मायके आई लड़की की जलती जवानी

मेरे पड़ोस में एक लड़की रहती थी अदिति… उसकी शादी से पहले उसकी चुदाई करने का मौका आसानी से मिल जाता था लेकिन शादी के बाद मुश्किल से ही कुछ हो पाता था।

एक बार वो अपने मायके यानि मेरे पड़ोस में आई हुई थी, दिन में ही हमारी मुलाकात हो गई थी और उसे देखते ही मेरा पप्पू छलांगें मारने लगा था।
उसकी आँखों में भी एक अजीब सी तड़प साफ दिखाई दे रही थी जिसे मैं अच्छी तरह पहचानता था।

खैर दिन में हमने कुछ करने की कोशिश भी नहीं की क्योंकि सारा दिन वो अपने घर वालों और सहेलियों के साथ व्यस्त रहने वाली थी। जैसे तैसे दिन गुज़र गया और रात हो गई जिसका हम दोनों को बेसब्री से इंतज़ार था।

गर्मी की रात थी और सब लोग छत पर सो रहे थे लेकिन हम दोनों की आँखों से नींद कोसों दूर थी।
उधर चूत सिसक रही थी और इधर लंड तड़प रहा था।

रात को करीब बारह बजे तीन बार माचिस की तीली जलती देख मुझे उसकी तरफ से सिग्नल मिल गया जैसे वो शादी से पहले अक्सर देती थी।

मैं दबे पाँव उसके घर की तरफ चल दिया, उसके घर की एक तरफ की दीवार छोटी थी जिसे फांदकर जाना मेरी आदत हो गई थी।
मैं उसकी दीवार कूदकर उसके घर में घुस गया।

तब तक वो भी छत से नीचे आ चुकी थी।
मिलते ही चुम्बन का दौर शुरू हो गया।

उसे चूमते हुए मैं उसे कमरे में ले गया और बिस्तर पर पटक दिया।

यह कहानी भी पड़े  आ देखें ज़रा तुझमे कितना है दम

कमरे में हल्की रोशनी में उसकी गुलाबी नाइटी बहुत सुन्दर लग रही थी जिसे मैंने एक ही बार में उतार फेंका।
नाइटी के अन्दर उसने कुछ भी नहीं पहना था जिससे लगता था कि उधर आग ज़्यादा लगी है, लग रहा था जैसे उसकी जलती जवानी आज मुझे भी जलाकर रख देगी।

उसकी शादी के बाद हम आज पहली बार इस तरह से मिल रहे थे।

मैंने देर ना करते हुए अपने कपड़े भी उतार कर फेंक दिए और उसे किस करने लगा उसके पैरों से शुरू करके धीरे धीरे ऊपर की ओर उसकी जांघों पर, उसके पेट पर, बूब्स के पास, गर्दन पर और फिर होठों पर!

मैं उसे किस कर रहा था और वो सिसकारियाँ लेते हुए अपने आप में सिमटती जा रही थी।
मेरे होंठ जैसे ही उसके होठों के पास आये, उसने अपने होंठ मेरे होठों पर चिपका दिए और चूसने लगी जैसे वो जन्म जन्म से प्यासी हो।

मैंने अपने हाथों से उसके बूब्स को कस लिया और दबाने लगा।
निप्पल मसलने का अपना अलग ही मज़ा है।

थोड़ी देर ऐसे ही हम दोनों एक दूसरे के होठों का रसपान करते रहे, फिर मैंने अपनी स्थिति को बदला और 69 की स्थिति में आते हुए अपना लंड उसके मुँह पर रख दिया और उसकी चूत के पास अपना मुँह लगा दिया।

अब मैं उसकी चूत चाटने लगा, मेरा लंड अब उसके मुँह में था और वो उसे मजे ले लेकर चूस रही थी।
मुझे भी आज बहुत दिनों के बाद ऐसा मज़ा आ रहा था।

यह कहानी भी पड़े  पोलीस वाली आंटी को बड़ा लंड दिया

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!