मसाज बदली तगड़ी चुदाई में

मैने अब दूसरी मोविए लगाई, जिसमे नुरु मसाज हो रही थी. लड़की ने पहले लड़के को हाथ से मसाज किया. फिर अपने बूब्स को तेल लगा कर उसके लंड की, और फिर पूरी बॉडी की मसाज की.

मैं: ऐसा मसाज किया है क्या कभी?

सारा: नही यार, ऐसा तो नही किया.

मैं: तो चलो फिर आज कर लेते है.

ये कह कर मैने तेल की बॉटल निकली पंत में से.

सारा: अर्रे वाह, तुम तो पूरी तैयारी के साथ आए हो. सच में तुम्हारा जवाब नही.

मैं: पहले मैं मसाज करू, या तुम करोगी मुझे?

सारा: पहले तुम करो.

मैने सारा को पेट के बाल लेटने को कहा, और फिर उसके पीठ की मालिश की. फिर पैरों को मसाज किया. अब मैने उसकी गोरी गांद पर तेल डाला और धीरे-धीरे मालिश करने लगा. सारा को बहुत मज़ा आ रहा था, वो उम्म उम्म की धीरे-धीरे से आवाज़े निकाल रही थी.

मैने पूछा: कैसा लग रहा है मेडम?

सारा: बहुत अछा लग रहा है. थकावट डोर हो रही है, और मेरी बॉडी रिलॅक्स फील कर रही है. मेरी गांद के अंदर भी मालिश करो.

मैने बीच वाली उंगली को तेल लगाया, और सारा की गांद में उंगली डाल दी. सारा ने धीरे से आवाज़ निकली आहह.

मैं: मेडम आपकी गांद काफ़ी टाइट और बड़ी है. क्या मैं इसे कतर सकता हू?

सारा: हा कतर दो, और छातो भी.

मैं सारा की गांद चाट रहा था, और दांतो से काट भी रहा था. मैने उसकी गांद के बीच में ज़ुबान डाली, और नीचे से उपर तक ज़ुबान से छाता.

मैं: मेडम क्या आप स्पेशल मसाज करवाना चाहोगी?

सारा: हा-हा क्यूँ नही, इसलिए तो तुम्हे बुलाया है.

मैने मज़ाक में कहा-

मैं: फिर तो आपको डबल पैसे देने पड़ेंगे मेडम.

सारा हेस्ट हुए: हा क्यूँ नही, तुम बस मुझे सॅटिस्फाइ कर दो. जीतने पैसे माँगॉगे दे दूँगी.

मैने अपने लंड पर तेल लगाया, और लंड से सारा की गांद की मालिश की. मैने उसकी गांद फैला कर उसमे तेल डाला, और फिर लंड से गांद के बीच में सहलाया. अब मैं उसकी गांद पर बैठ गया, और अपनी गांद से उसकी गांद की मसाज की. मैं ये सब पहली बार कर रहा था.

बहुत मज़ा आ रहा था मुझे. मैने सारा को अब सीधा लेटने को कहा. वो सीधी लेट गयी. मैने अपने हाथो पर तेल लगाया, और उसके बूब्स की मालिश की. उसके निपल्स को अंगूठो से दबाया. अब मैने उसके पेट और नाभि में तेल डाल कर पेट को मसाज किया. उसकी नाभि में उंगली से तेल को आचे से माला.

धीरे-धीरे मसाज करते-करते मैं उसकी छूट पर उंगली करने लगा. मैने उसकी छूट पर तेल डाला, और दोनो हाथो के अंगूठो से छूट को दबाया. छूट को दबाते ही सारा उत्तेजित हो गयी और ज़ोर से आअहह उऊहह की आवाज़े करने लगी.

उसने मेरा सर पकड़ कर छूट में दबाया और अपनी दोनो टाँगो से मेरे सर को कस्स दिया. मैं कुत्ते की तरह सारा की छूट चाट रहा था. तेल और छूट का पानी मिल कर सारा की छूट से निकल रहा था. मैने छूट का पूरा पानी चाट लिया, और अपनी ज़ुबान को छूट के अंदर-बाहर किया.

5 मिनिट तक मैने ज़ुबान से सारा की छूट को छाता. सारा अब बहुत ज़्यादा हॉर्नी हो गयी थी. उसने मुझे उपर खींचा, और मुझे लीप किस किया और लिप्स को काटा भी

मैने कहा: मेडम क्या आप अब स्पेशल चुदाई के लिए तैयार हो?

सारा: हा मुझसे अब और रहा नही जेया रहा. जल्दी से अंदर डालो, और मेरी छूट की आग बुझाओ.

