मम्मी बन गयी अंकल आंटी की ग़ुलाम

मम्मी बन गयी उनलसे आंटी के स्लेव.

ये स्टोरी हैं मम्मी की, कैसे आंटी ने उनको अपने और अपने पति के गुलाम बनाया दिया और खुद उनकी मालकिन बन गयी.

इंट्रोडक्षन:

माइसेल्फ: रमण आगे 12 हिगत 5’0

मम्मी: सुमन आगे : 36 हिगत 5’6

फिगर: 42 चुचे 36 कमर 40 चुतताड

आंटी: संगीता आगे 42 हाइट 5,9

फिगर: 38 चुचे 30 कमर 40 गांद

अंकल: अविनाश आगे 48 हाइट: 6’1 फिट बॉडी मस्क्युलर मान वित चार्मिंग फेस आंड डॉमिनेंट लुक्स.

पापा साइड कॅरक्टर नो नीड तो इंट्रोड्यूस.

हमारी मिड्ल क्लास फॅमिली आंड मम्मी के जो फ्रेंड हैं सुनीता, वो रिच फॅमिली से बिलॉंग केरती हैं. उनके पति का काफ़ी अछा बिज़्नेस हैं आंड पापा ईक छोटी कंपनी मैं आस एमपलोए काम केरते हैं.

मम्मी ने आंटी को सब बता रखा हैं कैसे दाद उनको स्तैस्फ़ी नही कर पाते सेक्स मे, कैसे उनकी बोरिंग लाइफ चल रही हैं. और फिर एक दिन आंटी बोलती हैं-

संगीता: सुमन चलो हमारे साथ गोआ चलो.

आंड देन हमारा प्लान बनता हैं.

मई और मम्मी आंटी आंड अंकल के साथ जाते हैं, दाद के बॉस ने उनको छुट्टी नही दी सो वो नही आ पाए. मम्मी ने मस्त ब्लॅक सारी डीप नेक वा बॅकलेस ब्लॅक ब्लाउस पहना हुआ था, पताका लग रही थी बिल्कुल.

आंटी: रेड त-शर्ट वाइट जीन्स.

उनलसे: ब्लॅक पंत आंड शर्ट.

अंकल ने पर्सनल रिज़ॉर्ट बुक किया हुआ था. हम ईव्निंग तक पहुँच गये. फिर तीनो ने ड्रिंक ली आंड हॉल मैं बेत गये. फिर अंकल बोले लेट’स प्ले ट्रूथ आंड डरे.

रूल्स ग़मे: कोई भी कुछ भी पूछ सकता हैं कुछ भी डरे दे सकता हैं. अगर कोई दिया हुआ टास्क कंप्लीट नही केरता तो वो आज के रात रिज़ॉर्ट के बाहर रोड पर बिताएगा.

बॉटल स्पिन होती हैं मम्मी के.

आंटी: ट्रूथ और डरे?

मम्मी: ट्रूथ.

आंटी: टुमारा पति सॅटिस्फाइ नही केरता ई नो बुत वन मंत मे कितने टाइम केरता हैं तुम्हारे साथ?

मम्मी शर्मा गयी.

आंटी: बोलो, इनको मेने सब बताया हुआ है, मैं इनसे कुछ नही चुपति.

अंकल: वेर्ना आपको आज के रात बाहर गुजारनी पड़ेगी.

मम्मी दर जाती हैं.

मम्मी: मंत मे 1-2 बार.

अंकल: हाहहाहा इतना तो मैं संगीता को मॉर्निंग मे छोड़ देता हूँ, क्यू संगीता?

आंटी: हन मेरे बाबू.

अब अंकल के बारी थी.

अंकल: ट्रूथ और डरे?

मम्मी: डरे.

अंकल: (तेज़ आवाज़ मे) : जल्दी से नंगी हो साली!

मम्मी चौंक गयी.

मम्मी: मैं नही होंगी नंगी ना बाहर जौंगी, ये क्या बोल रहे हो!

तभी आंटी मम्मी के 2 स्लॅप लगा देती सतक से गाल पर.

आंटी: साली मैं यहा तेरे को अपनी गुलाम बनाने लाई हू!

मम्मी रोते हुए: हम दोनो तो दोस्त हैं ना, ऐसा क्यू बोल रही हो.

आंटी: दोस्त हाहहाहा! मैं बड़े बुयसनेस्स्में की बीवी और तो तुचे से एमपलोए की बीवी मेरी दोस्त? अगर मेरे पति ने ना रोका होता तो अब तक तू मेरी घर मे नौकारणी होती कुट्टिया!!

अंकल: चल हुमको नाच के दिखा मदारचोड़ रंडी!

मम्मी दर जाती हैं और डॅन्स केरने लगती हैं. 4-5 मिनिट बाद अंकल अपने पास बुलाते हैं और खींच के छाता मारते हैं.

