नौकरानी की तगड़ी चुदाई चॅट मॉडेल के सामने

ही रीडर्स, इस पार्ट को पढ़ने से पहले पिछला पार्ट ज़रूर पढ़े. जैसा की मैने पिछले पार्ट में बताया, की मैं कुछ समय के लिए अपनी आंटी के साथ रह रहा था. वाहा रहने के दौरान मैने उनकी नौकरानी शीला को रसोई में फिंगरिंग करते देखा. फिर मैं उसको अपने कमरे में ले गया, और वाहा पर उसको छोड़ा. ये सब भावना नाम की लड़की कॅमरा में से देख रही थी. ये बहुत अची फीलिंग थी.

फिर मैं कुछ दीनो में अपने घर चला गया. जाने से पहले मेरे पास करने के लिए बहुत सा काम पेंडिंग पड़ा था. इसलिए उस रात के बाद हमे चुदाई करने का मौका नही मिला (या मुझे ये सिर्फ़ लगा).

मेरा आखरी हफ़्ता था वाहा, और देर रात का वक़्त था. मैं वापस जाने के लिए अपनी पॅकिंग में बिज़ी था, और अपने लॅपटॉप पर कुछ काम कर रहा था. तभी दरवाज़े पर किसी ने नॉक किया. ये नौकरानी शीला थी. वो अपने चेहरे पर उदासी लेके अंदर आ गयी, लेकिन उसने उदासी च्छुपाने की कोशिश की.

मे: ओह, हे! सब ठीक है?

शीला: मुझे अपना लंड चूसने दो.

मे: क्या?! मैं अभी बिज़ी हू.

शीला: मैं जानती हू. आप काम करते रहिए. मैं आपके काम करते हुए चूस दूँगी.

मे: शीला, मेरे पास इसके लिए टाइम नही है.

शीला: तुम कुछ दीनो में जेया रहे हो, और मैं कल घर जेया रही हू.

मे: मैं जानता हू. थोड़ी रेस्ट कर लो.

शीला: जब तक तुम मुझे फिरसे भर नही देते, तब तक तो नही. क्या तुम्हे ज़रा भी आइडिया है, की इतनी देर बाद माल अंदर भरने पर कितना अछा महसूस होता है? (फिर उसने अपनी टॉप उठाई, और पंत नीचे अपने घुटनो तक कर दी) मैं तुम्हे अपने अंदर महसूस करना चाहती हू.

फिर उसने मेरी टांगे खोली, और मेरी टाँगो के बीच आ गयी. झटके में मेरी पंत उतार गयी, और मेरा लंड उसके मूह में चला गया. फिर वो हॉर्नी नौकरानी मेरा लंड चूस्टे हुए मोन करे लगी. वो लंड छ्चोढना ही नही चाहती थी. वो लंड चूस्टे हुए बहुत अची लग रही थी. मैं उसको वही उसी वक़्त छोड़ना चाहता था, लेकिन मेरे पास एक अछा और नॉटी आइडिया था.

मैं ड्सcघिर्ल्स की वेबसाइट पर गया, और वाहा भावना के पेज पर जाके उसको मेसेज किया. मैने उसको लिखा की हम कुछ मज़ा कर सकते है, और वो उसी वक़्त ऑनलाइन आ गयी.

भावना: हे! अब तुम मुझे क्या दिखना चाहते हो, योउ डर्टी बॉय?

मैने कॅमरा हिलाया, और लंड चूस्टी हुई शीला की तरफ कर दिया. शीला रुकना नही चाहती थी, लेकिन उसने हाथ हिला कर भावना को हेलो बोल दिया. वो लंड चूस्टे हुए मोन करती रही.

मे: मैं जल्दी ही जाने वाला हू. ये कल अपने घर जेया रही है, तो इसने मेरे लंड पर एक मिनिट में हमला कर दिया.

भावना (हेस्ट हुए): मुझे इसकी एनर्जी पसंद है.