सारा ने अपनी दोनो टाँगो को पूरा खोल दिया, और मानो वो मुझसे कह रही थी, की मैने अपनी छूट तुम्हे सौंप दी है, अब छोड़-छोड़ कर इसका भोंसड़ा बना दो. मैने लंड को छूट में डाला और एक-दूं जोश से सारा को छोड़ा. तेल में लिपटे हुए हमारे लंड और छूट से सारे कमरे में ज़ोर-ज़ोर से चूड़ने की पच पच की आवाज़ गूँज रही थी.

5 मिनिट छूट छोड़ कर मैने अपना लंड निकाला, और सारा के बूब्स के बीच में रखा. सारा ने अपने दोनो बूब्स को साइड से दबाया, और मैने फिरसे तेल डाला. मैं उसके बूब्स को छोड़ रहा था, और लंड को उसके मूह तक ले जेया रहा था. सारा ज़ुबान बाहर निकाल कर लंड का स्वागत कर रही थी.

अब मैं पेट के बाल लेट गया, और सारा मेरी पीठ पर बैठ कर हाथो से मुझे बॅक मसाज देने लगी. अब उसने अपने बूब्स पर तेल लगा कर मेरी पीठ से गांद तक मालिश की. फिर अपनी गांद से मेरी गांद की भी मालिश की.

अब मैं सीधा लेट गया. सारा ने मेरे उपर तेल डाला, और अपने बूब्स से मसाज किया. वो अपने बूब्स को मेरे पेट से सीने, और फिर मेरे मूह तक ला रही थी.

मैं कहा: अब मेरे लंड की मसाज करो.

सारा ने मेरे लंड को पहले आचे से चूसा, और फिर उस पर तेल डाल कर हाथ से मालिश की. उसके बाद उसने अपने निपल्स को तेल लगाया, जैसे ही उसके निपल्स मेरे लंड को च्छुए, मेरी बॉडी में मानो एक करेंट का झटका लगा.

वो धीरे-धीरे अपने निपल्स से मेरे लंड और बॉल्स को टच कर रही थी. मुझे इतना मज़ा आ रहा था, की वो लफ़्ज़ों में बयान नही कर सकता. उसने अपने बूब्स से जाम कर मेरे लंड को मसाज दिया. अब वो मेरे लंड पर बैठ गयी, और कॉवगिरल पोज़िशन में हमारी चुदाई शुरू हो गयी.

तेल की वजह से पच-पच आवाज़ आ रही थी. तेल से लिपटे उसके बूब्स को मैं ज़ोर-ज़ोर से दबा रहा था, और निपल्स को चूस-चूस कर कतर रहा था. सारा उत्तेजित हो कर आअहह उऊहह करके चिल्ला रही थी.

5 मिनिट में हम दोनो झाड़ गये, और फिर वैसे ही हम एक-दूसरे को लिपट कर सो गयी. आधे घंटे बाद हम उठे, और साथ में नहाने चले गये. हमने एक-दूसरे को साबुन लगाया, और लिपट-लिपट कर नहाए. नहाने के बाद हम अब बातें करते लेट गये.

सारा: शादी के इतने सालों बाद मैने पहली बार इतना अछा सेक्स किया है. मुझे आज का दिन हमेशा याद रहेगा.

मैं: क्या सच में तुम्हे इतना मज़ा आया?

सारा: हा जानू, आज तुमने मुझे जैसा छोड़ा है, तुम्हारे मामा ने मुझे आज तक ऐसा नही किया. काश की मैं तुम्हारी पत्नी होती.

मैं: आज से हम पति पत्नी ही है जानेमन. अब हुमको जब भी मौका मिलेगा हम सेक्स करेंगे.

सारा: सच, पर अगर कुछ दिन बाद तुम्हारी शादी हो गयी. तो क्या तुम अपनी शादी के बाद मुझे ऐसे ही प्यार करोगे?

मैं: हा जानू, शादी के बाद भी मैं तुम्हे ऐसे ही प्यार करूँगा.

सारा बहुत खुश हो गयी, और मुझे गले लगा लिया.

तो दोस्तों कैसी लगी मेरी कहानी? अपना फीडबॅक ज़रूर देना, और मेरी पिछली सारी कहानियाँ भी पढ़ना.

अगर कोई हयदेराबाद में रहने वाली गोरी, खूबसूरत और बड़ी ब्रेस्ट वाली 30 से 40 उमर वाली औरत मेरे लंड से अपनी छूट की प्यास बुझाना चाहती है, तो मुझे ज़रूर संपर्क करे. मेरा एमाइल है

यह कहानी भी पड़े  चाची के साथ ठंड की रात


error: Content is protected !!