पड़ोसी के साथ हज़्बेंड स्वापिंग-7

आपने लास्ट पार्ट में पढ़ा मेरे और मेरी पड़ोसन सेजल के बीच हज़्बेंड स्वापिंग हुआ, और मैं कैसे सेजल के हज़्बेंड प्रतीक से चूड़ी. अब ये पार्ट में आपको सेजल की ज़ुबानी बतौँगी.

जब काव्या मेरे पति प्रतीक को बेडरूम में लेकर गयी, तब काव्या का हज़्बेंड अनुज तोड़ा नर्वस हो गया. जब पहली बार स्वापिंग होता है तो तोड़ा बुरा लगता है. मैं अनुज की फीलिंग समझ रही थी. मैने अनुज के लिप्स पर किस करना स्टार्ट कर दिया.

सेजल: क्या हुआ अनुज? तुम खुश नही हो मेरे साथ? इतने दीनो से मुझे घूरते रहते थे. आज मैं आपके पास हू, तो अछा नही लग रहा?

अनुज: अर्रे नही बेबी. मैं तो बहुत खुश हू. मुझे तो यकीन नही हो रहा हम दोनो अभी ये सब कर रहे है.

सेजल: काव्या प्रतीक के साथ सेक्स करने चली गयी. उसके लिए बुरा लग रहा है?

अनुज: अर्रे ऐसा नही है. मैं तो बस ये सोच रहा हू. काव्या आचे से एंजाय करे, और उसको मज़ा आए तो हम ये स्वापिंग करते रहे. एक बात काहु सेजल?

सेजल: हा मेरी जान, जो कहना है कहो. ( मैं उसकी गोदी में बैठ गयी, और दोनो हाथ उसके गले में डाल दिए)

अनुज: मुझे तुम बहुत अची लगती हो. तेरा फिगर बहुत सेक्सी है. तेरी गांद देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता है. आज शादी में तुम दोनो मेरी जान निकाल रही थी. आज तुम ब्लॅक सारी में सेक्सी बॉम्ब लग रही हो. मेरी नज़र ही नही हट रही. मैने कभी सोचा नही था हम ऐसा भी कुछ करेगे. ई’म वेरी लकी.

सेजल: सच काहु तो अनुज आप मुझे ग़लत मत समझ लेना. मैने आपको पहली बार देखा तब आप से इंप्रेस्ड हो चुकी थी. और जब हमारा साथ में घूमना. एक-दूसरे के साथ टाइम स्पेंड होना शुरू हुआ, तो धीरे-धीरे मुझे आप से प्यार हो गया. इसीलिए मैने स्वापिंग के लिए हा कर दी. मैं आज आपको प्रपोज़ करना चाहती हू. ई लोवे योउ ( मेरी आँखों में आँसू आ गये थे, और अनुज की हवस प्यार में बदल गयी).

अनुज: ई लोवे योउ टू (अनुज ने मेरे आँसू पोंछे).

सेजल: तुम मेरा साथ नही छ्चोढोगे ना?

अनुज: नही मेरी जान, अब से मैं हमेशा तेरे साथ हू.

अनुज ने मुझे किस करना स्टार्ट किया. वो बहुत ही आचे से किस कर रहा था. मैं उसको पूरा रेस्पॉन्स दे रही थी. वो मेरी नेक पर किस करना स्टार्ट कर दिया, और धीरे-धीरे सारी के उपर से बूब्स पर किस किया.

मैं अब भी उसकी गोदी में थी. मैं सिसकिया ले रही थी. पता नही अनुज के साथ एक और ही ऑरा मिल रहा था. ऐसा लग रहा था की आज मैं पूरी हुई थी. मैं प्रतीक से बहुत प्यार करती थी, पर उतना ही प्यार मेरा अनुज के लिए था.

