मॉम के साथ साथ घर आयी मौसी को भी चोदा

हेलो दोस्तों, मेरा नाम यश है एक बार फिर हाजिर हूँ अपनी एक नई कहानी को लेके। अगर किसी कानपूर कि लड़की या भाभी को privacy के साथ मिलना है तो वो mail करके बात कर सकती है। आखिरी कहानी मे मैंने आपको बताया की कैसे मैंने अपनी सगी माँ को चोदा अब बताता हूँ उसके बाद मैंने कैसे अपनी मौसी कि गांड मारी।

टाइम खराब ना करते हुए कहानी पे आता हूँ।

मेरी मौसी मेरी माँ से करीब 5 साल छोटी है पर मेरी मॉम से ज्यादा फिट और आकर्षक शरीर की मालकिन है। उसके 2 बच्चे है जो कि एक लड़का जो कि 13 साल का है और एक लड़की को कि 16 साल कि कमसिन है. मेरी मौसी कि हाइट 5.6 है उसके बड़े बड़े बूब्स देख के तो किसी के मुँह मे भी पानी आ जाए उसकी बाहर कि तरफ निकली गांड को देख के किसी का लण्ड भी उसकी गांड मारने को मजबूर हो जाए।

उसका फिगर 36 34 38 का होगा वो हमारे यहाँ बच्चों कि गर्मी कि छुट्टी मे घूमने आयी हुई थी पहले तो मैंने उसके बारे मे कुछ् गलत नहीं सोचा था लेकिन जब उसका गडराया हुआ शरीर देखा तो लण्ड खड़ा हो गया मैं सारा दिन उसी के बारे मे सोचता रहा शाम को माँ को अकेले मे ले जा के उसे चोद के अपने लण्ड को शांत किया और मॉम को बताया कि मौसी कि चुत दिलवाओ उसने बताया कि वो टेढी चीज़ है ऐसे हाथ नहीं आएगी।

मैं मन मार के रह गया ऐसे ही 3 दिन निकल गए मुझे माँ को चोदने का टाइम भी नहीं मिल रहा था तभी एक रात को मैं मॉम को ऊपर ले जा के अंधेरे मे चोद रहा था तभी मौसी ऊपर आ गई और उसने सब कुछ देख लिया लेकिन हमें पता नहीं चला कि वो कब देख के चली गई।

उसने अगली सुबह माँ को बहुत सुनाया तुम्हें शर्म नहीं आती अपने ही बेटे के साथ ये सब करने मे मॉम रोने लगी और पूरी कहानी उसे बताई। मौसी ने बताया कि सेक्स का सुख तो मुझे भी नहीं मिल रहा लेकिन मे तो किसी से नहीं चुदी।

मॉम ने सारी बात मुझे बाद मे बताई अब मौसी का मुँह बंद करने के लिए मुझे यही रास्ता दिखाई दिया कि कैसे भी इसे अपने लण्ड के नीचे ले आऊं।

रात का डिनर करने के बाद उसके बच्चे सोने चलें गए मैंने एक हॉट hollywood मूवी लगा दी जिसे हम देखने लगे उसके बाद मे सोने चला गया और मॉम भी थोड़ी देर बढ़ सो गई मौसी देखती रही मूवी उसमें बहुत सारे सेक्स scene थे जिन्हें देख के मौसी कि चुत पानी छोड़ने लगी वो अपनी चुत को ऊपर से ही शालाएं लगी मे ये सब चिप के देख रहा था।

उसके बाद वो उठी तो मे भाग के अपने रूम मे आके सोने का नाटक करने लगा ।

मौसी सीधा मेरे रूम मे आयी और मेरे बगल मे लेट गई आके उसकी साँसे बहुत तेज थी मुझे साफ सुनाई दे रही थी।

फिर उसने मैं उस टाइम सिर्फ हाफ लोवर मे था उसने मेरे लोवर के ऊपर से लण्ड पे हाथ रखा जो कि पूरा खड़ा हुआ था वो उसे महसूस कर रही थी उसे लगा मे सो रहा हूँ उसने धीरे से अंदर दाल के लण्ड बाहर निकाला और उसे हिलाने लगी फिर धीरे से मुँह मे लेके चूसने लगी मेरा लण्ड और भी ज्यादा टाईट हो गया जब मुझसे नहीं रहा गया तो मैंने उसका सर पकड़ के अंदर कि तरफ दवा दिए और अपना लण्ड उसके गले तक उतार दिया जिसे कि उसकी आँखो मे आशु आ गए उसने जल्दी से लण्ड बाहर निकाला और बोली ये बात किसी को पता ना चलें बस मैं खड़ा हुआ और उसके मुँह मे दोबारा लण्ड दाल दिया।

