मम्मी चुदी उनकी दोस्त के बाय्फ्रेंड से

हेलो एवेरिवन. मीटा नाम मॅंडी है और आप सब ने अभी तक मेरी मम्मी राधा के जोरदार ठुकाई के किससे पिछले पार्ट मे पढ़ ही लिए होगे. इश्स स्टोरी को आचे से समझने मे लिए पहले पार्ट्स पढ़ लीजिए.

अब इश्स स्टोरी के आयेज बढ़ते है. सब लंड धरी अपना लंड खड़ा करने के लिए टायर हो जाए और छूट की रानिया अपनी उंगलियों को टायर रखिए क्यू की आप सब का मूड बनाने की मैने पूरी कोशिश की है.

मेरी मा का नाम राधा सिंग है. उनकी उमर 34 है. वो एक स्कूल टीचर है. वो हमेशा से ही एक मादक और उभर भरे शरीर की मालकिन रही है. उनकी सारी पहेन्ने का तरीका काफ़ी सेक्सी है.

उनके सारी का पल्लू बॅस उनके लेफ्ट बूब को कवर करता है. उनका रिघ्त बूब पल्लू से बाहर ही दिखता रहता है. उनके ब्लाउस डीप नेक वाले होते है. उनका मंगलसूत्रा जब उनके दोनो बूब्स के बीच मे हिलता रहता है तब क्या नज़ारा होता है. उनको सारी नेवेल से नीचे पहेन्ने की आदत है.

उससे उनकी सेक्सी डीप नेवेल ट्रॅन्स्परेंट सारी से सबको डरहाण देती रहती है. उनको देख के आचे अछो का पानी निकल जाए. जब भी वो कही से गुजरती है तो सब की गर्दन घूम जाती है. चलने का उनका तरीका. वो मटकती कमर आए हाए. और जब से विक्रम उनकलड से चूड़ी है तब से उनको अलग सा कॉन्फिडेन्स आ गया है. जान बुझ कर किसी को तड़पति है अपनी तिरछी नज़र से. अपना पल्लू गिरा के. अपनी उभरी हुई गांद मटकके.

मेरे सारे दोस्त मेरे घर आने के लिए तरसते है. मई देख कर सब उनदेखा कर देता हू. मेरे टीचर्स मुझ से मेरी मम्मी का नंबर माँगते है. उनको लगता है मई बाकचा हू मुझे कुछ पता नही. मेरी पढ़ाई के बहाने मम्मी से बात कर लेते है. और मेरी मम्मी भी उनको लाइन देने को टायर रहती है.

ये सब मेरे पापा के घर ना रहने की वजह से है. मम्मी को एब्ब पराए लंड की आदत लग गयी थी. पापा के साथ वो खुश नही रह पति थी.

मेरी मम्मी के एक अची फ्रेंड है निशा आंटी. जिनके साथ वो हमेशा से सब शेर करते आई है. विक्रम अंकल से मम्मी को उन्होने ही मिलाया था.

निशा आंटी के पति 1साल मे बॅस 1 महीने के लिए घर आते है. इसीलिए वो यहा वह चक्कर चलती रहती है. उनका एक बाय्फ्रेंड है. उसका नाम कारण है. बोहोट ही हटता कटता और डार्क स्किन का है. वो यही देल्ही मे एक जिम चलता है.

बात नवरात्रि के दीनो की है जब हमारी सोसाइटी मे गरबा नाइट्स रहती थी. उसमे सोसाइटी के सब लोग आए थे. मेरी मम्मी भी मस्त बन तन के निकली.

उनको देख के सभी के होश ही उडद गये. उन्होने घग्रा और चोली पहनी थी. उनका घग्रा मस्त लो वेस्ट था. उससे नेवेल के पूरे दर्शन हो रहे थे. उनकी चोली पीछे से पूरी खुली थी और बॅस दो डोरी से बँधी थी. आयेज क्लेवगे भी डीप था. और उनकी चुननी ट्रॅन्स्परेंट होने से उनके बूब्स को छुपाने की नाकाम कोशिश कर रही थी.

उनके खुले लंबे बाल और तोड़ा मेकप के साथ वो किसी अप्सरा से कम नही लग रही थी. निशा आंटी और उनका ब्फ कारण भी आया था. निशा आंटी ने मम्मी को देखा और पूछा क्या राधा आज किसका बिस्तर गरम करने का इरादा है. मम्मी शर्मा के हासणे लगी.

कारण की आखो से पता चल रहा था की वो मम्मी को ऑलरेडी नंगा कर चुका है अपने मान मे.

