नटखट बिजली और भोला अरुण

दोस्तो मैं यानी आपका दोस्त राज शर्मा एक और नई कहानी लेकर हाजिर हू
एक बार अरुण नाम का एक बिहारी लड़का था उसकी उमर 16 बरस थी जब से 16 वर्ष का हुआ ….वो हर सुबह जब भी जागता था उसकी अंडरवेर गीली होती थी उसे समझ नही आता था कि उसकी अंडरवेर मे बारिश कहाँ से होती है ऑर वो भी इतनी चिकनी वो अक्सर सोचता कि “यह बात मे किससे पुच्छू? एक दिन उसे विचार आया कि उसकी बड़ी बहन बिजली जो उसकी बहुत करीब है क्यूँ ना वो उससे पुछले.?”

मा ऑर बापू से पूछने मे उसे शरम आती थी क्यूंकी यह बात उसके लंड से जुड़ी थी वो यह सोचकर सो गया कि अगर कल सुबह उसे चिकनी वर्षा के सुराग मिलेंगे तो वो जल्दी अपनी बड़ी बहन बिजली को यह बात बताएगा अगली सुबह फिर वोही ससूरी चिकनी बारिश ने उसके अंडरवेर को गीला किया उसका 8 इंच काला लंबा लंड उस मे नहा चुका था उसने सोचा कि वो तुरंत अपनी बहन बिजली के कमरे मे जाए ऑर उसे अपना हाल बताए ऑर फट से वो अपनी उसी हालत मे बिजली के उपर वाले कमरे घुस गया पर बिजली सो रही थी उसका गदराया जवान बदन मोहक अंदाज़ मे बिस्तर पर लेटा हुआ था.

उसकी घाघरी घुटनो के उपर चली गयी थी ऑर उसके गोरे गोरे पैर पर सूरज की धूप गिर रही थी अरुण ने कहा… “बिजली उठ…बिजली उठ बिजली सेक्सी अंदाज़ मे बोली…. “सोने दे ना बचुआ….” रात भर जागी हूँ अरुण फिर से बोला..”अरे बिजली उठ उठ भुतनि की ऑर ज़ोर से उसने बिजली की गांद पे थप्पड़ मारा बिजली को अपनी गोल गोल कोमल गांद पर जलन महसूस हुई…. अरुण ने बेहद ज़ोर से उसे गांद पर मारा था बिजली काँप कर उठी ओर गुस्से मे अरुण का मूह नोचने लगी….ऑर उसे मारने लगी अरुण ने कहा “अरे डायन मुझे तुझसे काम है.

यह कहानी भी पड़े  बीवी की अदला बदली का मजेदार खेल

एक गंभीर समस्या है बिजली शांत हुई छोटे भाई को चिंता मे देख … वो खुद टेन्षन मे होगई बिजली ने पूछा “अरे बोल बचुआ… का हुआ तोका? अरुण शरमा गया अरुण बोला “अब का बताए तुमका दीदी” बिजली बोली “अरे बोलना हमार प्यारा बचुआ… का बात है…”अरुण ने कहा “पहले हम दरवाज़ा तनिक बंद करले”बिजली बोली “अच्छा बाबा कर लो….”दरवाज़ा अरुण ने बंद किया.. ऑर बिजली के पास आकर बैठ गया बिजली बोली “अब बोल बचुआ का बात है… अपनी बहन से छुपाएगा” अरुण ने बोला … “मुझे बोलना नही कुछ बताना है तोका”

बिजली नेर्वस हो गई…ऑर पूछी “का बताने तोका.?”अरुण ने कहा “पहले बोलो कि हसोगि नही….”बिजली गुस्साई गई ऑर वो बोली “अरे बोल वरना देती हुन्न कान के नीचे बता का बात है? “जो दिखाना है दिखा” अरुण झट से उसके बिस्तर पर खड़ा हो गया…अरुण ने अपनी धोती उतारना शुरू किया…ये देख बिजली को तो करेंट महसूस होने लगा…वो सोच मे पड़ गयी… कि “इह ससुरा सुबह सुबह हमे का दिखाना चाहता है.?” अरुण ने फॅट से धोती निकाल दी…ऑर अपने चौड़े काले अंडरवेर मे खड़ा हुई गया…बिजली ने पूछा “इह का कर रहा है तू… नंगा काहे हो रहा है?”