अब अनुज ने मुझे खड़ा किया, और घुमा दिया. उसने मेरी पूरी बॅक पर किस किया और पीछे से बूब्स दबाने स्टार्ट कर दिए. और सारी के उपर से मेरी गांद पर लंड फील करवा रहे थे. अब उन्होने मेरी सारी और पेटिकोट निकाल दिए. अब मैं सिर्फ़ ब्लॅक ब्रा और पनटी में खड़ी थी.

मेरे 36″ साइज़ बूब्स और 38″ की गांद ब्रा-पनटी में हॉट लग रही थी. उपर से मेरे कर्ली हेर खुले थे. अनुज तो मुझे 1-2 मिनिट देखते ही रहे. फिर मेरे पास आ कर टाइट हग कर दिया, और पागलों की तरह मुझे लीप किस कर रहे थे. किस करते-करते मुझे दीवार से चिपका दिया. हमने 5 मिनिट लोंग डीप किस किया.

मैं भी उसका फुल सपोर्ट कर रही थी. वो साथ में मेरी चूची और गांद दबा रहे थे. मैं भी उनका लंड पंत के उपर से सहला रही थी. अनुज का लंड बहुत टाइट हो गया था. मैने अनुज के कपड़े उतार दिए, और सिर्फ़ अंडरवेर में खड़ा कर दिया. मैने उनको सोफा पर बिता दिया, और उनकी चेस्ट पर किस किया. फिर मैने अनुज के निपल चूसने स्टार्ट किए.

साथ में अंडरवेर के उपर से लंड सहला रही थी. मुझे अनुज का बॉडी शेप बहुत अछा लगा. मैं अब नीचे घुटनो पर बैठ गयी. अनुज समझ गये मुझे क्या चाहिए उन्होने अपनी गांद को थोड़ी उपर किया और मैने एक झटके में अंडरवेर निकाल दिया.

मैं उसके लंड को देख कर खुश हो गयी. अनुज का लंड मेरे हज़्बेंड प्रतीक के लंड से काफ़ी गोरा था. मैने पहले साइड से लंड चाटना स्टार्ट किया, और फिर पूरा मूह में ले लिया. 15 मिनिट लगातार मैं लंड चूस्टी रही. मुझे उनका लंड मूह से निकालने की इक्चा नही हो रही थी. वो भी मेरे बालों को पकड़ कर मेरा मूह छोड़ रहे थे. मेरे मूह से लार तपाक रही थी. अनुज का लंड मैं गले तक ले कर चूस रही थी.

अब मैने अपने हाथ पीछे करके ब्रा के हुक खोल दिए, और ब्रा निकाल कर साइड कर दी. फिर लंड मूह से निकाल कर दोनो बूब्स के बीच फ़ससा दिया. मैं अनुज के लंड पर बूब्स से मसाज कर रही थी. मैं अनुज की रंडी बन गयी थी.

अनुज: श मी गोद. सेजल प्लीज़ यार. मेरे से अब कंट्रोल नही हो रहा. तुम कितनी आसम हो. ऐसा मज़ा लाइफ में कभी किसी ने नही दिया. अब तो मुझे तुम्हारी आदत हो जाएगी.

सेजल: आपके प्यार में पागल हू मैं. आपके लिए मैं कुछ भी करने को रेडी हू. बस आप मेरा साथ दो, मैं आपको कभी निराश नही करूँगी. मुझे आज आप से बहुत प्यार चाहिए. मेरी छूट आपका लंड लेने को कितने महीनो से तड़प रही है. आज मेरी आचे से चुदाई कर दो प्लीज़ मेरे जानू.

मेरे इतना कहते ही अनुज ने मुझे खड़ा कर दिया, और मेरी पनटी निकाल दी. अब मैं सोफा पर लेट गयी, और अनुज मेरी छूट चाटना स्टार्ट कर दिया. अनुज की ज़ुबान मेरी छूट से टच हुई, की मेरी छूट ने पानी छ्चोढ़ दिया.