निशा आंटी ने मम्मी को और मुझे कारण से इंट्रोड्यूस कराया. कारण को जब पता चला की वो मेरी मम्मी है वो विश्वास करने को ही टायर नही था. फिर पापा भी वाहा आए और उन्होने मम्मी को कुछ कम से बुला लिया. मई वाहा खड़े रह के निशा आंटी और कारण की बाते सुन रहा था.

कारण – निशा यार तुम्हारी ये दोस्त किसी रंडी जैसे टायर हुई है लगता है इसका पति इसको शांत नही कर पता बेड मे.

निशा आंटी – बिल्कुल सही कहा. राजेश(मेरे पापा) हमेशा बाहर ही रहता है. और ये बेचारी घर मे तड़पति रहती है.

कारण – मई अगर इसका पति होता तो इसको मसल मसल कर छोड़ता.

निशा आंटी – तुम इसे छोड़ने के सपने मत देखो.ये तुम्हारे हाथ नही आएगी.

कारण – अगर तुम इसे मेरे साथ अकेले टाइम दिलवा देती हो तो बाकी का मई देख लूँगा.

निशा आंटी – पार और तो राजेश भी यहा आया है. तुम ऐसा वैसा कुछ मत कर देना. सब सोसाइटी के लोग भी यहा आए है.

कारण – राजेश को तुम्हे संभलना पड़ेगा. राधा को मई देख लूँगा. इसको आज कुटिया की तरह नही छोड़ा ना तो मेरा नाम बदल देना.

निशा आंटी – पर ये सब कैसे करे.

कारण – अभी दांडिया शुरू हो रहा है तुम गिरने की आक्टिंग करो और पैर मे लगने से तुम डॅन्स नही कर पावगी तो मेरे साथ डॅन्स करने मे लिए तुम राधा को फोर्स करो. और राजेश से यहा बात करते रहना. ताकि वो राधा को ना बुलाए.

निशा आंटी – आख़िर तुम्हारी हवस का शिकार मेरी दोस्त होने जा रही है.

मम्मी दूर से चल के आती है

(निशा आंटी मान मे सोचने लगी की राधा तुज़े तो आज कारण का बिस्तर गरम करना है. इसके बड़े लंड से तेरे कल तक चलने का बुरा हाल हो जाएगा.)

प्लान के अकॉरडिंग निशा आंटी गिर जाती है और मम्मी को फोर्स करती है. मम्मी भी इश्स मौके का फयडा उठाते हुए कारण को सिड्यूस करने का सोचती है. पर उनको क्या पता ये बस डॅन्स ही आयेज जाके उनको पलंग तोड़ ठुकाई तक लेके जाएगा.

पापा के सामने मम्मी और कारण भैया दांडिया खेल रहे थे. मम्मी के चोली मे से झूलते बूब्स और भी मादक लग रहे थे. और बीच बीच मे कारण मम्मी को पीछे से हग भी कर लेता था. और उनके कमर पे हाथ रख के दबोच भी लेता था.

मम्मी भी इन सब का विरोध नही कर रही थी. शायद बोहोट दीनो से अधूरी ठुकाई से वो भी गरम हो रही थी. पापा का ध्यान वाहा ना जाए इश्स लिए आंटी रोने की आक्टिंग करने लगी और पापा को बोला की मुझे अभी के अभी हॉस्पिटल ले चले पैर मे दर्द बोहोट है.

पापा भी क्या करते. उनको कहा पता उनके पीछे उनकी बीवी की गंदफ़ड़ चुदाई होने वाली है. मई ये सब देख के मज़े ले रहा था. निशा आंटी कारण को आँख मार के इशारा कर देती है की उसका रास्ता अभी सॉफ हो गया है. राधा अब तुम्हारी है.

पापा और निशा आंटी कार से हॉस्पिटल निकल जाते है. कारण यहा मम्मी के मज़े लेने मे बिज़ी था. म्यूज़िक जैसे जैसे फास्ट होता गया. वो दोनो और करीब आते गये. जैसे की दोनो पति पत्नी हो ऐसे केटिब आ के डॅन्स कर रहे थे. थोड़ी देर बाद कारण भैया मम्मी के कन मे कुछ कहते है और दोनो साथ मे ऑडिटोरियम से बाहर जाने लगते है.

