मॉडर्न दीदी और उसकी चाल

दोस्तों आप सभी को मेरा नमस्कार मेरा नाम लेखराज गुप्ता में उत्तर प्रदेश से हूँ मेरा परिवार व्यवसाय से जुडा हुआ हैं. मम्मी पापा बिज़नस सम्हालते हैं और हम दो भाई बहन हैं मेरी बहन का नाम सोनल हैं जोकि मुझसे तीन साल बड़ी हैं बचपन से हम दोनों साथ ही रहे पले बढे तो इस बजह से हम अछे दोस्त भी हैं मेरी दीदी एक मॉडर्न लड़की हैं और पढने में एक दम अब्बल हैं और उसकी बॉडी की शेप और साइज़ उसकी ख़ूबसूरती में चार चाँद लगाते हैं अगर बो एक बार किसी को ठीक से देखले तो उसका लंड खड़ा हो जाए और बो मुझे हमेशा एक बॉयफ्रेंड की तरह ट्रीट करती थी रोज सुबह किस करती लेकिन में बस एक बहन का प्यार समझ कर भूल जाता उसकी सेनेटर्री नैपकिन हमेशा में लेकर आता शायद उसे पिंक पेंटी ब्रा बहुत पसंद हैं क्युकी हमेशा बाथरूम में मुझे दीदी की ब्रा पेंटी मिल जाती और में उसकी सुगंध लेता वैसे उसके शरीर पर कोइसा ड्रेस सूट करता हैं बो मुझे ब्रा पेंटी में ज्यादा अच्छी लगती हैं खेर छोडिये में अपनी कहानी पर आता क्युकी अगर बो इतनी सुन्दर नहीं होती तो शायद ये कहानी नहीं बनती बात तब की हैं जब १२में पढ़ रहा था एक दिन मेंने इन्टरनेट पर एक कहानी पढ़ी जोकि एक भाई वहन की चुदाई की कहानी थी तो पता नहीं क्यों उस दिन मुझे मुठ मारने में बड़ा मजा आया उस दिन से मेरे अपनी बहन के प्रति ख्यालात पहले से बदल गये और

में उसे चोदने की सोचने लगा लेकिन अचानक में सोचने लगा बो मेरी सगी बहन हैं लेकिन एक दिन दीदी और हम घर पर अकेले बेठे बोर हो रहे थे तो दीदी ने कहा चलो अपने पडोसी अंकल जी के यहाँ चलते हैं हम लोग जेसे ही उनके घर पर पहुंचे तो देखा गेट अन्दर से बंद था बो हमारे पडोसी होने के साथ साथ बो हमारे रिस्स्त्तेदार भी थे तो उनके घर की एक चाबी हमारे पास भी रह्त्ती थी तो हम लोगो को शरारत सूझी तो हम लोग घर जाकर चाबी ले आये और दरवाजा खोलकर इंटर कर गये उनका घर ज्यादा बडा नहीं था नीचे सारे कमरे चेक किये जब कोई नही मिला तब उपर` गये तो ऊपर से बड़ी अजीब अजीब सी आवाजे आ रही थी तो हम लोगो ने जेसे ही कमरे में देखा अंकल के लड़का और लडकी ही सेक्स कर रहे थे हम लोग ये देखकर दंग रह गये और में बापिस लौटने लगा लेकिन दीदी वही गेट पर खड़ी रही और अपने फोन से उनके कुछ फोटो ले लिये तो मेने कहा दीदी घर चलो पर उन्होंने बड़े प्यार से कहा रुक जा फिर तब तक बो लोग सेक्स कर चुके थे फिर

दीदी उनके कमरे में घुस गयी और उन्होंने बड़े आराम से कहा आप लोग क्या कर रहे थे फिर उन्होंने बो फोटो दिखा दिए फिर बो दोनों लोग रोने लगे काफी देर तक बो रिक्वेस्ट करते रहे प्लीज हमारे मा पापा को कुछ मत बताना फिर दी ने कहा ओके नन्ही बताउंगी फिर हम लोग घर चले आये और तब तक मम्मी पापा घर आ चुके थे शाम को हमने साथ लंच किया फिर सब अपने अपने रूम में चले गये उस दिन मेरा सारा ध्यान उसी कांड पर था केसे दोनों भाई बहन मजे ले रहे थे मेंने तुरंत अपने फ़ोन पर अन्तर्वासना साईट के भाई बहन बाले सेक्शन को निकालकर एक कहानी पढने लगा तभी मेरे फ़ोन पर दीदी का मेसेज आया कि मेरे रूम में आओ साथ में कुछ देखते हैं तो में दीदी के रूम में चला गया वहाँ जाकर तो में दंग रह गया दीदी ने कहा अब मुझे घूरता ही रहेगा चल कुछ अच्छी सी फिल्म लगा दे तभी एक चैनल पर