फिर भावना ने अपनी शर्ट के बटन खोल दिए, और अपनी ग्रे स्वेआतपांत को उतार दिया. फिर उसने अपनी गीली छूट को टच किया, और अपना होंठ काटा.

शीला: मुझे इस लंड पर बैठना है. भावना मुझे उछलते हुए देख सकती है.

मे: क्या तुम मुझसे चुदाई की माँग कर रही हो?

फिर मैने अपना लंड उसके गले की गहराई में धकेल दीईया, और वो चोक हो गयी. जब मैने उसको छ्चोढा तो वो ज़ोर-ज़ोर से साँस लेने लगी और मुझे बेड पर धक्का दे दिया. फिर मैने उसको रोका ताकि लॅपटॉप को सही जगह रख साकु. भावना फिंगरिंग करके मोन कर रही थी. और शीला ने अपनी पॅंट्स निकाल कर अपने जिस्म को मेरी बॉडी पे पुश कर दिया.

मे: तुम कितनी प्यासी कुटिया हो!

शीला: तुमहरे लंड को इससे कोई दिक्कत नही है.

भावना: फक हिं, शीला आह. इस लंड पर अब उछलो.

नौकरानी ने जिस्म को मेरे उपर उछालते हुए मुझे किस किया. फिर उसने लॅपटॉप लिया, और उसको टेबल पर रख दिया. मैं पीठ के बाल सीधा लेट गया, और शीला का कामुक नंगा बदन मेरे बदन के उपर आके मेरे लंड पर बैठ गया, और उछालने लगा. उसके भरे हुए बूब्स उछालने लगे, और वो ज़ोर-ज़ोर से मोन करने लगी.

भावना: मी गोद! तुम्हारी नौकरानी पूरी रंडी है. तुम दोनो बहुत हॉट हो आ आ.

मे: फक शीला, तुम्हारी छूट का पानी मेरे उपर बह रहा है.

शीला (आम रंडी से ज़्यादा ज़ोर से आहें भरते हुए): हा! भर दो मुझे बाबे! अपनी रंडी नौकरानी को चोदो.

मैने शीला को टेबल के उपर धक्का दिया, जिससे लॅपटॉप भी धक्का लगने से साइड पर हो गया. शीला का मूह टेबल पर सीधा पद गया, और वो कॅमरा में देख कर मोन करने लगी. भावना अपनी छूट को तेज़ी से रगड़ने लगी, और उसको आँखें बंद हो गयी. मैं शीला के जिस्म को अपने पर्सनल प्लेग्राउंड जैसे ट्रीट कर रहा था. उसकी गीली छूट मेरे लंड पर टाइट हो रही थी. मैने उसके होंठो से होंठ मिला कर उसका मूह बंद किया.

मे (उसके मूह में फुसफुसते हुआ): मेरी आंटी दूसरे कमरे में है. चुदाई के दौरान अपना मूह बंद रख रंडी!

शीला ( मेरी चीन और लिप्स को लीक करते हुए): चिंता मत करो. मैने उनको नशा दे रखा है आज रात के लिए. मैने ये ध्यान रखा है की उनकी मेडिसिन स्ट्रॉंग हो.

भावना (अपनी चेस्ट को रब करके, और छूट को मसालते हुए): वाउ! ये एक बुरी घटिया रंडी है.

मैने फिर शीला का चेहरा पकड़ा, और अपना लंड उसके अंदर डाल दिया, जिससे वो ज़ोर से चीखी.

मे: भावना, तुम रही हो. ये एक घटिया रंडी है.

शीला: सज़ा दो मुझे फिर.

फिर मैने कॅमरा में भावना को देखते हुए नौकरानी की गांद पर थप्पड़ मारा. भावना घूम गयी, और उसने मुझे अपनी गांद दिखाई.

भावना: सोचो मेरी छूट भी वही है. बेबी मैं चाहती हू की तुम मुझे बुरी तरह से छोड़ो.

मे: हा मुझे तुम्हारी छूट भी चाहिए. क्या ये भी इस कुटिया की छूट की तरह गीली है?

