मौसेरी बहन अनु की चूत चुदाई

इस कहानी पढ़ने वाली सभी यौवनाओ, लड़कियो, महिलाओ.. आप अपनी पैन्टी नीचे कर लीजिए और ब्रा से केवल एक चूची बाहर निकाल कर उसके निप्पल पर मेरे हाथ की उंगली समझ कर मेरी तरफ से उंगली फेरिए और एक हाथ की उंगली को अपनी बुर के द्वार के ऊपर रख लीजिए।
जैसे-जैसे मेरी कहानी आगे बढ़ेगी.. वैसे वैसे आपकी उंगली खुद अपना काम करना शुरू कर देगी।
मेरे प्यारे दोस्तो, आप भी अपने लंड को बाहर निकाल कर खुला छोड़ दीजिए और उसके उठने का इंतजार कीजिए..
मैं आशीष.. फिलहाल राँची में पढ़ने के लिए रह रहा हूँ.. मेरी उम्र 18 साल है और मैं बी.एससी. के पहले वर्ष में हूँ.. मैं अपने माँ-बाप का एकलौता लड़का.. बहुत ही चंचल और हँसमुख लड़का हूँ।

मेरे घर पर कंप्यूटर है.. उसी से इंटरनेट पर ग्रेजुयेशन में ही एक्टिव हुआ। मैं अपने ‘सामान’ के बारे में बताता हूँ.. जिसके बिना कहानी कभी पूरी नहीं हो सकती। मेरा लंड जिसे मैंने नापा.. तब मुझे पता चला कि मेरा लंड 6″ लंबा और 3″ मोटा है।
जहाँ तक लौड़े के खड़ा होने का सवाल है.. तो यही समझ लीजिए कि लंड की लंबाई और मोटाई लिखते-लिखते ही वो खड़ा हो चुका है।
वैसे भी जब कोई लड़की देख लेता है.. तो उसे चोदने की कल्पना खुद करके गीला तो तुरंत हो जाता है.. फिर बचता है।
मेरा काम उसके रस को ‘हिलंत-विद्या’ से बाहर निकालना है.. जो कि अंत में मुझे करना ही पड़ता है।
यह कहानी मेरे और मेरी मौसेरी बहन अनु के बीच की है.. जिसकी नींव पिछली कहानी सोनी मौसी की चूत चुदाई के अंत में पड़ चुकी थी.. जब मैं मौसी को चोद रहा था, उसके बाद मेरी नज़र अनु पर गई.. जो मौसी की इकलौती बेटी है।
अनु के बारे में आपको बता दूँ कि उसकी हाईट 5’5″ है.. वो स्लिम फिगर की है.. उसके चूतड़ और गाण्ड को देखकर आदमी तो क्या कुत्ते की भी लार टपक जाएगी.. उसके होंठ देख कर लगता है कि उसे लिपस्टिक लगाने की ज़रूरत ही नहीं है और उसकी छाती संतरों के जैसे फूल चुकी है.. लेकिन जब वो ब्रा में होती है तो बहुत ही आकर्षक लगती है।
कभी-कभी उसकी नाभि दिखती थी.. तो लगता था कि उसमें सागर के अमृत की बूँद है.. जिसे पीने के लिए वो बुला रही है और उसकी चूत का तो पूछिए ही मत.. अगर वो नंगी भी सामने लेट जाए.. तो चूत दिखती ही नहीं है.. केवल एक लाइन सी दिखती है.. ऐसा लगता है.. जैसे किसी ने वहाँ पैन्ट करके एक लाइन खींच दी हो। अब आप ही सोच लीजिए कि चूत कितनी टाइट होगी और उसे चोदने में मुझे कितना मज़ा आया होगा और वो कितना चीखी होगी।
कुल मिलाकर आपसे यही बोल सकता हूँ कि उसे देख लेने के बाद 1-2 बार मेरा लंड ने खड़े-खड़े ही पानी छोड़ दिया था। उसकी खूबसूरती का अंदाज़ा आप खुद ही लगा सकते हैं।
अभी वो अपने स्कूल की पढ़ाई कर रही है और उसकी फिगर साइज़ यही कोई 28-26-30 की होगी.. जिसे मैं 32-26-32 बनाने में लगा हूँ।
दोस्तो, मैंने अपनी पिछली कहानी में आपको बताया कि कैसे मैंने अपनी सोनी मौसी को अन्जाने में चोदा फिर हमारी चुदाई का सिलसिला चलता रहा।
जो लोग नहीं पढ़ पाए हों.. वो मेरी पिछली कहानी सोनी मौसी की चूत चुदाई पढ़ सकते हैं।
अब मैं आपको बताता हूँ कि आगे क्या हुआ।

यह कहानी भी पड़े  सासु को ससुराल में चोदा

मैंने लगातार 10 दिनों तक अपनी सोनी मौसी को चोदा.. फिर जब मौसा जी और अनु बाहर से लौट आए.. तो मेरी नज़र मेरी मौसेरी बहन अनु जो की करीब जवानी की दहलीज पर खड़ी थी.. उस पर गई।
यह बात जानकर मौसी ने कहा- तुम मुझे ही चोदो.. अनु को छोड़ दो..
तो मैंने कहा- आख़िर उसे कोई ना कोई तो चोदेगा ही.. तो अगर मैं ही अनु की चूत का उद्घाटन करूँ.. तो क्या प्राब्लम है?
मौसी ने कहा- वो अभी कमसिन है और आख़िर तुम उसे चोदोगे कैसे?
तो मैंने कहा- वो सब आप मुझ पर छोड़ दो.. मैं अनु को पटा कर ही चोदूँगा..
अब आगे की कहानी का लुत्फ़ लें.. लेकिन जब तक मैं अनु को अपने नीचे नहीं ले आता.. तब तक आप मेरे लंड का ख्याल रखिए।
यह कहकर मौसी के विरोध करने के बाद भी मैं नीचे बैठ गया और मौसी की नाईटी में घुस गया और अन्दर उनकी नंगी चूत को चाटने लगा।
करीब दस मिनट के बाद मौसी ने धीरे से पैर फैला दिए.. तो मैं समझ गया कि वो भी साथ दे रही हैं और मैंने अपनी जीभ को पूरा अन्दर तक डालकर उनकी चूत को चाटने लगा। बस 5 ही मिनट के बाद ही वो अपना पानी मुझे पिला कर शान्त हो गईं और धीरे से पीछे होकर बिस्तर पर आँखें बंद करके लेट गईं।
फिर मैं उठा और उनसे कहा- अब मेरा पानी भी पिओ.. तब उन्होंने कहा- प्लीज़ थोड़ी देर सोने दो.. मैं थक गई हूँ..
तब मैंने कहा- अपनी प्यास शान्त कर ली.. और मुझे मना कर रही हो।
और ये कह कर मैं मौसी के जिस्म पर चढ़ गया और अपना लंड उनने मुँह में ज़बरदस्ती देकर उनके मुँह को ही चोदने लगा और धीरे धीरे वो भी लौड़ा चूसने लगीं।
करीब 10 मिनट के बाद मैं उनके मुँह में ही झड़ गया और उन्हें पहले अपना पानी फिर धीरे-धीरे उनके मुँह में मूत कर उन्हें अपना मूत भी पिला दिया.. जैसा कि मैं हमेशा करता था।

यह कहानी भी पड़े  दीदी की चूत चोदने के बाद गांड भी मारी

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!