मम्मी की वर्जिन गांद की चुदाई

मम्मी हँसने लगी. अंकल मम्मी को नीचे कर दिया और मम्मी को चूमने लगा. और एक हाथ बूब्स को दबाने लगा और दूसरे हाथ से मम्मी के पेटीकोत को उपर कर मम्मी की गांद को मसालने लगा.

अंकल मम्मी के ब्लाउस के बटन खोल दिया और ब्रा को उपर कर मम्मी के बड़े बड़े माखन जैसे बूब्स को मूह मे डालकर चूसने लगा.

मम्मी – उूुउऊहह…

अंकल – उूउउँह उर्मिला कयस बूब्स है तुम्हारे उउउँह..

अंकल मम्मी के बूब्स मे मूह डालकर चूमने लगा और निपल को अपने दंटो मे लेकर काटने लगा.

मम्मी – आआआहह क्या कर रहे हो…

अंकल हासणे लगा और मम्मी के हाथ उपर कर उनकी ब्लाउस और ब्रा निकल दिए. अंकल मम्मी के होंठो को चूसने लगा, और फिर मम्मी की गेर्दन को चूमते हुए मम्मी के बूब्स दबाने लगा.

मम्मी – उूुुउऊहह..

अंकल नीचे की तरफ आया और मम्मी के बूब्स को मसालते हुआ मम्मी के नेवल को चूमने लगा और एक हाथ से मम्मी की गांद को दबाने लगा.

मम्मी अपनी टाँगे खुद छोड़ी कर दी. अंकल मम्मी की टॅंगो के बीच बेत गया और अपना अंडरवेर निकल, मम्मी का पेटीकोत और पेंटी उनकी टॅंगो से निकल दिया. अब दोनो मदारचोड़ नंगे हो गये थे. अंकल मम्मी की टॅंगो मे मूह दल दिया और मम्मी की छूट को चाटने लगा.

मम्मी – आआआअहह उउउँह करने लगी.

मदारचोड़ झानतु अंकल बहुत मज़ा ले रहा था. मेरे लंगूर बाप को मेरी रंडी मम्मी केसे मिल गयी. उुउऊहफफफफफफ्फ़ पूरा मज़ा तो रफ़ीक ले रहा है. अंकल मम्मी की छूट के दाने को मसालते हुए छत रहा था और मम्मी की हालत खराब हो रही थी.. मम्मी अंकल के सिर के बॅलो को नोचने लगी.

थोड़ी देर छूट चाटने के बाद अंकल मम्मी के बूब्स पर बेत गया और अपना लंड मम्मी के दोनो बूब्स के बीच रागाने लगा.

मम्मी – उूुउऊहफफफफफफफफफ्फ़…

मम्मी अपने हाथो से दोनो बूब्स को पकड़ ली जिससे अंकल का लंड बूब्स मे टाइट फिट हो गया. अंकल लंड आयेज पीछे कर मम्मी के बूब्स को छोड़ने लगा. फिर उपर होकर अपना लंड मम्मी के होंठो पर रख दिया.

मम्मी अंकल को कातिल सेक्सी नज़ारो से देखने लगी और हल्की स्माइल की. फिर मम्मी लंड को पकड़ लंड के टोपे को मूह मे ले ली और चूसने लगी.

मम्मी – उउउँह उूउउँह..

अंकल- ( हंसता हुआ) आआहह उर्मिला चूस मेरा लंड आहह..

अंकल अपने दोनो हाथ पलंग पर रख दिया और अपनी गांद उपर नीचे कर मम्मी के मूह मे लंड देने लगा.

मम्मी – उूउउंह उउउँह उःम्म्म्मम करने लगी.

अंकल लंड को पूरा अंदर दल रहा था जिससे मम्मी को उल्टी की तरह होने लगा. उनके मूह पर लंड की झांते टच होने लगी. मम्मी का मूह थूक से गिल्ला हो गया.

