलVइकि1999@गमाल.कॉम

पर.

यह कहानी भी पड़े  नामर्द की बीवी को प्रेग्नेंट किया


error: Content is protected !!