उसकी नाईटी उतरी तब पता चला उसने अंदर ब्रा पैंटी नहीं पहनी है उसे लिटाया और उसके बड़े बड़े दूध पीने लगा उन्हें दबाने लगा उसके मुँह से आवाज आने लगी।

उसने अपनी चुत पे मेरा हाथ रखवाया मे उसकी चुत मसलने लगा वो और पागल होने लगी फिर मैंने उसकी टांगे फैला दी और अपना मुँह उसकी चुत पे रख दिया और उसकी चुत चाटने लगा 10 मिनट उसकी चुत चाटने के बाद मैंने अपना लण्ड उसकी चुत में डाला उसको आहे निकल गई।मैं जोर जोर से उसे चोदने लगा उसे चोदने कि आवाज़ पूरे कमरे मे आ रही थी वो चिल्ला रही थी और चोदो यश मेरे राजा तेरे लण्ड मे बहुत दम है अपनी मौसी कि चुत फाड़ के भोसडा बना दे उसे एक बाजारु रंडी कि तरह चोदने मे लगा था।

उसके दूध बड़े बड़े होने कि वजह से हवा मे हिल रहे थे उन्हें देख के मुझे और जोश चढ़ रहा था जिसे मे और तेज तेज धक्के मरने लगता वो बोली अब जान ले लोगे मेरी प्ल्ज़् थोड़ा धीरे करो राजा कहीं भागी नहीं जा रही अभी तो हूँ रोज़ चोदना तुम मुझे।

मे बोला मादरचोद तुझे तो कबसे रंडी बनाना चाहता था अपनी और उसे चोद्टा रहा फिर 20 मिनट के बाद् हम दोनों एक साथ लेट गए। उसके बाद मैंने अपनी मॉम को उठाया और नंगा करके अपने रूम मे लाया जहां मौसी पहले से नंगी लेती थी.

मैंने दोनों को बोला तुम दोनों आज से मेरी रंडी हो दोनों को खड़ा करके मैंने नांगा नाच कराया. फिर मैंने मॉम कि गांड मारी और जब मेरा पानी निकालने वाला था तो दोनों को सामने बैठा के उनके मुँह पे निकल दिया जिसे वो लोग अपनी जीभ से चाट रही थी।

ऐसे मैंने अपनी मौसी कि चुत पहली बार चोदी और अगले दिन उसकी गांड भी मारी अगले 10 दिनों तक वो हमारे यहाँ रही और मैं अपनी माँ और मौसी को एक साथ चोदने लगा उसके बाद वोचली गई अब जब भी मौका मिलता मैं उसकी जम के चुदाई करता हूँ।

लेकिन इसी बीच मौसी कि लड़की को शक हो गया हम तीनो पे क्योकि एक रात जब मैं माँ और मौसी को चोद रहा था तब वो मूतने को उठी और उसने रूम से आ रही चुदाई कि आवाज़ सुन ली उस दिन से उसका नेचर मुझे लेके बदल गया मुझसे सीधे मुँह बात नहीं करती थी।

उसने किसी से कुछ कहा तो नहीं लेकिन समझ गई थी अंदर उसकी माँ और मौसी चोदी जा थी। क्योकि जब मैं उसके घर गया था तो मैं दिन मे मौसी को चुप चाप चोद रहा था तभी मौसा अचानक जल्दी घर आ जाते है तो वो भाग के आ के रूम के बाहर से धीरे से कहती है बस करो पापा आ गए है।

उसके बाद मैंने अपनी मौसेरी बहन को चोदने कि लीला रचाई जिसे किसी और कहानी मे बताउगा आपको।

कहानी कैसी लगी प्ल्ज़् comment करके या मैल् पे इसका जवाब ज़रूर दे जैसे कि मेरी पहली कहानी के बारे मे आप लॉगो ने रेस्पॉन्स किया इसका भी जरूर करियेगा जिससे मेरा हांसला बड़े जिससे कि आगे आने वाली कहानी मे और भी आकर्षक ढंग से आपको बता सकू। साथ ही साथ आप लॉगो को बताना चाहूगा अगर कोई कानपूर या ऐसा कोई जो कानपूर आ सकता है मॉम को लेके तो mail कर सकता है एक दूसरे कि मॉम चेन्ज करके चोद सकते है मेरी मॉम इसके लिए तैयार है बस आपकी होनी चहिए।

यह कहानी भी पड़े  मा के साथ शादी

error: Content is protected !!