लॉक्कडोवन् मेी ऑनलाइन क्लास के बहाने स्टूडेंट की चुदाई -१

हेलो फ्रेंड्स भत वक़्त मई फिर से स्टोरी लिख रहा हू. कैसे ही सब लंड वेल और छूट वाली. छोड़ते और चूड़ते रो और सेक्स का मज़ा ले रो तो लंड वालों लंड पकड़ के रेडी हो जाओ और छूट वाली पनटी सरका के छूट पे उंगली सेट कर लो.

मेरा नाम आर्यन है और मैं कोलकाता से हू. अभी मैं इंजिनियरिंग के फाइनल एअर मई हू. और आपको टा है लास्ट एअर लॉक्कडोवन् लग गया था. तो कहानी उसी लॉक्कडोवन् की है.

मैं अपनी पॉकेट खर्चा निकालने के लिए एक तूतिओं लेता था और वो क्लास 12 की लड़की को कंप्यूटर पढ़ता था जो मेरे ही बगल वेल बिल्डिंग मई रहती थी. वैसे मेरी हवस भारी नज़र उसपे कभी गयी नही थी. क्यूंकी मैं बस पढ़ने से मतलब् र्खहता था और घर आके अपने कम मई लग जाता था.

लॉक्कडोवन् होने के बाद मैने ऑनलाइन क्लासस लेना सुरू किया. तो मैं नेहा( उसका नाम नेहा है) उसको बोला अबसे ऑनलाइन क्लासस ही होंगे. और रोज़ ऑनलाइन क्लासस लेने गया. उसके घर मे बस उसकी मा और वो रहती थी उसके पापा मुंबई मे जॉब करते थे.

बात है जुलाइ 2020 की. जब दोपहर का वक़्त था मैने उसको बोला – ऑनलाइन क्लासस के लिए जाय्न करो फोन पे तब उसकी आवाज़ थोड़ी हॉर्नी सी लगी. ऐसा लग कुछ रही थी और मैने कॉल कर दिया.

फिर क्लासस गूगले मीट पे जाय्न किया.
हुमलोग हुमेशा क्लासस कॅमरा ऑफ करके ही करते थे पर आज उसका कॅमरा ओं रह गया सिड और फिर जो मैने देखा मेरे होश उड़ गये 17 साल की लड़की एक टाइट ब्लॅक ब्रा मई बड़े बड़े चूची मई बैठी है उसकी चूची कम से कम 34द थी.

लाइट रूम मई उसके ओं था तो क्लियर चूची दिख गयी. उसको सयद एहसास नही था की उसका कॅमरा ओं रह गया है. मैने इसी हालत मई स्क्रीन से उसकी वीडियो बनाया और पिक्स लेके.

मीटिंग से डिसकनेक्ट हो गया ताकि उसको समझ नही आए की मैने देख लिया. फिर दुबारा जाय्न किया तबतक वो कॅमरा बंद कर चुकी थी. मैं उसको पढ़ा नही पा रहा था.

बात यह था की मैं घर पे अकेला था और उसको ऐसा देख मैं नंगा होके उसकी आवाज़ सुन के अपना लंड हिलने लगा. और हिलाते हिलाते झार गया.

जैसे तैसे मैने क्लास ख्तं की पर उसकी चूची ही मेरे दिमाग़ मई घूम रही थी. एकद्ूम गोरी और नरम सी थी ब्रा मई जैसे किसने दूध के पॅकेट को ज़बरदस्ती बंद कर दिया है और वो बस कूद के बाहर आने को बेताब है.

फिर मैने आइडिया ल्गया क्यू ना किसी तरह उसके अपने घर बुला के पढ़ौ ताकि कुछ बात आयेज बढ़े.

मैने कॉल किया-

मे – हेलो नेहा.

नेहा – एस सिर बोलिए?

मे – सुनो कल वाला पार्ट्स तोड़ा ज्यदा कॉन्सेप्ट बेस्ड है सामने पढ़ा के ही समझ आएगा तो कल मेरे घर आ जाना.

नेहा – सिर आक्च्युयली मम्मी दोपहर को नानी के वाहा जाते है तो मेरा आना पासिबल नही है आप आ जाना मेरे घर.

(मैने सोचा चलो उसका घर ही सही ट्राइ मारते है.)

मे – ओके कल टाइमिंग बताता हू.

(मैने सोचा अचानक जौंगा ताकि देख साकु क्या करती है वो.)

नेहा- ओक थॅंक योउ सिर.

मैं रात भर सो नही पाया और हिलाया एक बार फिर उसकी वीडियो देख के.

सुबह होते ही झट के सारे बाल कटे और 8. 6 इंच अपने लंड को आचे से तेल से मालिश किया.

नाहया फिर मैने एक हाफ पंत पह्न लिया बिना छड़ी उस्मआ लंड का शेप सॉफ समझ आ रहा था और खड़ा होने के बाद तो एकद्ूम क्लियर दिख जाएगा.

सुबह नेहा का दो बार म्स्ग आया (सिर आप कितना ब्जे आ र्हे हो?) पर मैने रिप्लाइ नही किया. सोचा अचानक ही जुंगा.