अरुण ने कहा कि बहेनिया .. “वोही तो बात है बिजली बोली “का बात है…. बताना” ऑर अरुण ने फॅट से अपनी अंडरवेर उतार दी….हाए भवानी…. का लंड था…इतना लंबा लंड..अपने छोटे भाई अरुण का 8 इंच लंबा भयानक लंड देख बिजली तो दंग रह गई उसका छोटा भाई अब छोटा नही रहा बहुत बड़ा हुई गवा है बिजली असमंजस मे पड़ गई… “चाटना तो चाहती हूँ… पर का इह ससुरा यही चाटने देगा क्या.?बिजली पूछी “अरे बता अब का बात है उसने कहा कि “बहेनिया तनिक नज़दीक आके देखो…उहह हे भवानी … इह का… हम नज़दीक से देखे.

यह कहानी भी पड़े  पहली चुदाई मैंने अपनी टीचर के साथ की

बिजली खुशी खुशी मन मे मुस्काने लगी….वो आगे बढ़ी… तो का देखती है….. “वीर्य तो पहले ही बह चुका है”…..धुत ससुरा! सब कुछ चिकना देख .. जानकर बिजली समझ गयी…उसके भाई को स्वप्न दोष हुआ है बिजली का पहला बाय्फ्र्न्ड लखनवा जिसने उसका कुँवारापन तोड़ा था उसको भी ये सब होता था… बिजली को ठोकने के पहले बिजली बोली…. “तो का हुआ मेरे भोले भैया?”अरुण बोला… “अरे बहेनिया इह देखो नज़ाने रात को हमे इह का हो जाता है हर सुबह हमे इह चिकना चिकना पानी सॉफ करना पड़ता है..”

नटखट बिजली अपने भाई की भोली सूरत देख कर हस पड़ी और बोली “तोह्का मे सॉफ कर दूँ….. तोका सॉफ करना ना हो तो”अरुण बोला “आप काहे सॉफ करोगी….?”सफाई प्रोबलम नही बहेनिया इह ससुरा चिकना पानी आता कैसे है बिजली हसी ऑर ज़ोर ज़ोर से हसी….ऑर बोली….” हमरे पियारे नटखत भैया तुम बड़े तो हो गये हो… पर बड़े नही हुए….””बिजली की बात अरुण को समझ ना आई….वो बोला “का कह रही हो बहेनिया.?”हमसे मज़ाक ना करो…”

ज़रा हमारे लंड की हालत देखो…”“ चिकने रस मे फसा पड़ा है.“ ऑर आप हस रही हो….” डायन हो तुम डायन” बिजली बोली….” कोई बात नही मोरे भैया …. आज रात तुम हमरे संग हमरे कमरे मे सोना…. हम गारंटी देती हुन्न्ं… तुम्हार इह प्रोबलम का सारा सल्यूशन चूस चूस के निकाल देंगे हम भोला अरुण बोला “सच बहेनिया तुम हमरा प्रोबलम सॉल्व करोगी का बिजली बोली… “हाँ…….तू भरोसा रख हम पर”अरुण बोला “तो अभी करो ना… सॉल्व हमार प्रोबलम” बिजली बोली “ अभी घर मे मा बाबा जाग रहे है…. इह प्रोबलम सॉल्व करते हुए… तुम ज़ोर ज़ोर से आहें भरोगे…. ऑर वो सुन जाएँगे….

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3 4