नहा कर आई बेटी बाप से चुदी

हेलो गाइस, मैं आ गयी अपनी स्टोरी का पार्ट लेकर. चलो अब जल्दी से बैठ जाओ, और रूम को लॉक कर दो. मैं रागिनी एक हॉट सी लड़की जो अभी-अभी अपने पापा के साथ सेक्स कर चुकी थी, और अपनी वर्जिनिटी उन्हे दे चुकी थी, अब मुझे उस ड्राइवर के साथ सेक्स के बाद होटेल रूम में रेस्ट करना था. उसके बाद की स्टोरी-

मैं अपने बारे में बता रही हू अब. मैं 19 की हू, बुत मेरी बॉडी देख कर कोई भी बोलेगा की 22 की हू. मेरी बॉडी 34सी-28-34 है. काफ़ी ज़्यादा कर्वी हू, अवर ग्लास के जैसे. लोंग हेर है, ब्लॅक, और लिप्स पिंक है. मुझे देख कर अंकल्स और बुड्ढे दोनो घूरते है. कुछ अपनी पॅंट्स को मसालते भी है. अब आते है स्टोरी पर.

रागिनी अब मस्त उस बुड्ढे के स्पर्म को अपनी योनि में लेकर रूम में जेया रही थी. उसकी पनटी थोड़ी सी गीली हो रही थी, क्यूंकी अभी भी उसे उस बुड्ढे ड्राइवर के लंड का एहसास हो रहा था. जब वो अपने रूम में गयी, तो उसने देखा उसके पापा सो रहे थे. तो उसने सोचा चलो अभी नहा लेती हू, उसके बाद वो भी सो जाएगी. फिर वो बातरूम में नहाने चली गयी

गाते बंद होते ही उसके पापा की नींद टूट गयी. वो समझ गये की उनकी बेटी आ गयी थी. पर वो सोने का नाटक करने लगे. रागिनी 30 मिनिट बाद बातरोब पहन कर अपने गीले बालों के साथ बेड पर आ गयी. उसे पता नही था उसके पापा अब जाग चुके थे.

जब वो नहा रही थी, तभी वो काफ़ी कुछ सोच रही थी, की उसे अब पिल लेनी पड़ेगी. क्यूंकी वो प्रेग्नेंट नही होना चाहती थी. रागिनी बेड पर बैठ कर सोच रही थी, की बुड्ढे के साथ बाहर जेया कर पिल्स लूँगी और उसे पैसे भी दे दूँगी, क्यूंकी उसने लास्ट टाइम पैसे लिए नही थे.

ये सब सोचते-सोचते उसकी नज़र अपने पापा पे पड़ी. उसके पापा सोते हुए काफ़ी मासूम लग रहे थे. वो ये सब सोच रही थी, और थोड़ी सी बेंड हो कर अपने पापा के चीक्स पर किस कर दी. फिर साइड में जेया कर सो गयी ब्लंकेट के अंदर.

रागिनी के पापा बस सोने का नाटक कर रहे थे. जब भी कोई लड़की सोती है, तो उसके बूब्स एक साइड लटक जाते है, जिससे एक बूब काफ़ी बड़ा और दूसरा काफ़ी रौंद शेप जैसा दिखता है. उसके पापा की नज़र उसकी डीप क्लीवेज पर थी. फिर नींद में रागिनी ने तुर्न लिया, और अपनी वेस्ट बॅक (बट) को अपने पापा की तरफ कर दिया.

इस मौके को कैसे जाने दे सकता था कोई? उसके पापा ने भी अपनी शॉर्ट्स को नीचे करते हुए अपने तंबू जैसे लंड को उसकी अरसे पर प्रेस कर दिया. कुछ देर के बाद वो अपनी कमर को आयेज-पीछे करने लगे, और लंड उसके आस क्रॅक में दबा जेया रहा था.

ये सब होते-होते उन्होने अपने हाथ को उसकी कमर पर रखा, और अपनी और खींचा. रागिनी को ये सब मूव्मेंट से लिफ्ट वाला सीन याद आने लगा, और वो वेट होने लगी. तभी अचानक उसकी नींद खुली, और देखा उसके पापा अब उसे ड्राइ हंप करने लगे थे.

रागिनी उठी और धीरे से बोली: पापा, पापा क्या ये आप है?

उसके पापा ने रिप्लाइ किया: हा जान, और कों होगा?

तभी रागिनी ब्लश करने लगी, की उसके पापा अभी भी उसे अपनी गफ़ समझ रहे थे, और वो समझ गयी की अब कुछ होने वाला था. उसके पापा ने धीरे से बातरोब की बेल्ट को ओपन किया, और स्लोली-स्लोली उसकी नेक पर किस करना शुरू कर दिया. रागिनी मोन करने लगी.

देखते ही देखते रागिनी के बदन से अब बातरोब निकल गया था, और अब उसका नंगा जिस्म अपने पापा के साथ बेड पर था. उसकी गोल-गोल मुलायम बट को अब अपने पापा का लंड गीला कर रहा था

रागिनी ने कहा: पापा आप मेरे बट को वेट कर रहे है उम्म्म.