फिर ठीक 1:30 दोपहर को मैने उसके घ्र पहुँचा और बेल ब्ज़ाया. काफ़ी देर वेट किया. फिर वो गाते खोली उसको देख के मेरे होश उड़ गये.

वो क्या मस्त माल लग रही थी. बॉल बिखरे हुए जैसे चुदाई से अभी आ रही है, आँखों मे नशा. झंगों तक स्कर्ट बाकी थाइस और लेग्स और नंगी. और एक पतला क्रॉप टॉप जिस्मै उसकी चूची सॉफ दिख रही थी और साँझ आरहा था की उसके निपल्स ताने हुए और नंगा पेट.

देखते ही मेरा लंड उसको सलामी देने लगा और फुल फोर्स मे खड़ा हो गया. पर यह मैने नॉर्मल आक्ट किया. नेहा मेरे लंड को गोर से देख रही थी.

फिर 5 मीं एक दूसरे को देखते रहने के बाद नेहा ने चुप्पी थोड़ी.

सिर आप बताए नही कब आ र्हे हो.

मे – तोड़ा होश आया फिर बोला – वो मेरा फोन काम नही कर रहा है.

नेहा- आइए अंदर.

(उसके पीछे उसकी गांद को देखते हुए घर मे गया. उसकी स्कर्ट इतनी छोटी थी की गंद दिख गयी और मेरा लंड और कडक हो गया. मेरे अंदर पूरी आग लगी हुई थी और उसको नॉर्मल रिक्ट करता देख समझ आरहा था उसके अंदर भी आग लगी हुई है).

नेहा- सिर आप रूम मई बैठिए मैं आती हू.

थोड़ी देर मई वो आई और सामने बैठ गयी. हम लोग ने क्लास सुरू किया और मैं उसकी चूची घुरे जेया रहा था. बस किसी एक को पहला कदम लेने की ज़रूरत थी. आग दोनो के जिस्म मे ज़ोर से लगी थी.

(मेरे दिमाग़ मई आइडिया आया मैने उसको बोला नेहा तोड़ा पानी लेके आओ ना.)

वो पानी लेके आई मैने जानबूझ के पानी अपने पंत पे गिरा दिया.

नेहा – श सॉरी सिर, मैं साफ कर देती हू (ऐसा करते करते और लंड को छू ली वो).

मुझसे अब रहा नही जेया रहा था. मैने बोला नेहा पानी अंदर गया है सॉफ कर दो.

नेहा ने बिना देर किए पंत नीचे कर दिया, दो मीं उसकी साँसे रुक गयी लंड देख के. वो टवल से पानी सॉफ करती उससे पहले मुझसे कंट्रोल नही हुआ. मैने उसका मूह पकड़ा और सीधा लंड मे घुसा दिया.

नेहा – आअहह सिर छोड़िए.

मे – चूस साली तुझे ये ही चाहिए था ना!

नेहा – आह चोरिय नही तो मा को बता दूँगी.

(नेहा बस दिखावे के लिए छोड़िए को कह रही थी बाकी उसकी जीभ लंड को खूब सहला रहा थी.)

मे – चूस आचे से..

इतना कह के मैने उसका टॉप फाड़ डाला, उसके दोनो चूची सामने कूद के आ गये.

नेहा – आहह सिर कपड़े मत पढ़ो, आराम से करो… ओमम्म्मम इम्‍म्मममम लंड मस्त है आपका, मेरी प्यास बुझा दो.

मे – चूस साली आज तेरी जवानी की सारी प्यास बुझा दूँगा.

15 लंड चूसने के बाद मैने उसको बेड लिटाया और उसकी छूट चाटनी शुरू की जो बिल्कुल सॉफ थी. नेहा मेरे मूह मे छूट गयई.

नेहा – सिर आप लंड डालो मुझसे रहा भी नही जाता, डालो..

इतना सुनते ही मेरा जोश और बढ़ गया और मैने उसको लिटा के पिल्लो उसके कमर के नीचे रख के लंड डाला. तो आराम से घुसने लगा समझ आगया की पहले चुड चुकी है.

फिर ज्यदा अंदर गया तो रोने लगी बोली

नेहा – सिर प्लीज़ निकल लो मार जौंग, नही मत डालो…

मैने बिना रहम किए उसके मूह पे हाथ रख के पूरा घुसा दिया उसके आँख से आँसू आरहे थे और नाख़ून से मेरे पीठ नोचने लगी.

30 मिन्स चुदाई चलती रही अलग अलग पोज़ मई. और वो कूद कूद कर मेरा साथ देती रही.

उसके चूची हवा मई उच्छल रही थी और मैं उसको मसल रहा था. अचानक मेरी नज़र रूम के आईने पे गयी पीछे उसकी मा खरी थी. मेरे होश उड़ गये.

फिर क्या हुआ वो अगले पार्ट मे, तब तक के लिए अलविदा.

मुझे प्लीज़ फीडबॅक ज़रूर दे.

और कोई कोलकाता की सीक्रेट मज़े लेना चाहती या कोई अपनी बेहन को छोड़ना चाहिए है तो मैल या ड्म कर स्कता हा. ई विल्ल्ल हेल्प देम.

यह कहानी भी पड़े  डिवोर्सड आंटी ने लंड चूसा मेरा

error: Content is protected !!