नौकरानी के साथ मस्ती–2

दूसरे रविवार को पुष्पा और उसकी मौसी चंदा दोनो सवेर 7:30 बजे आई क्योंकि रविवार को काम ज़्यादा होता था हफ्ते भर के कपड़े धोना, प्रेस करना साफ सफाई करना, खाना बना ना एट्सेटरा. पुष्पा बाथ रूम मे जाकर कपड़े धोने मे लग गयी और चंदा मौसी नेचाइ बना कर जब मुझे उसने उठाया तो मैं देखता ही रहा गया. जब वो झुक कर मुझे जगा रही थी तब उसका पल्लू नीचे सरक गया था और ब्लाउस मे से उसके बड़ी बड़ी चुचिओ की झलक दिखाई देने लगी.

और मैं जब उसकी चुचिओ की गोलाई को निहार रहा था तब वो झेंप कर पल्लू सीधे कर के मूडी और चली गयी. पीछे से उसके भारी भारी चूतादो को देख कर तो मैं और पागल हो गया और बाथरूम मे गया वहाँ इस समय पुष्पा नहीं थी इसलिए मैं चंदा की चुचिओ और उसकी गांद के बारे मे सोचते हुए अपने लंड को रगड़ने लगा तभी दूसरे कमरे से पुष्पा की आवाज़ आई कि साहब आप नहालिए तो मुझे टवल और कछि धोने के लिए देदीजिए मेने बाथरूम का दरवाजा खोल कर उसको बुलाया और कहा कि लंड का पानी हिला हिला कर निकाल दे तो वो मेरे लंड को पकड़ कर कस कस के हिलाने लगी और में भी उसकी चुचियों को हाथ से मसल्ने लगा

और उस से कहा हीईीईई सीईईईईईईई रनीईइ मज़ा आ गया क्या मस्त गांद देखी है सुबह सुबह हीईिइ रीईईईई मजाआाअ आ गय्ाआआआआअ उईईईईईईई सीईईईईईई हाई री चंदा मौसी क्या चुदास माल है तू तेरी चूत का भोसड़ा बना दोन्गाआअ चोद चोद कर सलिइीईई कुतियाआआआआअ. पुष्पा मेरी बातें सुन रही थी और अब उसने भी मेरा लंड ज़ोर से हिलाना शुरू कर दिया मेने भी उसका घगरा उठा कर उसकी चूत मे उंगली डाल दी कल की चुदाई से उसकी चूत सूजी हुवी थी लेकिन मैं उंगली डाल कर उसकी चूत मे अंदर बाहर केरने लगा फुल स्पीड मे उसको भी मज़ा आने लगा सीईईईईईई हीईीईईई बाबू मज़ा आआआआ रहााआ हाईईईईईई उईईईईईई सीईईईईईईई में झाड़ रही हूँ में भी झड़ने वाला था हीईीईईई सलिइीई हरम्ज्दि मेरााआ भी निकल रहा हाईईईईईईई सलिइीईईईई उईईईईई सीईईईईई हान्न्न्न्न मेरा निकल रहा हाईईईईईईई सीईईईई निकल गायाअ

यह कहानी भी पड़े  दोस्त की हॉट बीवी की गोवा मे चुदाई की

और उसी समय वो भी झाड़ गयी फिर थोड़ी देर वो मेरा लंड यूँ ही पकड़े रही अब मेरा पूरा पानी निकल गया और उसका भी फिर वो बोली बाबू मज़े मुझसे ले रहे थे और नाम चंदा मौसी का, क्या बात है उसको भी चोदोगे क्या तो मेने कहा देख तू मेरी रखेल है तो तुझको बता देता हूँ कि में आज चंदा मौसी को चोदून्गा वो साली चुड़क्कड़ बहुत है ना मदेर्चोद कुतिया तब वो बोली अगर तुम मेरी मौसी को चोद्ना चाहते हो ठीक है चोद लो लेकिन उसके लिए आप को ही उसे पटाना पड़ेगा पर मेरी चूत को ना भूल जाना तो मेने कहा तू तो मेरी रखेल है और उस्कोभी अपनी रखेल बना लूँगा तो वो बोली हां ये ठीक रहेगा फिर वो अलमारी से कपड़े लाने चली गयी

और में नहाने लगा. नाहकार जब आया तो चंदा मौसी ने मुझे नाश्ता लाकर दिया और जब नाश्ता परोस रही थी तब भी मैने उसकी चुचिओ की गोलाई देखी मुझे लगा शायद वो जान भूज़ कर दिखा रही हो फिर वो अपना पल्लू ठीक करते हुवे कमरे से गंद मतकती हुई चली गयी. मैं बनियान और टवल पहने हुवा था. मैं टेबल पर नाश्ता कर रहा था और पेपर पढ़ रहा था मुझे मालूम था कि चंदा मौसी मुझे चाइ देने ज़रूर आएगी इसलिए मैं इस तराहा से बैठ कि मेरी जाँघो से थोड़ा तोलिया सरक जाए और उसे मेरे लंड की झलक मिल जाए. वो थोड़ी देर बाद चाइ लेकर आई मैने तिर्छि नज़रों से देखा वो मेरे करीब रुक कर मेरे मोटे लंड को निहार रही थी. मैं पेपर पढ़ने मे मस्त था. फिर वो चाइ टेबल पर रख कर कोने से झारू उठा कर कमरे को बैठ कर बूहरने लगी लेकिन उसकी नज़रें मेरे लॉड पर ही जमी थी.

यह कहानी भी पड़े  बंगलौर में दुसरे की बीवी चोदी उसके सामने

मई भी जान भुज कर वैसे ही बैठा रहा और तिर्छि निगाहों से उसको देख रहा था. जब वो बैठ कर झारू मार रही थी तब उसकी साडी उसकी घुटनो के उपर थी वो सारी को इस तरह करके बैठी थी कि मुझे उसकी चूत की झलक मिल सके. मुझे उसकी चूत तो सॉफ नज़र नही आराही थी पर चूत के उपर के घने बॉल सॉफ सॉफ दिख रहे थे. मैं समझ गया कि वो आज चुदवाना चाहती है. खेर वो सफाई कर के चली गयी और मैं भी उठ कर टीवी देखने लगा. करीब 1 बजे मैने 2 बॉटल बियर पी और करीब 2 बजे हम तीनो ने खाना खाया. पुष्पा को दूसरे घर मे काम था इसलिए वो चली गयी अब केवल मैं और चंदा मौसी रह गये. खाना खा कर मैं टीवी पर इंग्लीश पिक्चर देखने लगा.

कुच्छ देर बाद चंदा मौसी भी कमरे मे आकर ज़मीन पर बैठ गयी कुच्छ देर बाद उसने अपने पैरों को घुटने उपर की ओर करके बैठ गयी उसकी सारी घुटनो पर थी. तभी टीवी पर एक चुंबन का जबरदस्त सीन आया तो मैने उसकी ओर देखा उसका चहरा काम वासना से भरा हुवा था और वो पिक्चर देखते हुवे अपने सारी मे हाथ डाल कर खुजा रही थी. यह देखते ही मैने पुछा चंदा मौसी क्या खुजा रही हो उसने चौक कर सारी से अपना हाथ निकाल लिया पर मुझे उसकी चूत और झांते सॉफ दिखाई देने लगी थी.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!