पापा: सॉरी बेटा, क्या करू, तुम हो ही उतनी सॉफ्ट ( ये कहते ही उसके पापा अपना हाथ उसके पुर जिस्म पर घूमने लगे, जिससे रागिनी मदहोश होने लगी, और अपने पापा की और अपनी कमर को देने लगी).

उसके पापा अब उसे नेक पर बाइट्स देने लगे. अपनी गीली टंग से वो उसके बाइट्स पर चाटने लगे और रागिनी को सिड्यूस करने लगे, की अब उन्हे रागिनी के अंदर जाना था. रागिनी भी अब समझ चुकी थी, की दोनो के जिस्म अब गरम हो चुके थे.

यहा रागिनी एक औरत बनते जेया रही थी, जिसे अब एक मर्द की ज़रूरत थी. और वाहा उसके पापा अपनी बेटी को जवान करने की फिराक में अपने प्यार के बीज उसके अंदर छ्चोढने की सोच रहे थे. फिर धीरे से एक हाथ से उसने लंड को पकड़ा, और वाहा रख दिया जहा वो आराम से अंदर बाहर आ-जेया सके.

वो हाथ रागिनी का था. जैसे ही ये हरकत हुई, उसके लंड की स्किन पीछे हो गयी, और पूरा लंड अब बाहर था. रागिनी आँखें बंद करके अपने पापा के लंड के अंदर जाने का वेट कर रही थी. उधर उसके पापा समझ चुके थे की अब ये तैयार था. फिर धीरे से उन्होने रागिनी की कमर को पकड़ कर अपने होंठ उसके शोल्डर पर चुंबन (किस) करते हुए स्लाइड इन कर दिए.

रागिनी: आहह ष्ह.

पापा: अया डार्लिंग, तुम काफ़ी वेट हो वाहा, और गरम भी. मेरे डिक पर काफ़ी गरम-गरम महसूस हो रहा है आहह.

रागिनी: आहह उम्म पापा आहह.

अब यहा उसके पापा रागिनी को धीरे-धीरे धक्के लगा रहे थे. वाहा रागिनी बेड पर धक्को के मज़े ले रही थी. उसे दर्द नही चरम सुख मिल रहा था. एक-एक धक्का जब उसके योनि के अंदर प्रवेश कर रहा था, तब तब रागिनी की क्लाइटॉरिस को मज़ा मिल रहा था.

रागिनी: आहह आअहह आआहह पापा आह.

पापा: आह आ, बस थोड़ी देर आ.

रूम में मानो अब एसी भी काम नही कर रहा था इतने गरम हो गये थे दोनो. पसीने बहे जेया रहे थे. अब उसके पापा धक्के ज़ोर-ज़ोर से लगाए जेया रहे थे, जिससे अब रागिनी का बट और उसके पापा का पेट दोनो आवाज़ कर रहे थे ताप ताप ताप ताप.

इस आवाज़ से उसके पापा को जोश मिल रहा था, और वाहा रागिनी मोन कर रही थी, जिससे उसके पापा का लंड उसके अंदर और टाइट हो रहा था. उसके पापा स्पीड बढ़ा कर अपनी बेटी को छोड़ना शुरू कर दिए, और उसकी बॉडी के उपर हाथ फेरने लगे.

रागिनी अभी तक झड़ी नही थी. वो अपने पापा के साथ झड़ना चाहती थी. 27 मिनिट तक छूने के बाद अब दोनो की हालत खराब हो चुकी थी. उसके पापा भी हार नही मान रहे थे. पर अब दोनो से कंट्रोल नही हो रहा था. तभी उसके पापा ने मोन करते हुए कहा-

पापा: बेटा मेरा होने वाला है, मैं झड़ने वाला हू. ह ह आह बेटा उम्म आहह सेक्सी बच्चा म्‍म्म्मम अहहह.

रागिनी: उम्म आह पापा, कम ओं, डॉन’त स्टॉप, डॉन’त स्टॉप, ह.

उसके पापा अब काफ़ी तेज़ी से धक्के मारने लगे, और अब आखरी के 4 धक्को ने पूरी बेड को हिला कर रख दिया, और रागिनी की पुसी को लाल कर दिया. रागिनी इस दर्द से कंट्रोल खो बैठी, और अपने पापा के साथ झाड़ गयी.

रागिनी: आह ऑम्ग आह.

पापा: ई आम कमिंग, ई आम कमिंग आह बेटा.

अब उसके पापा का स्पर्म अंदर उसकी वूंब तक चला गया था. बेडशीट पूरी गीली हो गयी थी, और दोनो हाँफने लगे थे. अभी तक उसके पापा का लंड उसके अंदर था.

15 मिनिट बाद दोनो वाहा उसी बेड पर वैसे ही सो गये.

नेक्स्ट स्टोरी सून.

यह कहानी भी पड़े  मेरी सहेली की मम्मी की चुत चुदाइयों की दास्तान-1


error: Content is protected !!