ऑनलाइन फ्रेंड के साथ लंबी-ड्राइव और फिर चुदाई

ही एवेरिवन, माइसेल्फ मनु फ्रॉम लुक्कणोव और मई एक आचे घर से हू. मेरी एक फ्रेंड ने बताया की लॉक्कडोवन् मे न्यू फ्रेंड्स बनाना है तो मिंगल अप डाउनलोड करो और मैने कर लिया.

एक हफ्ते तक मई काफ़ी लड़कियो को रिक्वेस्ट भेजी. एक श्वेता नाम की लड़की ने आक्सेप्ट की. वो भी लुक्कणोव मे प्ग मे रहती थी और हुमारी कुछ दिन बात हुए अप पर फिर व्हट्सप्प नंबर शेर हुए.

फिर 2 दिन व्हातसपप पर बात हुए अडल्ट म्स्ग भी शेर होने लगे और हम दोनो एक दूसरे से काफ़ी खुल गये थे. वो भी एक आचे घर से थी. फिर हम दोनो ने मिलने का प्लान बनाया.

श्वेता गोरी थी, हाइट 5’8, फिगर 36 28 36. फूली गांद और चुचि और अप्पर से गोरी. हूंने 4 बजे मिलने का प्लान बनाया क्यू की यूयेसेस दिन मौसम भी आछा रेनी था.

वो मेरी कार मे बैठी, ही हेलो हुआ. वो त-शर्ट और स्कर्ट और हील्स मे थी. कसम से मॅन दोल ही गया था यार.

फिर हम दोनो ड्राइव पर निकल गये फिर 5 मीं बाद मैने पूछा पियोगी? तो बोलो थोड़ी सी बस फॉर आ गुड कंपनी. ई साइड “या शुवर”. फिर बल्लींटीने (विस्की) की बॉटल खोली. दोनो का एक एक स्ट्रॉंग पेग बनाया. ड्राइव करते करते ख़तम किया फिर एक एक और बनाया.

अब हल्का हल्का दोनो को मज़ा आने लग गया था. तो मैने एक सिग्रटते जलाई ब्लॅक (लोनगवाली उसको पीने से लिप्स मे टेस्ट आ जाता है मीठा मीठा) उसने भी जाय्न किया.

फिर मैने दीरे से उसके हाथ पर हाथ रखा और उंगली चलाने लग गया. शी वाज़ एंजायिंग मुझे देख कर स्माइल करी. फिर जैसे ही सिग्रटते ख़तम हुई तो मैने भी उसको अपनी तरफ खीचा और होंठ पर होंठ रख दिए और लगा चूसने और भी पागलो की तरह मेरा साथ दयने लग गयी.

करीब 15 मीं ऐसे ही स्मूच आंड नेक लिकिंग चली. फिर मैने उसकी लूस त-शर्ट के अंदर हाथ डाल दिया. उसने रोकने की कोशिश की पर मई कहा रुकने वाला था.

वो कोशिश करती तो मई लिप्स पर बीते कर देता. और फिर उसने हार मानलि और कार की सीट नीचे कर ली. मई फटाफट त-शर्ट उठाई, ब्रा हटाई और लगा रेड निपल्स चूसने. और वो और तड़पने लगी, मई और चूसने लगा, काटने लगा जिससे वो पागल हो गयी.

फिर मैने उसकी शर्ट के अंदर हाथ डाला तो पनटी पूरी गीली थी. पर वो निपल चुसवाने मे मस्त थी. उसको पता ही नही चला की मेरा हाथ उसकी पनटी पर है. फिर जब होश आया तब तक लाते हो चुका था. और मई एक उंगली पनटी की एक साइड से उसकी छूट मे घुसा चुका था.

उसकी छूट चिकनी थी और फिर जैसे ही मैने उंगली अंदर बाहर की वो तो पागल हो गयी. और उसने कहा की खा जाओ मेरे निपल. मई और तीज बीते करने लग गया.