फिर अंकल हट गया और मम्मी की टॅंगो के बीच बेत गया. मम्मी अंकल के लंड को कॉंडम पहनने लगी. अंकल मम्मी की छूट पर लंड रख तोड़ा ज़ोर देकर लंड को मम्मी की छूट मे डाल दिया.

मम्मी – आअहह…

अंकल मम्मी को धीरे धीरे छोड़ने लगा. अंकल मम्मी की जाँघो पर हाथ घूमता हुआ मम्मी की गांद को दबाने लगा और फिर मम्मी की कमर को पकड़ गप्पगाप छोड़ने लगा.

मम्मी – आआहह उूुुुुउउम्म्म्मम उूुउऊहह करने लगी.

मम्मी के बूब्स ज़ोर ज़ोर से झूलने लगे थे. डेली मूठ मरने से मेरा लंड दुखने लगा था. लेकिन सामने जबारजस्ट चुदाई को देख मेरा लंड खड़ा हो गया और मई अपने लंड की मूठ मारने लगा.

थोड़ी देर छोड़ने के बाद अंकल अपना लंड छूट से निकल लिया. अंकल के लंड पर लगा कॉंडम मम्मी की छूट के पानी से चमकने लगा. मम्मी कपड़े से अपनी छूट सॉफ की और फिर अंकल के लंड को साफ की.

उसके बाद अंकल मम्मी को कल की तरह घोड़ी बनाने लगा. मम्मी पलंग पर ही घोड़ी बन गयी. उउउहफफफफफफ्फ़ मम्मी की फुल्ली हुई गांद देख मेरा दिमाग़ खराब होने लगा.

अंकल मम्मी की गांद के उपर लंड रख रगड़ने लगा और फिर गांद के छेड़ मे उंगली डाल दिया. मम्मी जल्दी से आअहह करती हुई हॅट गयी और अंकल हासणे लगा.

मम्मी – क्या कर रहे हूओ..

अंकल मम्मी को फिरसे घोड़ी बना दिए और फिर से उंगली गांद मे डालने लगा. मम्मी इश्स बार भी हटने लगी. लेकिन अंकल मम्मी को जबारजस्ति पकड़े रखा और उंगली मम्मी की गांद मे डाल दिया.

मम्मी – आआआआआहह करती हुई आयेज की तरफ होने लगी क्या कर रहे हो रफ़ीक…

अब अंकल झुक कर मम्मी की पीठ को चूमने लगा.

अंकल- उर्मिला उउउँह आज बहुत मॅन कर रहा है तुम्हारी गांद मारने का!

मम्मी – पागल हो गये हो.. और हटने लगी लेकिन अंकल मम्मी को हटने नही दिया.

अंकल – (तोड़ा स्माइल करता हुआ) – प्लीज़ उर्मिला सिर्फ़ एक बार…

आज छोड़ू अंकल मेरी मम्मी की गांद मारने का मॅन बना लिया था.

मम्मी – नहियिइ रफिकककक बहुत दर्द होगा.

अंकल – कुछ नही होगा मई धीरे धीरे करूँगा.

मम्मी – ( नखरा करती हुई) नहियीईईई…

अंकल मम की गांद मे उंगली डाल दिया.

मम्मी – आआआआआहह…

और उंगली मम्मी की गांद मे आयेज पीछे करने लगा. थोड़ी देर करने के बाद अंकल मम्मी की गांद पर ठुका और अपने लंड को मम्मी की गांद पर सेट करने लगा.

मम्मी – रोटी हुई – नहियीईई रफिक्क…

अंकल अपने लंड को पकड़ पूरी ताक़त लगाकर अपना लंड मम्मी की गांद मे डालने लगे.

मम्मी – उूुुुुुुुुुुुुुुुउऊहह नही..!

