मेरी माँ मेरे दोस्त से चुदती हैं और मैं उसको देख कर मूठ मारता हु

मैं महारास्त्र मे रहता हू. मेरी फॅमिली मे मे मेरे पापा और मेरी मम्मी रहती है. मेरी मम्मी को पहले से ही एकदम हॉट रहने क़ा शौक है. फिलहाल मेरी मम्मी की उम्र 43 है. उसका नाम शोभना है. दिखाने मे एकदम मस्त गोरी है. उपर से नीचे तक सब जगह ऐसी गोरी है की किसी का भी मन ललचा जाए. मेरी उमरा अब 26 है. मे जब १०थ पास हुआ तो मेने पॉलिटेक्निक किया था तो मेरी मों बहुत हॉट दिखती थी जब मे उस वक़्त 18 साल का था, तो वो एकदम मस्त जवानी मे थी और बात चित में भी फ्रॅंक थी.

मे जब 16 17 साल का था तो वो पहले से ही 10 यंग स्मार्ट हॅंडसम कूल बाय्स के साथ सो चुकी थी ऐसे मूज़े लगता है. क्यूंकी वो हॉट दोस्त मेरे घर पे आए तो वो उनसे फ्रॅंक्ली बाते करती थी जैसी की आज कल क्या चल रहा है, कोई लड़की पताई या नही बॅटिंग बोलिंग कियी या नही, ऐसे गंदे वर्ड्स बोलती थी तब मे संजा मम्मी का दिमाग चोदने किधर भाग रहा है. लेकिन जब 16 17 का हुआ तो मे भी मम्मी को फ्रॅंक्ली बाते करता था. वो बोलती थी जब हम दोस्त क्रिकेट खेलते थे तो उसको बुलाके ला इसको बुलाके ला जब मेरे पापा जॉब पर रहता और बहें कॉलेज मे और मे ग्राउंड पे क्रिकेट खेलता था जब, तो उसने उसकी मराने का शौक रहता था.

तो अब मे डाइरेक्ट स्टोरी पे आता हू. हम पॉलिटेक्निक कर रहे थे 10त के बाद तो एक दोस्त था मेरा बनती करके पॉलिटेक्निक कॉलेज मे, वो लंच ब्रेक के बाद हम साथ जाते थे कॉलेज, क्योंकि कॉलेज घर से नज़दीक था, तो मम्मी उसे कंटिन्यू देखती रहती थी. तो मे सम्ज़ा मम्मी इससे प्यार करती है शायद. मेने ये बात 2 3 महीने नोटीस की, और वो भी बहुत ही हॅंडसम था, और वो पहले २- 3 गर्ल्स और उस्मी मम्मी मम्मी की लड़की चोद चुका था तो उसने हमे ये बताया था. मतलब वो भी एक्सपीरियेन्स वाला था. तो ऐसा सिलसिला 2 3 महीने चलनेके बाद मेने एक बार मम्मी से पूछा तुज़े बंटी केसा लगता हे. तो बोली क्या कुछ भी. मे बोला वो हमे कॉलेज मे बताता हे की उसके 2 3 अफेर्स है और वो लड़कियो को पहाड़ियो मे लेके जाता है बहुत बार बाइक पे दोनो अकेले. तो मेने नोटीस किया मेरी मम्मी को मन ही मन में लड्डू फूटने लगे. तो मेने बोला वो अच्च्छा है.

यह कहानी भी पड़े  डॉक्टर ने क्लिनिक में चुदवा लिया

loading…

तो वो फटाक से बोली, उसे बोल कभी आए घर पे हमारे. तो मे समझा की वो क्यू बोल रही है उसे बुलाके ला. और उसे भी समझा मेने उन दोनो के बारे मे क्या सोचा हे. लेकिन वो बोली उसने किसी को बाहर बताने को नही. मेने बोला मम्मी वो किसी को नही बताएगा. तो बोली कर तू प्लान और उसे बुला. एक दिन मेरे पापा लेबर का काम करते हे वो 2 बजे खाना खा के कम पे चले गये. मेरे बाहें का कॉलेज दोपहर मे ही था. दीवाली की बच्च्छो को छुट्टियां था, वो सब गांव गये थे, मोहल्ले मे कोई नही था, हमारे सामने एक इंडस्ट्री है वहा भी दीवाली की 15 दिन छुट्टियां थी, पर पॉलिटेक्निक और कॉलेज चालू थे, वो मुझे लंच ब्रेक के बाद बुलाने आया, तो मेने सोचा सचिन आज मौक़ा भी है दस्तूर भी है, मार दे हठोड़ा लोहा गरम है. मेने बोला बंटी आज तेरे तरफ कुछ काम था, वो बोला क्या कम है. मे बोला तोड़ा पर्सनल है मम्मी का काम है लेकिन किसी को बताना नही, वो बोला नही बतौँगा काम बोल. मेने बोला मेरी मम्मी तुज़े घर मे बुला रही है घर मे कोई नही है पापा काम पर गए हैं, उन्होंने मेरे को घर से बाहर रहने को बोला.
तो वो समझ गया क्या कम है मेरी मम्मी का तो वो तुरंत ना बोला, वो बोला साले ऐसे कुछ भी बोलते हुए तुज़े शर्म नहीं आती. मे बोला ये मेरी मम्मी की ख्वाइश है मेरी नही. वो 10 मिनिट कुछ भी ना बोला मे उसके आन्सर की राह देख रहा था, उसकी भी गुदगुदी हो रही थी उसे तो लॉटरी लग रही थी. वो मन ही मन मे ही मुस्कुराता रहता था. उसने 10 मिनिट लेने के बाद हा बोल दिया. मे घर मे आया मम्मी को बोला वो आ रहा है. तो बोले ठीक है आओ बोले 10 मिनिट मे, हम फिर कॉंडम लेने गये मेडिकल पे. मेने कॉंडम लिय्या वो आया घर पे. मे बाहर ही खड़ा रहा वो गया घर के अंदर डोर थोड़ा से धकेल दिया मे बाहर ही खड़ा रहा तब तक मम्मी ने नीचे बिस्तर डाल दिया था. वो गया घर मे 5 मिनिट हुए मेरे मन में मे भी लड्डू फुट रहे थे तो मेने डाइरेक्ट डोर ओपन किया देखा तो मेरी मम्मी लेटी थी और वो ब्रा उपर कर कर उसके बूब्स दबा रहा था ज़ोर ज़ोर से. तो मेरी मम्मी शर्मा गई गयी और बोली जा तू सचिन बाहर. मेने ना बोला तो वो कुत्ते जैसे बूब्स चूस रहा था और जब वो चिल्लती ज़ोर से बूब्स चबाने के कारण तो वो ज़ोर से किस कर रहा था और मे सब तमाशबीन देख रहा था वो मुझे बार बार बाहर जानेको बोल रही थी. मेरे सामने मेरी मम्मी एंजाय कर रही थी,

यह कहानी भी पड़े  अपनी जवान दीदी को प्रेग्नंट किया

Pages: 1 2

error: Content is protected !!