फिर उसने अपनी पनटी उत्तर कर कार मे बॅक सीट पर फेक दी. और मई उंगली अंदर बाहर करने लगा. वो कुट्टिया बन गयी फिर मैने उसके कान मे पूछा “छूट लीक करावगी?” उसका रिप्लाइ था “हन”.

पर मैने बोला एक शर्त है, तुमको मेरा “लीक करने निकलना होगा ” और बिना टाइम वेस्ट किए उसने ओक बोल दिया. और मैने उसको थीडा किया और अपना मूह उसकी गीली छूट पर रख दिया और लगा चाटने और जीब चलाने लगा.

वा क्या सालती पानी था उसका. फिर उसने मेरे बाल पकड़ कर मेरा मूह और दबा लिया. वो आउट ऑफ सेन्स थी और पूरी पागल हो गयी थी. वो दो बार झढ़ चुकी थी और मई सब चाट गया था.

फिर मैने उसको हटाया और वो सीधे हुई. मैने उसके बाल पकड़ कर सीधा लंड के पास ले गया . उसने मेरी जीन्स खोली और मेरा ताना हुआ लंड निकाला और लग हाई चूसने.

15 मीं मेरा लंड चूसने के बाद मेरा स्पर्म निकल आया और वो हटने की कोशिश करने लगी. मैने बाल पकड़ कर रखा और पूरा स्पर्म उसके मूह मे निकाल दिया और बोला पी जेया कुत्त्या. वो पी गयी फिर मेरा लंड चूस कर सॉफ किया और बोली की छोड़ दो मुझे!

मैने कहा होटेल मे रूम बुक करू? वो बोली “करो”. अब वो चूड़ने को इतना तड़प रही थी की वो सब कुछ करने को तैयार थी. किसी ने सही कहा है “लड़की को जितना तड़पावग्ये वो सेक्स मे उतनी ही वाइल्ड होगी”.

मैने रूम बुक किया होटेल मे और फिर वो बोली की मेरी पनटी उत्ड़ो बॅक सीट से. मैने कहा क्या करोगी पनटी पहन कर अभी फिर उतारनी है.

वो बोली की पागल हो स्कर्ट मे हू मई, बिना पनटी के सब कुछ देखेगा! मैने बोला, कुछ नही दिखेगा परेशन मत हो.

फिर हम दोनो ने दो दो पेग मारे और चल दिए होटेल की तरफ. मैने जान बुझ कर कार दूर पार्किंग मे खड़ी की. और फिर वाहा से पैदल होटेल की तरफ चल दिए.

तोड़ा चलने के बाद जैसे ही हम होटेल के रेसिपटिं पर पहुचे. श्वेता ने मुझे अपने पास बुलाया और मेरे कान मे कहा “मेरी छ्होट मे से पानी निकल रहा है और पूरी लेग गीली हो रहा है, बहुत अज़ीब फील हो रहा है”.

ई साइड “हा हा हा हा बेबी यही तो मई चाहता था” मज़े लो.

फिर वो शर्मा गयी तोड़ा दारू का असर की वजह से उसको मज़ा भी आ रहा था. हम दोनो अपने रूम मे पहुचे और मैने उसको बेड पर लिटाया और लेग्स हो चाटने लग गया नीचे से अप्पर तक.

जैसे ही छूट पर मूह रखा वो पागल सी होगी. मेरे बाल पकड़ कर मूह दबा दिया और बोली “खा जाओ इसस्सकॉ.. आह आह आह… और तेज़”. फिर मई हट गया और उसने पूछा क्या हुआ? मई बोला चल नहाते है शवर के नीचे.

फिर हम दोनो शवर के नीचे गये और शवर ओं किया और स्मूच चालू किया. 10 से 15 मीं दोनो ने एक दूसरे के हूथ चूसे. फिर मैने उसके दोनो निपल्स एक एक करके चूसे और काटे. उसने मेरे भी निपल चूसे. कसम से मई पागल हो गया. फिर हम बाहर आए और बॉडी पोंची और दोनो बेड मे घुस गये.