गांद अभी भी इतनी टाइट थी की अंकल अपने लंड को दल नही पाए. अंकल फिर मम्मी की गांद पर बहुत सारा थूक लगाया और एक बार फिर ताक़त लगाकर लंड गांद मे डालने लगा. इश्स बार अंकल कामयाब भी हो गया. अंकल लंड के टोपे को मम्मी की गांद मे डाल दिए.

मम्मी – (मूह खोल कराआआआअ आआहह) और हटने लगी.

लेकिन अंकल मम्मी की कमर को टाइट पकड़ लिया जिसकी बजाह से मम्मी हिल नही सकी.

मम्मी – उूुउऊहह नही रफिककक बाहौत दर्द हो रहा है.

ऐसा लग रहा है जैसे की मम्मी की गांद अब तक किसी ने नही मारी थी.

अंकल – ऊओफफफफफ्फ़ उर्मिला बहुत टाइट है तुम्हारी गांद…

अंकल फिर ताक़त लगाया और लंड अंदर डालने लगा.

मम्मी – आआआआआआअहह…

मम्मी का मूह दर्द के मारे खुल गया था और अंकल को भी पसीना आने लगा. लंड गांद मे डालने के लिए अंकल मम्मी की कमर को पकड़ अपना लंड बाहर निकाला और फिर जल्दी से वापस डालने लगा.

मम्मी – आअहहाहह..

अंकल मम्मी की कमर को टाइट पकड़ लिया ताकि मम्मी उनके शॉट से हीले नही. और फिर एक जोर्का झटका मम्मी की गांद पर मारा और अंकल का लंड मम्मी की गांद को चीरता हुआ अंदर जाने लगा.

मम्मी – आआआआअ आआआआहह आआआहह.. रफिकककककक उउज्ज्ज्झहह..

अंकल फिरसे एक ज़ोर का ढ़हाका मारा.

अंकल – आआआआहह उर्मिला…

और लंड गांद को चीरता हुआ अंदर चला गया. इश्स बार रफ़ीक अंकल कामयाब हो गया मम्मी की गांद मे लंड डालने मे. मम्मी दर्द के मारे मूह के बाल पलंग पर गिर गयी.

मम्मी – आआआआअ आआआआअ आआआहह आआआहह रफिककक नहियिइ बहुत दर्द हो रहा है.

अंकल मम्मी को फिर से घोड़ी बनता हुआ.

अंकल – सिर्फ़ थोड़ी देर.

फिर अंकल मम्मी को फिर से घोड़ी बनाया और अपना लंड मम्मी की गांद से बाहर निकाला.

मम्मी – हहुउऊउऊहफफफफफफ्फ़…

मम्मी की गांद मे गोल छेड़ हो गया. और अंकल का लंड मम्मी की गांद की टट्टी से गंदा हो गया. अंकल फिर से लंड का टोपा गांद की छेड़ पर रखा और मम्मी की गांद को कासके पकड़कर धक्का मारा.

मम्मी – आआआहह उूुुउऊहहााअहह

करने लगी और अंकल धीरे धीरे लंड अंदर बाहर करने लगा. मम्मी की गांद बहुत टाइट है इसीलिए उनकी गांद मे अंकल का लंड जाकड़ गया था. अंकल मम्मी की कमर को पकड़ गांद पर शॉट मारने लगा.

मम्मी – आआााहााहह उूुुउउँह

अंकल – ऊओह उर्मिला बहुत मस्त गांद है तेरी आआहह..

अंकल मम्मी की गप्पगाप गांद मरने लगा और मम्मी की गांद पर तपद मारने लगा.

मम्मी – आआहह रफिकककक उुउऊहह…

वो अंकल को थप्पड़ मारने से रोकने लगी. लेकिन भोसदीवाला अंकल कहा सुनने वाला था. मम्मी को और भी जोरदार तपद गांद पर मारने लगा.

