मेरी प्यासी चुत में मोटा लण्ड

सभी साथियों को मेरा प्रणाम!
मैं काफी लंबे समय से अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज की पाठक हूं मुझे इस साईट की कहानियां बहुत अच्छी लगी तो सोचा कि क्यों ना मैं भी अपने जीवन की एक सच्ची घटना को कहानी के रूप में आपके सामने प्रस्तुत करूँ ताकि आप भी उसका आनंद ले सकें.

मेरा नाम नेहा उपाध्याय (बदला हुआ) है, मैं मध्य प्रदेश की रहने वाली हूँ। मेरी उम्र 26 साल है मेरे स्तन बड़े बड़े हैं जो हर किसी को अपने वश में कर लेते हैं, हर किसी को मेरे बारे में सोचने को मजबूर कर देते हैं. मेरी फिगर की साइज 36 है, मैं 36 नंबर ब्रा पहनती हूँ. मैं कक्षा 9 में थी तब से ब्रा पहनने लगी, जिससे मेरे स्तन सुंदर और सुडौल बन गए हैं. स्तन ही औरत की शान होते हैं, यही मर्दों को अपनी और आकर्षित करते हैं.

मैं शादीशुदा हूँ, मेरी शादी 3 साल पहले हुई है। मेरे पति बिजनेस के सिलसिले में अक्सर बाहर रहते हैं, मैं एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करती हूं, अभी तक मेरी कोई संतान नहीं है, मैं घर पर अकेली रहती हूं, मेरे पति महीनों महीनों में घर आते हैं. सोचो अगर किसी शादीशुदा औरत का पति यदि महीनों महीनों तक घर पर नहीं रहता है तो उसका क्या हाल होता होगा.
वही हाल मेरा है, मुझे रात में नींद नहीं आती है, मैं हमेशा जिस्म की प्यासी रहती हूँ। मैंने पिछले 3 सालों में केवल 10 या 12 बार सेक्स किया होगा, यदि औरत को एक बार सेक्स की लत लग जाए वह फिर सेक्स के बिना नहीं रह सकती, उसका प्यासा जिस्म कुछ भी करवा सकता है.

तो मैं लेकर चलती हूं अपने जीवन की सच्ची घटना की ओर जिसे मैंने कहानी के रूप में प्रस्तुत किया है कि किस तरह मैंने गैर मर्द से अपनी प्यास बुझाई.

यह कहानी भी पड़े  सेक्सी आंटी की गन्दी चुदाई की

मैं जिस फ्लोर में रहती थी, वहाँ पास वाले कमरे में एक आदमी रहता था, उसकी उम्र कोई 30-32 साल होगी। वह भी एक कम्पनी में जॉब करता है। वह बहुत ही हट्टा कट्टा नौजवान था, मैंने सोचा क्यों न इससे अपनी जरूरत पूरी की जाये, क्यों ना इसके लण्ड से अपनी प्यास बुझाई जाये।

मैंने ठान लिया था कि कैसे भी करके इस से चुदना है। मैं उसे अपने वश में करने के लिए प्रयास करने लगी। मैं उसके सामने में हमेशा अपने कंधों पर बिना दुपट्टा डाले ही घूमती थी और बार बार उसके सामने नीचे झुकती थी ताकि वो मेरे स्तन देख सके। मैं उसके कमरे के दरवाजे के सामने ही अपने कपड़े सुखाने डालने लगी और ब्रा और पैंटी भी उसके दरवाजे के सामने ही डालती थी. शायद वो भी जान गया था कि मैं क्या चाहती हूँ इसलिए वो भी हवस भरी निगाहों से मेरी ओर देखने लगा।

एक दिन वहां बाहर बालकनी में मेरे कपड़े सूख रहे थे तो मैंने देखा कि खिड़की में से वह मेरी पैंटी और ब्रा को हाथ में लेकर सूंघ रहा था और फिर चला गया।
फिर एक दो दिन बाद मैंने देखा कि मेरी ब्रा और पेंटी कोई चुरा ले गया. मैं समझ गई कि उसने ही चुराई होगी. पर एक बात समझ में नहीं आई कि आखिर वह उस ब्रा पेंटी का करेगा क्या?
पर मैं भी समझ गई कि आखिर वह मुझे चोदना तो चाहता है.

एक दिन वह दरवाजे पर खड़ा था, मैं कमरे से बाहर निकली तो उसने स्माइल की, मैंने भी स्माइल की, इस तरह दोनों में धीरे धीरे बात का सिलसिला प्रारंभ हो गया.

उसका नाम रोहन(बदला हुआ) था। हम दोनों आपस में दोस्त बन गए.
उसने मेरे बारे में पूछा, मैं बोली- मैं मेरे घर में अकेली रहती हूं, मेरे पति बिजनेस के सिलसिले में बाहर रहते हैं!
तो उसने स्माइल की और बोला- मैं भी अकेला रहता हूं।

यह कहानी भी पड़े  नाचने वाली खूबसूरत रंडी की चुदाई खूबसूरत तरीके से

इस तरह दोनों की बातों बातों में बात बहुत आगे तक चली गई और हम दोनों ने मिलने का प्लान बना लिया. आखिर मेरी तमन्ना पूरी होने वाली थी, बरसों की प्यास बहुत जल्दी बुझने वाली थी.
रविवार के दिन मैं घर पर ही थी, वह भी अपने घर पर ही था, मैंने उसे अपने घर पर बुलाया, मैंने सफ़ेद गाउन पहन रखा था जिसके अंदर से मेरी लाल ब्रा और काली पेंटी साफ़ दिखाई दे रही थी। वो बार बार मेरे स्तनों को देख रहा था। धीरे धीरे उसका लण्ड टाइट हुआ और खड़ा हो गया।
मेरी नजर उस पर पड़ी तो वो हाथ से छुपाने लगा, मेरी हँसी निकल गई और वो भी हंसने लगा।
मैं बेशर्म होकर बोली- छुपाओ मत, मेरी प्यास बुझा दो, मैं भी प्यासी हूँ।

वह मुझे चूमने लगा. किस करने के बाद उसने मुझे उठा कर बेड पर पटक दिया और फिर से किस करने लगा।
मैं बोली- बुझा दो मेरी प्यास, बहुत प्यासी हूँ बहुत दिनों से।
वो बोला- आज तो मैं तेरी पूरी प्यास बुझा दूंगा।

औऱ उसने मेरा गाउन उतार दिया, मैं उसके सामने लाल ब्रा और काली पेंटी में खड़ी थी। वो भी सिर्फ ब्लू कलर की अंडरवियर में खड़ा था। मैंने उसकी चड्डी खोल दी और उसका लण्ड पकड़ लिया मैं तो घबरा गई ‘बाप रे बाप… क्या मोटा और लम्बा लण्ड था उसका! काफी लंबा था उसका जो मेरे पति से काफी बड़ा था.’

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!