अनुज: जान तुम तो बहुत हॉर्नी हो गयी हो. लगता है आज तुझे मुझसे चूड़ने की बहुत इक्चा हुई है.

सेजल: हा बहुत ही. आपने मेरी चुदाई के जीतने सपने देखे है, आज सब सच कर दो.

अनुज ने मेरी छूट का पानी चाटना स्टार्ट कर दिया. मैं मोन कर रही थी.

सेजल: और आचे से छातो अनुज. तुम बहुत आचे से कर रहे हो. प्लीज़ डॉन’त स्टॉप. ई’म युवर्ज़ बेबी. मुझे छ्चोढ़ कर मत जाना. मैं आपकी बन कर रहूंगी. ई लोवे योउ. अब मैं आपकी भी बीवी हू.

अनुज मेरी बातों से और एग्ज़ाइटेड हो गये, और मुझे लगातार प्यार देते रहे. मैं साथ में सोच रही थी की मैं बहुत लकी हू जो मुझसे 3 लोग प्यार करते है. काव्या मेरी लाइफ में ना आती तो मेरी लाइफ में क्या होता. मेरी जवानी बर्बाद हो जाती. काव्या पे मुझे और प्यार आ रहा था. काव्या ना होती तो ये प्लान फैल था. मुझे गैर मर्द का सुख नही मिलता. ना ही मुझे मेरी लेज़्बीयन पार्ट्नर मिलती. मेरे से कंट्रोल नही हो रहा था.

सेजल: अनुज प्लीज़ बेबी अब छोड़ो मुझे. रहा नही जेया रहा.

अनुज ने मुझे घोड़ी बनाया, और पीछे से गांद पर 2-3 स्लॅप मारे. मेरी छूट इतनी गीली थी की एक झटके में पूरा लंड छूट में उतार गया. मेरी आ निकल गयी. अनुज पीछे से मेरी अची चुदाई कर रहे थे. उनका स्टॅमिना बहुत स्ट्रॉंग था. मेरे बूब्स उनके झटके साथ पुर नीचे से झूल रहे थे. चुदाई के दौरान मैं 2-3 बार झाड़ गयी.

लेकिन अनुज रुकने का नाम नही ले रहे थे. अब वो सोफा पर लेट गये, और मुझे आयेज लिटा दिया, और पीछे से छूट में लंड डाल दिया. फिर एक पैर उपर करके मेरी चुदाई शुरू कर दी. अनुज को चुदाई का अछा एक्सपीरियेन्स है.

हमने 2-3 पोज़िशन्स में चुदाई की. मुझे डॉगी स्टाइल में आचे से छोड़ा, बाद में मुझे सोफा पर लिटा कर उनके उपर बिता कर चुदाई की. मैं बहुत तक गयी थी. मेरी छूट में सूजन ये गयी थी.

सेजल: क्या बेबी, मेरी छूट इतनी पसंद आ गयी है की रुक ही नही रहे?

अनुज: हा, कितने दीनो से में तेरी चुदाई के लिए तड़प रहा हू. आज मेरे हाथ लगी हो तो.

सेजल ( मैं उसकी और मेरी गांद करके उसको सिड्यूस करती हू): मेरी छूट ही पसंद है या और कुछ भी?

अब अनुज ने मेरी गांद पे हाथ घुमाया और गांद पर किस किया और चाटने लगे. मुझे पता भी नही चलने दिया, और एक उंगली गांद में डाल दी. मुझे तोड़ा दर्द हुआ, तो मेरी आ निकल गयी.

सेजल: धीरे से डार्लिंग. आज मैं आपके साथ हू, कही नही जाने वाली. आपकी जितनी मुराद है, आज पूरी कर लीजिए.

अब अनुज और मेरे बीच क्या होता है, ये आपको नेक्स्ट पार्ट में बतौँगी. आपको स्टोरी अची लगे तो

यह कहानी भी पड़े  मा-बेटे की दोस्ती और प्यार


error: Content is protected !!