कारण भैया मम्मी को निशा आंटी के घर लेके जाते है. जैसे ही डोर लॉक होता है भैया मम्मी को डोर से चिपका के उनको किस करने लगते है. मम्मी कहती है कारण मेरे पति को पता चला तो अछा नही होगा. कारण भैया बोले की मई जनता हू तुम कितनी बड़ी रंडी हो. ज़्यादा नाटक मत करो वरना यही तुम्हारी सारी अकड़ निकल दूँगा.

मम्मी के दोनो हाथ भैया एक हाथ मे पकड़ के उनके सिर के उपर दबा देते है. दूसरे हाथ से उनके ब्लाउस के उपर से ही बूब्स को मसालने लगते है. चुननी तो जैसे थी ही नही वाहा. उनके कमर को मसालते है. नेक के किस करते है. मम्मी आहे भर रही होती है.

कारण भैया मम्मी को उठाते है और सीधा बेडरूम मे ले जाते है. मम्मी को नीचे बैठा के अपनी पंत की तरफ इशारा करते है.

तो मम्मी समझ जाती है की आज इसको शांत किए बिना ये जाने नही देगा. मम्मी जैसी ही लंड बाहर निकलती है तो उसका साइज़ देख के हैरान रह जाती है. वो बोलती है कारण तुम इससे मुझे छोड़ोगे तो मेरी छूट फट जाएगी.

कारण बोलता है तेरी जैसी कुटिया को ऐसे ही बड़े लंड से छोड़ना चाहिए. लंड चूसने से उसकी साइज़ और बादने लगती है. मेरी गोरी चित्ति मम्मी और ये बड़ा सा इंसान ऐसे लग रहा था की इसकी तो आज बुरी तरीके से ठुकाई होगी.

मम्मी के रेड लिपस्टिक वाले लिप्स के अंदर जाता वो कला बड़ा लंड. क्या नज़ारा था. कारण ने अपना लंड मम्मी के मूह मे पुश किया. मम्मी के गले तक लंड चला गया और वो साँस नही ले पा रही थी. वो कारण को दूर पुश करने लगी पर यूयेसेस बड़े मर्द के आयेज ये अबला नारी क्या ही करती.

फिर कारण ने मम्मी के चोली के दो डोरी खीची और वो आयेज से निकल गया. बिना ब्रा के उनके बूब्स जंप करके बाहर आ वाए. उनको बूब्स को देख कारण तो उनपे टूट पड़ा. और उनको डटो से काट ने लगा. मम्मी दर्द से मोन करने लगी.

भैया के बालो को पकड़ के उसको दूर हटाने की कोशिश कर रही थी. मम्मी ले घग्रे के नीचेसे भैया ने हाथ डाला और उनके पनटी पे हाथ रखा. तो पनटी पूरी की पूरी भीग गयी थी.

मतलब छूट चुदाई के लिए टायर है.उन्होने पनटी नीचे खीची और मम्मी को बेड पे फेक दिया. खुद अपने सारे कपड़े निकले और मम्मी के उपर चढ़ गये. घग्रा बॅस उपर उठाया और एक झटके मे लंड का टोपा अंदर घुसा दिया.

दर्द से मम्मी तिलमिलाई पर कों उनका दर्द सुनता. भैया ने उनको किस करते हुए लंड और अंदर घुसाया. मम्मी की आखे बड़ी होते जा रही थी. उससे पता चल रहा था की छूट फट चुकी है और वो अपने नाख़ून भैया के पीठ पे मार रही थी. कारण ने लंड एक झटके मे निकल लिया.

मम्मी जैसे रोने ही लगी हो दर्द से. मुझे जाने दो दर्द हो रहा है और रोने लगी.

कारण बोला चुप कर साली छीनाल आज तुज़े कोई नही बचयएगा. ये लंड तेरी छूट का भोसड़ा बना देगा आज. तुज़े देख के ही साँझ गया था तेरी जैसी बोहोट शादीशुदा रंडियन छोड़ी है मैने. सब एक नंबर की छीनाल होती है. अपने पति का लंड उठता नही है तो बाहर मूह मारती है. चुप रह वरना तेरी गांद भी मारूँगा!

ये सुनते ही मम्मी और रोने लगी और कारण एब्ब मम्मी को धक्के मरते हुए छोड़ने लगा. किसी शादीशुदा औरत को ठोकने मे जो मज़ा है वो किसी कुवारि छूट मे कहा ऐसा कारण भैया बोले और मम्मी को थप्पड़ मार दिए. मम्मी को दोनो बूब्स को पकड़ के लंड अंदर बाहर हो रहा था. ठप ठप ठप ठप ठप आवाज़ आ रही थी.

