मेरी बहेन दीपा की हॉट चुदाई – 2

मैने सोचा बस सब कुछ बता के दीपा को छुड़ा लूँ यहाँ से. पर जैसे ही कुछ बोलता मेरे साथ वाले ने मुझे चुप करा के कहा- साहब हमारा बैग चोरी हो गया है. उसी के लिये आये थे. पुलिस वाले ने कहा- कल आना जा भाग जा अभी. तभी मेरे साथ वाले आदमी ने कहा- साहब अगर बुरा ना माने तो क्या मैं भी थोड़ा. पुलिस वाले उसका इशारा समझ गये और हंसने लगे. उन्होने कहा- ठीक है, ठीक है, जब कद्दू कट ही रहा है तो सबमे बटेगा. फिरपुलिस वाले ने मुझे घूर के देखा और कहा- क्यूं बे तेरे को भी कद्दू चाहिये. मैं तो बिल्कुल सकपका गया. कुछ समझ नहीं आ रहा था. कहाँ फंस गया हू. ये क्या हो रहा है. तभी दूसरे पुलिस वाले ने कहा- ये क्या बोलेगा, लेना तो इसको भी पड़ेगा नहीं तो बाहर जाके हमारे खिलाफ कुछ उगल देगा. और जब तक मैं कुछ सोच पाता मैने देखा मेरे साथ वाला आदमी नंगा होके अपना लंड दीपा के मुह मे डाल रहा था और एक पुलिस वाला चूत मार रहा था और दूसरा चूचियों को चूस रहा था. और दीपा पागलों की तरह चुदाई करवा रही थी. अ आ आई मा चोदो और तेज़ और तेज़.. फाड़ डालो मेरी चूत. तभी पुलिस वाले ने मुझे कहा- मादरचोद नामर्द है क्या, चल आजा मज़े ले इससे नहीं तो गोली मार दूंगा. मैं क्या करता कुछ समझ नहीं आ रहा था. दीपा ड्रग्स के असर से मुझे पहचान तक नहीं पा रही थी वैसे भी वो आँखें बंद किये हुए थी. जब दुबारा वो पुलिस वाला चिल्लाया तो मैं फटाफट दीपा के पास पहुंच गया और उसकी चूचियों को सहलाने लगा. मुझे ऐसा करता देख मेरे साथ वाला आदमी मुस्कुरा रहा था… और फिर क्या बारी बारी से हम सब ने दीपा को चोदा. दीपा लगभग बेहोश हो चुकी थी. सुबह के 5 बज रहे थे. पुलिस वालों ने कहा- जा मेडिकल स्टोर पास मैं ही है वहीं एक डाक्टर रहता है. उससे बोलना थानेदार साहब ने टॉनिक लेके बुलाया है. दूसरा पुलिस वाला गया और 1 घंटे मैं डाक्टर को लेके आया. उस डाक्टर ने दीपा को और दो इंजेक्शन दिये और बोला की 4 – 5 घंटे मैं एक दम सही हो जायेगी कुछ याद नहीं रहेगा इसे. और वो चला गया. मैने कहा की मैं जरा टायलेट होके आता हूँ और जब मैं वापिस आया तो दोनो पुलिस वाले और वो मेरे साथ वाला आदमी मुझे देख के हंस रहे थे. तभी पुलिस वाले ने कहा- बहनचोद रंडी के, खुद की बहन को चोदा तूने कल हमारे साथ साले दलाल. पर सच कहूँ तो तेरी बहन है बड़ी मस्त. हम सबको मस्त कर दिया. मज़ा आ गया साली की चूत मार के. वैसे कहाँ से आया है तू? मैने कहा- दिल्ली से और राजस्थान घूमने जा रहा था. फिर मैने उसे पूरी कहानी सुनाई. उन्होने कहा- साले इतनी मस्त माल को कौन छोड़ता है, वैसे भी तेरी बहन कमाल की है सबको अच्छे से सम्हाल लिया. फिर उसने कहा- चल मज़े बहुत दिये हैं तेरी रांड बहन ने इसी लिये दोनो को छोड़ रहा हूँ जैसे ही होश आयेगा लेके चला जा.

यह कहानी भी पड़े  भाभी की बेबसी और मेरा प्यार

पुलिस वालों ने वहीं हवेली से दीपा के कपड़े लाके मुझे दे दिये पेहनाने को. मैने दीपा को कपड़े पेहना दिया उसी बेहोशी की हालत मे. 4 – 5 घंटे बाद दीपा को होश आया. वो बोली- भैया मैं कहाँ हू? और मुझे क्या हुआ है? मेरा शरीर दर्द हो रहा है. मैने कहा- कुछ नहीं हुआ है. दीपा ने कहा- मुझे तो कल कुछ लोग उठा के ले गये थे और एक घर मैं ले जाके मेरे साथ गलत काम करने की कोशिश कर रहे थे. उसके बाद का कुछ याद नहीं. मैने कहा- कुछ नहीं हुआ. इन पुलिस वालों ने तुम्हे बचा लिया है चलो अब घर चलो. और हम घर जाने लगे. मैं बस यही सोच रहा था बस किसी तरह इन सब से पीछा छूटे तो कभी लौट के नहीं आउंगा इस तरफ. जैसे ही थाने से बाहर निकल रह था तभी उस पुलिस वाले ने मुझे अंदर बुलाया और बोला- सुन तेरी बहन हमे बहुत पसंद आई है. अपना मोबाइल नंबर और पता दे दे. साली ने हमे एकदम मस्त कर दिया है. मैने कहा- नंबर और पता क्यूं? उसने कहा- साले तेरी रांड की चूत मारेंगे और किसलिये. तुम लोगों को जाने दे रहा हूँ ये समझो. मैने कहा- नहीं नहीं सर नंबर और पता नहीं दूंगा. उसने कहा- साले ये देख और उसने कंप्यूटर ऑन किया. जो मैने देखा मेरे तो होश उड़ गये. उसमे उस हवेली से लेके थाने तक की दीपा की एक एक चुदाई की फिल्म बनी हुई थी. फिर पुलिस वाले ने कहा- अगर किसी और को इस बारे मे कहा तो ये सीडी मार्केट मे होगी. और सुन, जब भी फोन करूं रांड को लेके आ जइयो नहीं तो वहीं आके तेरे घर पे चोदेंगे सबके सामने समझा. और फिर मुझे भगा दिया. मैं बस किसी तरह दीपा को लेके वापिस आ गया.

यह कहानी भी पड़े  मकान मालिक के लड़के से सुबह सुबह चुदवा लिया

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!