शीला (मोनिंग): मुझे नही लगता की कोई भी औरत मेरी तरह लंड की इतनी भूखी हो सकती है.

मे: फिरसे कहो.

शीला: करो ना डॅडी!

फिर मैने उसके चेहरे को टेबल पर रखा, और पीछे से उसकी छूट की तबाद-तोड़ चुदाई करने लगा. मेरी बॉडी से पसीना गिर रहा था, और मेरा लंड अंदर जाने से ठप-ठप की आवाज़े आ रही थी. फिर उसने अपनी एक टाँग उठाई, और मैने उसको जाँघ वाले एरिया से पकड़ लिया. उसके बाद उसने अपनी टाँग मेरे गिर्द लपेट ली, और मैं छोड़ता रहा.

अचानक से उसने मुझे रोका और मूड गयी. फिर वो सीधी टेबल पर लेट गयी, और मुझे अपनी तरफ खींचा मोन करते हुए. मैने उसको डीप किस करते हुए उसकी छूट में लंड डाल दिया. हमारी चुदाई के साथ-साथ भावना की आहें गूँज रही थी.

मे: ई आम तुम्हे अपने वीर्या से भर दूँगा. जैसा की तुमने मुझसे कहा था.

भावना (तेज़ी से रब करते हुए): ओह एस! भर दो उसकी छूट को अपने पानी से. मैं देखना चाहती हू, उसकी छूट से तुम्हारा माल निकलते हुए.

शीला: बहुत मज़ा आ रहा है. मेरा निकालने वाला है. तुम भी मेरे साथ ही निकाल दो.

मे: नही, मुझे इस रंडी छूट को अभी भरना है.

फिर मैने नौकरानी को कमर से पकड़ा, और लगतार लंड के धक्के देता रहा. मुझे अपने लंड पर उसकी छूट कास्ती हुई महसूस हो रही थी. फिर मैने अपना सारा माल नौकरानी की छूट में निकाल दिया. मेरे माल की गर्मी को अपनी छूट में महसूस करके उसको बहुत संतोष फील हुआ. फिर मैने लंड उसकी छूट से बाहर निकाला, और उसके उपर लेट गया.

फिर उसने मुझे माथे पर किस किया, और मैने उसके निपल्स छाते. वो मोन करते हुए अपनी छूट में फिंगरिंग करती रही, और मैं उसका जिस्म चाट-ता रहा. फिर मैने शीला को उठाया, और उसको अपने बेड के कोने पर लिटाया. शीला अपनी छूट में फिंगरिंग करने लगी, और मैने उपर आके उसके मूह में लंड डाल दिया.

वो खुद की फिंगरिंग करते हुए मेरा लंड चूसने लगी, और मोन कर रही थी. भावना शीला की छूट में से निकल रहे मेरे माल को देख रही थी, और दोनो औरतें खुद को टच करते हुए एक-दूसरे को गहराई से देख रही थी.

शीला ने मेरा लंड अपने गले के अंदर तक ले लिया, और बहुत माल छ्चोढा. उसका शरीर अकड़ गया और भावना को देख कर मोन करने लगी. भावना ने भी ज़ोर की आहह भारी, और उसकी छूट ने भी पानी छ्चोढ़ दिया. वो काँप गयी, और बेड पर पीठ लगा कर बैठ गयी.

फिर मैने और शीला ने भावना को बाइ बोला, और कॉल बंद कर दी. लेकिन हम दोनो ये सब जल्दी ही दोबारा करने के लिए एग्ज़ाइटेड थे, जब भी हमे चान्स मिलता.

अगर आप लोग भी अपनी किकी फंतासिसेस को पूरा करना चाहते है, तो मैं आपको इधर-उधर माता मारना छ्चोढ़ कर सीस्क की वेबसाइट पर जाने की सलाह दूँगा. वाहा बहुत सारी सेक्सी भाभियाँ और लड़कियाँ आपका इंतेज़ार कर रही है.

यह कहानी भी पड़े  हुस्न का जलवा दिखा कर बेहन चुदी भाई से


error: Content is protected !!