अंकल: मा की लोदी कपड़े तेरी रंडी मा उतरेगी क्या?!

मम्मी अपना ब्लाउस निकल देती हैं और फिर सारी और आख़िर मे पेट्तीकोत.

अंकल: संगीता देख रही हैं मदारचोड़ कुटिया ने पनटी तक नही फेणी हुई.. और यॅ झाट के बालो का जंगल क्यू बना रखा है, चल मेरे को तो पसंद हैं झाट वाली छूट.

आंटी: कब से नही कट किए तूने झाट के बाल?

मम्मी रोते हुए: संगीता 6 मंत्स से.

आंटी तभी जोरदार 5 स्लॅप चुतताड पर लगती हैं.. चााअतक चाात की आवाज़ आती हैं.

आंटी: तेरी मा की चुदाई करू?! कुटिया आज से हम दोनो को सिर आंड माँ बोलेगी दो टक्के की बाजारू रंडी!

अंकल: चल अपने हाथ उपर कर और मेरे सवाल के जवाब दे.

मम्मी हॉल मे बिल्कुल नंगी अपने हाथ उपेर करे हुई खड़ी होती हैं. अब उनके शरीर पर बस काली चूड़ीयान, मंगल सट्रा, माँग मे सिंदूर होता हैं बस. बिल्कुल ऐसे लग रही थी जैसे किसी शादी शुदा औरत का सुहग्रात हो और वो अपने पति के सामने नंगी खड़ी हो.

अंकल: तेरी पति ने लास्ट टाइम कब किया तेरे साथ?

मम्मी: 3 मंत फेले.

अंकल: गांद मरवाई कभी?

मम्मी: नही.

अंकल: आज मेरे आंड मेरी बीवी के सामने नंगी क्यू खड़ी हैं तू?

मम्मी: क्यूकी मैं दो टक्के की औरत हू.

आंटी: अछा हैं तेरे को जल्दी पता चल गयी तेरी औकात.

अंकल: चल आजा मेरा लंड निकल और चूसना शुरू कर.

फिर मम्मी शुरू हो जाती हैं, बड़े ही प्रोफेशनल रंडी के जैसे चूसने लगती हैं और आँड भी चूस देती हैं.

आंटी देख कर गरम हो जाती हैं, अब वो भी पिंक ब्रा पनटी मे आ जाती हैं और अंकल भी नंगे हो जाते हैं.

अंकल: यॅ आआहह..

और वो सारा माल मम्मी को पीला देते हैं और बातरूम की तरफ चले जाते हैं.

आंटी: कुट्टिया आजा अब मेरी छूट चाट!

मम्मी: जी माँ जैसा आप बोले.

अब मम्मी अंकल-आंटी के कब्ज़े मे आ जाती हैं. फिर आंटी की झातो वाली छूट के चटाई शुरू.

आंटी: आआआहह उम्म्म्मम कुटिया साली मज़ाआअ आआ गया उम्म्म्ममहह..

और फिर वो भी मम्मी के मूह मे डिसचार्ज हो जाती हैं.

आंटी: शाबाश कुटिया!

फिर अंकल आ जाते हैं और मम्मी को बेड पर उठा के ले जाते हैं.

अंकल: चल डॉगी पोज़िशन मे आजा, स्टार्टिंग तेरी वर्जिन गांद से करूँगा.

फिर आंटी मम्मी की गांद को आयिल से भर देती हैं और चुतताड भी चिकने कर देती हैं.

मम्मी: कैसे जाएगा आपका यॅ 14 इंच का अनकॉंडा..

अंकल: हाहः जब संगीता की गांद फट के गुफा हो गयी तो तेरी गांद का क्या हाल करूँगा सोच!

फिर अंकल आयिल से भारी गांद मे एकद्ूम से धक्का दे देते और सारा लोड्‍ा एक झटके मे अंदर.

मम्मी: आआआआआआआाक़क़्क़्क़्क़ााआआहह उईईईईईईईईईई माआआआअ…

उनकी आखे भर आने को लगती हैं और गांद मे से खून आ जाता हैं.

आंटी मम्मी की गांद पर स्लॅप केरते हुए: वेल डन बाबू एक झटके मे सील ब्रेक.

अंकल का फिर बीस्ट मोड ओं हो जाता हैं.

अगले आधे घंटे बस मम्मी की आवाज़े गूँजती हैं चूड़ियों की ख़ान ख़ान की आवाज़ और आखो मे से आँसू की नधियाँ.

आयेज कैसे क्या होता नेक्स्ट पार्ट मे, क्या लगता क्या होगा?

यह कहानी भी पड़े  मेरी चुदाई एक कंप्यूटर वाले से

error: Content is protected !!