मम्मी – आआहह आहह उूुुुुउउब्भहुउऊउऊहह मदारचोड़ क्या खाते हो आप जो इतनी ताक़त है आपके अंदर.

अब मम्मी अपने एक हाथ से अंकल को थप्पड़ मारने से रोकने लगी. अंकल हासणे लगा.

अंकल – (मम्मी की गांद पर तपद मारता हुआ) – आअहह मेरी रांड़ उर्मिला आअहह.. रंडी बहुत गांद मटका मटका कर चलती है ना तू!

मम्मी अंकल की बात पर हासणे लगी. अंकल के थप्पड़ से मम्मी की गांद लाल होने लगी थी.

छोड़ू अंकल रफ़ीक मम्मी की बाहौत जबारजस्ट गांद मार रहा था. मूठ मारते मारते मेरा लंड भी दुखने लगा था.

थोड़ी देर बाद अंकल अपना लंड निकाला. मम्मी की गांद मे लंड शॅप का गोल छेड़ साफ दिखने लगा. मम्मी मूह के बाल गिर गयी. रफ़ीक पलंग के नीचे खड़ा हो गया और अपना लंड सॉफ करने लगा.

फिर मम्मी को भी नीचे खड़ी कर दिया और मम्मी को पलंग के सहारे फिर घोड़ी बना दिया. मम्मी अपने हाथ पलंग पर रख दी और घोड़ी बन गयी. अंकल फिर से गांद पर अपना लंड टीका दिया और गांद पर थूक लगा कर गांद की छेड़ पर लंड का टोपा लगा दिया.

मम्मी – उऊहह रफ़ीक बस करो बहुत दर्द होता है…

अंकल तोड़ा ज़ोर देकर लंड का टोपा मम्मी की गांद मे डाल दिया.

मम्मी – आअहह…

अंकल मम्मी की कमर को पकड़ लिया और धीरे धीरे ढके मारने लगा.

मम्मी – आआआअहह

अंकल अपनी कमर आयेज पीछे कर मम्मी की गांद मारने लगा.

मम्मी – आआअहह उघह…

अंकल – ऊओह उर्मिला आअहह क्या मस्त गांद है तेरी उउउहह..

अंकल मम्मी की गप्पगाप गांद मार रहा था. मम्मी अपना मूह यहा बहन करके सिसकारिया लेने लेगी. लंबे खुले बॅलो मे मम्मी सचमुच की गड्राई घोड़ी लग रही थी. जिसपे झानतु रफ़ीक अंकल सवारी कर रहा था. अंकल मम्मी की गांद पे और ज़्यादा थप्पड़ मारने लगा.

मम्मी – आआहह उूुउउ उउउहफफफफफफ्फ़

मम्मी की आआआहह करने से अंकल को और भी जाड़ा जोश आने लगा. और अंकल मम्मी की गांद पर थप्पड़ मारता हुआ मम्मी की गांद मार रहा था.

अंकल – आअहह मेरी रांड़ आअहह ऊहह

अंकल फुल जोश मे आ चुका था और झुक कर मम्मी के बूब्स जो लटक रहे थे उनको अपने दोनो हाथो से दबाने लगा. और मम्मी की पीठ को चूमने लगा.

तो दोस्तो ये थी मेरी सेक्स कहानी. मेरी कहानी आप पढ़िए और अपने लंड की मूठ मरते हुए एंजाय कीजिए. इसके आयेज की कहानी भी है जो की आपको कहानी के अगले पार्ट मे पता चल ही जाएगा.

कहानी पढ़ने के बाद मुझे कॉमेंट्स जारू करना ताकि मुझे भी पता चले की मेरे रीडर्स मेरी कहानी से कितने एंजाय कर रहे है. आप अपने कॉमेंट्स मुझे मैल भी कर सकते है इश्स ईद पर

यह कहानी भी पड़े  मों के साथ जंगल मे रास्ता भटक गया-5

error: Content is protected !!