मम्मी की चुदाई भाई के साथ मिल के

हाई दोस्तों मेरा नाम अजय हे मैं चेन्नई से हु. मेरी उम्र 20 साल हे. मेरी बॉडी सामान्य हे और ये आज मेरी पहली कहानी हे जिसे मैं आप के लिए ले के आया हूँ. ये बात पिछले साल की गर्मियों की हे. तब मेरी 12वी की छुट्टियां थी. और तब मैं बचपन को छोड़ के एडल्ट लोगों की दुनिया में नया नया ही इंटर हुआ था. मैं और मेरा जुड़वाँ भाई दोनों हॉस्टल से घर आये थे. दोनों बचपन से ही दोस्तों के जैसे बड़े हुए हे और हम दोनों के बिच में सब कुछ ओपन हे. मेरा भाई भी मेरे जैसे एडल्ट हो के काफी उत्साहित था.

हम दोनों ही भाइयों को पोर्न देखने का चस्का भी लगा हुआ था. हम साथ में पोर्न देख के हस्तमैथुन करते थे. एक दिन ऐसे ही दोनों पोर्न देख रहे थे तब अचानक दरवाजा खोल के मम्मी अंदर आ गई. दोस्तों मैंने आप को मम्मी के बारे में तो बताया ही नहीं. वो एकदम सेक्सी फिगर वाली लेडी हे और उसे देख के अच्छे अच्छे ख़राब हो जाते हे.

हॉस्टल में जब एक बार मम्मी आई थी तो मेरे सभी दोस्तों के लंड खड़े कर दिए थे उसने. मेरे पापा शराबी हे हे और वो काम को अपनी लाइफ मानते हे. मम्मी के ऊपर उनका कम ही ध्यान रहता हे.

मम्मी ने हम दोनों भाइयो को देखा और वो चुपचाप वहाँ से निकल गई. मैंने अपने भाई शान से कहा यार मम्मी अपने घुटनों के ऊपर तक के कपड़ो में कितनी सेक्सी लगती हे! भाई ने कहा, यार मम्मी के बूब्स इतने बड़े हे की फिर से उन्हें चूसने का मन हो जाता हे. और गांड भी क्या हिलाती हे उसे देख के मन करता हे पीछे से ही चोदना चालू करूँ!

फिर हम दोनों भाइयों ने उस दिन मम्मी की कल्पना कर के अपने लंड को हिला लिया. दोपहर में मम्मी जब पोछा लगा रही थी तो जैसे उसके दो बड़े कबूतर बहार आने के लिए बेताब और बेबाक से थे. और जब वो खड़ी हो के पोछे की बाल्दी में से पानी वाला कपडा ले के आती थी तो उसका कुल्हा हील के लेफ्ट से राइट और फिर राईट से लेफ्ट हो रहा था. हम दोनों ब्रदरस की नजर माँ के सेक्सी बदन पर ही थी!

कुछ देर के बाद मम्मी ने भी नोटिस किया की हम दोनों भाई उसकी जवानी की झलक ही देख रहे थे. और उसके चहरे पर भी ये देख के स्माइल सी आती लग रही थी. मैंने सोचा की अब तो जो हो लेकिन माँ को चोद के ही रहूँगा!

हम दोनों भाईयों ने दुसरे दिन ऐसा किया की टीवी के ऊपर पोर्न फिल्म की डीवीडी लगा दी. और फिर टीवी को मेन इलेक्ट्रिक स्विच से बंद कर दिया. अब जैसे ही मोम टीवी को ओन करती उसे पोर्न फिल्म का सिन ही दीखता. और जैसे हमने प्लान किया था वैसे ही सब कुछ हुआ!

यह कहानी भी पड़े  कामवाली वाली कामुकता भरी चुदाई

हम लोगों ने माँ को कहा था की हम हमारे कमरे में हे. और हम लोग कमरे में से छिप के सब देख रहे थे. माँ ने जैसे ही टीवी ओं किया तो उसे सेक्स का सिन दिखा. हमें लगा की वो घबरा जायेगी. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. माँ ने तो टीवी को म्यूट कर दिया. फिर हमारे कमरे की तरफ देखा और वो आराम से टीवी के ऊपर पोर्न देखने लगी. और फिर वो गरम हो गई और अपने बदन के ऊपर हाथ घुमाने लगी. हम दोनों भाई ये देख रहे थे. और ये सब देख के हमारे लंड भी खड़े हो रहे थे. फिर मेरे भाई ने मेरा लंड हिलाया और मैंने मेरे भाई का, अफ कोर्स माँ भी उधर अपनी चूत के ऊपर कपड़ो के ऊपर से ही हाथ घुमा रही थी.

और मेरे भाई के लंड से जब पानी छूटा तो उसने मोअन कर दिया. और मम्मी ने हमारे कमरे की तरफ देखा. मैंने डर की वजह से कमरे का दरवाजा बंद कर दिया.