यह कहानी भी पड़े  आंटी ओर उसकी बेटी के साथ सेक्स किया

हॉलीवुड की मूवी में सेक्स का सीन चल रहा था तो दीदी ने कहा बस ठीक हैं में चक्कर में पड गया दो दीदी ने कहा बेठो और में बेठ गया मेरा लंड खड़ा हो रहा था तभी अचानक मूवी में चुदाई का सीन आ गया और दीदी के मुंह से आह की आवाज निकल गयी जेसे लंड दीदी की चूत में फसा हो बसे नीचे का उसमे दिखाई नहीं दे रहा था एक कपडा ढक रखा था तभी मूवी में ब्रेक आ गया और और मेरे मुंह से निकल गया इस ब्रेक को भी अभी आना था मेने कहा ये मेरे मुंह से क्या निकल गया दीदी ने कहा तुम सही कह रहे हो इसमें क्या गलत कहा अब तो मेरा पूरा लंड खड़ा हो गया तभी दीदी ने पूछ लिया कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड हैं तो मेने मना कर दिया तो मेने उनसे पूछा आपका कोई बॉयफ्रेंड तभी दीदी ने कहा मुझे कौन पसंद करेगा मेने कहा दीदी आप तो कॉलेज में सबसे खूबसूरत लड़की को काश मुझे भी आप जेसी पत्नी मिले तभी दीदी ने कहा तो क्या दिक्कत हैं मुझे बना ले अपनी पत्नी आंटी अंकल के बच्चो की तरह घर पर ही मौज करेंगे और किसी का डर भी नहीं रहेगा जो भाई बहन की सेक्स स्टोरी पढता हैं

तू भी एक हमारी कहानी लिख पायेगा में बिलकुल चुप रह गया फिर मेने पुछा ये सब तुम्हे केसे मालूम तो उन्होंने बताया मेने तेरे फ़ोन को चेक किया था जब कल तू नहा रहा था और उसका पैटर्न मेने देख लिया था तुझे खोलते हुए उसमे इन्टरनेट पर सिर्फ भाई बहन सेक्स विडिओस को ही देखता हैं तू में चुप था मेरा काला चिट्ठा खुल गया था में रोने लगा तो दीदी ने समझाया कि ये देख में भी एक साल से यही देखती हूँ और फिर दीदी ने अपने फ़ोन में मुझे भाई बहन की सेक्स की बीडीओस दिखाई और कहा हर रोज न्यू डाउनलोड करती हूँ और सोचती हूँ तू एक दिन मेरे साथ देखेगा और उसने मुझे लिप किस कर दिया मेरे मन ही मन लड्डू फूटने लगे क्युकी जो काम में नहीं कर पाया बो काम दीदी ने खुद कर दिया था फिर क्या था हम दोनों एक दुसरे को लिप किस करने लगे पुरे १० मिनट तक लिप किस करते रहे फिर दीदी उठी और फिर कहा बस दो मिनट रुक जाओ रजा दो मिनट में आई और दीदी पहले टॉयलेट करने गयी फिर फ्रीजर से जूस निकला और अपने फ़ोन में डली हुई ब्लुफ़िल्म्स को प्ले कर दिया और मुझे अपने हाथ से जूस पिलाया फिर मेने उनको हम दोनों टीवी पर वाही ब्लूफिल्म देख रहे थे जिसमे

