पड़ोस की कमसिन कुंवारी लौंडिया

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार. दोस्तो, मैं अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज का एक नियमित पाठक हूँ. अन्तर्वासना पर यह मेरी रियल सेक्स स्टोरी है.

कहानी शुरू करने से मैं पहले अपने बारे में बता देता हूँ. मेरा नाम काव्य चौधरी है. मैं मुरादाबाद के पास एक गाँव में उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ. यह कहानी मेरे पड़ोस में रहने वाली लड़की की चुत चुदाई की कहानी है.

हुआ यूं कि मैंने अपनी गर्लफ्रेंड का नम्बर मोबाइल में सेव कर रखा था. एक दिन किसी बात को लेकर मेरी गर्लफ्रेंड से लड़ाई हो गई. लड़ाई इतनी ज्यादा हो गई कि मैंने गुस्से में उसका नम्बर डिलीट कर दिया. लड़ाई के काफी दिन हो जाने के बाद मेरे व्हाट्सैप नम्बर पर किसी अनजान नम्बर से मैसेज आया.

मैंने जब पूछा कि आप कौन हो?
तो उधर से मैसेज आया- खुद ही पहचान लो.
मैंने अपने सब दोस्तों के नाम लिख कर पूछा. पर वो मना करती रही.

फिर मैंने मन में सोचा कि कभी ये मेरी गर्लफ्रेंड सोनम तो नहीं है. जब मैंने सोनम लिखा.
तो उसने बहुत देर के बाद मैसेज किया- हां, मैं सोनम ही हूँ.
मैंने फिर उसे अपनी गलती के लिए सॉरी बोला, तो उसने कहा- छोड़ो उस बात को.
मैंने भी स्माइली भेज कर बात खत्म कर दी.

अब फिर उसने मुझसे कहा कि मेरे इस व्हाट्सैप नम्बर पर कभी भी कॉल मत करना.
मैंने कहा- क्यों?
तो उसने कहा- ये नम्बर मेरी मम्मी के पास रहता है.
मैंने कह दिया- चलो कॉल नहीं करूँगा, लेकिन चैट तो कर सकते हैं न?
तो उसने मुझसे कहा- वो भी जब करना जब मैं शुरुआत करूँ.

मैंने मान लिया. इसके बाद मेरी रोज बातें होने लगीं. व्हाट्सैप पर ही सेक्स चैटिंग भी खूब होती थी.

यह कहानी भी पड़े  रंडी के जैसे मैंने रिक्शेवाले का लंड लिया

मेरी जिस वजह से सोनम से लड़ाई हुई थी, वो बात मैं उससे चैटिंग पर पूछने लगा कि तुमने मेरे संग इतना बड़ा धोखा क्यों किया?
उसने कहा- क्या धोखा दिया मैंने?

फिर मैंने अपनी सब बातें उससे कही कि तुम सेक्स करते बीच में ही घर क्यों चली गई थीं.
इस पर वो चुप हो गई.

फिर मैंने सोचा कि कहीं ये फिर से गुस्सा ना हो जाए, तो मैंने उससे कहा कि यार मुझे तुम्हारी रात में बहुत याद आती है. और जब तुम्हारी याद आती है तो उस दिन की तुम्हारी ओर अपनी होटल वाली फोटो देख लेता हूँ.
उसने कहा- कौन सी फोटो?
मैंने कहा- जो तुमने ओर मैंने बिना कपड़ों की फोटो खींची थी, उन्हीं फोटोज को देखता रहता हूँ.
उसने कहा कि उन फोटो को जरा मेरे पास भी सेंड करो.
मैंने वो सारी फोटो उसे सेंड कर दिये.
सोनम ने फोटो देखीं और कहा- अब सो जाओ, कल बात करती हूँ.

फिर जब मैं सुबह को उठा तो मैं नहा धोकर घर के पास ही घूम रहा था.
तभी मेरे पड़ोस में रहने वाली भाभी की बेटी ने मुझे बुलाया. उसका नाम भी सोनम था. वो मेरे से 2 साल छोटी थी.
मैंने कहा- हां, बता क्या बात है?
तो वो कहने लगी- क्या कर रहे हो?
मैंने कहा- कुछ नहीं सोनम, ऐसे ही बाहर खड़ा हूँ.
फिर वो हंसने लगी.

मैंने कहा- क्यों हंस रही है? क्या मिल गया तुझे?
उसने कहा- मिला तो कुछ नहीं.. बस ऐसे ही हंस रही हूँ.
मैंने कुछ नहीं कहा, बस उसके पागलपन को देखता रहा.

सोनम ने कहा- तुम्हारी गर्लफ्रेंड कैसी है?
मैंने कहा- मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.
तो सोनम बोली- झूठ मत बोलो.
मैंने कहा- सच्ची में मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.
तो उसने जोर देकर कहा- तुम्हारी गर्लफ्रेंड है.
मैंने कहा- नहीं है मेरी गर्लफ्रेंड..
तो फिर सोनम बोली- रुको.. मैं अभी आती हूँ.

यह कहानी भी पड़े  आम की लालच में चूत फड़वाई आदिवासी लड़की ने

सोनम अपने घर के अन्दर गई और अपना मोबाइल निकाल कर लाई और दूर से मुझे मेरी और मेरी गर्लफ्रेंड की फोटो दिखाई, जो रात में मैंने सेंड की थी.
मैं एकदम से सोच में पड़ गया. फिर समझ आया. मैंने तुरंत उसी व्हाट्सैप नम्बर को कॉल किया, जिस पर मेरी बात होती थी.

तो वो तो इस सोनम का निकला.
मैं भाग कर उसका मोबाइल को लेने के लिए झपटा, तो उसने इतने मोबाइल का लॉक लगा दिया. मैंने उससे बहुत देर तक मिन्नत की, पर सोनम नहीं मानी.

मैंने उससे कहा- इतने दिन तक मैंने तुझसे अनजाने में बात की थी.. मुझे नहीं मालूम था कि वो तू है.
सोनम बोली- हां वो मैं ही थी.
मैंने कहा- तुझे जो भी कुछ चाहिए बता दे.. पर मेरे ये फोटो और मैसेज डिलीट कर दे.
उसने कहा- अभी मुझे कुछ नहीं चाहिए, पर हां जल्दी ही मैं तुमसे जो कुछ मांगूगी.. वो देना पड़ेगा और तभी मैं ये फोटो डिलीट करूँगी.
मैंने कहा- तुझे जो भी चाहिए, अभी ले ले.. पर ये फोटो अभी की अभी डिलीट कर दे.
उसने कहा कि कल जब मैं अपने कॉलेज जाऊंगी, तो तुम मेरे साथ बाइक लेकर चलोगे.

मुझे मज़बूरी में हां करनी पड़ी.

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!