म्‍म्म्ममममममममम……. अहह……… हाए राम कारण प्लीज़ धीरे करो करके मम्मी रोने लगी. उम्म्म्मममम.

मम्मी के मोन स भैया और उत्तेजित होने लगे और उनका स्पीड बढ़ने लगा.

आआययययीीई………उम्म्म्म….. उम्म. एमेम…. एयेए…. मम्मी की मोन्स पूरे घर मे गूंजने लगी.

कारण ने मम्मी को उठाया और वैसेही मम्मी को कुटिया बनके पीछे से लंड घुसा दिए. मम्मी एब्ब किसी रंडी की तरह बोलने लगी जैसे उनको भी मज़ा आने लगा.

उम्म्म्म…..हान्णन्न्……छोड़ मुझे हरामी……… तेरी कुटिया हू मई…….. आज तू ही मेरा असली पति है……… मेरी छूट बस तेरी है…..

कारण भैया पूरे जोश के साथ ठुकाई करते हुए बिज़ी थे और बोल रहे थे की तुज़े आज चलने लायक नही रखूँगा.

तभी बिना किसी नॉक के घर का मैं डोर खुलता है और निशा आंटी और पापा अंदर आ जाते है. अंदर बेड रूम मे मम्मी कारण से रंडी की तरह चुड रही होती है और मोन कर रही होती है.

पापा की आवाज़ से मम्मी और भैया शांत हो जाते है पर पापा और निशा आंटी को बेड रूम से थोड़ी आवाज़ आ जाती है. पापा निशा आंटी की तरफ देखते है पर निशा आंटी साँझ जाती है की अगर राजेश (मेरे पापा) को पता चला तो बोहोट बुरा होगा.

तो वो पापा को हॉल से ही वापस भेज देती है.

पापा बाहर जाते ही मम्मी को फोन लगते है. मम्मी का फोन बजते ही मम्मी दर जाती है.इससे पहले की मम्मी फोन कटे कारण फोन उठा के स्पीकर पे दल देता है.

पापा – राधा कहा हो तुम?

(मम्मी की छूट मे अभी भी कारण का लंड है और वो धक्के लगाए जा रहा है.)

(कारण ने जो किया उसके लिए मम्मी उसको घुरती है पर कारण हासणे लगता है.)

राधा – (मोन करते हुए) .….. .…….मई…….…….उम्म्म्म…

पापा – राधा तुम क्या कर रही हू

मम्मी – आह…….. . मई दांडिया खेल रही हू….. (मम्मी कारण को . बोलती है पर वो और . से धक्के मरता है)

पापा – . क्या हो गया ये . . है.

मम्मी – . वो मई . गयी . . तो . रही हू बॅस और कुछ नही.

(ये बाते सुन के भैया ज़ोर से हासणे लगते है.)

राधा ये लास्ट सॉंग है और ज़ोर से नाचते है(कारण भैया पीछे से बोलते है)

पापा – तुम कारण के साथ डॅन्स कर रही हो क्या

मम्मी – उम्म्म्म……..जी…….आईईईईईई.

पापा – ठीक है मई आ रहा हू वाहा

और फोन काट देते है.

साली रंडी. अपने लाती को बताती ना की मई अपनी छूट छुड़वा रही हू. तुम्हते छोटे लंड से मेरी आग नही शांत होती.

भैया मम्मी को धक्के मरते मरते उनका पानी निकल देते है. मम्मी का पनी निकलते ही खुद भी अपना पानी निकल देते है. मम्मी के छूट मे ही. और दोनो अलग हो जाते है.

मम्मी जल्दी से कपड़े पहेनटी है और घर के तरफ भागती है क्यू की वाहा पापा मम्मी को ढूँढने वाले होते है. हॉल मे निशा आंटी मम्मी को देख के बोलती है राधा कैसी रही मेरी ब्फ के साथ दांडिया नाइट. पर मम्मी बॅस शरमे के वाहा से चली जाती है.

कारण भैया बाहर आ के बोलते है की यार इसके जैसी औरत मिलना मुश्किल है. इसने आज बोहोट मज़ा दिया. इसको फिर से छोड़ूँगा.

इसके बाद क्या मम्मी और कारण भैया फिर से चुदाई करते है ये अगले पार्ट मे बतौँगा. तक तक के लिए गुडबाइ.

आपका फीडबॅक मुझे जर्रोर भेजे. आपको स्टोरी कैसी लगी. मुझे पर मैल करे.

यह कहानी भी पड़े  सेक्स की प्यासी मामी की चूत चुदाई

error: Content is protected !!