लड़की लड़के के लंड पर चेरी लगाकर चुस् रही थी तो दीदी को मेने चेरी लाने को कहा तो बो ले आई और फिर हमने थोडा वॉल्यूम बढ़ा दिया और आवाजे आने लगी फिर मेने कहा दी लाइट ऑफ कर दो दीदी ने कहा बुद्धू फिर क्या मजा आयेगा और फिर में दीदी को किस करने लगा और मेने दीदी की ड्रेस को उतर दिया फिर बो ब्रा और पेंटी में आ गयी मेने पेंटी देख कर पूछा आज फिर पिंक तो दीदी बोली तू हमेशा इसी में जो मुठ मारता हैं फिर हम दोनों लोग हसने लगे और दीदी ने मेरे कपडे उतार दिए और मेरे लंड का टोपा मुंह में लेकर चूसने लगी फिर उन्होंने मेरे लंड पर चेरी लगाया और पूरा मुंह में ले लिया और किसी रंडी की तरह चूसती रही तो मेने कहा दीदी अब मुझे अपनी चूत के दर्शन करा दो तभी दीदी ने अपनी पेंटी ब्रा मुझे उतारने को कहा तो मेने उतरनी की जगह पेंटी को तो फाड़ ही दिया दीदी बोली वाह मेरे भैया बड़ा जोश हैं और में ६९ की पोजीशन में आ गये और मेने चेरी लेकर उनकी चूत पर लगायी और उनकी चूत को चाटने लगा

यह कहानी भी पड़े  मेरे साथ रात में कौन थी मेरी बीवी या मेरी दीदी

दीदी आंहे भरने लगी बो मेरा लुंड चाट चाट रही थी कमरे में हमारी आवाजे टीवी से ज्यादा आ रही थी बेड के बीचो बिच चेरी का डिब्बा हम लोगो ने एक दुसरे के लगा लगाकर खली कर दिया था और पूरा बेड कवर लाल और चिपचिपा कर दिया था और अब हम झड़ने वाले थे फिर हम लोग एकदूसरे के मुंह में ही झड गये फिर हम लोग एक दुसरे की मुंह में मुंह डाल कर लेट गये ५ मिनट बाद फिर से शरीरो में करंट आ गया और हम एक दुसरे को बुरी तरह किस करने लगे दीदी चिल्लाने लगी अपनी बहन को चोद दे तभी मेने ज्यादा टाइम ना बर्बाद करके अपनी बहन के चुतडो के निचे तकिया लगाया और अपना लुंड दीदी की चूत पर फिराने लगा तो दीदी ने कहा बहनचोद चोदेगा भी फिर क्या था मेने एक ठोकर डी दीदी के मुंह से आवाज निकल गयी ओई माँ……

तो में रुक गया और दीदी के बोबो चूसने लगा तभी दीदी ने फिर गाली दी और कहा चोद तो मुझे गुस्सा आ गया और मेने पूरा लंड डाल दीदी चिहुक गयी बोली साले बहुत बड़ा हैं मेने कहा अब तेरा ही हैं फिर में उसे जमकर चोदने लगा और आधे घंटे तक चोदता रहा फिर में झड़ने वाला था तो मेने स्पीड बढा दी और हम दोनों साथ साथ झड गये दीदी उठने लगी तो मेने कहा कहाँ जा रही हो दीदी ने कहा पेशाव करने तो मेने कहा कही ना जाओ प्लीज मुझे आपसे प्यार हो गया हैं तो दीदी ने कहा पागल आयी लव यू बट पेशाव कर आने तो मैने कहा यही करलो फिर हम जमीन पर लेट गये और एक दुसरे से चिपककर मुतने लगे फिर मेने दीदी से पूछा दीदी आपका ये कौनसी बार था दीदी ने बोला पता नहीं फिर दीदी ने बताया की में ,पडोसी अंकल के दोनों बेटा बेटी के साथ में सेक्स करते हैं और बो मेरा ही प्लान था क्युकी चाबी भी मेने ही मगाई थी सारा प्लान मेरा ही था आज मुझे समझ आ गया था कि लोग मुझे बुद्धू क्यों कहते हैं उस रात हमने चार बार सेक्स किया ….खेर मुझे बाद में अपनी फैमिली के बारे में बहुत कुछ पता चला ये सब अगली कहानी में बताऊंगा केसे हमने और अंकल के बच्चो ने साथ में कई बार ग्रुप सेक्स भी किया ये भी बताऊंगा आपके सुझाव हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं हमें आपके सुझावो का इन्तजार रहेगा तब तक लिए नमस्कार में तो चला अपनी दीदी के साथ सुहागरात मनाने



error: Content is protected !!