पति के जूनियर का बड़ा लंड लिया

सब से पहले मैं Antarvasna अपने बारे में बता दूँ. मेरी एज 31 साल की हे और मैं एक हाउसवाइफ हूँ जिसका एक बेटा हे. मेरे हसबंड मेरे से पांच साल बड़े हे और उनकी जॉब में बहुत ट्रान्सफर और टूरिंग रहती हे. हमारी शादी को 8 साल हो चुके हे. मैं 5 फिट 6 इंच लम्बी हूँ और मेरा फिगर 38-32-36 हे. मेरा रंग साफ़ हे और चहरा एकदम सेक्सी हे. मेरा नाम ललिता हे.

ये बात बताने से पहले मैं आप को बता दूँ की आखिर मैंने ये सेक्स क्यूँ किया? दरअसल मैं अपनी सेक्स लाइफ में उतनी खुश नहीं थी. और पति के सेक्स में कुछ साहस या नयापन भी नहीं था. मेरा पति डार्क कलर का और हाईट में मेरे से छोटा हे. और उनका लंड भी साड़े 4 इंच का ही हे. और वो बिस्तर में मुझे एक ही बार चोद पाता हे. और सेक्स की फ्रीक्वेंसी भी हफ्ते में केवल एक बार की हे. जब वो मेरे ऊपर आता हे तो लगता हे की कोई बच्चा हो. और जब वो चोदता हे तो लगता हे की चूत के ऊपर फिधर घूम रहे हो.

मेरे पति का एक जूनियर हे जिसकी उम्र 23 साल हे. वो अक्सर मेरे पति की प्रोफेशनल हेल्प लेने के लिए हमारे घर पर आता था. ये बात हुई तब मेरी उम्र करीब 26 साल की थी. वो लम्बा और गोरा था और उसकी बॉडी भी एकदम मस्क्युलर थी. उसके हाथ और छाती के ऊपर घने बाल थे जिन्हें देख के मैं उत्तेजित हो जाती थी. वो मेरे हसबंड की नजरें बचा के मुझे कातिल निगाहों से देखता था.

और उसकी वो निगाहें मेरी चूत का पानी छुडवा देती थी. और मैं उसके बारे में सोच के फिंगर भी कर लेटी थी. एक दीन मेरे पति बहुत शराब पी के आये थे घर पर और आते ही वो सो गए. और उसके कुछ ही देर में ये लड़का अमित भी आ गया उन्के पीछे. वो बैठा और बोला सर को आज ज्यादा ही हो गई. और वो मेरी नाईट ड्रेस को देखने लगा. उसकी नजर मेरे बूब्स के ऊपर आ के अटक सी जाती थी.

यह कहानी भी पड़े  वर्जिन कॉलेज गर्ल बाय्फ्रेंड से चुदि

वैसे मेरा भी मन कर रहा था की जा के उसे कर लूँ. लेकिन मेरे पति बगल की रूम में ही सो रहे थे. वो भी मुझे आँखों ही आँखों से चोद के कुछ देर में वहां से चला गया. तब तक तो मेरी चूत एकदम गीली हो गई थी और उसके अन्दर से पानी छुट गए थे.

दुसरे सिन संडे था. और मैंने पति से कहा की चलो न सिटी के बहार वाले बिच पर चलते हे और मुझे रात तक वही पर रुकना हे. पति ने कहा अरे अभी मौसम सही नहीं हे नाईट के लिए. मैंने कहा, क्यूँ? वो बोले डेंजरस हे बाइक ड्राइविंग. मैंने कहा अमित को बुला लो एस्कॉर्ट के लिए. पति ने कहा ठीक हे. शाम के 7 बजे हम लोग चोटी के ऊपर थे जहां से निचे दरिया और ऊपर आसमान दिख रहा था. मेरे पति ने कहा मैं एक काम करता हूँ हमारे लिए निचे से कुछ खाने के लिए ले के आता हूँ. मैंने कहा उसमे तो बहुत देर होगी. वो बोले, जल्दी ही आता हूँ.

मुझे पता था की वो जल्दी तो आने से ही रहे. क्यूंकि संडे की वजह से निचे इटरी में भी काफी भीड़ ही होनी थी. चोटी की जिस जगह को हमने चुना था वो भीड़भाड़ वाली नहीं लेकिन एकदम शांत थी. मेरे और अमित के सिवा अभी वहां कोई नहीं था.

अचानक वो करीब आया और उसने मेरा हाथ पकड़ लिया. और मुझे भी पता नहीं क्या हुआ की मैंने उसे हग कर लिया. उसके बदन की खुसबू उसकी छाती की अकड वगेरह मुझे एकदम एक्साइट कर रही थी. और मैंने उसे एकदम जोर से हग कर लिया और मेरे चहरे को उसके चहरे से लगा दिया.

यह कहानी भी पड़े  भाभीयों ने मुझे बर्बाद और फिर आबाद किया

उसने हाथ को गांड पर रख के दबाया और उसके शेप का जायजा लिया जैसे. उसने मेरी मिडी को ऊपर कर के गांड को सहलाई और बोला, वाऊ क्या मस्त एस हे आप की!

फिर उसने अपने होंठो को मेरे होंठो के ऊपर रख दिए और किस करने लगा. आज से पहले वो मुझे मेडम मेडम करता था लेकिन आज मुझे नाम से ही बुला रहा था. मैंने उसके पेंट के बल्ज के ऊपर अपना हाथ रख के उसके पेनिस को महसूस किया. उसका लंड मेरे हसबंड के लंड से ऑलमोस्ट डबल लम्बा और कडक था. उसने मुझे अपनी स्कूटर के ऊपर बिठा दिया और मेरे टॉप का आगे का हिस्सा खोल दिया. मेरी ब्रा के अन्दर छिपे हुए बूब्स को देख के जैसे वो लकवा मार गया. मैंने हाथ पीछे कर के अपनी ब्रा को अनहुक किया और कप्स को ऊपर कर के असली बूब्स दिखाए उसे.

मेरे बड़े और टाईट बूब्स मूनलाईट में चमक से रहे थे जिस से वो चौंधिया सा गया था. उसने निचे झुक के मेरे ब्राउन निपल्स को वो मुहं में दबा के चूसने लगा और वो मोअन करने लगा था.

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!