अब हम दोनो को भूक लग गयी थी तो कुछ ऑर्डर किया फोन उठा कर. बर्गर & कोल्ड ड्रिंक ओं थे राक’स. 15 मीं बाद ऑर्डर आया. मई उससे कहा की जाओ डोर खलो. वो पूरी नंगी थी तो वो मुझे देखने लगी और बोली पागल हो क्या?!

मैने कहा टवल लपेट कर जाओ और डोर खोल कर आ जाना, फिर मई कम इन बाद मे बोल दूँगा जब तुम बेड मे आ जाओगी. तो फिर वो गयी और डोर खोला और मैने कम इन चिल्ला दिया.

श्वेता की हालत खराब हो गयी और वो चुप छाप वही टवल के साथ खड़ी रही. वेटर अंदर आया और उसने श्वेता का उपर से नीचे तक पूरा नज़ारा लिया. श्वेता शरम से पानी पानी हो गयी.

फिर उसने ऑर्डर रखा और चला गया. वो डोर लॉक करने के बाद मेरे पास आई और बोली “लाइफ मे फेली बार टवर होते भी फील हुआ है की जैसे नंगी थी”.

ई साइड ” लाइफ मे बहुत कुछ फेली बार होता है”. बोली – कुत्ते हो तुम!

फिर कोल्ड ड्रिंक का सीप ले कर आइस मूह ले कर बेड पर मेरे उपर आई और आइस के साथ स्मूच किया. बहुत मज़ा आया दोनो को. अब वो मेरे साथ खुल गयी थी.

मैने भी आइस अपने मूह मे ली और उसके बाद उसके निपल चूसने लगा. फिर धीरे धीरे नीचे छूट पर आ गया. वो पागल हो गयी और उसके बाद हम दोनो ने 69 पोज़िशन ले ली.

कसम से बहुत मस्त लंड चूसा उसने. अब बोली की मुझसे बर्दाश नही हो रहा, छोड़ दो मुझे!

मैने कहा आओ.

वो घूम कर मेरे उपर आई और मेरे लंड को अपनी छूट पर सेट किया. और दीरे से उसने छूट के अंदर लिया जिससे हम दोनो को गरम फील हुआ. लगा की जैसे ज़न्नत मिल गयी हो.

अब लंड अंदर बाहर हो रहा था और छाप छाप की आवाज़ आ रही थी रूम मे.

करीब 30 मीं तक चुदाई चली और मई उसकी छूट मे हू झाड़ गया. हम दोनो को बहुत मज़ा आया और फिर नहाने गये. शवर मे भी थोड़ी मस्ती थी फिर तैयार हो गये.

पर मैने उसको पनटी नही दी और बोला जब माल के बाहर ड्रॉप करूँगा तब दूँगा. फिर दोनो ने बर्गर खाया और कोल्ड ड्रिंक पी. होटेल से निकल के चेकाउट किया तो बाहर वो वेटर कहा था.

श्वेता उसको देखकर बहुत शर्मा गयी और फेस लाल हो गया. फिर हम दोनो कार तक चल कर गये. पर पनटी ना होने से श्वेता आजीब सा महसूस कर रही थी. बुत शी वाज़ एंजायिंग वेरी मच.

माल के बाहर मैने कार रोकी तो वो बोली “पनटी प्लीज़!” मैने कहा “आज स्कर्ट मे बिना पनटी के घर जाओ स्कूटी चला कर, देखो कितना मज़ा आता है जब नंगी छूट मे हवा लगती है और छूट से पानी निकलता है”.

फिर उसने मुझे स्मूच किया 5 मीं का और बोली “पूरा निचोड़ लिया तुमने मुझे, बहुत कामीने हो तुम, डिफरेंट था पर मज़ा आया मुझे भी, जल्दी ही फिर मिलूंगी.” एक क्यूट सी स्माइल दी ओर बाइ बोल कर चली गयी.

दोस्तो कॉमेंट करके बताना कैसे लगी मेरी पहली स्टोरी. तीस इस मी मैल ईद – [email protected]

यह कहानी भी पड़े  कस्टमर से ले कर चुदाई तक-3

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!