अगले दिन पापा किसी काम की वजह से कुछ दिन के लिए बहार चले गए. फिर मुझे और भाई को ऐसी लत लगी थी की मम्मी के बदन से उतरी हुई पेंटी और ब्रा को सूंघते थे और उसके अन्दर ही लंड को घिस के मुठ मारते थे. और मम्मी को चोदने की इच्छा हम दोनों की ही थी. मैं तो माँ को चोद के उसकी चूत का भोसड़ा करने के लिए बेताब था.

अगले दिन मम्मी खाना बना रही थी और दाल की कुछ बुँदे उसके बदन के ऊपर गिर गई. मदद करने के बहाने भाई ने मम्मी को पकड़ा और उसने ऐसे करते हुए अपने लंड को उसकी गांड पर ही टच कर दिया था. मम्मी कुछ कहती उसके पहले मेरे भाई ने मम्मी के बूब्स पकडे और वो उसे चूमने भी लगा.

मम्मी छुड़ा के कमरे में भागी और फिर बाथरूम में चली गई. फिर जब वो बहार आई तो उसके बदन पर सिर्फ एक तोवेल ही था. माँ का सेक्सी बदन और भी सेक्सी लग रहा था. भाई की और मेरी हालत एकदम खराब हो चुकी थी माँ का ऐसा रूप देख के तो.

रात को भाई ने अपने पैर में मोच आने की एक्टिंग की और मम्मी कमरे में आई. भाई ने बाथरूम करने का बहाना किया और तब मैं अपने प्लान के हिसाब से वहां था नहीं. मम्मी को ही उसे उठा के ले के जाना पड़ा. भाई ने पेशाब किया और अपना लंड मम्मी को दिखाया.

यह कहानी भी पड़े  मेरी फ़ुफ़ेरी बहन की शादी में उसकी चुत की चुदाई

भाई को पानी से साफ कर रही थी मम्मी और भाई का लंड लोहे की सलाख के जैसे खड़ा हुआ था. वैसे भी मेरे भाई का लंड मेरे लंड से भी बड़ा हे. फिर भाई ने मम्मी को नहलाने के लिए कहा. मम्मी जब उसे नहला रही थी तो उसने चांस लेते हुए मम्मी के बूब्स को पकड़ लिया. भाई ने फिर मम्मी के ऊपर पानी डाला और मस्ती करने लगा. मम्मी को पता चल गया की उसके पाँव में कुछ नहीं हुआ हे. फिर मैं भी बाथरूम के पास गया और मैं और भाई मम्मी के ऊपर पानी डाल के उसे भिगोने लगे.

फिर मैंने पीछे से अपनी माँ के बड़े बूब्स को अपने हाथ में पकड़ के उन्हें दबा दिया. मम्मी के मुहं से जबरदस्त मोअन निकल पड़ी. उसे मजा भी आने लगा था अब! भाई ने निचे हो के मम्मी की नाभि को चूमना चालू कर दिया था. और फिर हम दोनों भाई अपनी सेक्सी माँ के अंग अंग को टच कर रहे थे और चूम रहे थे. मम्मी के मुहं से सिसकियाँ निकल रही थी और उसका बदन अब उबाल मार रहा था सेक्सी की ज्वाला में!

फिर मैंने मम्मी का टॉप और अंदर की ब्रा को निकाल फेंका. मम्मी के बड़े तरबुच जैसे बूब्स को देख के लंड में आग लग गई. मम्मी ने अब अपने हाथ से अपना पेटीकोट खोला और निचे उसकी पेंटी ब्रा से मेचिंग कलर की ही थी.  भाई ने मम्मी को बाहों में ले लिया और मम्मी को अपना लंड पकड़ा दिया. मम्मी के होंठो को चूस के वो डीप सकिंग कर रहा था. मम्मी हम दोनों भाई के बिच में सेंडविच बनी ही थी.

फिर मैंने मम्मी की पेंटी में हाथ डाला तो उसकी गरम और क्लीन चूत का अहसास हुआ. मम्मी के छेद से पानी निकल चूका था. मैंने मम्मी के  निपल्स को चूसते हुए उसकी चूत का मसाज कर रहा था. फिर मैंने मम्मी की चूत के ऊपर अपनी जबान को रख दिया और चाटने लगा. मम्मी ने हाथ से मेरे माथे को पकड़ा और अपनी चूत के ऊपर दबा दिया.  मम्मी खुद भी जैसे सातवें आसमान पर थी. मम्मी की चूत के दाने को ऊँगली से हिला के मैं उसकी चूत को मजे से चूसता गया. और वो खड़ी खड़ी मोअन कर रही थी. भाई ने उसके बूब्स को चूस चूस के लाल कर दिया था.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2